Natural Herbal Supplements for Depression – निराशा के लिए प्राकृतिक आयुर्वेदिक पूरक पदार्थ

निराशा ऐसी किसी भी चीज़ से हो सकती है जिसने आपके जीवन में आघात पहुंचाया हो।  यह परीक्षा में असफलता, लम्बे समय से बेरोज़गारी, प्यार में धोखा आदि में से कुछ भी हो सकता है। निराशा की स्थिति में पीड़ित व्यक्ति बाहरी दुनिया से संपर्क करना बंद कर देता है एवं अपनी दुनिया में ही खोया रहता है।  वह व्यक्ति लाचारी का अनुभव करता है।  उसे लगता है कि उसकी किसी को आवश्यकता नहीं है एवं अन्य लोग उसे इसलिए नज़रअंदाज़ कर रहे हैं क्योंकि वह कोई काम अच्छे से नहीं कर सकता। निराशा की स्थिति कई दिनों एवं हफ़्तों तक भी टिक सकती है।

निराशा की स्थिति मनुष्यों के लिए जानलेवा नहीं होती परन्तु यह पीड़ित व्यक्ति को दूसरों से संपर्क करने एवं एक सामान्य जीवन जीने से रोकती है। निराशा की स्थिति से निपटने के लिए कई प्रकार के इलाज उपलब्ध हैं जिनमें मनोवैज्ञानिक, औषधियां एवं आयुर्वेदिक पूरक पदार्थ शामिल हैं।

नीचे निराशा से निपटने के लिए कुछ श्रेष्ठ आयुर्वेदिक पूरक पदार्थों के नाम बताये गए हैं :

ओमेगा-3 फैटी एसिड्स (Omega-3 fatty acids)

Omeaga-3 fatty acids

ऐसी आम धारणा है की किसी भी चीज़ की अति स्वास्थ्य के लिए बुरी होती है।  पर एक प्रकार की चर्बी ऐसी है जिससे आपको परहेज नहीं करना चाहिए और वह है ओमेगा 3 फैट।  यह फैट मुख्यतः मछली के तेल में पाया जाता है। जो व्यक्ति अधिक मछली का सेवन करता है उसके शरीर में अन्य व्यक्तियों की तुलना में ओमेगा 3 फैटी एसिड्स की अधिक मात्रा पायी जाती है।  मछली के अलावा ओमेगा 3 फैटी एसिड्स बीजों एवं नट्स (nuts) में पाए जाते हैं।

ये एसिड शरीर के सही कार्य के लिए काफी आवश्यक होता है।  ओमेगा 3 फैटी एसिड का सबसे बड़ा लाभ यह है कि ये एक व्यक्ति को निराशा की स्थिति से दूर रखने में सहायता करता है।  मछली का तेल हमारे लिए तनाव डोर करने वाली औषधि की तरह है। इसके अलावा मछली का तेल हमारी नज़र के लिए भी अच्छा होता है।

बी-काम्प्लेक्स विटामिन्स (B-Complex Vitamins)

B-Complex Vitamins

कई बार लोगों को खुद पता नहीं होता कि वे सामान्य तनाव की स्थिति से ग्रस्त हैं।  ऐसे कई मामले हैं जहां लोगों की सोच की अपेक्षा उनके मस्तिष्क की अवस्था बदतर होती है।  विटामिन हमारे शरीर के लिए काफी आवश्यक होते हैं एवं इनकी कमी से हमारे शरीर में कई बीमारियाँ घर कर सकती हैं।  बी-काम्प्लेक्स विटामिन हमारे शरीर के लिए काफी आवश्यक होते हैं और इनकी कमी से हल्का तनाव उत्पन्न हो सकता ही।  ये विटामिन आपके स्वभाव को प्रफुल्लित रखते हैं एवं आपकी तंत्रिका प्रणाली को शांत रखते हैं।

केसर (Saffron)

Dietpath Saffron Extract Dietry Supplement

केसर का प्रयोग दमा, खांसी, निराशा, दर्द, रूखी त्वचा आदि के इलाज के लिए किया जाता है। केसर का भोजन में प्रयोग करने से निराशा के दौर से गुज़र रहे मरीज़ की स्थिति में काफी सुधार आता है। इसके प्रयोग के बाद सकारात्मक प्रभाव दिखने में 6 से 8 हफ्ते लगते हैं।  इसके अलावा इसके कोई बड़े नुकसान नहीं हैं।  हालांकि इसका सेवन अधिक मात्रा में ना करें क्योंकि इससे पीली त्वचा, चक्कर आने एवं नाक से खून निकलने जैसी समस्याएं पेश आ सकती हैं।

सैम-इ (Sam-e)

Sam-e

सैम-इ एक प्राकृतिक खनिज है जो हमारे शरीर के द्वारा ही उत्पन्न किया जाता है।  परंतु कई बार हमारे शरीर को इसकी कमी का भी सामना करना पड़ता है।

इसका निर्माण प्रयोगशाला में भी किया जा चुका है।  सैम-इ का कार्य हमारे शरीर में विभिन्न रासायनिक पदार्थ जैसे प्रोटीन्स, हॉर्मोन्स, लिपिड (proteins, hormones, lipids) आदि का निर्माण करना है।

सैम-इ निराशा, बेचैनी, दर्द, अल्झाइमर (Alzheimer) आदि का इलाज करने में काफी कारगर साबित होता है। कई शोधों के बाद यह साबित हो चुका है की सैम-इ गंभीर तनाव एवं निराशा के मामलों में काफी मददगार साबित होता है एवं इसमें इस तरह के तनाव के लक्षणों को काफी हद तक कम करने के गुण मौजूद होते हैं। इसे टैबलेट्स, कैप्सूल्स, इंजेक्शंस (tablets, capsules, injections) आदि के रूप में लिया जा सकता है।