Natural herbal supplements for weight loss – वज़न कम करने के प्राकृतिक आयुर्वेदिक पूरक पदार्थ

यदि आपका वज़न सामान्य से अधिक है तो वज़न घटाना आसान नहीं है। पूरक पदार्थों का सेवन करने से पहले यह याद रखना अनिवार्य है कि ये जादू की तरह काम नहीं करते। इसके लिए उपयोगकर्ता के लिए रोजाना व्यायाम करना अनिवार्य है और तभी ये पूरक पदार्थ अपना असर दिखाएंगे। नीचे वज़न घटाने के आयुर्वेदिक पूरक पदार्थों की सूची दी जा रही है।

जिन्सेंग (Ginseng)

Ginseng

जिन्सेंग एक चीनी जड़ीबूटी है जो चीन में उगती है। इसका प्रयोग प्राचीन काल से कई प्रकार की बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता रहा है। यह एक ऐसी जड़ीबूटी है जिसका हमारे शरीर एवं स्नायु तंत्र पर काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जिन्सेंग मूल रूप से दो प्रकार का होता है – चीनी जिन्सेंग एवं अमेरिकी जिन्सेंग। जिन्सेंग शरीर का मेटाबोलिज्म (metabolism) एवं पाचन तंत्र बेहतर बनाने में मदद करता है। यह मुख्य रूप से हमारे शरीर में इन्सुलिन के उत्पादन में वृद्धि करता है।  हमारे शरीर में भोजन को ऊर्जा में परिणत करके इसका प्रयोग करने के लिए इन्सुलिन की आवश्यकता होती है। अतः इन्सुलिन की मात्रा बढ़ाकर यह हमारे शरीर में चर्बी का उत्पादन एवं इसका जमाव कम करता है।

दालचीनी (Cinnamon)

Cinnamon

दालचीनी एक भारतीय जड़ीबूटी है एवं सम्पूर्ण उपमहाद्वीप में इसका प्रयोग कई प्रकार के व्यंजनों में किया जाता है।  यह एक काफी उपयोगी जड़ीबूटी है जिसका हमारे शरीर पर काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ता है।यह मधुमेह से ग्रस्त मरीजों के लिए काफी मददगार सिद्ध होती है।  दालचीनी शरीर का ब्लड शुगर (blood sugar) स्तर कम रखती है। यह मधुमेह से पूर्व के लक्षणों को भी दूर रखने में मदद करता है। यह एक जाना माना तथ्य है कि मोटे व्यक्तियों के अन्य व्यक्तियों की तुलना में मधुमेह से ग्रस्त होने की संभावना अधिक होती है।  दालचीनी शरीर की अतिरिक्त चर्बी जलाने में मदद करती है।  शोध बताते हैं कि दालचीनी शरीर के ग्लूकोस प्रयोग करने की मात्रा 20 गुना बढ़ा देती है।

गार्सिनिया कम्बोगिया अंश (Garcinia Cambogia Extract)

Garcinia Cambogia Extract

गार्सिनिया कम्बोगिया कद्दू की तरह का एक छोटा फल है जिसक रंग हरा होता है।  इसे मालाबार इमली भी कहा जाता है। यह रक्त में चीनी की मात्रा एवं कोलेस्ट्रोल (cholestrol) का स्तर कम रखने में मदद करता है।  यह अंश के रूप में भी उपलब्ध होता है एवं कई खाद्य सामग्रियों एवं डाइट (diet) उत्पादों के साथ भी मिश्रित किया जाता है।  इस फल में काफी मात्रा में एचसीए हाइड्रोक्सी सिट्रिक एसिड ( HCA Hydroxy Citric Acid) मौजूद होता है।  एचसीए शरीर में मौजूद चर्बी को जलाने में सहायता करता है। हमारा शरीर बिना प्रयोग किये गए भोजन से चर्बी का निर्माण करने के लिए सिट्रेट लायेस (citrate lyase) नामक एंजाइम (enzyme) का प्रयोग करता है। मालाबार इमली सिट्रेट लायेस का उत्पादन बंद करने में सहायता करती है।  इसके अलावा मालाबार इमली सेरोटोनिन  (serotonin) का उत्पादन बढ़ाकर हमारे मस्तिष्क को शांत करती है।  इससे हमें कम भूख लगती है। इसके अलावा यह टाइप 2 (type 2) मधुमेह से ग्रस्त रोगियों में चीनी की खपत बढ़ाने में मदद करती है जिससे कि यह शरीर में जमा ना हो।

कैफीन (Caffeine)

Caffeine

कैफीन का प्रयोग काफी मात्रा में शरीर की ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने के लिए किया जाता है। यह प्राकृतिक रूप से कॉफ़ी, चॉकलेट एवं ग्रीन टी (coffee, chocolate, and green tea) आदि में पाया जाता है।  कैफीन शरीर के मेटाबोलिज्म (metabolism) दर को बढ़ाने में भी मदद करता है। यह भोजन का प्रयोग करके शरीर में ऊर्जा का उत्पादन करता है और इस तरह यह वज़न घटाने की प्रक्रिया में सहायता करता है। कैफीन एंटीऑक्सीडेंटस (antioxidants) से भरपूर होता है एवं शरीर के मेटाबोलिज्म में भी वृद्धि करता है।

कैफीन का एक नुकसान यह है कि इसके अधिक प्रयोग से मस्तिष्क एवं स्नायु तंत्र पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।  यह नींद को प्रभावित कर सकता है एवं बेचैनी एवं नींद ना आने की समस्या का कारण भी बन सकता है। आपको इसकी लत भी लग सकती है।