Hindi remedies to control hair fall / hair loss – बालों का गिरना कम करने के लिए घरेलू प्राकृतिक उपचार

बालों का झड़ना काफी बड़ी समस्या है और बाज़ार के बेहतरीन उत्पाद भी इस मामले में आपकी ज़्यादा मदद नहीं कर सकते। आपको रोज़ ही कंघी करते वक़्त  उसमें कुछ बाल दिख ही जाते हैं। इस समस्या का लोगों के मन पर काफी प्रभाव पड़ता है। एक बार बाल तेज़ी से झड़ने पर आप इससे बचने के उपाय खोजते हैं और इस प्रक्रिया में आप घरेलू नुस्खों का प्रयोग शुरू कर देते हैं।

बालों का गिरना सबके लिए आम समस्या हो गयी है। बालों का गिरना अगर बंद ना किया जाए तो आगे जाकर गंजापान हो सकता है। बाल गिरने का कारण, बालों के गिरने के कई कारण हैं जैसे हॉर्मोन का असंतुलन, थाइरोइड ग्रंथि की समस्या, सर की त्वचा में संक्रमण, तैलीय बाल और रुसी। बालो का झड़ना रोकने के उपाय :-

बाल गिरने के कारण (Reasons for hair fall)

  • थाइरोइड – थाइरोइड ग्रंथि शरीर में टी3 और टी4 जैसे हॉर्मोन पैदा करते हैं जो शरीर में हॉर्मोन के स्तर का नियंत्रण करते हैं। थाइरोइड के ग्रंथि कम काम करना या ज्यादा काम करना टी3 और टी4 के स्तर को अनियंत्रित करता है।
  • सर की त्वचा का संक्रमण – सर की त्वचा में कवक का संक्रमण हो सकता है जो बालों की जड़ कमजोर करता है और बाल गिरने का कारण होता है।
  • रुसी -रुसी एक प्रकार का कीटाणु का संक्रमण है जो बालों के जड़ को हानि पहुंचाकर बाल गिरने का कारण होता है।
  • तैलीय बाल – तैलीय बालों में धुल जम जाती है। यह धुल जमकर बालों का गिरना बढ़ा देती है।

अण्डों से स्वस्थ बाल पाने के नुस्खे

  • अन्य कारण – सही आहार न लेना बालों के गिरने का कारण होता है। लोह की कमतरता और गर्भावस्था में बालों का गिरना मुमकिन हो सकता है।

बालों का गिरना रोकने के लिए घरेलू उपचार (Home remedies to control the hair fall / hair loss or baal jhadne se rokne ke upay)

  • 1 कप मेथी के बीज रातभर भिगोकर सुबह उन्हें पीस लें। इसमें 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस मिलाकर यह मिश्रण सर की त्वचा पर लगाएं। बालों को शावर कैप से ढंक लें। 20 मिनट तक रुकें। फिर ठंडे पानी से बालों को धो डालें। मेथी के बीज बालों से रुसी मिटाता है।
  • बाल गिरने का इलाज, एक प्याज निचोड़कर रस निकालें। यह रस सर की त्वचा पर लगाएं। प्याज में सल्फर होता है जो बालों में रक्त का परिसंचरण बढाता है और जड़ों को मजबूती दिलाता है।
  • नारियल का दूध निकालकर अपने सर की त्वचा पर लगाएं। बालों को शावर कैप से ढंक लें। 20 मिनट तक रखकर बाल धो डालें। नारियल का दूध बालों को खनिज देकर मजबूती दिलाता है।
  • नीम एक प्राकृतिक आयुर्वेदिक औषधि है। नीम के पत्तों को पानी में उबाल लें। पानी आधा रहने तक उबालें। इस पानी से अपने बाल धो डालें।
  • ग्रीन टी की 2 थैलियाँ एक कप पानी में उबालकर यह पानी बालों में लगाएं। आधे घंटे तक रखकर बालों को धो डालें।
  • बालो का उपचार, घृत कुमारी बालों के लिए प्राकृतिक औषधी है। घृत कुमारी का अर्क निकालकर बालों पर लगाएं। 20 मिनट तक रखकर फिर धो डालें।
  • आम्ला मसलकर पेस्ट बना लें। 1 बड़ा चम्मच आम्ला पेस्ट और 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस मिलाएं। यह मिश्रण सर की त्वचा पर लगाएं। आम्ला बालों की जड़ों के लिए अच्छा होता है।

सफ़ेद बालों की रोकथाम के घरेलु नुस्खे

रासायनिक उत्पादों के बजाय घरेलु प्राकृतिक उपचारों का प्रयोग करें।यह बालों का गिरना रोकने (hair fall rokne ke upay in hindi) में अच्छे साबित हुए हैं।

तेल की मालिश से बालों का झड़ना कम (Oil message can lessen hair fall)

बाल झड़ना कैसे रोके, सही समय पर बालों की मसाज करके आप बालों का झड़ना रोक सकते हैं। बालों की मसाज करने के लिए सही तेल चुनें। एक बार सही मसाज हो जाने पर सिर में रक्त संचार अच्छे से होता है और इससे बालों के तंतु (follicles) जागृत हो जाते हैं तथा नए बाल उगने में आसानी होती है। तेल की मालिश से बालों की जड़ें काफी मज़बूत हो जाती है। इस तरह आपके तनाव के स्तर में गिरावट आती है। आप सिर में मसाज करने के लिए विभिन्न तेल जैसे बादाम का तेल, नारियल का तेल, अरंडी (castor) का तेल, जैतून का तेल (olive oil), आंवला का तेल आदि चुन सकते हैं। मुख्य तेल में रोजमेरी तेल की कुछ बूँदें डालें। इससे आपके बालों की बढ़त की प्रक्रिया में तेज़ी आएगी। इसके लिए आप ऑर्गन तेल, एमु तेल तथा वीट जर्म के तेल का भी उपयोग कर सकते हैं। अपनी उँगलियों की सहायता से सिर में अच्छे से तेल लगाएं। हफ्ते में एक बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

मुलेठी की जड़ (The root of licorice to stop hair fall)

आप बालों की बढ़त के लिए मुलेठी की जड़ों की भी मदद ले सकते हैं। इस जड़ीबूटी से आप आसानी से बालों का झड़ना रोक सकते हैं। इससे बाल खराब होने से भी बचते हैं। ये जड़ें सिर को ठंडक प्रदान करती हैं और सिर के रोमछिद्रों को खोलती हैं। इससे आपका सिर समतल हो जाता है और सारी परेशानियों से मुक्त हो जाता है। आप इसकी मदद से डैंड्रफ से भी मुक्ति पा सकते हैं। मुलेठी की जड़ गंजापन तथा बालों के झड़ने की भी अच्छी औषधि है।

इस इलाज के लिए मुलेठी की जड़ों को एकत्रित करें और इन्हें पीसकर इनका मिश्रण बनाएं। अब इस जड़ को एक कप दूध के साथ मिलाएं। आप इसमें एक चम्मच केसर भी डाल सकते हैं। अब इन सारे पदार्थों को एक साथ मिलाएं। इस मिश्रण को सोने जाने से पहले अपने सिर के बाल रहित हिस्सों पर लगाएं। इसे रातभर रहने दें। एक बार सुबह उठने के बाद अपने बाल अच्छे से धो लें। इस विधि का प्रयोग हफ्ते में एक बार करें। आप इसे चाय में भी मिलाकर पी सकते हैं। इस चाय को दिन में कम से कम तीन बार पियें। इससे आपकी सेहत अच्छी होगी और बालों की बढ़त भी काफी बेहतर हो जाएगी।

बालों की देखभाल के नुस्खे

दही के बालों पर लाभ (The effects of curd on the hair)

बाल झड़ना कैसे रोके, आप बाल झड़ने की स्थिति में दही का प्रयोग कर सकते हैं। दही एक बेहतरीन उत्पाद है जो बालों की गुणवत्ता में वृद्धि करता है। यह बालों का झड़ना रोकने का काफी प्रभावशाली तरीका है। दही एक प्रकार से बालों का कंडीशनर है और इसी वजह से इसके बालों  पर इतने लाभ होते हैं। सबसे पहले दही को काली मिर्च के साथ मिलाएं। इसके बाद इसे बालों पर लगाएं। एक बार दही के सूख जाने के बाद इस बात का ध्यान रखें कि बालों की धुलाई सही प्रकार से हो, जिससे कि बालों से सारी दही निकल जाए। आप दही को शहद के साथ मिलाकर भी बालों पर लगा सकते हैं। एक बार दही को शहद या नींबू के रस के साथ मिला लेने पर बालों को सही मात्रा में नमी मिलती है। दही बालों को चमकदार भी बनाता है। यह ऐसा प्राकृतिक उत्पाद है जो बालों से डैंड्रफ भी दूर करता है। एक बार डैंड्रफ के चले जाने परआपको बालों के झड़ने की समस्या से भी मुक्ति मिल जाएगी।

गीले बालों का रखें ध्यान (Manage the wet hair)

गीले बालों की काफी सावधानी से तथा अच्छे से देखभाल करें। गीले बालों पर ज़ोर से कंघी चलाने से वे उलझ सकते हैं तथा इससे काफी मात्रा में बाल झड़ सकते हैं। गीले बाल कमज़ोर होते हैं, अतः उनके टूटने की काफी संभावना होती है। अतः कंघी करते वक़्त काफी सावधान रहें।

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday