Hindi tips to treat the skin boils naturally at home – घर पर प्राकृतिक तरीके से त्वचा के फोड़े का इलाज़ कैसे करें?

फोड़े और मुहांसे त्वचा के स्वरुप में बदलाव ले आते हैं। यही वजह है कि इनके उपचार के लिए कुछ प्रभावी नुस्खे अपनाने चाहिए। त्वचा पर ज़्यादा रसायनों के प्रयोग की बजाय घरेलू नुस्खे अपनाएं। इससे आपको शरीर और खासकर चेहरे के हिस्सों से मुहांसे और फोड़े कम करने में मदद मिलेगी। घरेलू नुस्खे काफी प्रभावी होते हैं और आपकी त्वचा को कोई क्षति पहुंचाए बिना आपके फोड़े फुंसी को ठीक कर देते हैं।

फोड़े त्वचा की एक प्रकार की समस्या है। बैक्टीरिया का गहरा संक्रमण ही फोड़े का रूप ले लेता है। यह त्वचा फोड़ा या फुंसी के नाम से भी जाना जाता है। फोड़ों के लिये प्रमुख कारण बालों की जड़ों और तेल की ग्रंथियों में संक्रमण है।

चेहरे की त्वचा संवेदनशील होती है। बैक्टीरिया चेहरे की त्वचा पर आसानी से हमला कर देता है अगर इसे सही ढ़ंग़ से नहीं रखा जाता है। चेहरे के फोड़े भद्दे होते है और आपके चेहरे पर निशान या दाग छोड़ते हैं। फोडे छोटे मटर के आकार के और सफेद या पीले या दोनों के मिश्रण रंग के होते हैं। इन फोड़ो को न तो दबाये और न ही निचोड़े अन्यथा यह त्वचा का संक्रमण दे सकते हैं।

प्राकृतिक सामग्रियों से इन फोड़ों का इलाज़ किया जा सकता है। प्राकृतिक सामग्रियां जैसे अण्डा, दूध, ब्रेड, प्याज, नीम की पत्ती, हल्दी आदि।

फोड़े ठीक करने के घरेलू नुस्खे (Home remedies for boils – fode funsi ka upchar)

फोड़े ठीक करने के लिए गर्म कपड़े का प्रयोग (Warm cloth application for treating boils) अगर आप फोड़ों पर गर्म सिंकाई करें तो आपको काफी लाभ होगा। इसके लिए एक कपड़े को लें तथा इसे एक कप गर्म पानी में डुबोएं। और भी अच्छे परिणाम प्राप्त करने के लिए इस मिश्रण में एक चुटकी नमक का मिश्रण कर लें। एक बार कपड़े को गर्म पानी में डुबोने के बाद इसका प्रयोग अपने फोड़ों पर करें और इसे 10 से 12 मिनट तक रखें। अगर आप फोड़ों की समस्या से काफी परेशान हैं तो यह नुस्खा आपको काफी राहत प्रदान करता है। इस प्रक्रिया का प्रयोग दिन में कम से कम 6 बार करें।

त्वचा को प्रदूषण से बचाने के सबसे अच्छे उपाय

फोड़ों पर हल्दी के गुण (The goodness of turmeric for the boils)

आप हल्दी से भी फोड़ों का इलाज कर सकते हैं। यह एक बेहतरीन प्राकृतिक मिश्रण है और जड़ से फोड़ों का इलाज करती है। हल्दी प्राकृतिक रूप से खून को शुद्ध करती है और इसमें जलनरोधी गुण भी होते हैं। इन गुणों की बदौलत आपके फोड़े काफी जल्दी ठीक हो जाते हैं। इस उपचार के लिए एक गिलास गर्म दूध या पानी लें और इसमें एक चम्मच हल्दी का मिश्रण करें। आप इस आयुर्वेदिक मिश्रण का सेवन भी दिन में कम से कम 3 बार कर सकते हैं। आप हल्दी के साथ ताज़े अदरक का भी मिश्रण कर सकते हैं। इसके लिए हल्दी और अदरक का पेस्ट बनाएं और अपने फोड़ों पर लगाएं। इससे आपके दाग धब्बे दूर होते हैं। हल्दी त्वचा की मरम्मत का काम भी प्रभावी तरीके से करता है।

कैस्टर ऑइल से फोड़ों का इलाज (Foda funsi ka gharelu ilaj with castor oil)

फोड़ों को दूर करने के लिए आप कैस्टर के तेल की मदद भी ले सकते हैं। यह फोड़ों को ठीक करने का सबसे बेहतरीन एंटीसेप्टिक (antiseptic) उपचार है। एक रुई लें और इसमें कैस्टर ऑइल की कुछ बूँदें डालें। अब रुई को फोड़ों के स्थान पर लगाएं और इसका प्रयोग सीधे फोड़ों पर करें। इसे सीधे ही फोड़ों पर लगाएं। इससे फोड़ों से ज़हर सीधे ही निकल जाता है और आप त्वचा के संक्रमण से तुरंत राहत प्राप्त कर सकते हैं।

फोड़ों पर दूध का जादू (The magic of milk on boils)

आप फोड़ों और मुहांसों को दूर करने के लिए दूध का प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए एक कप गर्म दूध लें और इसमें एक चुटकी नमक मिश्रित करें। अब दूध और नमक को अच्छे से मिलाएं और इसे और भी बेहतर और गाढ़ा बनाने के लिए इसमें मकई का आटा मिश्रित करें।

अब इस गाढ़े मिश्रण का प्रयोग अपने फोड़ों पर करें। अगर आप इससे अच्छे परिणाम प्राप्त करना चाहते हैं, तो इनका प्रयोग दिन में कई बार अपने फोड़ों पर करें। आप दूध की मलाई का भी इस्तेमाल फोड़ों को ठीक करने के लिए कर सकते हैं। आप दूध की मलाई में सिरका और हल्दी पाउडर भी मिश्रित कर सकते हैं। इस मिश्रण का प्रयोग सीधे फोड़ों पर करें।

बेकन्स से फोड़ों का इलाज (Bacons can treat boils)

गर्दन का कालापन के लिए घरेलू उपचार

फोड़ों का इलाज करने के लिए आप बेकन की भी मदद ले सकते हैं। बेकन या नमक वाला पोर्क (salt pork) लें और इसे नमक में मिश्रित कर लें। अब इस बेकन को 2 कपड़ों के टुकड़ों के बीच में रखें। इस कपड़े का प्रयोग फोड़ों पर करें। यह भी फोड़ों को दूर करने का थोडा गन्दा पर प्रभावी तरीका है और इसका प्रयोग 2 बार से ज़्यादा करें। इससे आप आसानी से अपने फोड़ों से पस निकाल सकते हैं।

फोड़े दूर करने के लिए कॉर्न मील (Corn meals for the boils)

कॉर्न मील एक तरह का सोखने वाला तत्व होता है और इसी वजह से यह फोड़ों को ठीक करने के लिए काफी प्रभावी साबित होता है। इसके लिए एक कप पानी लें। इस कप को पूरा छलकने तक ना भरें। इस पानी में कॉर्न मील डालकर इस पेस्ट को गाढ़ा बनाएं। इस पेस्ट को सीधे अपने फोड़े पर लगाएं। जिन जिन भागो पर आपने इस पेस्ट को लगाया है, उस जगह को साफ़ कपड़े से ढक दें। ये प्रक्रिया तब तक जारी रखें, जब तक पस ना निकल आए। आप इस प्रक्रिया का प्रयोग दिन में 1 बार से ज्यादा कर सकते हैं।

जेली जार से फोड़ों को ठीक करें (The jelly jar way of treating the boils)

आप काफी आसान तरीके से फोड़ों का उपचार कर सकते हैं। इसे जेली जार का तरीका कहा जाता है। इसके लिए एक पात्र लें और इसमें एक धातुई कप उबालें। अब इस गर्म कप को लें और अपने फोड़ों पर लगाएं। धातु की गर्माहट से पस बाहर निकल आएँगे और इससे आपको काफी आराम मिलेगा। पस निकलने के बाद प्रभावित भाग को अच्छे से साफ़ कर लें।

फोड़े ठीक करने के लिए जीरे के बीज (Cumin seeds for boils)

आप अपने फोड़े को ठीक करने के लिए जीरे का भी सहारा ले सकते हैं। सबसे पहले जीरे के बीज लें और इन्हें अच्छे से पीसकर एक पेस्ट बना लें। इस पेस्ट में थोड़ा सा पानी डालकर अपनी त्वचा पर लगाने लायक बना लें। अब इस पेस्ट का प्रयोग सीधे प्रभावित भागों पर करें। इस प्रक्रिया को पूरा करने के बाद आपको परिणाम अवश्य दिखेगा। कुछ ही समय में आपके सारे फोड़े गायब हो जाएंगे।

फोड़ो के घरेलू उपाय (Home remedies for boils)

दूध और ब्रेड (Milk and bread)

सूखी त्वचा के लिए सर्वश्रेष्ठ मॉइस्चराइज़र

फोड़े की दवा, एक कप दूध को 10 मिनट तक उबालें। इसमें एक चम्मच नमक को धीरे धीरे मिलायें। इसमें ब्रेड के टुकड़ों को हाथ से मसल कर मिश्रण बना लें। प्रत्येक दो घंटे पर त्वचा के फोड़ों पर इसे लगायें, यह आपको फोड़ों के दर्द से आराम देगा और फोड़ो का जल्दी इलाज़ करेगा।

फोड़े का उपचार – प्याज (Phoda phunsi ka gharelu ilaj onion se)

प्याज को लेकर दो टुकड़े करें। एक टुकड़े को लें और इसे अपने फोड़े पर लगा लें और कपड़े से बांध दें। प्याज में सल्फर होता है जो गर्मी पैदा करता है और फोड़ों का इलाज़ करता है। आप प्याज की जगह पर लह्सुन का भी प्रयोग करा सकते हैं। लेकिन यह दर्द देता है और कुछ दिनों में फोड़ों को ठीक कर देगा।

नीम और हल्दी पाउडर (Neem and turmeric)

फोड़े का इलाज, नीम की पत्तियों को लें और एक चुटकी हल्दी पाउडर को मिलाकर इससे चिकना लेप बना लें। इस लेप को त्वचा फोड़े के ऊपर लगा लें। नीम और हल्दी पाउडर में एंटीबैक्टीरियल तत्व पाये जाते हैं जो फोड़ों में उपस्थित बैक्टीरिया को मारता है और ठीक होने की प्रक्रिया को तेज़ करता है।

फोड़े फुंसी का इलाज – अंडा (Egg)

एक अंडा लेकर इसे उबाल लें। अब इस उबले अंडे से सफेदी अलग कर मसल लें। इस मसले अंडे को कपड़े की सहायता से त्वचा फोड़े के ऊपर लगा लें।

ब्लैक सीड (Black seed)

फोड़े फुन्सी, दो चम्मच ब्लैक सीड को लेकर उसे अच्छे से पीस लें। इस ब्लैक सीड के लेप को फोड़ों के ऊपर 10 मिनट के लिये लगा लें। इस प्रक्रिया को तब तक दोहरायें जब तक कि फोड़ा चला नहीं जाता है।

फेस स्क्रब और उसके फायदे

फुंसी का घरेलू इलाज – चाय के पेड़ का तेल (Tea tree oil)

चाय के पेड़ के तेल में कवक विरोधी और बैक्टीरिया विरोधी तत्व फोड़े के संक्रमण के कारणों को मारता है। और फोड़ों को जल्दी ठीक करता है। इस चाय पेड़ के तेल को प्रतिदिन दिन में तीन से चार बार लगायें।

इन प्राकृतिक घरेलू उपायों को उपयोग करने से आप फोड़ों की समस्या से मुक्त हो जायेंगे।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday