Hindi home tips for toothache relief – दांत दर्द का घरेलू इलाज

दाँतों का दर्द या हल्का हो सकता है या बहुत ज्यादा। दाँतों के दर्द की वजह होते हैं वह कीटाणु जो दाँतों में सडन पैदा करते हैं। मीठा खाने के बाद खाने के अंश दाँतों में और मसूड़ों पर रह जाते हैं। यह कीटाणु अम्ल पैदा करते हैं जो दाँतों को नुक्सान पहुंचाते हैं। जो संक्रमण दाँतों के जड़ तक पहुंचे वह भी दाँतों में दर्द पैदा कर सकता है।

दांतों का दर्द दांतों के टूटने की भी निशानी हो सकती है। इसका असली कारण सिर्फ एक दन्त चिकित्सक ही पता लगा सकता है। पर आइये घर बैठे दांतों के दर्द को कम करने के कुछ तरीके जानें।

घरेलू उपायों का प्रयोग करने से दांतों की कई प्रकार की समस्याएं दूर हो सकती हैं। आपको तब काफी चिढ़ होती होगी, जब सुबह उठने के साथ ही आपके दांतों में तेज़ दर्द होने लगे। कुछ लोगों को दांतों में काफी तेज़ दर्द होता है, वहीँ कई अन्य लोगों को दांतों में हल्का और धीमा दर्द होता है। अगर आपके दांतों में दर्द कम भी हो रहा हो, तो भी यह समय आपके दांतों की देखभाल करने का है।

कई बार दांतों का दर्द इतना गंभीर हो जाता है, कि इससे आपके माथे के भाग पर भी काफी बुरा असर पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि दांतों और माथे की नसें आपस में जुड़ी हुई होती हैं। आपने दांतों के चिकित्सक के पास निरंतर दांतों की चिकित्सा करवाने जाना काफी अच्छी आदत है, क्योंकि इससे दांत की सभी समस्याएं काबू में रहती हैं। घरेलू नुस्खों से भी आपको दर्द से निजात प्राप्त होती है।

दाँतों के दर्द के लिए सर्वोत्तम घरेलु सुझाव/उपाय (dant dard ka gharelu ilaj)

  • दांत दर्द में राहत पाने के घरेलू उपाय, गरम या गुनगुने पानी में नमक मिलाकर गरारा करने से मदद मिलती है। खाने के बाद या सुबह और रात को दांत साफ़ करने के बाद गरारा करें।
  • लौंग या जायफल का तेल दर्द होनेवाली जगह पर लगाएं।
  • दांतों के दर्द का घरेलू उपचार, बहुत ज्यादा दर्द होने पर बर्फ का टुकड़ा उस जगह पर दबाकर रखें।
  • बर्फ का टुकड़ा अपने दाँतों और गालों के बीच 15 मिनट तक पकड़कर रखें। दिन में 4 बार यह उपाय करें।
  • दाँत मे दर्द, दूध और कैल्शियम युक्त सब्जियां अधिक मात्र में खाएं। मीठे और ठंडे पदार्थ खाने से परहेज करें।

मुंह के स्वास्थ्य के लिए दांतों को ब्रश करने के नुस्खे

  • दर्द होने पर कभी भी गालों पर गर्माहट न लगाएं जिससे दर्द और बढ़ जाएगा।

दाँतों का दर्द थोड़े समय के लिए होता है और एस्पिरिन जैसी दवाई लेकर कम हो सकता है। कुछ प्राकृतिक उपाय यहाँ दिए गए हैं।

दाँतों के दर्द के लिए प्राकृतिक उपाय- देसी इलाज (desi ilaaj for danth dard in Hindi)

  • दांतों का दर्द के लिए लौंग का तेल कीटाणुरोधी होता है। लौंग से दर्द की जगह सुन्न हो जाती है। थोडा तेल दर्द की जगह पर लगाने से राहत मिलती है।
  • लौंग को चबाने से उनसे तेल निकलता है जो दर्द कम करने में और दांतों के संक्रमण कम करने में उपयुक्त है।
  • अदरक और लाल मिर्च: अदरक की पाउडर और लाल मिर्च पानी में मिलाकर दर्द की जगह पर लगाने से राहत मिलती है।
  • दांतों के दर्द का इलाज, 1 बड़ा चम्मच लोहबान की पाउडर को 2 कप पानी में 30 मिनट उबालें। ठंडा करके छान लें।दिन में इस पानी से 4-5 बार कुल्ला करें।
  • दांत दर्द की दवा – पुदीने की चाय अच्छी स्वाद वाली होती है। उबलते पानी में पुदीने के पत्ते 20 मिनट तक भिगोयें। इस चाय से कुल्ला करें।
  • नमक के पानी से दाँतों के सुजन कम होती है। गर्म पानी में 1 बड़ा चम्मच नमक मिलाएं और 30 सेकंड तक कुल्ला करें।
  • दांतों के दर्द का इलाज, लहसुन दाँतों के दर्द के लिए अद्भुत होता है। लहसुन की पाउडर या लहसुन मसलकर दर्द की जगह पर लगाएं।
  • गर्म और गीली टी बैग दर्द की जगह पर लगाने से राहत मिलती है। ऐसा टूथब्रश इस्तेमाल करें जिसके बाल नरम हो।

अच्छी महक के लिये बेहतरीन मुंह फ्रेशनर

  • हल्दी की गाढ़ी पेस्ट बनाकर कपास से दर्द की जगह पर लगाएं।
  • हाइड्रोजन पेरोक्साइड में कपास की गेंद डुबोकर उसे अपने दर्दवाली जगह पर रखें।
  • अमरुद के पत्ते और पालक के पत्ते भी दांत के दर्द में काम आते हैं। यह पत्ते चबाने से या उन्हें मसलकर दर्द की जगह लगाने से दर्द कम होता है।
  • ककड़ी का टुकड़ा दर्द की जगह पर रखने से फायदा मिलता है। मसली हुई ककड़ी में नमक मिलाकर दर्द की जगह पर लगाएं।
  • खाने का सोडा और पानी मिलाकर दर्द की जगह पर लगाएं। गुनगुने पानी में थोडा खाने का सोडा मिलाकर कुल्ला करें।

दांतों के दर्द से छुटकारा पाने के घरेलू नुस्खे (Natural home tips for toothache or tooth pain relief)

नमक और मिर्च (Salt and pepper)

नमक और मिर्च दोनों ऐसे सामान हैं जो आपकी रसोई के काफी महत्वपूर्ण अंग साबित होते हैं। ये दोनों पदार्थ आपके द्वारा बनाई जा रही हर सब्जी में स्वाद भर देते हैं। पर क्या आप जानते हैं कि इन दोनों उत्पादों का मिश्रण आपके दांतों की विभिन्न समस्याओं का रामबाण इलाज भी साबित होता है। इन दोनों उत्पादों में एंटी बैक्टीरियल (anti bacterial) एवं जलनरोधी तत्व होते हैं जो आपको दर्द एवं पीड़ा से निजात दिलाने में मदद करते हैं। इसके लिए आधा चम्मच नमक और मिर्च को आपस में मिश्रित करें और इसमें थोड़ा सा पानी डालकर एक पेस्ट बनाएं। अब इसका प्रयोग प्रभावित भाग पर करें और दांतों के दर्द से दूर रहें।

प्याज (Onion)

स्वस्थ मुँह की देखभाल के टिप्स अच्छी मुस्कान के लिए

आप रोजाना ही अपने भोजन में प्याज का सेवन करते होंगे। पर आपमें से कई लोगों को यह नहीं पता होगा कि प्याज़ दांतों की समस्याओं से छुटकारा दिलाने में भी आपकी काफी मदद करता है। रसोईघर के इस काफी महत्वपूर्ण तत्व में एंटी माइक्रोबियल (anti microbial) गुण होते हैं। आपके दांतों में कीटाणुओं के हमले को प्याज की मदद से रोका जा सकता है। अगर आपको भी ऐसे ही दर्द की शिकायत है तो एक कच्चे प्याज को चबाकर देखें और फर्क अपने आप पता चल जाएगा।

गेहूं की घास का रस (Juice from wheat grass)

अगर आप निरंतर रूप से गेहूं के रस से अपने मुंह को साफ़ करें तो आपको दांतों के दर्द से काफी प्रभावी रूप से मुक्ति प्राप्त हो जाएगी। यह आपके दांतों और मसूड़ों में मौजूद विषैले पदार्थों को सोखकर काफी प्रभावी रूप से काम करता है। इस विधि से आपके मसूड़ों में बैक्टीरिया और संक्रमणों का पनपना ना के बराबर हो जाएगा। स्वस्थ रहने के लिए इस विधि का रोजाना पालन करें।