Hindi tips to improve facial skin texture – चेहरे की त्वचा संरचना को बढ़ाने के लिये घरेलू उपचार

हमारी त्वचा नियमित रूप से कई बाहरी तत्वों जैसे हवा, रूखे वातावरण और सूरज की किरणों से प्रभावित होती रहती है। अतः त्वचा की गुणवत्ता को बढ़ाने एवं इसे नर्म और मुलायम रखने के लिए आपको अपनी त्वचा की इन तत्वों से रक्षा करनी चाहिए। चेहरे की त्वचा काफी नाज़ुक होती है और इसे काफी जल्दी नुकसान पहुँचने का ख़तरा बना रहता है। त्वचा की देखभाल ना करने पर उम्र के निशान साफ़ झलकने लगते हैं।

दूसरी तरफ जवानी के दिनों में त्वचा की अच्छे से देखभाल करने पर उम्र के बाद के पड़ावों पर एक्जिमा, कैंसर (eczema, cancer) आदि रोगों का ख़तरा कम हो जाता है। त्वचा की क्लींजिंग, मोइस्चराइज़िंग, एक्स्फोलियेटिंग (cleansing, moisturizing, exfoliating) तथा इसे हानिकारक तत्वों से बचाकर इसकी गुणवत्ता में इजाफा किया जा सकता है।

सभी की त्वचा संरचना सम और साफ नही होती है। त्वचा की संरचना त्वचा के एक प्रकार से दूसरे और एक व्यक्ति से दूसरे में बदलती है। बाज़ार में त्वचा संरचना को सुधारने के लिये बहुत सारे उत्पाद उपलब्ध हैं। लेकिन वे सभी महंगे और उनमें हानिकारक रसायन है।

ये रसायन आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं और त्वचा छिद्रों की क्षति करते है। अपने घर पर प्राकृतिक त्वचा संरचना को सुधारने वाले विचार को प्रयोग करना बेहतर होगा। त्वचा की देखभाल कैसे की जाए,नीचे कुछ प्राकृतिक त्वचा संरचना सुधारने की विधियां है-

त्वचा की देखभाल कैसे करे – सूखी और संवेदनशील त्वचा के लिये (Dry and sensitive skin)

  • अच्छे से पके ताज़े केले को लेकर उसे मसल कर चिकना लेप बना लें। इस केले को अपने चहरे पर लगाये। 10 मिनट लगाने के बाद गुनगुने पानी के साथ धो दें। सूखे कपड़े से चेहरे को साफ कर दें।
  • एक चम्मच शहद, फेंटा हुआ सफेद अंडा, एक चम्मच ग्लिसरीन को ले। इन सभी सामग्रियों को पर्याप्त मात्रा में जौ के आटे के साथ अच्छे से मिला कर लेप बना लें। शहद एंटीऑक्सीडेंट की तरह और ग्लिसरीन एंटीसेप्टिक की तरह कार्य करता है। इसे लेप को त्वचा पर लगा लें। 20 मिनट के लिये सूखने दें इसके बाद पानी से धो दें। यह तरीका चेहरे की संरचना को बढ़ाने के साथ आपकी त्वचा पर चमक भी लायेगा।
  • नारियल दूध सूखी त्वचा पर अच्छा कार्य करता है। आधा कप नारियल दूध लेकर उसे 2 मिनट तक उबाले और इसमें 3 चम्मच शहद को मिलायें। इसे सूखी त्वचा पर लगभग 10 मिनट तक लगायें।

सर्दियों के लिए उत्तम घरेलू आरामदेह त्वचा के मलहम

तैलीया त्वचा के लिये ब्यूटी टिप्स (Oily skin – skin ki dekhbhal)

  • सेब के रस का सिरका और पानी को 1:2 के क्रमश: अनुपात में लें। इस मिश्रण को तैलीय त्वचा पर लगायें। यह त्वचा को तेल रहित होने में सहायता करता है।
  • टमाटर में पाया जाने वाला एण्टीऑक्सीडेंट त्वचा के छिद्रों को बेहतर साफ करता है। टमाटर के रस को तैलीय त्वचा पर लगा ले और सूखने के बाद धो दें।
  • टमाटर गूदा, फेंटा हुआ अंडा और नींबू रस को मिलाकर लेप बना लें। इस मिश्रण को लगा लें। यह तैलीय त्वचा पर अद्भुत कार्य करता है।
  • 2 चम्मच शह्द को लेकर इसे पके हुए आड़ू के गूदे के साथ अच्छे से मिला लें। इस मिश्रण को तैलीय त्वचा पर लगा लें। यह त्वचा को तेल रहित बनाने के लिये बेहतर है।

सौंदर्य टिप्स – फेस मास्क (Face mask)

  • आप फेस मास्क का उपयोग त्वचा की संरचना को बढ़ाने के लिये कर सकते है।
  • पका पपीता लेकर उसमें सफेद अंडा मिला दें। इस लेप को चेहरे पर लगा दें। यह त्वचा की संरचना को अच्छा करेगा।
  • शहद को बादाम पाउडर के साथ मिलाकर लेप बना लें और इसे लगा लें। इसके सूखने तक इंतज़ार करें। इसके बाद गुनगुने पानी से धो दें।
  • शहद को दही के साथ मिलाकर लगायें और 20 मिनट के लिये छोड़ने के बाद पानी से धो दें।

बहुत सारे प्राकृतिक फेस पैक है। उन सभी का प्रयोग करके त्वचा की संरचना में सुधार करें।

त्वचा के स्वरुप को निखारने के नुस्खे (Tips to improve facial skin texture)

गर्मियों में दमकती त्वचा पाने के लिए टिप्स

  • विभिन्न प्रकार की त्वचा – चाहे वो तैलीय, रूखी या सामान्य हो, को एक सही सौम्य क्लीन्ज़र से साफ़ करना चाहिए। कठोर क्लीन्ज़र्स आपकी त्वचा को एक उम्रदराज स्वरुप प्रदान करते हैं और नमी छीन लेते हैं। क्लींजिंग दिन में दो बार करें।
  • रोजाना एक्स्फोलियेटिंग से त्वचा साफ़ और मुलायम बनी रहती है। इससे त्वचा की मृत कोशिकाएं दूर होती हैं और रोमछिद्र (pores) खुले रहते हैं। आप ब्रश या स्क्रब (brush or scrub) या चीनी, नमक या शहद जैसे प्राकृतिक उत्पादों से भी मृत कोशिकाएं दूर कर सकते हैं। फलों के सौम्य एंजाइम्स (enzymes) भी त्वचा की गुणवत्ता को बढ़ाने में काफी कारगर साबित होते हैं।
  • एक अच्छे मोइस्चराइज़र (moisturizer) का प्रयोग करने से त्वचा का रूखापन और दरारें दूर होती हैं। त्वचा को इससे नमी मिलती है और इसका स्वरुप भी निखरता है। त्वचा को नमी प्रदान करने के लिए सिर्फ इसपर थपकी दें और रगडें नहीं, क्योंकि रगड़ने से परेशानी पैदा हो सकती है। त्वचा को प्राकृतिक रूप से नमी प्रदान करने के लिए चेहरे पर सादी दही लगाएं और 20 मिनट के बाद धो लें। दही में शहद की बूँदें मिश्रित करने से चेहरे को और भी नमी प्राप्त होती है।
  • रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पीने से शरीर में पानी की कमी नहीं होती। शरीर में पानी की हलकी सी भी कमी हो जाने पर चेहरे पर इसका काफी असर दिखता है।
  • ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड्स (Omega-3 and omega-6 fatty acids) जलन दूर करते हैं और आपकी त्वचा को स्वस्थ रखते हैं। बादाम, हेज़लनट्स, पटसन के बीज, सालमन, टूना और मैकारेल (hazelnuts, flaxseed, salmon, tuna and mackerel) ओमेगा 3 और 6 फैटी एसिड्स के काफी बेहतरीन स्त्रोत होते हैं।
  • रोजाना अपने भोजन में जैतून के तेल (olive oil) की 2 बूँदें अवश्य शामिल करें। जैतून के तेल में अनसैचुरेटेड (unsaturated) वसा और विटामिन ए (Vitamin A) पाया जाता है जो आपकी त्वचा को नर्म और मुलायम बनाता है।

चेहरे के लिए टिप्स – त्वचा की गुणवत्ता को बढाने के प्राकृतिक उपाय (Natural remedies for improving skin texture – twacha ki dekhbhal in hindi)

नींबू का रस (Lemon Juice)

ऑयली त्वचा और चेहरे के लिए शीर्ष घरेलू उपचार

नींबू का रस त्वचा को साफ़ करने, दाग धब्बे हटाने और अन्य अशुद्धियाँ दूर करने के काफी काम आता है। नींबू के रस का सीधा प्रयोग करने से मृत कोशिकाएं दूर होती हैं तथा एक्ने (acne) और अन्य काले दाग हलके हो जाते हैं। आप अंडे की सफेदी और नींबू के रस का मिश्रण करके नर्म मुलायम त्वचा प्राप्त कर सकते हैं।

टमाटर (Tomatoes)

टमाटर मुहांसों और अशुद्धियों को दूर करता है। यह त्वचा का बेहतरीन टोनर (toner) है जो चेहरे को  नर्म और दमकता हुआ बनाता है। टमाटर का पेस्ट चेहरे पर लगाएं और इसे धोने से पहले चेहरे पर 15 मिनट के लिए छोड़ दें।

शहद (Honey)

शहद एक प्राकृतिक उत्पाद है जो त्वचा के स्वरुप को निखारने में काफी मदद करता है। आप इसका प्रयोग सीधे अपने चेहरे और गले पर कर सकते हैं। इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर ठन्डे पानी से धो लें। आप वैकल्पिक तौर पर शहद और दालचीनी पाउडर को मिश्रित करके एक पेस्ट बनाएं और इसका प्रयोग चेहरे पर रात में करें। इसे सुबह हल्के गर्म पानी से धो लें।

खीरा (Cucumber)

खीरे में त्वचा को नमी देने और टोन करने के गुण होते हैं। खीरे के मास्क के नियमित प्रयोग से मुहांसे, काले धब्बे और झुर्रियां दूर होती हैं। इस मास्क का निर्माण करने के लिए दलिए, दूध और खीरे के गूदे का प्रयोग करें। इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं और 20 मिनट के बाद धो लें।

पपीता (Papaya)

पपीते में एंटीबैक्टीरियल (antibacterial) और त्वचा की मरम्मत करने वाले गुण होते हैं जो मृत और क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को भी ठीक करने की क्षमता रखते हैं। चेहरे पर पके पपीते के प्रयोग से त्वचा की टोनिंग (toning) होती है। यह झाइयाँ तथा सूरज की किरणों से पैदा हुए काले धब्बों को भी ठीक कर देता है।

त्वचा को प्रदूषण से बचाने के सबसे अच्छे उपाय

हल्दी (Turmeric)

हल्दी का प्रयोग त्वचा की विभिन्न समस्याओं को ठीक करने के लिए किया जाता रहा है। यह अशुद्धियों और रंजकता को हल्का करता है। हल्दी और दूध को मिश्रित करके अपने चेहरे पर लगाएं और खूबसूरत बेदाग़ त्वचा प्राप्त करें।

पुदीना (Mint)

पुदीने का प्रयोग त्वचा का स्वरुप निखारने तथा अशुद्धियों को दूर करने के लिए कई तरीकों से किया जाता है। इसमें मौजूद मेंथोल (menthol) आपको ठंडक प्रदान करता है। मुहांसों को ठीक करने के लिए अपने चेहरे पर रोजाना रात को पुदीने के रस का प्रयोग करें। वैकल्पिक तौर पर पुदीने और दही को मिश्रित करके अपनी त्वचा पर लगाएं। 15 मिनट के बाद चेहरा धो लें।

दूध या दूध की मलाई (Milk or milk cream)

इसका किसी भी फल के गूदे के साथ प्रयोग करने से एक बेहतरीन मास्क बनता है, जिससे त्वचा की गुणवत्ता में निखार आता है।

चेहरे के लिए ब्यूटी टिप्स – चेहरे के स्वरुप को कैसे निखारें (How to improve facial skin texture at home?)

मुल्तानी मिट्टी का उपचार (Multanimitti remedy)

प्रकृति ने हमें कई ऐसे तत्व प्रदान किये हैं, जिनसे हमारी सुन्दरता में इजाफा होता है। मुल्तानी मिट्टी भी ऐसा ही एक उपाय है। इसके लिए मुल्तानी मिट्टी का एक पैक तैयार करें और अपने चेहरे पर इसका प्रयोग करें। अगर आपकी त्वचा तैलीय है तो यह आपके लिए काफी प्रभावी साबित होगा। आपको काफी लम्बे समय से मुहांसे परेशान कर रहे होंगे। 2 चम्मच मुल्तानी मिट्टी पाउडर लें और इसमें गुलाबजल मिश्रित करें। इन दोनों को अच्छे से मिलाएं तथा अपने चेहरे पर इसका प्रयोग करें। इसके सूखने तक प्रतीक्षा करें और फिर पानी से धो लें।

त्वचा की देखभाल के तरीके – बेहतर त्वचा के लिए सुझाव

नीम (Neem/ Indian lilac)

अगर आपकी त्वचा पर जीवाणु पनपने लगें तो यह अनाकर्षक हो जाती है एवं संक्रमण को जन्म देती है। अतः आपको अपनी त्वचा में निखार लाने के लिए प्राकृतिक एंटीसेप्टिक (antiseptic) का प्रयोग करना चाहिए। बाज़ार में कई ऐसे उत्पाद आपको मिल जाएंगे जो नीम के पत्तों के अंश से बने होते हैं। पर आप प्राकृतिक नीम के पत्तों से भी घरेलू उपाय अपना सकते हैं। मुट्ठीभर नीम की पत्तियां लें और इन्हें अच्छे से पीस लें। एक बार पेस्ट तैयार हो जाने पर इसे शहद के साथ मिश्रित कर लें और अपने चेहरे पर लगाएं। इससे आपके चेहरे की अशुद्धियाँ दूर होंगी और आपका चेहरा आकर्षक लगेगा।

एलोवेरा का रस (Aloe vera juice)

आजकल आप ज़्यादातर सौन्दर्य उत्पादों में एलो वेरा का अंश पा सकते हैं। एलो वेरा की एक पत्ती लें और इसे बीच से काट लें। इससे निकले जेल (gel) को अपनी त्वचा पर लगाएं। यह थोडा फिसलन भरा होगा, पर एक बार इसे लगाकर आप पाएंगे कि यह सूख रहा है। यह धीरे धीरे आपकी त्वचा में समा जाएगा। इससे आपके चेहरे के काले धब्बे और अनाकर्षक दाग दूर होंगे। एक बार इसे लगाकर 20 मिनट के बाद धो लें। इसका प्रयोग हर उम्र वर्ग के लोगों द्वारा किया जा सकता है।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday