Natural mouth freshners for good breath in Hindi – अच्छी महक के लिये बेहतरीन मुंह फ्रेशनर

सांसों की बदबू होने के कई कारण हो सकते हैं। इसका सबसे आम कारण कच्चे प्याज जैसी कोई दुर्गन्ध युक्त चीज़ का सेवन करना है। इसके अलावा पेट की गड़बड़ी की वजह से भी साँसों की बदबू की समस्या सामने आ सकती है। चाहे कारण जो भी हो, मुंह की दुर्गन्ध को दूर रखने के लिए मौत फ्रेशनर्स आपके पास होना काफी ज़रूरी है। आपको इनकी ज़रुरत कभी भी पड़ सकती है, अतः इन्हें हमेशा अपने पास रखें।

इस लेख में हमने कुछ बेहतरीन प्राकृतिक मौथ फ्रेशनर्स की सूची बनाई है, जिनसे आपको कोई भी नुकसान नहीं पहुंचता है। आप इन फ्रेशनर्स का प्रयोग अपनी रसोई से ही कर सकते हैं, और इनमें से कुछ कहीं ले जाने के लिए भी सर्वोत्तम हैं।सांसो की बदबू रोकने के लिए टिप्स :-

प्राकृतिक मौथ फ्रेशनर्स (Natural mouth fresheners)

मुँह की दुर्गंध – सौंफ (Fennel seeds)

इस प्रकार के छोटे बीज उत्पादों के स्वाद जैसे लाईकोराइस के साथ साथ लम्बे समय तक रहने वाला स्वाद होता है। ज्यादा मात्रा में उपभोग ज्यादा स्वाद और शक्ति प्रदान करा सकता है, लेकिन कुछ मात्रा का उपभोग ही आश्चर्यजनक कार्य कर सकता है।

सांसो की दुर्गंध से बचने के घरेलू उपाय – मिंट (Peppermint leaves)

कुछ कच्ची मिंट को चबाना सांसों को ताज़ा बनाता है। हमें कुछ ऐसे मिंट हरी चाय भी मिलती है जो ऐसा ही प्रभाव देती हैं।

लौंग (Cloves)

मुंह के छाले कैसे कम करें?

लौंग का प्रयोग पारंपरिक रूप से मुंह की दुर्गन्ध दूर करने के लिए किया जाता रहा है। इनकी मदद से दांतों का दर्द भी दूर होता है। अतः अगर आपको ये दोनों समस्याएं साथ में सता रही हैं तो आपका कार्य सिर्फ लौंग के प्रयोग से ही हो जाएगा। लौंग जहां बैक्टीरिया (bacteria) पैदा करने वाली कैविटी (cavity) से लड़ता है, वहीँ यह आपके सांसों की दुर्गन्ध भी दूर करता है। रोजाना लौंग के कुछ टुकड़ों को चूसें। इससे आप अपने लिए एक प्राकृतिक माउथवाश (mouthwash) की सृष्टि कर सकते हैं। इससे आगे जाकर आपके दांतों को काफी फायदा होगा और साँसों की बदबू भी दूर होगी।

नमक के पानी से गरारे (Salt water mouthwash)

आपके सांसों की दुर्गन्ध को चुटकियों में भगाने का एक तरीका यह भी है कि आप नमक के पानी से मुंह धोएं। हलके गर्म पानी में नमक डालें और इसे अच्छे से मिश्रित करें। इस मिश्रण से अपने मुंह को कुल्ला करके साफ़ करें। इससे मुंह की बदबू दूर होगी और साँसों में ताजगी आएगी। यह सांसों की बदबू को दूर भगाने के सबसे प्रभावी उपायों में से एक है, क्योंकि चाहे आपके घर में अन्य कोई भी सामग्री उपलब्ध हो या नहीं, नमक और पानी सबके ही घर में आसानी से मिल जाता है।

सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

जब आप भोजन करके उठें और आपके मुंह से लहसुन और प्याज की बदबू आए तो इसे दूर करने के किसी विकल्प की आपको तलाश रहती है। अगर आपके पास सेब का सिरका है तो यह काम काफी आसान हो जाएगा। सेब के सिरके की थोड़ी सी मात्रा पानी में मिश्रित करें और इसका प्रयोग माउथवाश (mouthwash) की तरह करें। इससे आपके मुंह में तुरंत ताजगी आएगी और महक भी दूर होगी।

सेज (Sage)

आयुर्वेदिक उत्पादों में सेज का काफी प्रयोग किया जाता है। अगर आप सेज की पत्तियों का प्रयोग करें तो इससे भी काफी फायदा पहुंचता है। सेज की पत्तियाँ साँसों की महक को दूर कर देती हैं। इनमें शक्तिशाली एंटी बैक्टीरियल (anti-bacterial) गुण होते हैं जो बदबू की सृष्टि करने वाले जीवाणुओं का खात्मा कर देते हैं। आप इसका पेस्ट बनाकर तथा इसमें थोड़ा सा पानी मिश्रित करके एक माउथवाश का काम भी ले सकते हैं। ताजगी कायम रखने के लिए दिन में दो बार इसे दोहराएं।

स्वस्थ मुँह की देखभाल के टिप्स अच्छी मुस्कान के लिए

ग्रीन टी (Green tea)

यह सबसे प्रभावी प्रकार की चाय है। इसका स्वाद कईयों को पसंद नहीं होता, पर इसमें कई तरह के स्वास्थ्य गुण होते हैं। ये साँसों की बदबू को भी दूर करती हैं और आपका वज़न कम करने में भी मदद करती हैं। इनमें एंटीऑक्सीडेंटस (antioxidants) होते हैं जो बैक्टीरिया पैदा करने वाले जीवाणुओं को दूर भगा देते हैं। स्वस्थ जीवन जीने के लिए स्वास्थ्यकर पेय पदार्थों का सेवन करें।

अनानास (Pineapples)

अनानास काफी स्वादिष्ट और रसभरे फल होते हैं और हम सबके पसंदीदा भी होते हैं। वैसे तो ये हर मौसम में नहीं पाए जाते, पर जब भी ये मिलते हैं, लोग इनके दीवाने हो जाते हैं। इनमें ब्रोमेलिन (bromelain) नामक हाजमे में सहायता करने वाला एंजाइम (enzyme) होता है जो साफ़ सफाई करने में आपकी सहायता करता है। आप इसका रस पीकर या भोजन के बाद इसे खाकर साँसों की बदबू को दूर कर सकते हैं। इससे आपके साँसों की बदबू तुरंत दूर हो जाती है और के भीनी भीनी मीठी खुशबू आती है।

नींबू (Lemon)

नींबू चूसने से भी सांसों की बदबू से राहत मिलती है। ये काफी अम्लीय होते हैं, अतः आपकी जीभ और मसूड़ों में बैक्टीरिया की बढ़त को काफी कम कर देते हैं। इससे एक बात सुनिश्चित हो जाती है कि नींबू साँसों की बदबू दूर करते हैं।

टी ट्री ऑइल (Tea tree oil)

टी ट्री ऑइल एक और ऐसा प्राकृतिक नुस्खा है जो साँसों की बदबू को दूर भगाता है। आप अपने टूथपेस्ट (toothpaste)में इसे मिश्रित करके अपने मुंह को साफ़ रख सकते हैं। इससे ना सिर्फ बैक्टीरिया का खात्मा होगा, बल्कि आपकी सांसें भी तरोताजा रहेगी। आप टी ट्री ऑइल और पानी को मिश्रित करके एक माउथवाश का निर्माण भी कर सकते हैं।

इलायची फली (Cardamom seed)

इन सभी चीजों को आपको निगलना नहीं चाहिये, लेकिन इसे कुछ देर तक चबाना बुरी महक से छुटकारा दिला सकता है।

मेथी (Fenugreek)

मेथी के बीजों के कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ होते हैं। मेथी को उबलते पानी में डालें और बाद में इस पानी को छान लें। साँसों की बदबू को दूर करने के लिए इस पेय पदार्थ का नियमित सेवन करें। एक एक लम्बे समय तक चलने वाली प्रक्रिया है जो उन लोगों के लिए लाभदायक है, जिन्हें इस समस्या का बार बार सामना करना पड़ता है। अच्छे परिणाम प्राप्त करने तक इसका प्रयोग करें।

धनिया (Coriander)

अगर मिंट ज्यादा शक्तिशाली हो, साथ ही अजवायन बोरिंग लगे तो धनिया का प्रयोग किया जा सकता है। इसमें हरे नीबू का स्वाद है जिसे हम सब बहुत पसंद करते हैं।

अमरुद (Guava)

अमरुद भी एक ऐसा फल है जिसका सांसों की बदबू दूर करने के लिए प्रयोग किया जाना चाहिए। कच्चे अमरुद खरीदें और इन्हें चबाएं। आप अमरुद की पत्तियों का भी उपयोग कर सकते हैं, पर इनका सेवन ना करें। कई लोग भारी भोजन करने के बाद अमरुद खाने की सलाह देते हैं, क्योंकि आपको इससे कई बेहतरीन स्वास्थ्य गुण प्राप्त होते हैं।

अजवायन (Thym seeds)

मुंह से बदबू आना, अगर आपके भोजन की विशेषतओं में अजवायन शामिल है तो इसे भोजन समाप्त करने पर प्रयोग करें। अजवायन में एक एंजायम शामिल होता है जो बुरी महक के कारक एलर्जियों जैसे अदरख तेल को हटाने में मदद कर सकता है।

स्वस्थ मुँह की देखभाल की सलह अच्छी मुस्कान के लिए

मुंह से बदबू – दालचीनी (Cinamon)

आप दालचीनी की एक पूरी पट्टी को चबा सकती है या अपने लिये हरी चाय बना सकती है (इसमें इलायची भी मिला सकती हैं।)

हमने अपनी सांसों को ताज़ा करने वाली कैंडी के बारे मे सुना है, यह कैंडी इन सरल मसालों में से किसी एक की मदद से बनाया जाती है। हमने स्वाद वाली टूथपिक के बारे में भी सुना है जो सामान्यताया लकड़ी की टूथपिक को प्राकृतिक उत्तेजकों के अर्क में भिगोकर और सुखा कर बनायी जाती है।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday