Home remedies in Hindi to cleanse colon – मलाशय को साफ़ करने के घरेलू नुस्खे

मलाशय / बड़ी आंत पाचन प्रणाली का ही एक हिस्सा है तथा यह ठोस मल से नमक और पानी की मात्रा को निकालता है। मलाशय के रोग, लेकिन जब मलाशय के नित्यकर्म में कोई बाधा पड़ती है तो इससे मलाशय की दीवारों पर हानिकारक टॉक्सिन्स उत्पन्न हो जाते हैं। इससे काफी समस्याएं जैसे सिर दर्द, कब्ज़, गैस, उलटी, सूजन त्वचा की एलर्जी बोवेल सिंड्रोम तथा ऐसी ही अन्य समस्याएं जन्म लेती हैं। मलाशय के रोग, सही नुस्खे अपनाने पर आप दिल की बीमारी, गुर्दे की बीमारी, अस्थमा एवं त्वचा की बीमारियों से लड़ सकते हैं।

मलाशय को साफ़ करने से हानिकारक टॉक्सिन्स भी साफ़ हो जाते हैं। आप कुछ घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करके आसानी से इसे साफ़ कर सकते हैं।

पेट साफ करने का तरीका – सेब का रस (Apple juice – pet ki safai)

सेब के रस का रोज़ाना सेवन करने से शरीर के टॉक्सिन्स नष्ट होते हैं और मलाशय साफ़ होता है। यह आँतों का सही काम करना निश्चित करता है और लिवर एवं पाचन प्रणाली के स्वास्थ्य में भी वृद्धि करता है। अपने दिन की शुरुआत में एक गिलास ताज़े सेब का रस पियें और आधे घंटे बाद एक गिलास पानी पियें। इस प्रक्रिया को सारे दिन दोहराते रहें। अगर आप ताज़े सेब का रस नहीं पी सकते तो जैविक सेब का रस ग्रहण करें। इस प्रक्रिया के दौरान ठोस आहारों से दूर रहे।

पेट साफ रखने के उपाय – नींबू का रस (Lemon juice)

झुर्रियां भगाइये आसान घरेलू उपायों से

मलाशय को साफ़ करने के लिए नींबू का रस काफी आसान और उपयोगी उपचार है। नींबू के रस में 1 चम्मच शहद, चुटकी भर समुद्री नमक और एक गिलास गुनगुना पानी डालें। इन सारे पदार्थों को अच्छे से मिलाएं और सुबह सुबह खाली पेट इसे ग्रहण करें। यह आपको दिन की शुरुआत में ही ऊर्जा से भर देता है और आपकी आँतों को भी सही रखता है।

मलाशय की सफाई – पानी (Water)

रोज़ाना काफी मात्रा में पानी पीने से शरीर की साड़ी अशुद्धियाँ दूर हो जाती हैं। रोज़ाना 10 से 12 गिलास पानी पियें। इससे शरीर की सारी गन्दगी प्राकृतिक तरीके से साफ़ हो जाएगी। ज़्यादा पानी पीने से मलाशय दुरुस्त रहता है और काफी सुचारू ढंग से काम करता है।

आंत की सफाई – सब्ज़ियों का रस (Vegetable juice)

मलाशय और आँतों की सही देखभाल के लिए कच्ची सब्ज़ियों का रस काफी फायदेमंद होता है। सब्ज़ियों के रस में विटामिन, मिनरल, एंजाइम, चीनी और एमिनो एसिड की मात्रा होती है जो स्वस्थ और ऊर्जावान शरीर के लिए आवश्यक है। पहले से तैयार रस का सेवन न करें क्योंकि इनमें शरीर की अशुद्धियों को हटाने वाले प्रभावी एंजाइम उपस्थित नहीं होते। हमेशा घर में तैयार ताज़ी सब्ज़ियों के रस का ही सेवन करें और डिब्बाबंद खाने से दूर रहकर अपने मलाशय को स्वस्थ बनाएं।

कोलोन की सफाई – फाइबर युक्त भोजन (Fiber foods – colon ki safai)

डायपर के रैशेस हटाने के घरेलू नुस्खे

फाइबर युक्त भोजन करने के कई फायदे हैं। ये मलाशय की अशुद्धियों को बाहर निकालते हैं, आँतों की क्रिया को नियंत्रित करते हैं, उन्हें किसी समस्या से बचाते हैं तथा मल को नरम बनाए रखने में मदद करते हैं। आप मटर, अनाज, हरी गोभी, बीन्स, नट्स, साबुत अनाज, बीज आदि से फाइबर की मात्रा प्राप्त कर सकते हैं।

आंत की देखरेख – समुद्री नमक (Sea salt)

आपके मलाशय को स्वस्थ बनाए रखने का एक और उपाय है समुद्री नमक। एक चम्मच नमक को पानी में मिलाएं तथा इसे उबालें। इसे गरम अवस्था में या कमरे के तापमान में करके पियें और फिर लेटकर पेट की मलाशय की तरफ मालिश करें। इस प्रक्रिया से आपके शरीर की अशुद्धियाँ, पैरासाइट और बैक्टीरिया दूर होंगे और आपकी पाचन प्रणाली दुरुस्त होगी।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday