Hindi home remedies to remove birth marks / moles – जन्म निशान हटाने के लिये घरेलू उपचार

जन्म के निशान क्या हैं? हमारी त्वचा में मौजूद रंग के वे निशान जो हमारे जन्म के समय से होते हैं जन्म के निशान कहलाते है, वे जन्म के बाद भी बढ़ सकते है। लोगों को इन निशानों को हटाने के लिये किसी भी दवा की आवश्यकता नहीं होती है, क्योंकि सिवाय दिखायी पड़ने के, इसका हमारे शरीर पर कुछ भी प्रभाव नहीं है । फिर भी, कुछ मामलों में चिकित्सा उपचार की आवश्यकता हो सकती है।

एक व्यक्ति के शरीर पर जन्म के निशान एक ही आकार और रंग के नहीं होते हैं, वे, काले, लाल या सपाट बैंगनी विभिन्न आकारों में हो सकते है। ये निशान हमारी उम्र के साथ अपने आकार में वृद्धि करते हैं। जन्म के निशान के अस्तित्व के लिए कोई उचित कारण नहीं है, कुछ लोगों को विश्वास है कि संवहनी जन्म के निशान आनुवंशिक कारकों की वजह से दिखाई देते हैं। वे त्वचा में केशिकाओं के विकास के कारण होते हैं।

लोगों के शरीर में कई तरह के जन्म दाग हो सकते हैं। इनमें से कुछ आपको दिखते हैं और वहीँ कुछ नहीं दिखते। कुछ ख़ास प्रकार के जन्म दाग खासकर महिलाओं के शरीर पर काफी अजीब दिखते हैं। वे साफ़ सुथरी त्वचा प्राप्त करना चाहती हैं, जिससे कि उनके शरीर पर लोगों के सामने कोई दाग धब्बा ना दिखे। वैसे तो जन्म से हुए ये निशान बिलकुल भी हानिकारक नहीं होते हैं, पर ये आपकी सुन्दरता में काफी बड़ी बाधा अवश्य पैदा करते हैं। ऐसे कई लोग हैं जो सौन्दर्य उपचारों या शल्य चिकित्सा के माध्यम से इन जन्म के निशानों को हटाने का प्रयास करते हैं। पर आप हमेशा ही जन्म के निशानों को दूर करने के प्राकृतिक उपायों का प्रयोग कर सकते हैं।

जन्म निशान हटाने के लिये घरेलू उपचार (Gharelu upay to remove the moles in Hindi)

बर्फ के टुकड़े (Mole removal in Hindi by ice cubes)

बर्फ का टुकड़ा त्वचा के कसाव और हल्का करने में सहायता करता है, वे त्वचा पर जन्म के निशान की कमी के लिए प्रोत्साहन करता है। दो या तीन बर्फ टुकड़े को एक कपड़े में लेकर इसके खुले क्षेत्र को कस कर बांध लें। पांच से दस मिनट के लिए जन्म के निशान क्षेत्र पर कपड़े को रगड़ें। अच्छे परिणाम के लिए नियमित तरीके से इस प्रक्रिया को दोहराएं।

त्वचा की चिप्पी या त्वचा टैग हटाने के घरेलू नुस्खे

जन्म के निशान के लिये जैतून का तेल (Birth mark ke liye upay – Olive oil)

जैतून का तेल एक उचित मॉइस्चराइज़र है, यह निशान को कम करने के लिए और त्वचा को नर्म करने में सहायता करता है। अधिकांश प्रक्रियाओं में आप निशान को हल्का पाते हैं लेकिन उन्हें दूर करना कठिन होता है। इसलिये प्रतिदिन लगभग 10 मिनट तक प्रभावित त्वचा पर जैतून तेल की मालिश करने की कोशिश एक सरल विधि हो सकती है। आपको इस कदम से अच्छा परिणाम मिलेगा इसलिये एक जैतून तेल की बोतल खरीदें।

जन्म के निशान के लिये नींबू (Birth mark ke liye upay – Lemon)

प्राकृतिक विरंजन गुण के कारण नींबू को कई चेहरे क्रीम उत्पादों और त्वचा देखभाल लोशन में पाया जाता है। विटामिन सी और विरंजन गुण त्वचा की बनावट को हल्का करने के लिए और मुक्त रेडिकल अणुओं के साथ लड़ने में सहायता करता है जो उम्र बढ़ने के कारण होते हैं। प्रभावित क्षेत्र पर एक नींबू से निचोड़ा ताजा रस लगायें करें और कुछ मिनट के लिए छोड़ दें और फिर धुल दें। इससे निशान की उपस्थिति को हल्का करने में मदद मिलेगी।

जन्म के निशान के लिये टमाटर का रस (Birth mark ke liye gharelu upay – Tomato juice)

जन्म के निशान के लिए टमाटर के रस का उपयोग एक प्रभावी घरेलू उपाय है। टमाटर का ऑक्सीकरण विरोधी गुण त्वचा कोशिकाओं की क्षति को रोकता और बचाता है जिसके माध्यम से यह त्वचा के निशान को हटाता है। प्रभावित क्षेत्र पर टमाटर के रस को लगायें और पांच से दस मिनट के लिए बैठे।

जन्म के निशान के लिये विटामिन ई (Birth mark ke liye gharelu upay – Vitamin E)

अपने ऑक्सीकरण विरोधी गुण के साथ विटामिन ई शरीर में मुक्त रेडियल क्षति के साथ मुकाबला करने में सहायता करता है। आप जन्म के निशान के इलाज के लिए विटामिन ई तेल जैसे नारंगी के तेल का उपयोग कर सकते हैं। अपने आपको आंतरिक रूप से हल्का करने के लिये विटामिन युक्त भोजन करने की कोशिश करें।

चेहरे के बाल निकालने के लिए घरेलू उपाय

जन्म के निशान के लिये विटामिन ए और सी (Birth marks kaise hataye – Vitamins A and C)

विटामिन जैसे ए और सी समृद्ध खाद्य वस्तुयें त्वचा के निशान की अधिकांश समस्या को सुलझाती हैं। विटामिन युक्त खाद्य पदार्थों  जैसे कीवी, संतरे या खूबानी से एक पेस्ट तैयार करें और प्रभावित क्षेत्र पर लगायें। यह जन्म के निशान के इलाज के लिए एक सरल और प्राकृतिक उपाय है।

कॉस्मेटिक तरीके से उपचार कराना अतिरिक्त धन और साइड इफेक्ट को शामिल कर सकता है इसलिये प्राकृतिक उपचार का पालन करें।

जन्म के दाग दूर करने के लिए पपीता और खुबानी (Papaya with apricot to remove birth marks)

एक पका पपीता लें और इसका एक हिस्सा काटें। अब इसमें इतनी ही मात्रा में खुबानी का मिश्रण करें। इन दोनों को अच्छे से मिलाएं और अपनी त्वचा पर लगाएं। इसे 20 मिनट तक अपनी त्वचा पर रहने दें और फिर इसे हटा लें। खुबानी और पपीते दोनों के एंजाइम्स (enzymes) आपके शरीर के जन्म दागों को हल्का करेंगे।

क्षतिग्रस्त त्वचा के लिए बर्फ का पैक बेहतरीन नुस्खा (Ice packs best tips for damaged skin)

यह एक काफी अनोखा उपाय है, जिसके बारे में काफी कम लोगों ने ही सोचा होगा। बर्फ के टुकड़े और ठंडी सिंकाई से आपकी त्वचा का स्वरुप काफी मुलायम हो जाता है। बर्फ की इस सिंकाई को 15 से 20 मिनट तक करते रहें और इसके बाद चेहरे और शरीर के अन्य जन्म दागों से पूरी तरह दूर रहें।

जन्म के दाग कम करने के लिए विटामिन ए (Vitamin A to reduce birth marks)

विटामिन ए भी आपके शरीर के जन्म दागों को कम करने का काम बखूबी करता है। आप दवाई की दुकानों से विटामिन ए का कैप्सूल (capsule) आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। इस कैप्सूल के अन्दर का अन्दर की चीज़ बाहर निकालें और इसमें थोड़ा सा पानी मिश्रित करके उस भाग पर लगाइए जहां आपके जन्म का निशान है। विटामिन ए एक्सफोलिएशन (exfoliation) की प्रक्रिया के द्वारा मृत त्वचा को दूर करता है और आपके जन्म दागों को भी मिटाने में सफल होता है।

एलोवेरा जेल से प्राकृतिक रूप से जन्म के दाग हटाने की प्रक्रिया (Natural ways on how to remove birth marks with aloe vera gel)

आपके घर के आसपास निश्चित ही एलोवेरा का कोई पौधा होगा। आपको सिर्फ इसे ढूँढने की आवश्यकता है। इस पौधे की एक पत्ती लें और इसे बीच से काट लें। इसमें से एलो वेरा जेल निकाल लें और शरीर के उस भाग पर लगाएं जहाँ आपका जन्म दाग मौजूद है। हफ्ते में इस प्रक्रिया को कई बार दोहरा कर जन्म दाग की समस्या से दूर रहें। इससे आपकी त्वचा भी काफी तरोताजा और आरामदायक हो जाएगी।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday