Home remedies to get rid of oily scalp, oily hair – तैलीय बालों और सिर की त्वचा से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय

सिर की तैलीय त्वचा पसीने की ग्रंथियों द्वारा अतिरिक्त तेल के उत्पादन के फलस्वरूप होती है तैलीय त्वचा का मुख्य लक्षण यह है कि आपका सिर धोने के 3 से 4 दिन के बाद ही दोबारा चिपचिपा हो जाता है। आपके बाल मैले तथा बेजान दिखने लगते हैं। इससे खुजली एवं डैंड्रफ (dandruff) की संभावना बढ़ जाती है। तैलीय बालों के मुख्य कारण हैं आनुवंशिकता, तनाव, मासिक धर्म के दौरान महिलाओं के शरीर में होने वाली हार्मोनल असमानताएं (hormonal imbalances), ज़्यादा तैलीय भोजन करना तथा बालों की ठीक से देखभाल ना करना आदि। नीचे इस समस्या से निपटने के कुछ उपाय दिए जा रहे हैं।

आपने कभी अपने बालों पर ध्यान दिया है के वो हफ्ते मे 3-4 बार धोने के बाद भी तैलीय हो जाते हैं ऐसा क्यों? आप सुबह बाल धोते और शाम तक चिपचिपे से लगने लगते हैं। ऐसा होता है तैलीय ग्रंथि सीबम के ज्यादा सक्रिय होने से। सीबम शारीर में प्राकृतिक रूप से बनता है सेबसोउस ग्लैंड से ये निकलता है। ये बालों को नमी और कोमलता प्रदान करता है। लेकिन अगर ये ज्यादा मात्रा में निकले तो बालों को तैलीय और चिपचिपा बना देता है।

ये बालों को तैलीय बनाने तक सिमित नहीं है ये आपके चेहरे पर मुँहासों की समस्या भी ले आता है।

वैसे 2 प्रकार के तैलीय बाल/ऑयली बाल होते हैं। एक वो जो जड़ से लेकर सिरों तक होते हैं और एक वो जो केवल जड़ो में ही तैलीय रहते हैं। आइये आपको कुछ घरेलु उपचार बताते हैं जिससे आप सुन्दर और चमकदार बाल पा सकते हैं बिना ज्यादा खर्चा करे। बालों की देखभाल के तरीके :-

आइए कुछ घरेलु उपचार जाने – बालों की देखभाल कैसे करें? (Hair care remedies for oily hair – taily baal ki dekhbhal)

बालों के लिये घरेलू हेयर मास्क और हेयर पैक

  1. अगर आपके बाल तैलीय हैं तो रोज़ाना अपने बालों में शैम्पू करें और अच्छे से पानी से धोएं क्योंकि अगर शैम्पू बालों में रह जाता है तो उससे गन्दगी और धूल बालों में चिपक जाती है।
  2. घर में ही बालों के लिए कंडीशनर बनाइये। एलोवेरा से बना कंडीशनर बालों को कोई नुक्सान नहीं होने देता। इसे इस प्रकार बनायें। एलोवेरा जेल ,1 चमच्च एप्पल सिडेर विनेगर और 1 चमच्च नीबू का रस। ये हर प्रकार के बालों के लिए अच्छा है।
  3. हमेशा ऐसा शैम्पू चुने जो तैलीय बालों के लिए ही बना हो और जिसका PH स्तर 4.5 ,6.7 हो।
  4. अपने बालों के लिए शैम्पू घर पर ही बनाइये । शैम्पू में एलोवेरा जेल और नीबू का रस मिलाकर फ्रिज में रख दीजिये। आप इसे काफी दिन तक इस्तेमाल कर सकते हैं।
  5. जिनके बाल ज्यादा तैलीय हों उन्हें कंडीशनर का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। और अगर करें भी तो केवल सिरों में ही लगाये जड़ो में नहीं।
  6. अगर आपको बार बार कंघी करने की आदत है तो उसे छोड़ दें क्योंकि बार बार कंघी करने से बाल झड़ते हैं और तेल ग्रंथि ज्यादा तेल छोड़ती है।
  7. अगर आपको बालों में से बदबू आती है तो बालों की जड़ो में थोडा बेबी पाउडर डाल लीजिये और कंघी करिए इससे पाउडर तेल सोख लेगा और फ्रेश महसूस करेंगे।
  8. ऐसी कुछ चीजें हैं जो बालों के साथ बहुत उपयोगी होती है। जैसे नीबू का रस,चाय का पानी, बियर ,सीडर एप्पल विनेगर। इन्हें बालों को शैम्पू से धोने के बाद लगाये और फिर पानी से अच्छी तरह इन्हें भी धो लें। गलती से भी ना भूलें क्योंकि इन चीजों में एसिड (अम्ल)होता है।
  9. अंडे की जर्दी को नीबू की कुछ बूंदों के साथ मिलाकर बालों पर लगाइये और फिर धो लीजिये तुरंत असर दिखेगा।
  10. दिए गए उपायों में से किसी भी एक को चुनिए और तैलीय बालों की समस्या से छुटकारा पाइए।

तैलीय बाल/ऑइली बाल के लिए घरेलू उपचार (Home remedies oily balo ke liye tips)

सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

बाल कटवाने के बाद उनकी देखभाल के टिप्स

यह तैलीय बालों के लिए काफी अच्छी घरेलू विधि साबित होता है। इसमें मौजूद एसिटिक एसिड (ascetic acid) ph का स्तर बनाए रखने में आपकी मदद करता है। बालों को शैम्पू (shampoo) करने के बाद पानी और सेब के सिरके के मिश्रण को सिर पर लगाएं तथा इसे कुछ देर के बाद धो लें।

काली चाय (Black tea)

इसमें टैनिक एसिड (tannic acid) होता है जो एक एस्ट्रिंजेंट (astringent) का काम करता है एवं बालों के तैलियपन को रोकता है। काली चाय के पत्तों को पानी में उबालकर, छानकर तथा ठंडा करके एक घोल तैयार करें। इसे बालों और सिर की त्वचा पर लगाकर 10 मिनट तक रखें एवं इसके बाद बालों को एक सौम्य शैम्पू (shampoo) से धो लें।

बेकिंग सोडा (Baking Soda)

इसमें बालों से तेल को सोख लेने के गुण होते हैं और यह सिर की त्वचा का ph स्तर भी बरकरार रखता है। बेकिंग सोडा दो तरीकों से बालों से तेल को हटाने में सक्षम है। पहले तरीके के अंतर्गत सूखे बेकिंग सोडा को बालों में रगडें एवं इन्हें अच्छे से ब्रश (brush) करें। दूसरे तरीके के अंतर्गत बेकिंग सोडा और पानी को मिलाकर एक पेस्ट (paste) बनाएं एवं इसका प्रयोग गीले बालों पर करें। इसे कुछ देर के लिए छोड़ दें और इसके बाद गर्म पानी से धो लें।

एलोवेरा (Aloe Vera)

बालों की देखभाल के नुस्खे, यह आपके बालों से अतिरिक्त तेल निकालने में काफी कारगर साबित होता है। यह विटामिन, खनिज एवं एंजाइम (vitamins, minerals and enzymes) से भरपूर होता है जो सिर की त्वचा की अशुद्धियों को निकालने में मदद करते हैं एवं पसीने की ग्रंथियों को अतिरिक्त तेल के उत्पादन से भी रोकते हैं। एलोवेरा के सुकून प्रदान करने वाले गुण बालों के फोलिकल्स (follicles) को पोषण देकर बालों को स्वस्थ बनाते हैं। एलोवेरा के जेल (gel) को किसी सौम्य शैम्पू के साथ मिश्रित करके एक शैम्पू बनाएं तथा इसमें नींबू के रस की कुछ बूंदों का मिश्रण करें। इस घरेलू शैम्पू को आप करीब एक हफ्ते तक अपने फ्रिज (fridge) में रख सकते हैं।

मुल्तानी मिट्टी (Fuller’s Earth)

करेले से बालों की देखभाल कैसे करें?

यह तैलीय बालों का बेहतरीन उपचार है। यह सिर में रक्त संचार को सुचारू करने में सहायता करता है तथा ph का स्तर नियंत्रित करता है। मुल्तानी मिट्टी और पानी का एक पेस्ट बनाएं तथा इसका प्रयोग सिर और बालों पर करें। 20 मिनट के बाद बालों को किसी सौम्य शैम्पू से धो लें।

टमाटर (Tomato)

बालों की देखभाल के नुस्खे, ये तेल की ग्रंथियों से अतिरिक्त तेल निकलने से रोकता है और सिर में ph का स्तर बनाए रखता है। मुल्तानी मिट्टी और टमाटर के रस का एक पेस्ट बनाएं तथा इसे अपने बालों पर लगाएं। अब अपने सिर को शावर कैप (shower cap) से ढक लें और इसे आधे घंटे के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे ठन्डे पानी से धो लें।

वोडका (Vodka)

यह बालों को पोषण देने का बेहतरीन विकल्प माना जाता है। यह रोमछिद्रों (pores) को बंद करके त्वचा की ग्रंथियों से अतिरिक्त तेल निकलने से रोकता है। बालों को एक सौम्य शैम्पू से धोने के बाद एक कप वोडका में दोगुना पानी मिलाकर बालों पर लगाएं और इसे 15 मिनट रखकर धो लें।

केला और शहद (Bananas and Honey)

ये दोनों उत्पाद बालों को तेल से मुक्त रखने का सर्वोत्तम उपाय हैं। केले और शहद का एक पेस्ट बनाएं तथा इसे अपने सिर तथा बालों पर लगाएं। 20 मिनट तक इसे रखकर बालों को अच्छे से धो लें।

ड्राई शैम्पू (Dry shampoo)

टेलकम पाउडर, कोर्नस्टार्च या बेबी पाउडर (talcum powder or cornstarch or baby powder) का प्रयोग बालों से तुरंत तेल निकालने के लिए किया जा सकता है।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday