Weird reasons behind gaining weight – वजन बढ़ने के कुछ अजीब कारण

हाल ही में, वजन बढ़ना दुनिया भर में लोगों के लिए एक गंभीर समस्या बन गया है । वजन बढ़ने के कारण कई हो सकते हैं, लेकिन वयस्कों में वजन बढ़ने (vajan badne ka karan) के लिए सटीक कारण शायद ही पीड़ित द्वारा पाया जाता है । हाल ही के अध्ययन के अनुसार वजन बढ़ने के कारण यह हो सकते हैं।

  • हार्मोनल असंतुलन
  • विटामिन की कमी
  • निर्धारित दवा के साइड इफेक्ट

रॉबर्ट जे हेदाया, मनोरोग के प्रोफेसरों में से एक, का कहना है  हम में से अधिकांश लोगों को लगता है कि जीवनशैली में बदलाव वजन बढ़ाने के लिए मुख्य कारणों में से एक है। लेकिन, वास्तव में हमारे शरीर में ऐसी प्रतिकार शक्ति है जो इन कारको को नियंत्रण में रख सकती है जो हम नहीं कर सकते। वजन बढ़ने के कोई भी कारण हो जैसे हार्मोनल असंतुलन या दवाइयों के साइड इफ़ेक्ट परंतु अंततः वह व्यक्ति ही दोषी क्यों पाया जाता है?

मोटापे के कारण – वजन बढ़ने के कुछ अजीब कारण (Weird reasons behind weight gain – motape ke karan)

उदासीनता (डिप्रेशन) (Depression)

गर्मियों में शरीर की देखभाल के नुस्खे

कुछ विशेषज्ञों का यह भी मानना है की जो व्यक्ति हमेशा उदास रहता है उसका वजन बढ़ सकता है। आमतौर पर ऐसे व्यकितियों को उदासीनता दूर करने की दवाइयों के सहारे की जरूरत पड़ती है। ऐसी स्थिति में उसका वजन 5 से 15 पाउंड तक बढ़ने की आशंका होती है। वजन बढ़ने का उदासीनता से एक आदर्श संबंध है। वर्ष 2010 में प्रकाशित पत्रिकाओं में से एक के अनुसार, उदास मन और अकेलेपन का अनुभव करनेवाले लोगों का वजन बढ़ने की काफी संभावना है।

वजन बढ़ना कैसे रोके – उदासीनता से बढ़ रहे वजन को ठीक कैसे करें (How to fix depressive weight gain)

डोमिनिक फ्रादीन, एमडी जो कैलिफोर्निया में मेडिसिन के लोमा लिंडा स्कूल के साथ जुड़े हैं उनके अनुसार जो रोगी उदासीनता दूर करने की दवाइयां ले रहा ही उसे धीरे-धीरे ऐसी दवा लेने की आदत बंद कर देनी चाहिए। वह इन रोगियों को wellbutrin नामक दवा लेने का सुझाव देते हैं जो वजन कम करने के लिए मदतगार होगी। नियमित कसरत करने से भी वजन घटाया जा सकता है।

पाचन की धीमी गति (Having slow gut)

बहुत से लोग पाचन और मल त्याग की समस्या से परेशान होते है। यह उनका वजन अनुपात में न होने के गंभीर कारणों में से एक है। अगर आपका पेट ठीक तरह से साफ़ नहीं होता हैं, तो यह आसानी से अनावश्यक वजन बढ़ाने को जन्म देगा।आप जो अन्न खाते हो उसका कुछ भाग ऊर्जा में परिवर्तित हो जाता है और बाकी उत्सर्जित हो जाता है। अगर मल त्याग उचित तरीके से नहीं होता है तो यह अतिरिक्त भोजन चरबी के रूप में आपके चमड़ी के निचले स्तर पर परत बना देता है।आपके आहार में हरी पत्तेदार सब्जियां न होना या आपको कब्ज होना इन कारणों से पेट साफ़ होने मी कठिनता हो सकती है।

फैट कम करने के उपाय – इस समस्या को कैसे ठीक करें? (How to fix it?)

शरीर की देखभाल के लिए घरेलू नमक के स्क्रब्स

अगर आपको लगता है की कब्ज बहुत ज्यादा परेशान कर रहा है तो आपको प्रोबायोटिक पदार्थ जैसे दही का इस्तमाल करना चाहिए। यह आपके पुरे पाचन संस्था के मार्ग को साफ़ करने के लिए बहुत बढ़िया है और पाचन की प्रक्रिया में मदद करता है। आपको पानी ज्यादा पीना चाहिए जो आपके आंतो के लिए सबसे अच्छा है। यदि आपको प्राकृतिक तरीके से लाभ नहीं मिल रहा है, तो आपको फाइबर पाउडर पानी के साथ पीना चाहिए। यह किसी भी परेशानी के बिना आपके  पेट से अपशिष्ट बाहर निकलने में मददगार होता है।

वेट कंट्रोल करना – आपकी उम्र बढ़ रही है (You are aging up)

उम्र में वृद्धि के कारण भी लोगों का वजन बढ़ (weight badne ke karan) सकता है। जब आप जवान होते हो तब आपके शरीर के चयापचय एक सही क्रम में होता है। इस प्रकार आपको पाचन की परेशानी नहीं होती। आप अच्छा खा सकते हो, हजम कर सकते हो और आपका पेट भी नियमित रूप से साफ़ होता है। बढती उम्र के साथ शरीर के चयापचय धीमी हो जाती है। 20 साल की उम्र में बाहर जितने उष्मांक (कैलोरीज) आप अपने गतिविधियों से जैसे खेलकूद, घूमना इनसे खर्च कर सकते हो वैसे उस मात्रा में बढ़ी उम्र में संभव नहीं है।

इसे ठीक कैसे करें (How to fix it?)

डॉ. फ्रेडिन रीड के अनुसार जब आपके वज़न की जांच की जाती है तो हर कैलोरी (calories) बराबर नहीं होती। ऐसे वक़्त में लीन प्रोटीन (lean protein) का सेवन करना फायदेमंद होता है, क्योंकि यह कैलोरी की प्रभावी रूप से खपत करने में सक्षम होता है। आपको इस बात का भी पता होगा कि कार्ब्स (carbs) शरीर में पचने में काफी समय लेते हैं। इसे आप शरीर में आसानी से जमा करके रख सकते हैं। अगर आप इस समय कम वसा वाले प्रोटीन का चुनाव करें तो आपके लिए यह काफी अच्छा होगा।

गलत दवाई लेना (Taking wrong medicine)

खुद की मालिश करने का सही तरीका और कुछ सुझाव

अगर आपने गलती से कोई गलत दवाई ले ली है, तो इससे भी आपके वज़न में काफी वृद्धि हो सकती है। कई महिलाएं अत्याधिक मात्रा में गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं। यह काफी खतरनाक भी हो सकता है। अतिरिक्त मात्रा में हार्मोनल (hormonal) गोलियों का सेवन करने से भी आपके वज़न में काफी मात्रा में वृद्धि दर्ज की जाती है। अगर आप किसी तरह के रोग की चिकित्सा पद्दति से गुज़र रहे हैं और स्तनों के कैंसर (cancer) की दवाइयों, स्टेरॉइड्स (steroids), गर्भनिरोधक गोलियां आदि दवाएं ले रहे हैं तो आप पाएंगे कि आपका वज़न काफी मात्रा में बढ़ रहा है।

इसे ठीक करने के उपाय (Ways of fixing it)

अगर आपको ऐसा लगता है कि आपके द्वारा ली गयी दवाइयों से आपका वज़न बढ़ रहा है तो इस बारे में तुरंत अपने डॉक्टर को इत्तला करें। वह आपको कुछ अन्य वैकल्पिक  दवाइयों के बारे में बताएगा, जिनसे आपको किसी प्रकार के साइड इफ़ेक्ट (side effect) का सामना नहीं करना पड़ेगा।

ज़रूरी पोषक पदार्थों की कमी (Deficiency of some essential nutrients)

आपके शरीर को कुछ ख़ास पोषक पदार्थों की आवश्यकता होती है, जिनके बिना आप कई तरह के साइड इफेक्ट्स के शिकार हो सकते हैं। इनमें से कुछ ज़रूरी तत्व हैं आयरन, विटामिन डी और मैग्नीशियम (iron, vitamin D and magnesium) । ये आपके शरीर की ऊर्जा में काफी वृद्धि करते हैं और आपकी प्रतिरोधक क्षमता पर भी कोई बुरा प्रभाव नहीं छोड़ते। अगर इनमें से एक पोषक पदार्थ की भी शरीर में कमी हो जाए तो इससे मेटाबोलिज्म (metabolism) की प्रक्रिया पर काफी बुरा प्रभाव पड़ेगा।

इसे ठीक कैसे करें ? (How to fix it?)

ज़रूरी पोषक पदार्थों की कमी की वजह से बढ़े हुए वज़न को कम करने के भी तरीके मौजूद हैं। आप पालक या लाल मांस का सेवन करके अपने शरीर में आयरन की मात्रा में वृद्धि कर सकते हैं। स्वस्थ जीवनशैली अपना लेने से खुद ब खुद शरीर में मैग्नीशियम की भरपाई हो जाएगी। आप इसके लिए कम ऊर्जा वाले कार्ब्स, कैफीन (caffeine) और मिठाइयों का सेवन कर सकते हैं। अगर आप विटामिन डी (vitamin D) की सही खुराक लें तो इससे ज़रूरी पोषक पदार्थों की सरलता से भरपाई हो जाएगी। परन्तु विटामिन डी का अतिरिक्त सेवन भी ना करें, क्योंकि इससे आपके गुर्दों में पथरी हो सकती है।

शरीर की गंध को नियंत्रित करने के शीर्ष प्राकृतिक सुझाव

प्लेन्टर फैसिटीस (Plantar fasciitis)

मांसपेशियों की कुछ समस्याओं या फिर हड्डियों की कुछ बीमारियों जैसे ऑस्टेओआर्थराइटिस (osteoarthritis), कूल्हों में दर्द या घुटनों में दर्द से भी अनावश्यक रूप से वज़न के बढ़ने की समस्या उत्पन्न होती है।

इसे ठीक कैसे करें ? (How to fix?)

इस समस्या को दूर करने के भी उपाय मौजूद हैं। अगर आप अब तक वज़न उठाने के व्यायाम करते रहे हैं तो इसे छोड़ें और तैराकी, बाइकिंग (biking) आदि व्यायामों पर ध्यान दें। इस बारे में अपने डॉक्टर से बात करना भी काफी अच्छा साबित होगा।

loading...