How to get relief from pain during labor and delivery? – लेबर और डिलीवरी के दौरान दर्द से छुटकारा पाने के उपाय

डिलीवरी हर महिला के लिए काफी कठिन समय होता है। अपने बच्चे ओ जन्म देने की ख़ुशी के अलावा उन्हें लेबर रूम में काफी दर्द का भी सामना करना पड़ता है। डिलीवरी के दौरान होने वाले दर्द की कल्पना करके ही हर महिला काफी चिंतित रहती है। वे इस दर्द से छुटकारा (labour pain kaise kam kare) पाने के उपाय खोजती रहती हैं। ऐसी कई क्लासेज़ (classes) होती हैं, जो बच्चों के जन्म से जुड़े तथ्यों से आपको परिचित करवाती है। हर गर्भवती महिला को सांस लेने की तकनीक द्वारा चिंता दूर करने की विधि सिखाई जाती है, जिससे कि उसे डिलीवरी के समय ज़्यादा दर्द ना हो। गर्भावस्था के समय का दर्द हर महिला की स्थिति में अलग हो सकता है। कुछ महिलाएं तो पहले से सीखी तकनीकों का प्रयोग करके काम चला लेती हैं, पर अन्य महिलाओं के लिए यह भी काफी नहीं होता। उन्हें और ज़्यादा दवाइयों की ज़रूरत होती है।

कम दर्द के साथ चाइल्ड बर्थ (Comfortable child birth with less pain)

दुनिया में अपने बच्चे को लाने के दर्द से रहित तरीके भी मौजूद हैं। आप तकनीकों के बारे में थोड़ा सा शोध करके इस बारे में आसानी से पता लगा सकती हैं। आप अपने डॉक्टर से बात करके भी ऐसी दवाइयों के बारे में जान सकती हैं, जिनसे डिलीवरी के समय आपको दर्द का अनुभव नहीं होता। कुछ महिलाएं अपने निश्चय में काफी दृढ़ होती हैं और प्राकृतिक रूप से ही बच्चे को जन्म देने के लिए पूरी तरह तैयार होती हैं। पर कई ऐसी महिलाएं होती हैं, जो शारीरिक और मानसिक रूप से काफी कमज़ोर होती हैं तथा सीज़ेरियन पद्दति (cesarean technique) से बच्चे को जन्म देती हैं।

जन्मोत्तर प्रेगनेंसी बेल्ट के प्रयोग के कारण

लेबर रूम में जाने से पहले दर्द की दवाइयाँ लेना भी दर्द दूर करने का एक प्रभावी तरीका है। दवाइयों के अन्य विकल्पों तथा अन्य तकनीकों के बारे में जानना भी काफी अच्छा होता है, जिनसे कि डिलीवरी के वक़्त दर्द से छुटकारा पाया जा सके।

प्रसव पीड़ा से छुटकारा के लिए एनाल्जेसिक (Analgesic se labor pain se chutkara)

डिलीवरी के दौरान आपका डॉक्टर आपको सिस्टेमेटिक एनाल्जेसिक (systematic analgesic) दे सकता है, जो कि दर्द को दूर भगाने का काफी प्रभावी तरीका है। यह एक तरह का द्रव्य होता है, जिसे एक स्त्री की नसों में डाला जाता है, जिससे कि उसका सारा शरीर सुन्न पड़ जाता है। एनाल्जेसिक शरीर के किसी एक भाग को प्रभावित करने की बजाय सारे शरीर को प्रभावित करता है और दर्द का अहसास नहीं होने देता है। हम सभी जानते हैं कि गर्भावस्था दौरान होने वाला दर्द प्राकृतिक होता है और इसका पूरी तरह दूर होना संभव नहीं है। आपके दर्द को थोड़ा कम करना अवश्य संभव है, परन्तु पूरी तरह इसका निवारण करना नहीं। ऐसी दवाइयाँ हैं जो हमें दर्द से छुटकारा दिला सकती हैं, पर इससे शरीर में अकड़न और लेबर की प्रक्रिया के धीमे हो जाने की समस्या पेश आने लगती है।

लेबर पेन से छुटकारा के लिए स्पाइनल ब्लॉक (Spinal block hai prasav ka dard in hindi ke liye)

लेबर के दौरान दर्द को दूर करने की एक और पद्दति है स्पाइनल ब्लॉक (spinal block)। इसके तहत गर्भवती महिला को एक इंजेक्शन या दवा दी जाती है, और इसका असर करीब 2 घंटों तक रहता है। जो महिलाएं अपने गुप्तांग से बच्चे को जन्म देती हैं, उन्हें स्पाइनल ब्लॉक (spinal block) दिया जाता है। यह दर्द निवारक इंजेक्शन तब भी लगाया जाता है, जब एक महिला सीज़ेरियन पद्दति से बच्चे को जन्म देती है। अगर स्थिति कुछ ऐसी बन गयी है कि बच्चे को माँ के फ़ोर्सेप्स (forceps) की तरफ से उसके गर्भाशय से निकालना पड़े, तब स्पाइनल ब्लॉक (spinal block) की पद्दति काफी काम आती है।

लेबर और डिलीवरी की समस्याओं से निजात पाने के तरीके

प्रसव पीड़ा से छुटकारा के लिए एपीड्यूरल ब्लॉक (Epidural block)

दर्द हटाने के इस तरीके के अंतर्गत महिला के शरीर के निचले हिस्से को दर्द से मुक्त कर दिया जाता है। हम यह कह सकते हैं कि यह भाग बिलकुल सुन्न कर दिया जाता है, और इसके होने का अहसास भी के गर्भवती स्त्री को नहीं होता है। इसमें शरीर के निचले भाग में रीढ़ की हड्डी के बाहर के छोटे छेद को एनाल्जेसिक(anesthesiologist) से भर दिया जाता है। जब डिलीवरी गुप्तांग से होती है, तब इस औषधि की मदद से गर्भावस्था के सिकुड़ने से होने वाले भीषण दर्द को दूर करने में मदद मिलती है। ऐसी स्थिति में दवाई की कम खुराक लेना ही आपके लिए अच्छा होगा जो कि आपके बच्चे के लिए भी हानिकारक सिद्ध नहीं होगा। उच्च खुराक से बच्चे पर काफी गलत प्रभाव भी पड़ सकता है।

लेबर पेन से छुटकारा के लिए लोकल एनेस्थीसिया (Local anesthesia)

दर्द को दूर करने के के अन्य उपाय के रूप में आप एक महिला के रेक्टल (rectal) भाग या गुप्तांगों में लोकल एनेस्थीसिया (local anesthesia) भी इंजेक्ट कर सकते हैं। इससे हालांकि आपके शरीर के भाग पूरी तरह सुन्न नहीं होंगे। इसके प्रयोग के बाद आप खुद को अपने बच्चे को जन्म देते हुए भी देख सकेंगी, और आपको दर्द का अनुभव भी नहीं होगा।

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday