Simple home remedies for cracked heels – ऐसे करें फटी एड़ियों का इलाज, बिवाइयों के घरेलू उपाय

सर्दियों में त्वचा की शुष्कता या रूखापन बढ़ जाता है जिसकी वजह से त्वचा फटने लगती है, एड़ियों में यह समस्या अधिक प्रबल और लम्बे समय तक ना जाने वाली होती है. सर्दियों में अगर बिवाइयों की शुरूआती समय में ही इसके उपचार पर ध्यान दिया जाए तो यह बहुत ज्यादा प्रभावी नहीं होती और जल्दी ठीक भी हो जाती हैं.

अगर आपने गलत लोशन या क्रीम आदि का इस्तेमाल किया तो ये फटी एड़ियां और भी अधिक दरारों भरी और साफ नज़र आती है.  इसमें खुजलाहट और दर्द होता रहता है साथ ही त्वचा लाल भी हो जाती है. गर लम्बे समय तक इसका इलाज ना किया गया तो बिवाइयों से खून रिसने लगता है. इसके प्राथमिक इलाज में पौष्टिक भोजन और घरेलू उपाय बहुत ज़रूरी होते हैं.

अक्सर यह देखा गया है कि डायबिटीज या सोराइसिस से पीड़ित व्यक्तियों में फटे पैरों की समस्या बहुत अधिक दिखाई देती है. इसके अलावा अगर आप गलत तरह के जूते पहनते हैं तो भी आपको फटी एड़ियों की तकलीफ भुगतनी पड़ सकती है. यहाँ बिवाइयों या फटी एड़ियों को ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय बताये जा रहे हैं, इनकी मदद से आप अपनी एड़ियों को घर पर ही कोमल बना सकती हैं.

बिवाइयों के घरेलू उपाय (Home remedies for cracked heels in Hindi)

चावल का आटा (Rice flour)

चावल के आटे का पेस्ट बनाने के लिए चावल को दरदरा पीस लें, इसमें शहद और एप्पल साइडर विनेगर मिलाकर स्क्रब तैयार करें. अगर आपके पैरों की त्वचा अत्यधिक फटी हुई हो तो नमी देने के लिए इस स्क्रब में ऑलिव ऑइल मिलाया जा सकता है. स्क्रब करने के पहले पैरों को गुनगुने पानी में भिगो कर रखें ताकि डेड स्किन नर्म होकर निकल जाए. अब इस पेस्ट से पैरों की एड़ियों में 5 मिनट तक हलकी हलकी मसाज करें. इसके बाद गुनगुने पानी से पैरों को साफ़ कर लें.

मेंथालयुक्त लोशन (Mentholated rub)

यह उपचार थोड़ा मुश्किल है क्योंकि बाज़ार में इस तरह के क्रीम या लोशन आसानी से नहीं मिल पाते बल्कि एसेंशियल ऑइल के साथ कुछ मात्रा में यह प्राप्त किया जा सकता है. इसे प्रभावित हिस्से में अच्छी तरह लगा लें और इसे त्वचा पर लम्बे समय के लिए लगा रहने दें. इस उपाय को रात में सोने के पहले करना उचित होगा. इसे लगाकर मोज़े पहन लें ताकि यह त्वचा में भीतर तक सोखा जा सके.

नींबू (Lemon)

नींबू त्वचा के लिए एक बेहतरीन फल है, यह फटी एड़ियों पर भी बहुत अच्छा काम करता है. गुनगुने पानी में एक नींबू निचोड़ कर पैरों को भिगो कर रखें. इसके बाद प्युमिस स्टोन की मदद से एड़ियों की डेड स्किन को निकाल लें. पैरों को साफ़ पानी से धोकर ओलिव ऑइल लगा लें.

पेराफिन वैक्स (Paraffin wax)

पेराफिन वैक्स फटी एड़ियों पर जादू की तरह काम करता है. इसके लिए पेराफिन को नारियल तेल या ओलिव ऑइल के साथ मिलाकर पिघला लेना चाहिए. जब यह पिघल जाये तो इसे एड़ियों की दरारों में परत के रूप में लगा लें. इसे किसी प्लास्टिक कवर की मदद से ढँक लेना चाहिए ताकि यह जमने के बाद टूटकर त्वचा से अलग न हो जाये. इस प्रयोग को रात में सोने के पहले किया जाये तो बेहतर होता है.

नीम (Indian lilac)

नीम कई तरह की त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में उपयोगी होता है. नीम की पत्तियों को पानी के साथ पीस लें. इसमें कुछ चम्मच हल्दी पाउडर मिलाकर पेस्ट बना लें. फटी एड़ियों में दरारों पर इसे पेस्ट को लगाकर आधे घंटे तक रखें. इसे धोने के लिए गर्म या गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें. इससे फटी एड़ियों का दर्द और सूजन कम होते हैं.

ग्लिसरीन और गुलाब जल (Glycerin and rosewater)

ग्लिसरीन फटी एड़ियों औए त्वचा को ठीक करने का एक पुराना उपाय है. इसमी गुलाब जल मिलाकर त्वचा को अतिरिक्त पोषण और नमी दी जा सकती है. इन दोनों को मिक्स कर रात भर एड़ियों में लगा रहने दें और सोने के पहले पैरों में मोज़े पहन लें.

डालडा (Vegetable oil)

कई घरों में डालडे का प्रयोग खाने के तेल की जगह में भी किया जाता है और इसके प्रयोग फटी एड़ियों पर भी बहुत प्रभावी होते हैं. पैरों को गुनगुने पानी में भिगोकर डेड स्किन को प्युमिस स्टोन की मदद से साफ़ कर लें. इसके बाद साफ़ एड़ियों में वेजिटेबल ऑइल या डालडे से हलकी मसाज करते हुए इसे कुछ देर लगा रहने दें.

तेल की मालिश (Oil massage)

अगर आपकी एड़ियां बहुत अधिक फट गई हैं तो तेल की मसाज द्वारा नमी प्रदान करना बहुत ज़रूरी होता है. इसके लिए आप किसी भी एसेंशियल ऑइल का प्रयोग कर सकते हैं. इसे हथेली में लेकर प्रभावित हिस्सों पर अच्छी तरह लगा कर रखें.

फ्रूट मास्क (Fruit mask)

फलों से बने मास्क फटी एड़ियों पर बहुत अच्छा कार्य करते हैं. ये स्वादिष्ट होने के साथ साथ विटामिन और मिनरल्स से भी भरपूर होते हैं. इसके लिए आप पपीता, केला, अवाकेडो आदि के गुदे का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसे पेस्ट बनाकर फटी हुई त्वचा पर 15 मिनट तक लगाये रखें.

ओटमिल और जोजोबा (Oatmeal and jojoba oil)

ओटमिल या जौ एक पोषक तत्व से भरपूर आहार है, साथ ही यह त्वचा क एलिए एक अच्छा स्क्रब भी होता है. ओटमिल में जोजोबा ऑइल की कुछ मात्रा मिलाकर इसे फटी एड़ियों पर लगायें और इसे हाथों से रगड़ते हुए डेड स्किन को निकाल लें. रगड़ने के बाद इस पेस्ट को त्वचा पर 30 मिनट रहने दें और बाद में ठन्डे पानी से धो लें.

loading...