Hindi tips to prevent early white hair – white hair solution – बालों का समय से पहले सफ़ेद होना

बालों का सफ़ेद होना एक वास्तविकता हैं इसे हमेशा से बढती उम्र से जोड़ा जाता रहा हैं। बालों का उम्र से पहले सफ़ेद होना एक कॉस्मेटिक समस्या हैं। बालों का सफ़ेद होना उनमे रंजकता की कमी दर्शाता हैं। कुछ दवाएं , जड़ी बूटियाँ , पोषण तत्वो की कमी जैसे की विटामिन बी 12 की कमी होना और धुम्रपान भी बालों का उम्र से पहले सफ़ेद होने के कई कारणों में से एक हैं।

सफेद बाल होने के कारण – बालों के उम्र से पहले सफ़ेद होने के कारण (Causes for premature grey hair)

मेलेनिन (Melanin)

काले बालों का सफ़ेद होना एक रासायनिक प्रक्रिया की वजह हैं जिसे मेलेनिन कहते हैं। हमारे बाल चारों तरफ से एक नलिका से घिरे होते हैं जिसे हम हेयर फॉलिकल कहते हैं। यह मेलेनिन का उत्पादन करता हैं जो की बालों को काला, भूरा, लाल, सफ़ेद रंग प्रदान करता हैं।

आनुवंशिकी (Genetics)

आनुवंशिकी और वंशानुगत हमारे बालों के सफ़ेद होने का वक्त निर्धारित करते हैं। आंकड़े बताते हैं कि बालों के सफ़ेद होने की औसत आयु के मध्य 30, एशियाई देश में 30 है ‘और अफ्रीकी – अमेरिकियों के मध्य 40 हैं।

विटामिन (Vitamins)

सफ़ेद बाल का उपचार, बालों के झड़ने का प्रमुख कारण विटामिन की कमी हैं। विटामिन की कमी पूरी करने के लिए के लिए सम्पूर्ण आहार ले मल्टीविटामिन का सहारा ना लें यह बालों को पतला बनाता हैं और उम्र से पहले सफ़ेद करता हैं। अपने आहार में प्रोटीन की मात्र रखने के साथ साथ जिंक और मैग्नीशियम भी लें।

बालों पर हॉट रोलर्स इस्तेमाल करने के सही तरीके

बालों का झड़ना (Hair fall)

बालों का झड़ना प्रदुषण , अस्वस्थ्य भोजन, और गलत तरीके से कंघी करने से भी होता हैं। एमिनो एसिड्स बालों को झड़ने से रोकते हैं और हेयर फोल्लिक्लेस को नमी प्रदान करता हैं।

जीवनशैली (Life style)

अगर आप की उम्र अभी 20 के करीब हैं और आपके बाल सफेद हो रहे हैं तो आपके लिए यह एक चेतावनीपूर्ण सन्देश हैं।आपको अपनी जीवनशैली में बदलाव लाने चाहिए ना की सफ़ेद बाल छिपाने के लिए रासायनिक उत्पाद का इस्तेमाल करना चाहिए।

रोग (Diseases)

बालों का झड़ने के कई कारण और बीमारियाँ हैं जैसे की मधुमेह या खालित्य आदि। तनाव , चिंता , आहार में पोषक तत्वों की कमी बालों के झड़ने और उम्र से पहले सफ़ेद होने का कारण हैं।

पारंपरिक चीनी चिकित्सा (टीसीएम) सिद्धांत (Traditional Chinese Medicine (TCM) theory)

इस सिधांत के अनुसार बालों के झड़ने में हमारे अंग गुर्दा और जिगर जिम्मेदार हैं। ऐसा कहा जाता हैं की गुर्दा हमारें बालों को मजबूत बनाता हैं और जिगर उनकी गुणवत्ता को बढाता हैं। अगर आपके शरीर में खून की कमी हैं तो अप कई परेशानियां जैसे की बेजान बाल, चक्कर आना, थकान, पीला रंग शामिल हैं।

टीसीएम हर्बल चिकित्सा (TCM herbal recommendations)

इस चिकित्सा में कई जड़ी बूटियाँ हैं जो की दो मुहें बाल, उम्र से पहले बालों का सफ़ेद होना, बालों का भंगुर हिना समाप्त करता हैं। ही शो वो जड़ी बूटी इन समस्याओं को ख़त्म करने में बहुत असरदार हैं। यह गुर्दे को मजबूत बनाती हैं और जिगर को साफ़ रखती हैं। जड़ी बूटियाँ चूँ क्सिओंग और डंग गुई भी रक्त संचार में बहुत मददगार हैं।

असमय सफ़ेद बालों के लिए और झड़ते बालों के लिए घरेलू उपाय (Home remedies for premature greying of hair and hair loss)

बालों की तेज़ वृधि के लिए केश तेल

नारियल का तेल और करी पत्ते (Coconut Oil and Curry leaves)

सफ़ेद बाल का इलाज, करी पत्ते की खुशबू बहुत ही अनोखी होती हैं और हमारे आहार में डालने से उसका स्वाद बदल देती हैं। करी पत्ते की पत्तियों को नारियल के तेल के साथ उबालें जब वह काली हो जायें तो उसे एक डिब्बे में बंद करके रख दें। रात में रोज़ इस तेल से बालों में 15-20 मिनट के लये मालिश करें और सुबह धो ले। बालों में सुधर के लये कम से कम 3 महीने तक इस तेल से बालों में मालिश करें।

छाछ (Buttermilk se safed baal kale karne)

छाछ को करी पत्ते के साथ इस्तेमाल करने से बालों का उम्र से पहले सफ़ेद होना रुक जाता हैं। तैलीय बालों में नरीयल का तेल असरदार नहीं होते हैं तो ऐसे बालों के लिए आधा कप करी पत्ते और आधा कप छाछ लें , इन्हे 5 मिनट के लिए धीमी आंच में उबालें। इस मिश्रण को ठंडा करके गुनगुना होने पे बालों में लगा के मालिश करें। आधे घंटे बाद गुनगुने पानी से धो लें।

भारतीय करौदा (Indian gooseberry’s / Amla)

सफेद बाल से बचने के उपाय, आंवला और करोंदा आयुर्वेद में यह दोनों ही तत्व बालों के इलाज में असरदार हैं। यह दोनों ही विटामिन सी से भरपूर हैं। करोंदा बालों को उगने में मदद करता हैं और उम्र से पहले सफ़ेद होने से रोकता हैं इसलिए इसे अपने आहार में जरुर शामिल करें। आंवला और करोंदें दोनों को सुखा लें और पीस लें। फिर इस पाउडर को धीमी आंच पे नारियल के तेल , मेथी के बीज का पाउडर के साथ उबालें। इस तेल को भूरा होने तक उबालें। फिर इस तेल को एक डिब्बे में बंद करकें रखे और इस्तेमाल करें।

गाजर और तिल (Sesame carrot se safed balon ka ilaj)

तिल का तेल , गाजर का रस और मेथी के बीज आयुर्वेद में बालों को होने से रोकने का एक असरदार इलाज हैं। एन तीनों को बराबर की मात्रा में ले के एक डिब्बे में 21 दिनों के लये धूप में रखें। फिर इस तेल को बालों में कम से कम तीन महीने तक परिणामों न के लये बालों में लगायें।

लौकी (Ridge gourd for hair treatment in hindi)

सफेद बालों से छुटकारा, यह बालों को उम्र से पहले सफ़ेद होने के लये इलाज में इस्तेमाल होती हैं। आधा कप लौकी लें और उसे छाँव में सुखा लें। इस सुखी हुई लौकी को नारियल के तेल को धीमी आंच में उबालें। जब तक तेल काला ना हो जाये इसे कम से कम हफ्ते में दो बार लगायें।

दोमुंहे / स्प्लिट एंड्स बालों के बेहतर घरेलू उपचार

घरेलु उपचार (Some more homemade tips)

  • सफ़ेद बाल रोकने के उपाय, करी पत्ते को अपने आहार में इस्तेमाल करें। आप करी पत्ते को नारियल के तेल के साथ उबाल के अपने बालों में इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • गाय के दूध से बालों की त्वचा की मालिश करें। इसे कम से कम हफ्ते में दो बार मालिश करें।
  • सफेद बाल रोकने के उपाय, 1 टेब्लस्पून नीम्बू का रस और 2 टेब्लस्पून बादाम का तेल लें इसका मिश्रण बना के इसे बालों की त्वचा की मालिश करें।
  • गरम सरसों के तेल और नारियल का तेल से बालों की मालिश करें।