Tips to prevent acne in winter in Hindi – सर्दियों में मुँहासों को रोकने के लिए उपाय

हर मौसम में लोगों के लिए मुँहासे/एक्ने (acne) काफी प्रमुख समस्या बनकर उभरता है। जिन लोगों के त्वचा एक्ने के प्रति संवेदनशील होती है, वे हर मौसम में इससे परेशान रहते हैं। मुहासे होने का कारण, आमतौर पर तैलीय त्वचा वाले लोग एक्ने के शिकार ज़्यादा होते हैं, क्योंकि उनके चेहरे से तेल ज्यादा निकलता है।

बाज़ार में वैसे तो इसकी रोकथाम के लिए कई क्रीम तथा लोशन (creams and lotions) उपलब्ध हैं, पर ये सबके चेहरे को सूट (suit) नहीं करती, और उल्टा इसके साइड इफ़ेक्ट (side effect) ही हो जाते हैं। इस लेख में कुछ ऐसे नुस्खे दिए गए हैं, जिनकी मदद से ठण्ड में आप एक्ने के प्रकोप से बचे रहेंगे।

मुहांसे के कारण, केवल गर्मियों के मौसम में ही नहीं, बल्कि सर्दियों (winter/विंटर) में भी दाग और मुंहासे (acne) हो सकते हैं। अगर आप ये नहीं चाहते, तो आगे कुछ सुझाव हैं, जिसे जानना और पालन करना आवश्यक है।

ठण्ड में कई कारणों की वजह से लोग रूखी त्वचा का शिकार होते हैं, जैसे ठंडा और तेज़ हवाओं वाला मौसम। त्वचा की रूखी कोशिकाएं रोमछिद्रों (pores) को बंद कर देती हैं, जिसके फलस्वरूप एक्ने की समस्या जन्म लेती है। आमतौर पर इस मौसम में साफ़ त्वचा पर जो स्थिति उत्पन्न होती है, उसे मौसमी एक्ने का नाम दिया जाता है।

आपको ठण्ड के मौसम में रोजाना त्वचा के देखभाल की प्रक्रिया अपनानी चाहिए। तेल युक्त नॉन क्लोगिंग मॉइस्चराइज़र (oil based non clogging moisturizer) का प्रयोग तथा पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से आपकी त्वचा अन्दर से हाइड्रेटेड (hydrated) रहेगी जिससे कि कोशिकाओं के टूटने की, समय से पहले उम्र बढ़ने की तथा रूखेपन की संभावना काफी कम हो जाएगी।

हफ्ते में दो से तीन बार मृत कोशिकाओं को स्क्रब (scrub) करने से त्वचा अच्छे से काम करती है तथा इससे मुंहासे एक्ने (acne) की संभावना भी काफी कम हो जाती है। नीचे एक्ने से निपटने की कुछ विधियों के बारे में बताया गया है।

Tips to prevent acne in winter – anti acne treatment (सर्दियों में मुँहासों को रोकने के लिए टिप्स

प्राकृतिक रूप से चेहरे से झुर्रियां हटाने के घरेलू नुस्खे

अधिक मात्रा में तरल पदार्थ पीना (Drink to excess amounts of liquids)

सर्दियों (winter / विंटर) में कील मुँहासों की समस्याओं के कारण में से एक है, त्वचा निर्जलीकरण और उचित नमी की कमी। तरल पदार्थ पर्याप्त मात्रा में पीने से आप इस समस्या पर अंकुश लगा सकते हैं। मिनरल वाटर मुँहासों  की समस्या को कम करता है।

ताजी हवा में सांस लें (Breathe fresh air)

सर्द हवाओं को रोकने के लिए, लोग ज्यादातर अपने खिड़कियां और दरवाजे बंद रखते हैं , लेकिन इस प्रक्रिया में ताजा हवा आप तक नहीं पहुँच पाती और शुष्क हवा कमरे में रहती है। सुबह ताजी हवा में सांस लेने से, त्वचा में ताजगी बनी रहती है और कील मुँहासे (acne) भी नहीं होते।

मुहांसे से छुटकारा के लिए सफाई महत्वपूर्ण है (Cleansing is crucial)

चेहरे की सफाई हर मौसम में महत्वपूर्ण है। सर्दियों (winter / विंटर) में इसका महत्व दोगुना हो जाता है । सर्दियों (winter / विंटर) की हवा में बड़ी संख्या में धूल और गंदगी के कण होते हैं, जो त्वचा के छिद्र को अवरुद्ध करते हैं और इससे मुँहासों का निर्माण होता है। आप मॉइस्चराइजिंग क्लीन्ज़र के साथ चेहरे की सफाई पर ध्यान केंद्रित करें , खासकर अगर आप दिन समाप्त कर रहे हों। कुछ सौंदर्य विशेषज्ञ चेहरे को साफ करने के लिए हाइड्रेटिंग क्लीन्ज़र (जो ना केवल चेहरे को साफ करते हों  लेकिन पोषण भी करते हों) का उपयोग करने का सुझाव देते हैं।

मॉइस्चराइजिंग बहुत महत्वपूर्ण है (Moisturizing is too vital)

सर्दियों (winter / विंटर) की ठंडी हवायें नमी को सोख लेती है। नमी की कमी से त्वचा में बहुत दरारें हो सकती हैं और त्वचा परतदार हो सकती है। त्वचा को प्राथमिकता न देने पर लोगों को खुजली, चकत्ते और दरारें हो सकती है। इसके उन्मूलन के लिए मॉइस्चराइजिंग लोशन और क्रीम पर निर्भर रहने की जरूरत है। बहुत संवेदनशील त्वचा वाले लोगों के लिए हाइड्रेटिंग लोशन या जेल नमी बनाए रखते हैं।

चेहरे पर दाने के उपाय है पोषण (Keel muhase ka gharelu upchar nourishment se)

व्हाइटहेड्स और ब्लैकहेड्स हटाने के घरेलू उपाय

इस सर्दी के मौसम में यदि आपका लक्ष्य है, त्वचा को चमकदार बनाए रखना, तो उचित पोषण मदद करता है। त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए चेहरे पर फलों का मास्क लगाने की कोशिश करें। आप पौष्टिक प्रकृति वाले फल, जैसे पके पपीते, केले और स्ट्रॉबेरी को चुन सकते हैं।

पिम्पल हटाने के उपाय इसे ज्यादा ना रगड़े (Do not over scrub)

हम जानते हैं कि सर्दियों (winter / विंटर) में त्वचा को रगड़ना जरूरी है, पर ज्यादा रगड़ने से त्वचा शुष्क और नीरस हो जाती है।

किससे बचें (What to avoid, muhase kaise hote hai)

अत्यधिक सुगंध वाले लोशन और इत्र का उपयोग बंद करने की आवश्यकता होगी, क्योंकि वे आपकी त्वचा में खुजलाहट और दरारें बढ़ा सकता है। लंबी अवधि के लिए गर्म पानी से बचें, यह हालत बदतर बना देता है, और त्वचा से आवश्यक तेलों को बाहर निकाल देता है। आपको मोम और तेल से बने कुछ प्रकार के उत्पादों (जो त्वचा की देखभाल के लिए होते है) से बचने का सुझाव दिया जाता है।

व्यायाम है पिम्पल के उपाय (Exercise se sardiyo me beauty tips)

सर्दियों में केवल सोफे पर ना रहें, कुछ कसरत भी करें। व्यायाम आपके शरीर को गर्म और सक्रिय करता है, यह ऑक्सीजन पंप करके त्वचा को साफ और चमकदार बनाने में मदद करता है।

पिम्पल्स का इलाज केले और मक्खन का मास्क से (Banana and butter mask)

एक ताज़ा केला लें तथा इसमें थोड़ा सा मक्खन मिलाएं। आप मक्खन की जगह स्किम्ड मिल्क क्रीम (skimmed milk cream) का भी प्रयोग कर सकते हैं। इन सारे पदार्थों को अच्छे से मिलाएं और इनसे बने पैक (pack) को अपने चेहरे पर लगाएं। मक्खन या स्किम्ड मिल्क क्रीम प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र (moisturizer) का काम करते हैं तथा केला त्वचा को नमी प्रदान करता है। ये दोनों ही एक्ने को दूर रखते हैं।

मुंहासों का इलाज के लिए शहद और गुलाबजल (Honey and rose water)

एक चम्मच शहद को गुलाबजल के साथ मिश्रित करें। इस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं तथा इसे 10 मिनट के बाद धो लें। शहद त्वचा के लिए प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र का काम करता है और इसमें एंटीबायोटिक (antibiotic) गुण होते हैं। गुलाबजल त्वचा को टोन (tone) करने का काम करता है। यह pack ठण्ड में आपको आराम प्रदान करता है और रूखी त्वचा को हाइड्रेट (hydrate) करके एक्ने को दूर रखता है।

धूप से काला हुआ चेहरा उजला करने के लिए घरेलू स्क्रब

मुंहासों का इलाज घर पर टमाटर का मास्क से (Tomato mask)

एक टमाटर, नींबू के रस की 3 से 4 बूँदें और आधा चम्मच नीबू के सूखे छिलकों का पाउडर एक पात्र में लें। इन सबको अच्छे से मिलाएं और हलके हाथों से अपने चेहरे पर लगाएं। 10 मिनट प्रतीक्षा करें तथा इसे गुनगुने पानी (lukewarm water) से धो दें। टमाटर में उच्च मात्रा में विटामिन सी (vitamin C) तथा लाइकोपीन और जियाजैनथीन (zea-xanthin) जैसे एंटी ऑक्सीडेंट (antioxidant) मौजूद होते हैं। ये त्वचा से फ्री रेडिकल (free radical) को दूर करते हैं। यह आपके चेहरे से एक्ने, फ्री रेडिकल तथा अन्य अशुद्धियों को दूर करते हैं।

पिम्पल्स के दाग गाजर और शहद का मास्क से (Carrot and honey mask se muhase ka ilaj)

दो चम्मच ब्लेंडेड (blended) गाजर और एक चम्मच शहद लें और इन्हें अच्छे से मिलाएं। इसे अच्छे से अपने चेहरे पर समान रूप से लगाएं और 10 मिनट तक प्रतीक्षा करें। समय सीमा पूरी होने के बाद इसे सादे पानी से धो लें। यह मास्क काले धब्बों को हल्का करता है, क्योंकि ये विटामिन सी (vitamin C) से भरपूर होता है। पोटैशियम (potassium) की कमी से त्वचा के रूखेपन की समस्या आती है। गाजर में पोटैशियम काफी मात्रा में होता है, जिससे आपकी त्वचा नर्म और नमी युक्त हो जाती हैं।

एक्ने का उपचार  के लिए शहद और दही का फेस पैक (Honey and curd face pack)

4 चम्मच दही को 2 चम्मच शहद के साथ मिलाएं। इन्हें अच्छे से ब्लेंड (blend) करें। इस पैक को अपने चेहरे पर लगाएं तथा इसे 15 मिनट तक छोड़ दें। इसके बाद इसे गुनगुने पानी से धो लें। दही में मौजूद जिंक त्वचा की अशुद्धियों, एक्ने और कील मुहांसों को होने से रोकता है तथा लैक्टिक एसिड (lactic acid) आपकी त्वचा को आराम देकर इसे हाइड्रेट (hydrate) करता है।

मुंहासे का ईलाज के लिए अंडे और ओलिव ऑइल का फेस पैक (Olive oil and egg face pack)

एक पात्र में एक अंडे को फेंटें तथा इसे एक चम्मच शहद और एक चम्मच ओलिव ऑइल के साथ मिला लें। इन्हें अच्छे से मिश्रित करके अपने चेहरे पर समान भाव से लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें तथा गुनगुने पानी से धो लें। ओलिव ऑइल खासकर ठण्ड के महीनों में बेहतरीन मॉइस्चराइज़र का काम करता है। इसमें चार विभिन्न प्रकार के एंटी ऑक्सीडेंट (antioxidants) होते हैं, जो त्वचा की उम्र बढ़ाने, दाग धब्बे पैदा करने तथा अन्य नुकसान पहुंचाने वाले फ्री रेडिकल्स (free radicals) से लड़ते हैं।

त्वचा और चेहरे के ग्लो के लिए बेहतरीन रेडिएन्स क्रीम

मुंहासों को दूर करने के घरेलू उपचार के लिए दही और आलू का फेस मास्क (Curd and potato mask se pimple ka ilaj)

एक आलू को मैश (mash) करें। इस मैश्ड (mashed) आलू के पेस्ट (paste) और आधा चम्मच दही को अच्छे से मिला लें। इस मास्क (mask) को चेहरे पर लगाएं। इसे 15 मिनट के लिए छोड़ दें और इसके बाद चेहरे को ठन्डे पानी से धो लें। यह पैक त्वचा को पोषण देता है तथा त्वचा के रोमछिद्रों (pores) को हाइड्रेट (hydrate) करता है। यह त्वचा की सारी मृत कोशिकाओं को भी दूर करता है तथा अशुद्धियों, काले धब्बों तथा बैक्टीरिया (bacteria) को त्वचा से हटाता है।

मुंहासों को दूर करने के घरेलू उपचार के लिए दूध का फेस पैक (Milk face pack se pimple ke upay)

इस पैक को बनाने के लिए कच्चा दूध सबसे अच्छा रहेगा। आर ये उपलब्ध नहीं हो तो डेरी (dairy) का दूध भी चलेगा। इसमें प्रयुक्त होने वाले उत्पाद हैं 1 चम्मच शहद, 1 चम्मच एलोवेरा जेल (aloe vera gel), 2 चम्मच एसेंशियल ऑइल (essential oil) तथा एक चम्मच भिगोये हुए बादाम का पेस्ट (paste)। इन्हें अच्छे से मिश्रित करें तथा अपने चेहरे पर लगाएं। इसे सूखने दें तथा 15 मिनट बाद अच्छे से धो लें। दूध में 85% पानी का अंश होता है, जिससे आपकी त्वचा प्रभावी रूप से हाइड्रेट (hydrate) होती है। दूध में मौजूद प्रोटीन, विटामिन और खनिज (protein, vitamin and mineral) त्वचा पर आने वाले उम्र के प्रभाव को छिपाने में मदद करते हैं। लाइपेस, प्रोटेस तथा लेक्टो पेरोक्सीडाईस (lipase, protease and the lacto peroxidise) काफी मददगार होते हैं क्योंकि ये आपकी त्वचा को एक्सफोलिएट (exfoliate) करके एक्ने पैदा करने वाली गन्दगी को दूर करते हैं।

मुंहासों को दूर करने के घरेलू उपचार के लिए दही और गुलाब का फेस पैक (Yogurt and rose face pack se pimple ka ilaj hindi me)

इस फेस पैक को बनाने के लिए आपको जो सामग्री चाहिए, वह है 2 चम्मच शहद, 1 चम्मच दही, 1 छोटा चम्मच ताज़े गुलाब की पंखुड़ियां तथा 2 चम्मच गुलाबजल। इन सारे पदार्थों को अच्छे से मिलाने के बाद एक अच्छा मिश्रण तैयार करें। इसे अपने चेहरे पर लाएं और 15 मिनट के बाद गुनगुने पानी (lukewarm water) से धो लें। गुलाब की पंखुड़ियां विटामिन सी (vitamin c) से युक्त होती हैं जो आपको सूरज की रोशनी से बचाने, त्वचा को नमी प्रदान करने, काले घेरे हटाने तथा दाग और कील एक्ने (acne) के निशान दूर करने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसमें एंटी बैक्टीरियल (anti bacterial) गुण होते हैं  जो आपकी त्वचा को नर्म मुलायम और चमकदार भी बनाते हैं। दही चेहरे पर नमी बनाए रखने में सहायता करती है तथा इसे ठंडी हवाओं से बचाए रखती है।

कील मुंहासे का उपचार एवं एक्ने से बचाने के लिए पानी (Water as acne preventer)

गोरा चेहरा पाने के लिये शीर्ष घरेलू सौंदर्य टिप्स

मुंहासे एक्ने एवं दाने निकलना, अन्य दाग धब्बे आपकी त्वचा की परतों में मौजूद प्रदूषक तत्व तथा ऑक्सीडेंटस (oxidants) की वजह से भी पैदा हो सकते हैं। इन अनचाहे ऑक्सीडेंटस को बाहर निकालने के लिए आपके लिए काफी मात्रा में पानी पीना काफी आवश्यक है। आर आपको पानी पीने की आदत नहीं है तो खुद को इसके लिए तैयार करें और दिन में कम से कम 3 लीटर पानी अवश्य पियें। लोगों की यह अलाट धारणा है कि पानी का उपयोग सिर्फ शरीर को हाइड्रेट (hydrate) करने के लिए ही किया जाता है, जिसकी ज़रुरत केवल गर्मियों में पड़ती है। असल में ठण्ड के मौसम में भी शरीर को हाइड्रेट रहने की काफी आवश्यकता होती है और इसीलिए आपको काफी पानी पीना चाहिए।

मुंहासों के ईलाज के लिए मृत त्वचा को निकालें (Remove dead skin for anti acne treatment)

अगर आपको एक्ने और दाग धब्बे की समस्या हमेशा ही परेशान करती है तो इसका कारण यह हो सकता है कि आपकी त्वचा पर मृत त्वचा की काफी मोटी परत जमा है। मृत त्वचा की इस परत को हटाना काफी आवश्यक होता है। आप अपनी त्वचा पर एक हलके स्क्रब (scrub) का प्रयोग कर सकते हैं क्योंकि कठोर स्क्रब आपकी कील मुहांसों से युक्त त्वचा पर काफी हानिकारक साबित होते हैं। अपनी त्वचा पर उँगलियों की मदद से गोलाकार मुद्रा में मालिश करें, जिससे कि आपकी त्वचा को कोई नुकसान पहुंचे बिना मृत त्वचा आसानी से निकल जाए।