Daad ka ilaj karne ke upaay – दाद का इलाज करने के उपाय

दाद त्वचा पर होने वाली एक समस्या है जो फंगल इन्फेक्शन की वजह से होती है और भयंकर रूप से संक्रामक है। रिंगवर्म का इलाज न होने पर यह त्वचा पर लगातार फैलता रहता है। यह वैसे तो शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है लेकिन पैरों और शरीर के ऐसे हिस्से जो ढंके हुए रहते हैं जैसे, भीतरी भीतरी जांघों, महिलाओं के शरीर में वक्षों के निचले हिस्से और शरीर के जुड़े हुए हिस्सों में दाद का खतरा अधिक होता है। नीचे दाद का इलाज करने के उपाय बताये गए हैं।

दाद के लक्षणों को कैसे पहचाने और उसका बचाव कैसे करें। (How to identify and cure ringworm?)

हम हमेशा चाहते हैं कि हमारा शरीर साफ़ और स्वस्थ रहे हम कभी भी नहीं चाहेंगे कि हमे किसी तरह का कोई संक्रमण या बीमारी हो। वैसे तो हम अपने शरीर का हमेशा ध्यान रखते हैं, लेकिन इसके बावजूद हमे कुछ बातों का विशेष तौर पर ध्यान रखना चाहिए। हमें संक्रमण कभी भी हो सकता है जैसे आप यात्रा कर रहे हों या काम पर जा रहे हों तो ध्यान दे कि आपका कोई साथी या आस पास के लोग बीमार तो नहीं हैं। नहाने के पानी मे 2 बूँद सेवलॉन या डेटॉल डालकर नहाएं। दाद एक ऐसी बीमारी है जो हर उम्र के लोगो मे हो सकती है तथा बच्चा जवान या बुज़ुर्ग इससे कोई नहीं बच पाता। ये एक फंगल इन्फेक्शन है जो सिर, पैर, गर्दन या किसी अंदरुनी भाग मे कहीं भी हो सकता है। ये लाल या हलके ब्राउन रंग का गोल आकार का होता है। ये इंसान तथा जानवर किसी से भी फैल सकता है। लेकिन डरें नहीं क्योंकि ये आसानी से ठीक भी हो जाता है। ये किसी कीड़े से नहीं होता बल्कि यह तो एक फंगल इन्फेक्शन (Fungal Infection) है।

दाद का इन्फेक्शन बहुत ख़राब फंगल संक्रमण होता है। ये बहुत तेज़ी से फैलता है एवं अपने आसपास के भागों को भी प्रभावित करता है। इसका संक्रमण ज्यादा बढ़ने पर आप शरीर पर उभार और फुंसियाँ भी देख सकते हैं।

रिंगवर्म या दाद के लक्षण (Symptoms of ringworm infection)

मुंह में छाले या नासूर घावों का इलाज करने के लिए घरेलू उपचार

अगर आपको शरीर पर लाल धब्बे दिखते हैं और खुजली होती है तो सावधान हो जाइए, क्योंकि ये दाद के लक्षण हैं। अगर ये आपके नाख़ून पर हुआ तो आपका नाख़ून जड़ से निकल सकता है तथा बालों की जड़ों मे होने से आपके बाल उस जगह से झड़ सकते हैं। ये आपको बालों की जड़ों, पैर तथा शरीर के अंदरुनी भागों में हो सकता है।

शरीर पर लक्षण (Symptoms in body)

दाद के लक्षण निम्नलिखित हो सकते हैं –

  • लालपन और खुजली होना।
  • पस की फुंसियाँ होना।
  • खुजली के साथ उभार दिखना।

पैरों पर लक्षण (Symptoms in foot)

  • चिड़चिड़ापन और जलन होना।
  • फटी हुई चमड़ी

अंदरुनी भागों पर लक्षण (Groin ringworm symptoms)

  • कटाव या चमड़ी निकलना।
  • लालपन होना।
  • अंदरुनी भागो में खुजली होना।

दाद का इलाज (Daad ka ilaj) और रिंगवर्म या दाद से बचने के उपाय और उपचार (Prevention,treatment and cure for ringworm infection)

अगर आप दाद ठीक करने का इलाज ढूंढ रहे हैं तो हमेशा अपने शरीर को साफ़ रखें। अपने शरीर को गीला न रखें तथा हमेशा सूखे रहने की कोशिश करें। एंटी फंगल या मेडिकैटेट साबुन का प्रयोग करें एवं शैम्पू का रोज़ाना इस्तेमाल करें। जहाँ तक हो सके सूती के कपड़े पहने। ज्यादा चुस्त कपड़े ना पहनें। दूसरों के कपडे, तौलिये, चादरों तथा ब्रश का उपयोग ना करें। अगर किसी को ये संक्रमण है तो उनसे दूरी रखें एवं हाथ ना मिलाएं क्योंकि ये इन्फेक्शन फैलता है। अगर आपके घर मे कोई जानवर है और उसे ये इन्फेक्शन है तो उसे पट्टी कभी ना बांधें और तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएँ। आइये आपको दाद से छुटकारा पाने के कुछ उपाय बताते हैं। इन्हें आप अपने दोस्तों को भी बताएं।

एंटीफंगल क्रीम  (Anti fungal cream)

शरीर की किसी भी जगह त्वचा में दाद होने पर चिकित्सकीय सलाह से किसी एंटीफंगल क्रीम या लोशन का लेप लगाकर दाद का इलाज करें। इसमें किसी भी तरह की देरी नहीं करनी चाहिए। क्लोट्रीमाज़ोल, टर्बिनाफिन, मिकोनाज़ोल आदि घटकों से युक्त क्रीम या लोशन का प्रयोग दाद के उपचार में बेहतर होता है तथा इनसे दाद ठीक करने में सहायता मिलती है।

एंटीफंगल पाउडर (Anti fungal powder)

साइनस के घरेलू उपचार, सुझाव और नुस्खे

अगर आप क्रीम या लोशन लगाने से परहेज करते हैं तो ऐसे कई एंटीफंगल पाउडर बाज़ार में मौजूद हैं जिनका प्रयोग बाहरी तौर पर किया जा सकता है। आप क्रीम के साथ भी पाउडर का इस्तेमाल भी कर सकते हैं जो दाद का इलाज करता है।

 एंटी फंगल शैम्पू (Anti fungal shampoo)

दाद छुटकारा पाने लिए पहले आप डॉक्टर से सलाह करें तो वो आपको एंटी फंगल शैम्पू ही इस्तेमाल करने की सलाह देगा। इससे दाद तुरंत ठीक होने में सहायता मिलेगी। ये शैम्पू किसी भी मेडिकल स्टोर पर आराम से मिल जाता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,883 other subscribers

दाद के घरेलू इलाज

सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

सेब के सिरके में शक्तिशाली एंटीफंगल (anti-fungal) गुण होते हैं, जिसकी वजह से प्रभावित क्षेत्र पर इसके प्रयोग से दाद का इलाज हो सकता है। इसका प्रयोग करने के लिए शुद्ध सेब के सिरके में रुई डुबोएं एवं इस रुई को अपनी प्रभावित त्वचा पर लगाएं। इस प्रक्रिया का प्रयोग दिन में तीन बार करें। यह दाद छुटकारा पा सकते है।

टी ट्री ऑइल (Tea tree oil)

स्थानीय ऑस्ट्रेलियाई लोग एंटीफंगल एवं एंटी बैक्टीरियल (antibacterial) गुणों के लिए पारम्परिक रूप से टी ट्री ऑइल का प्रयोग करते रहे हैं, और आज भी इसका प्रयोग इन उद्देश्यों से किया जाता है। यह त्वचा के फंगल संक्रमणों का इलाज करने में काफी प्रभावी साबित होता है। टी ट्री ऑइल का प्रयोग प्रभावित भाग पर दिन में दो से तीन बार रुई या किसी अन्य कपड़े से करें। यदि आपकी त्वचा संवेदनशील है तो टी ट्री ऑइल को किसी कैरियर ऑइल (carrier oil), जैसे नारियल तेल में मिश्रित करना लाभप्रद होता है। इसके अलावा इन तेलों के अपने एंटीफंगल लाभ भी होते हैं जो दाद दूर करने का काफी कारगर इलाज होता है।

हल्दी (Turmeric)

हल्दी में कई प्रकार के स्वास्थ्य गुण होते हैं, जिनमें एंटीबैक्टीरियल एवं जलनरोधी गुण शामिल हैं। यह एक प्रभावी एंटीफंगल औषधि भी है जो फंगस के विकास को अवरुद्ध करती है। ताज़ी पिसी हल्दी को थोड़े से पानी के साथ मिश्रित करें एवं इनका पेस्ट तैयार करें। इसका प्रयोग अपने चेहरे पर करें और सूखने तक इसे इसी प्रकार छोड़ दें। आप दाद दूर करने  के लिए रोज़ाना हल्दी का पानी या हल्दी की चाय का भी सेवन कर सकते हैं।

ऑरेगैनो का तेल (Oregano oil)

छालों का प्राकृतिक उपचार

ऑरेगैनो का तेल बाज़ार में उपलब्ध अन्य उत्पादों से कहीं अधिक शक्तिशाली एंटीफंगल है, एवं यह त्वचा की फंगल समस्याओं, जैसे एथलीट्स फुट (athlete’s foot) एवं दाद, को अवरुद्ध एवं इनका इलाज करने में उपयोगी साबित होता है। ऑरेगैनो का तेल आप ऑनलाइन (online) या औषधि की दुकानों से भी प्राप्त कर सकते हैं। इसे किसी कैरियर ऑइल, जैसे जैतून या नारियल के तेल, के साथ मिश्रित करें और दिन में तीन बार प्रभावित क्षेत्र में इसका प्रयोग करें। इससे आप दाद की समस्या से आसानी से छुटकारा कर सकता है।

लहसुन (garlic)

लहसुन में प्राकृतिक रूप से एंटी फंगल तत्व होते हैं, जो कि कई तरीके के फंगल इन्फेक्शन को ठीक करने में सहायक है। जिसमे से दाद भी एक है। लहसुन को छिल कर उसके छोटे छोटे टुकड़े कर दाद पर रख दीजिये जल्दी आराम मिलेगा। इसके अलावा दाद का इलाज के लिए लहसुन को कुचलकर पेस्ट की तरह तैयार कर लें और इसका उपयोग प्रभावित हिस्से पर करें।

नारियल के तेल (coconut oil)

नारियल का तेल दाद को ठीक करने में बहुत उपयोगी है। यदि आपके सिर की जड़ो में इन्फेक्शन हुआ हो तो ये दाद दूर करने का एक बहुत बेहतरीन तरीका है।

 राई के बीज (Mustard seeds)

दाद दूर करने के लिए छोटे छोटे राई के दाने लें । राई को 30 मिनट तक पानी में भिगो कर रख दें, और फिर उसका पेस्ट बनाकर दाद की जगह पर लगा लें।

इलाज (Cure)

किसी त्वचा रोग विशेषज्ञ को दिखाएं और उनके द्वारा दी गयी दवा लें।