Saffron in Hindi – kesar khane ke fayde – केसर के फायदे और नुकसान

भारत में सैफ्रन (saffron) को केसर के नाम से जाना जाता है। आज के समय में यह सबसे महंगे मसालों में से एक है। एक ऐसे सुनहरे मसाले के रूप में इसे पहचान मिली है जो न केवल पकाने पर दुगुना हो जाता है बल्कि यह हमारे भोजन को बेहतरीन खुशबू भी देता है। इसे किसी भी भोजन में डालकर उस भोजन को बिलकुल नया और कुछ अलग बनाया जा सकता है। केसर के लाभ (kesar ke labh) हैं कि यह कई तरह के रोगों को ठीक करने के लिए भी बहुत उपयोगी होता है।

प्राचीन समय से ही इसे एक औषधि के रूप में उपयोग में लाया गया है। यह तीखा केसर एक मसाला है क्योंकि इसमें विभिन्न तरह की खूबियाँ हैं इसीलिए यह हमारे स्वास्थ्य को कई प्रकार से ठीक (kesar khane ke fayde) रखने में मदद करता है।

केसर के फायदे और नुकसान (kesar khane ke fayde)

पाचन संबंधी क्रियाएँ (Digestive function)

केसर पाचन संबंधी समस्याओं को दूर कर भूख बढ़ाने में सहायता करता है। यह हमारे शरीर में अवयवों के साथ मिलकर उनके संचरण को बेहतर कर पाचनक्रिया में मदद करता है। यह पेट और मलाशय की झिल्ली को ढककर (coat) रखता है जिससे गैस, पेट दर्द, एसिडिटी और किडनी तथा लीवर से संबन्धित समस्याओं से राहत मिलती है। वैसे केसर किडनी, मूत्राशय और लीवर की बीमारियों में बहुत ज़्यादा फायदेमंद होता है। केसर को रक्त को साफ करने वाला (Blood cleaner) भी माना जाता है।

त्वचा की सौंदर्य देखभाल के लिए पपीता के सौंदर्य लाभ

गैस और एसिडिटी (Gas and Acidity)

केसर गैस और एसिडिटी से संबन्धित समस्याओं में लाभदायक होता है और साथ ही आराम भी देता है।

आथराइटिस (Athritis)

यह अथराइटिस की वजह से होने वाले सूजन को कम करने में मदद करता है। साथ ही यह जोड़ों के दर्द से राहत देता है। यह एथलीट्स के लिए कुछ मददगार हो सकता है। अगर आपको कमजोरी और मांसपेशियों में सूजन हो तो यह आपकी उन कोशिकाओं को मदद करता है जो कड़ी मेहनत की वजह से लैक्टिक एसिड खो देते हैं।

इंसोमिया (Insomnia)

केसर के बारे में कहा गया है की यह पीड़ानाशक होता है साथ ही इंसोमिया और अवसाद संबंधी बीमारियों में प्रयोग में लाया जा सकता है। केसर को सोने से पहले एक चुटकी मात्रा दूध में मिलकर पीने से नींद ना आने की शिकायत दूर होती है।

बुख़ार (Fever)

वैज्ञानिकों के मुताबिक केसर में क्रोसिन (crocin) घटक मौजूद होता है। यह वमन को कम करने में उपयोगी है, केसर के साथ क्रोसिन घटक याददाश्त, सोच समझने और याद करने की क्षमता को बढ़ता है।

आँखों की समस्या (Eye problem)

केसर दृष्टि क्षमता और आंखों के सेहत को बेहतर करता है। एक ताज़ा रिसर्च कहता है की यह देखा गया है की प्रत्येक व्यक्ति जो केसर की पर्याप्त मात्रा लेता है उसकी दृष्टि क्षमता पहले से बेहतर होती है। केसर में उपस्थित घटक दृष्टि संबन्धित बीमारियों जैसे आँखों का धुंधलापन और मोतियाबिंद जैसी समस्याओं में उपकारी होते हैं।

पान के पत्ते / मुरलीवाला पान और उसके स्वास्थ्य के लिए फायदे

मसूड़े (gums)

केसर के उपाय, मसूड़े पर केसर की मसाज करने से मुंह और जीभ का दर्द और सूजन कम होती है।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,899 other subscribers

केसर के लाभ (kesar ke labh)

ऊपर दिये इन फ़ायदों के अलावा केसर अस्थमा के इलाज में भी उपयोगी होता है। यह मासिक धर्म में होने वाले दर्द, एथ्रोस्क्लेरोसिस (Atherosclerosis), अवसाद और कुकुर खांसी के अलावा कई अन्य बीमारियों में भी उपयोगी होता है। इसे साथ साथ यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) और ट्राइग्लिसराइड (Triglyceride) की मात्रा को कम करने का प्रयास करता है। इसके साथ ही केसर को पेस्ट बनाकर त्वचा के रूखेपन और अन्य त्वचा संबंधी बिमारियों को कम किया जा सकता है। केसर के फायदे (kesar ke fayde) और भी हैं, कुछ स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं जैसे सिर दर्द, खांसी और सर्दी के साथ गर्भवती महिलाओं को इसे लेने की सलाह दी जाती है, क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इसे लेने से होने वाले बच्चे का रंग साफ होता है।

केसर कैसे खाना चाहिए (kesar kaise khana chahiye)

केसर के उपयोग (kesar ke upyog) कई प्रकार के भोजन में स्वाद और गंध बढ़ाने के लिए किया जाता है। आप खीर और विभिन्न प्रकार कि मिठाइयों के अलावा कुछ डिशेज जैसे बिरयानी, रिसोटो (इटालियन राइस), पाएला, फबादा जैसे बहुत सी देशी और विदेशी व्यंजनों में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके साथ ही आप रोज़ एक गिलास दूध में एक चुटकी केसर मिला कर पी सकते हैं। केसर का पेस्ट दूध में मिलाकर चेहरे में लगाने से आपको गोरी रंगत मिलती है। केसर के गुण (kesar ke gun) अनेक हैं।

केसर का चुनाव (selecting saffron)

स्वास्थ्य और सौंदर्य के लिए गुड़हल के फूल के आश्चर्यजनक लाभ

केसर थोड़ा महंगा हो सकता है, ऐसे कई प्रकार के मिलावटी और नकली तथा रंग किए हुये उत्पाद मौजूद हैं जो दिखने में केसर की ही तरह दिखाई देते हैं। तो आपको यह सीखना होगा कि आप जो केसर खरीद रहें है वो असली है या नहीं? चुटकी भर केसर को गरम पानी में भिगोएँ और देखें, अगर ये तुरंत रंग छोड़ दे तो इसका मतलब है कि यह नकली है। शुद्ध केसर को अगर आप ठंडे या गरम पानी में डुबो दें तो वह तुरंत रंग नहीं छोडता। शुद्ध केसर पानी में भीगकर कम से कम 10 से 15 मिनट बाद सुनहरा लाल रंग छोड़ता है इसके साथ ही इसमें केसर कि भीनी खुशबू निकल कर बाहर आती है।

loading...