Shravan month 2017, Shiv puja vrat in Hindi – सावन में शिव पूजा की खास विधि

श्रावण मास में शिव पूजा का खास महत्व है और देश के लगभग हर हिस्से में ही इस महीने में भगवान शिवजी की भक्ति भाव से पूजा की जाती है ताकि महादेव अपनी कृपा दृष्टि भक्तों पर बनाए रखें। इस बार श्रावण मास 2017 का आरंभ 10 जुलाई को तथा इसका समापन 7 अगस्त 2017 को होने जा रहा है। यह प्रचलित है कि भगवान शिव को प्रसन्न करना भक्तों के लिए बड़ा ही आसान है। महादेव केवल सच्ची श्रद्धा के साथ बहुत ही मामूली चीजों के अर्पण से ही प्रसन्न होकर अपनी कृपा प्रदान कर देते हैं। तो भक्तों को भी इस सावन मास को ध्यान में रखते हुये कुछ खास लेकिन आसान से उपाय करने चाहिए। श्रावण में शिव पूजा के उपाय हिन्दी में

श्रावण मास में शिव पूजा और व्रत कैसे करें? shravan shiva pooja vidhi in Hindi

वैसे तो पूरा श्रावण मास शिव पूजा का विशेष समय होता है लेकिन सावन मास में पड़ने वाले सोमवार का खास महत्व है यह दिन और माह दोनों ही महादेव के अतिप्रिय हैं इस लिए भी सावन सोमवार को खास माना जाता है। इस आलेख में सावन सोमवार की पूजा के कुछ खास उपाय दिये जा रहे हैं जिससे आप घर या अपने पास के किसी भी शिव मंदिर में भक्ति भावना के साथ आसान पूजा विधि संपन्न कर सकते हैं।

Savan somvar 2017, Shiv puja kaise kare – भगवान शिव को प्रसन्न करने के उपाय, सावन सोमवार व्रत की पूजा विधि हिन्दी में

श्रावण 2017 के इस माह में 5 सोमवार व्रत का पालन किया जाएगा जो बहुत ही आसान व लाभदायी होते हैं। भगवान शिव को प्रसन्न करने के उपाय बहुत ही सरल हैं और कोई भी आसानी से इस व्रत का पालन कर भोलेनाथ की कृपा प्राप्त कर सकता है। सावन सोमवार की पूजा विधि हिन्दी में (Shravan/savan maas vrat vidhi)

  • सोमवार के दिन सुबह स्नान कर स्वच्छ वस्त्र पहनें।
  • अगर आप व्रत नहीं रख सकते तो सुबह पूजा के पहले तक कुछ न खाएं और सुबह जल्दी पूजा संपन्न करने की कोशिश करें।
  • पूजा विधि के बाद नित्य का भोजन ग्रहण कर लें।
  • शाकाहार अपनाएँ। श्रावण मास में मांस मदिरा का सेवन न करें।
  • अगर आप सावन सोमवार का व्रत करने जा रहे हैं तो मंदिर में किसी प्रतिष्ठित शिवलिंग में जल अवश्य चढ़ाएँ।
  • जल चढ़ानें के लिए तांबे के पात्र या लोटे का प्रयोग श्रेष्ठ होता है।
  • जल के साथ कनेर, धतूरे, अकौवे का अर्पण करें साथ ही बिल्ब पत्र या बेल की पत्तियों का भी शिव पूजा में विशेष महत्व होता है।
loading...