What is New Year Resolution? New year resolution idea – नए साल में एक संकल्प अपने लिए, न्यू ईयर रेसोल्यूशन आइडिया

न्यू ईयर रेसोल्यूशन (new year resolution) पश्चिमी देशों की परंपरा का एक हिस्सा है जिसका नए साल में पालन किया जाता है। पश्चिम के कुछ देशों में नए साल के दिन लोग अपने विकास और आंतरिक सुधार के लिए कुछ संकल्प लेते हैं। यह एक प्राचीन परंपरा है जो कई देशों में अलग अलग तरह से पालित की जाती रही है।

उनका मानना था कि, नए साल से जीवन की एक नई शुरुआत होती है, इसी बात को ध्यान में रखते हुये लोग अपनी कुछ खास आदतों को अपनाने या छोड़ने का फैसला निश्चय के साथ लेते हैं।

‘रेसोल्यूशन (resolution) या संकल्प’ एक चुनौतीपूर्ण शब्द है जो हम खुद से करते हैं। ऐसा कहा गया है कि खुद का सामना करना या खुद से लड़ना दुनिया की कठिनतम लड़ाइयों में से एक है। संकल्प को चुनौती इसीलिए माना गया है क्योंकि इसे हम किसी एक विशेष बात के विरोध के लिए करते हैं।

खुद से किया गया संकल्प निभाना सबसे मुश्किल होता है क्योंकि सिर्फ हम ही अपने बारे में सबसे अच्छे से जानते हैं, खुद को जानने का मतलब होता है अपनी कमियों के बारे में जानना, अपनी खूबियाँ के बारे में जानना। अपनी सही और गलत आदत को जानना। हम जब भी खुद से कोई संकल्प लेते हैं तो वह हमारी कमियों या गलत आदतों के विरोध में होता है।

और अगर इस बात का दूसरा पक्ष देखें तो यह भी पता चलता है की संकल्प या दृढ़ संकल्प का आशय आंतरिक शुद्धिकरण और ज्ञान से भी होता है। अपनी गलत बातों को पहचानना और उसे दूर करने की चाह भी आंतरिक शुद्धता का एक रूप है।

जैसे अगर कोई बच्चा पढ़ाई में ध्यान नहीं देता और परीक्षा के नजदीक आने पर वह मन में संकल्प करता है कि उसे अब मन लगाकर पढ़ना है, अब वो खुद जान गया है कि अब उसे पास होने के लिए और लापरवाही नहीं करनी चाहिए और पढ़ने में ध्यान देना चाहिए। यहाँ बच्चे को आंतरिक बोध हो गया है कि उसे क्या करना है। अपनी गलतियों को पहचानकर उसे दूर करने की तीव्र चाह ही संकल्प (resolution) है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

मानव मन इतना चंचल है कि कई बार हम संकल्प को पहचानते हुये भी उससे केवल एक कदम की दूरी पर ही रह जाते हैं और उसे पार नहीं कर पाते। अकसर हम या कई लोग किसी खास संकल्प को शुरू करने के लिए भी समय का इंतज़ार करते हैं पर दरअसल वह समय कभी आता ही नहीं।

अगर आपका भी लिया हुआ कोई संकल्प उस एक कदम को अब तक पार नहीं कर पाया है तो इस नए साल की शुरुआत उस संकल्प को पूरा करने के साथ करें। नया साल नई आशाएँ और नए अवसर लेकर आता है तो क्यों न इस नए साल पर दृढ़ संकल्पित होकर अपने जीवन को नई दिशा व दशा दें।

संकल्प क्यों है ज़रूरी? (Why resolution is important?)

अगर आपने अपने जीवन के बीते हुये समय को ध्यान से याद किया होगा तो आपको पता चलेगा कि कितनी ही ऐसी आदतें आपके अंदर हैं जो आपके और आपके करीबी लोगों के लिए नुकसानदायक हो सकती हैं। आप इस बात से रूबरू तो हैं लेकिन आपने कभी गंभीरता से इसे त्यागने के बारे में नहीं सोचा होगा। हो सकता है कि, आपने अपनी ऐसी ही न जानें कितनी नकारात्मक बातों को छोड़ने का सोचा तो होगा लेकिन तो अनिश्चित व क्षणिक था, इसका कारण यह है कि, आप अपने उस वादे को पूरा करने के लिए दृढ़ संकल्पित नहीं थे। अक्सर ऐसा बेपरवाह बर्ताव आपको अपनी नकारात्मक आदतों के सामने कमजोर बना देता है यही कारण है कि व्यक्ति को संकल्प लेने की ज़रूरत पड़ती है।

नए साल में क्या संकल्प लें? (New year resolution ideas in Hindi)

खुद से संकल्प करने का आशय केवल अपनी नकारात्मक बातों को त्यागना नहीं होता, बल्कि संकल्प का मतलब अच्छी बातों को सीखना और उसे अपने चरित्र में उतारने से भी संबंधित है। अगर आप नकारात्मक बातों को निकाल कर सकारात्मक या बेहतरीन बातों को आदतों का अनुसरण अपने जीवन में करते हैं तो आपका जीवन और व्यक्तित्व निखर उठता है और आपको उन्नति की राह में अग्रसर करता है। संकल्प के लिए अपने भीतर की बुराइयों को दूर करने का प्रयास करें और इसके साथ ही जीवन में कुछ आदतों को भी अपनाने की कोशिश करें और साथ ही इन्हें नियमित रूप से जीवनपर्यंत धारण किए रहें।

नए साल के लिए रेसोल्यूशन आइडिया हिन्दी में (Best new year’s resolutions list)

नए साल का आगाज होने जा रहा है और अगर आपने अभी तक अपने लिए कोई संकल्प नहीं लिया है तो यहाँ हम आपको कुछ रेसोल्यूशन आइडिया बताने जा रहे हैं जो आपकी असमंजसता को दूर कर आपको प्रगति के पथ पर आगे बढ़ने में मदद करेंगे।

न्यू ईयर रेसोल्यूशन टिप्स (New year resolution tips in Hindi)

नये संकल्प, सेहत के लिए लें संकल्प (Resolution for good health)

अगर आप कई दिनों से सोच रहें हैं की आपको अपने स्वास्थ्य के लिए कुछ खास तैयारी करने की ज़रूरत है तो इसकी शुरुआत इस नए साल से करें। अगर आपका बढ़ता वजन आपकी समस्या बन चुका है तो आज से ही वेट लॉस के लिए दृढ़ संकल्पित हो जाएँ। वेट कर्ण एके लिए एक निश्चित नियम बनाएँ। वजन कम करने से संबंधित ज़रूरी नियमों का पालन करें।

बाहर का खाना कम करें (Don’t eat outside food hai nav varsh ke sankalp)

यह सेहत संबंधी ही संकल्प है जो आपके पेट से सीधे तौर पर जुड़ा हुआ है। अक्सर हम में से ज़्यादातर लोग ही बाहर के खाने या स्ट्रीट फूड के दीवाने होते हैं लेकिन इसे रोज खाना सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। आज से ही यह संकल्प लें की अब आप स्ट्रीट फूड का कम से कम प्रयोग कर देंगे। अगर आपको बाहर का खाना पसंद है तो इस आदत को एकदम से न छोड़ें, हम भी यह सलाह नहीं देंगे, लेकिन इस आदत को कम कर दें। और संकल्प लें कि महीने में केवल एक बार ही बाहर खाएँगे।

नए साल का संकल्प, जेब का रखें ख्याल (Resolution for money and wealth)

हम सभी की एक आम आदत होती है, हम कहते फिरते हैं कि जेब में पैसे ही नही बचते या हम पैसे नहीं बचा पाते। अगर आप अपने खर्चे पर ध्यान दें तो आपको पता चल जाएगा कि कहाँ आपका पैसा सबसे ज़्यादा खर्च होता है। अगर आपकी यह आदत बेफिजूल है तो इसे तुरंत बंद करने का संकल्प लें।

संकल्प लें और जल्दी सोने की आदत बनाएँ (New year resolution for sleeping habit for naya saal naya sankalp)

अगर आपको अक्सर रात में देर तक जागने की आदत है तो अपनी इस आदत को आज ही खत्म करें। नए साल पर संकल्प लेकर इस बुरी आदत का खात्मा करें। देर से सोने पर आपकी नींद जल्दी नहीं खुलती, और अगर खुल भी जाती है तो आप फ्रेश महसूस नहीं करते हैं और इसका असर आपके सारे दिन के कामों पर पड़ता है।

नए साल में संकल्प धार्मिक बनें (New year resolution in Hindi – Be spiritual)

जीवन में अपने मन को स्थिर रखने और मन की शांति के लिए धार्मिक होना ज़रूरी है। इससे ईश्वर के ऊपर आपका विश्वास बढ़ता है और आपकी सोच ज़्यादा सकारात्मक होती है। अपने मन से नकारात्मक भाव को कम करने के लिए भी आपका ईश्वर के प्रति विश्वास ज़रूरी है। यह कमजोर मन को शक्ति देता है और आपको आशावादी बनाता है। इसका मतलब यह नहीं की आप रोज मंदिर या मस्जिद जाएँ, या घंटों भगवान के सामने बैठ कर पूजा आराधना करें। धार्मिक भाव मन और व्यवहार में लाना ज़रूरी है।

अपने काम खुद करें (Do your work yourself hai nav varsh ka sankalp)

अगर आप उन लोगों में से हैं जो अपने छोटे छोटे कामों के लिए घर के अन्य सदस्यों या अपने लाइफ पार्टनर पर निर्भर रहते हैं तो इन आदतों से इस नए साल पर छुटकारा पाएँ। जैसे अगर आप ऑफिस जाने के पहले अपने कपड़ों को प्रेस करवाने के लिए अपनी बीवी का रास्ता देखते हुये लेट होते हैं तो इस आदत को अब बदल लें। अपने इस तरह के छोटे मोटे कामों को खुद करने की आदत बनाएँ। इससे आपके साथ वालों को भी आराम मिलेगा और आप पहले से ज़्यादा व्यवस्थित हो पाएंगे।

नये वर्ष में नया संकल्प समय की कद्र करें (Top new year resolution – Be punctual)

अगर लेट होना आपकी पुरानी आदत है तो नए साल के लिए यह आपका बेहतरीन रेसोल्यूशन आइडिया हो सकता है। अपने समय को अच्छी तरह व्यवस्थित करना एक कला है और इतिहास गवाह रहा है कि सफलतम व्यक्ति हमेशा समय के पाबंद रहे हैं। अगर आप भी अपने जीवन में नई ऊंचाइयों को छूना चाहते हैं तो समय की कद्र करें और अपने दिन को व्यवस्थित करें।

सफाई का संकल्प (Be clean, Keep clean hai naye saal ke naye sankalp)

साफ सुथरा रहना और अपने आस पास की जगह और चीजों को साफ रखना एक बहुत अच्छी बात होती है साथ ही यह हमारी ज़िम्मेदारी भी होती है। अगर सेहत की दृष्टि से देखा जाए तो भी यह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। अपने आस पास की जगह को साफ रखने का आपका यह संकल्प आपके साथ साथ दूसरों के लिए भी प्रेरणादायी बन जाएगा।

इस नववर्ष पर लें इको फ्रेंडली होने का संकल्प (Resolution for environment)

अगर आप पर्यावरण या प्रकृति के नजदीक हैं तो आप इस तरह का संकल्प लेकर अपने साथ साथ पर पर्यावरण की रक्षा में भी अपना योगदान दे सकते हैं। इसके लियी आप प्रकृति के लिए हानिकारक चीजों के प्रयोग जैसे प्लास्टिक या पोलिथीन आदि को ना कह सकते हैं। इनकी जगह कपड़े या कागज का इस्तेमाल करें। बेकार प्लास्टिक या पोलिथीन बैग को इधर उधर न फेंके। समान लेने जाएँ तो अपने साथ कपड़े का बैग लेकर जाएँ। बेवजह का धुआँ या हॉर्न आदि का शोर अपनी तरफ से कम करने का प्रयास करें।

पढ़ने की आदत बनाएँ (Be a reader – Best new year resolution, naye saal ke sankalp)

जैसे जैसे हम बड़े होते जाते हैं पढ़ने की आदत ज़्यादातर लोगों में ही कम होती जाती है। जिन लोगों को पढ़ने का शौक होता है उन्हें छोड़कर बाकी लोग समय की कमी का बहाना बताकर इस बेहतरीन आदत से किनारा कर लेते हैं। पढ़ना और सीखना हमेशा ही हमे जीवन में आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है। पढ़कर प्राप्त किया गया आंतरिक ज्ञान हमारे आत्मविश्वास को बढ़ाता है। आपने यह महसूस भी किया होगा कि जब आपको किसी विषय के बारे में कोई जानकारी होती है तो आप उससे संबन्धित चर्चा में खुद को पहले से ज़्यादा आत्मविश्वासी पाते हैं। हमारा ज्ञान ही हमारे आत्मविश्वास का मूल है। इसीलिए पढ़ें और इस अच्छी आदत को अपना संकल्प बना लें।

नए साल के संकल्प, डर का सामना करें (Face fear – New year resolution idea in Hindi)

हर किसी के अंदर किसी न किसी प्रकार का डर या भाय होता है। ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं होगा जिसे किसी भी तरह का डर न हो। कोई अपने डर से परिचित होता है तो कोई अपने डर का वास्तविक कारण नहीं जानता, इस श्रेणी में कुछ ऐसी बातें होती हैं जो बिना कारण और न जानें कब से हमारे अवचेतन मन में जगह कर बैठती है। जैसे किसी को ऊंचाई से डर लगता है तो कोई गहरे पानी से डरता है। कोई अकेला रहने से डरता है तो कुछ लोग भीड़ से डर जाते हैं। ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें स्टेज में जाने से डर लगता है। इस प्रकार के अन्य कई डर हैं जो पिछले कई वर्षों से हमें कमजोर बनाते आ रहे हैं। तो इस नए साल में संकल्प लेकर इन डर या भयों से मुक्त होकर आगे बढ़ें। आप जिन बातों से डरते हैं उन्हें चुनौती दें और उनका सामना हिम्मत के साथ करें। जीत आपकी ही होगी।

अपने लिए समय निकालें (Time for yourself hai nav varsh sankalp)

आज की भाग दौड़ भरी जिंदगी में जहां जीने के लिए वक़्त नहीं है वहीं तनाव की जगह सबसे ज़्यादा है। हम काम और तनाव के बोझ से इतने दबे हुये हैं कि खुद को भूल ही गए हैं। अगर आपसे पूछा जाए कि आपकी पसंद क्या है तो आपको कुछ समय लगेगा सोचने के लिए, तब शायद आप बता पाएंगे की आपको क्या क्या पसंद है। अगर आपकी भी इसी तरह की आदत है तो आज ही सतर्क हो जाएँ। इससे पहले की आप खुद को भूल जाएँ, खुद की खोज शुरू करें। अपनी पसंद, नापसंद को फिर से याद करें। अपने बचपन को याद करें। आपको कौन सी चीज़ सबसे ज़्यादा पसंद है या कौन सी बचपन की बात आज भी गुदगुदाती है, इस सभी बातों को एक बार फिर से अपने साथ बैठ कर शेयर करें। अपने लिए रोज थोड़ा वक़्त निकालें। अपनी हॉबी को अपने जीवन में जगह दें।

नव वर्ष के संकल्‍प, अपनों का रखें ध्यान (Take special care of your family)

अगर आप माता या पिता बन चुके हैं तो यह आपके लिए एक ज़िम्मेदारी भरा समय होगा। आपके घर में बड़ों की देखभाल के साथ साथ अब आपको अपने से छोटों का भी विशेष ध्यान रखने की ज़रूरत पड़ रही है। हो सकता है कि, काम या कैरियर में अप अपने घर को या परिवार को ज़्यादा समय न दे पा रहे हों, अगर ऐसा हो रहा है तो अपनी जिम्मेदारियों के प्रति सजग हो जाएँ, इस नए साल में यह आपको रेसोल्यूशन होना चाहिए कि, आज से आप अपने परिवार और परिवार के सभी सदस्यों का खास खयाल रखेंगे और उन्हें यह महसूस कराएं कि उन्हें किसी भी प्रकार की चिंता करने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि आप हमेशा उनके साथ हैं।

loading...