How to stop lip sucking or chewing habit in children – बच्चों में होंठ चूसने और चबाने की आदत को कैसे रोके

कई बच्चों में बाल खींचने, काटने, फर्श पर स्ट्रेचिंग (stretching) और अंगूठे चुसने की आदत होती है। हालांकि यह आदतें कम समय के लिए होती हैं। इनमें से कुछ बुरी आदते नाखून काटने, होंठ या नाक चूसना या चबाना। लेकिन अब बच्चों के होंठ चबाने की आदत (baccho ke honth chabane ki aadat) को आप आसानी से दूर कर सकते हैं।

होंठ चूसने या चबाने (Lip sucking or chewing)

छोटे बच्चे का होंठ चूसना और चबाना आम बात है, जब वह अपने सूखे होठों को गीला करने चाहते हैं, तो वह अपने होंठ को चूसने लग जाते हैं। ऐसा तब होता है जब बच्चा मानसिक दवाब में आ जाता है। बच्चे को इस बात का पता नहीं होता कि उसे होठ चूसने की लत लग गई है। होंठ चबाने की आदत से निजात पाने के लिए आप उनका ध्यान इधर उधर बांटते रहें।

होंठ चूसने की आदत के कारण (Causes of lip sucking habit)

  • बच्चे आमतौर पर अपने निचले होंठ को तब चूसते हैं, जब वह एक नए वातावरण या फिर मानसिक एकाग्रता और एक नए माहौल में कुछ नया सीखने की कोशिश करते हैं।
  • यह कुछ समय के बाद बच्चों की आदत बन जाती हैं, और ऐसा करने के लिए उन्हें किसी तनावपूर्ण माहौल की जरूरत नहीं होती है।
  • होठों की त्वचा रूखी, फटी या फिर सूखी होने से भी बच्चे होंठों को चूसने लगते हैं।

अपने बच्चे को सुलाने के कुछ असरदार तरीके

  • बच्चे अक्सर वयस्कों की गतिविधियों को ध्यान देते रहते हैं, अगर घर में किसी सदस्य की आदत ऐसी होती हैं, तो वह आसानी से इस आदत को पकड़ कर उनकी नकल करते रह जाते हैं।

होंठ चूसने की आदत से होने वाली स्वास्थ्य समस्या (Health problem of lip sucking habit)

लगातार होंठों को चूसने से होठ लाल हो जाते हैं, ऐसा करने से होंठ और त्वचा दोनों ही घायल हो जाते हैं। होंठों के पास होने वाला हिस्से में संक्रमण होने का खतरा रहता है। एक लाल तरह का गोल आकार का मार्क होठों के पास बन जाता है।

बच्चे को इस परेशानी से कैसे बचाएं (Ways to help the child)

  • कभी कबार होंठ चबाने या चूसने की परेशानी अपने आप समय के साथ छूट जाती है। लेकिन अगर यह आदत आपके होंठों और मुंह को शारीरिक नुकसान पहुंचाती हैं तो ऐसे में आपको कुछ कार्रवाई करनी चाहिए।
  • बच्चे को होठ चबाने की आदत के प्रति सहग ना करें। इसकी जगह आप उनके होठों पर बाम और क्रीम लगाएं, ऐसा करने से उनके होंठों की त्वचा शुष्क और फटेंगे नहीं, और चबाना बंद हो जाएगा।
  • बच्चे को याद दिलाते रहे कि होंठों को चबाने से उनके होठों का आकार खराब हो जाएगा।
  • बच्चा का समर्थित भावनात्मक स्थिरता का विकसित होता है तो इस समय उसे प्यार या धैर्य से समझाए। बच्चे पर भरोसा करें और उन्हें निणर्य लेने का अवसर दें।
  • बच्चों का ध्यान होंठों को चूसने और चाटने समय उनका ध्यान बांट सकते हैं।
  • होंठ ना चूसने पर बच्चे की प्रशंसा करें। आप उन्हें इस चीज के लिए सम्मानित कर सकते हैं।
  • तीन साल की उम्र तक भी अगर आपका बच्चा लगातार होंठ काटता हैं, तो इससे दांतों में समस्या आ जाती है। इसके लिए आप एक दंत चिकित्सक (dentist) से सलाह दें।
  • अगर गाल काटने के पीछे चिंता कारण हैं,तो ऐसे में आप एक मनोचिकित्सक (psychiatrist) से परामर्श करें। वह आपको कुछ ऐसी सरल सलाह देंगे, जिससे आपका बच्चा गाल काटना बंद कर देंगे।

दो साल तक के बच्चों के लिए पूर्ण भोजन तालिका

  • होंठ चूसने से छुटकारा पाने के लिए कोई आसान समाधान नहीं है। आप इसके लिए कई तरीके इस्तेमाल कर सकते हैं, हो सकता है उनमें से कोई टिप्स आपके काम आ जाए। बच्चों को यह नहीं पता होता कि वह किस काम में माहिर है, आप उनकी मदद कर उन्हें होंठ चूसने की आदत से छुटकारा दिला सकते हैं।
  • बच्चों का ध्यान होंठ चूसने की आदत से निजात दिलाने के लिए आप उनका ध्यान बांट सकते हैं, या फिर किसी और काम में  उनका मन लगा सकते हैं।
  • इसके अलावा आप अपने बच्चे को खूब सारा पानी पीने के लिए दें और उन्हें रोजाना ऐसा करने को कहे, ऐसा करने से उनके होंठ परेशान नहीं होंगे।
  • विटामिन ई के आॅयल को बच्चों के होंठों पर लगाएं, ऐसा करने से उनके होंठ नरम और चिकनी रहेंगे। आप ऐसे में उनके होठों पर बाम भी लगा सकते हैं।
  • जैसा कि तीन साल के बच्चों में होंठ चूसने या काटने की आदत तनाव के कारण होती हैं। इससे निजात पाने के लिए उन्हें इस चीज को नजरअंदाज करने को कहें। इसके अलावा होंठों की केयर, देखभाल, चिंता और दवा करते रहे। ऐसा करने से वह खुद में बदलाव करने की कोशिश करेंगें।। यह आदत कुछ ही सप्ताह या महीने में यकीनन खत्म हो जाएगी। ऐसा करने से तनाव कम होता है और उनका तनाव कम होता है।

होंठ चबाना और चूसना एक ऐसी आदत है, जिसे बच्चों में आसानी से नहीं छुड़ाया जा सकता है। लेकिन इन तरीकों को अपनाने से आपके लिए यह आदत छुड़वाना ज्यादा मुश्किल नहीं होता है। बच्चें को समय देकर और धैर्य रखकर आप भी अपने बच्चे की यह समस्या दूर कर सकते हैं। इन बताए हुए टिप्स से आप भी अपने बच्चे की यह आदत आसानी से दूर कर सकते हैं।

loading...