The health benefits of eating fiber rich foods – रेशेदार भोजन शरीर के लिए आवश्यक, जानें फाइबरयुक्त भोजन के फायदे

आजकल हर कोई एक स्लिम (Slim figure) और सुगठित काया चाहती है और खास तौर पर महिलाएं तो स्लिम फिगर पाने के लिए क्या कुछ नहीं करतीं। फाइबरयुक्त भोजन (Fiber rich food) शरीर के लिए बहुत आवश्यक होता है क्योंकि यह स्वास्थ्य की दृष्टि से भी कई तरह से हमारे शरीर से जुड़ा हुआ है और कई तरह की समस्याओं के निवारण के लिए रेशेदार भोजन बहुत ज़रूरी माना जाता है। फाइबर से भरपूर आहार न केवल हमें फिट रखने के लिए ज़रूरी है बल्कि यह हमें स्लिम बॉडी के साथ आवश्यक ऊर्जा प्रदान करने में भी मदद करता है, जिसकी शरीर को समय समय पर ज़रूरत पड़ती रहती है। लोग अब कार्बोहाइड्रेट वाली चीजों को खाने से बचने लगे हैं जो मोटापा बढ़ाने के लिए जिम्मेदार होता है इसकी जगह अब लोगों का रुझान फाइबर से भरपूर भोजन (Fiber se bharpoor bhojan) की तरफ बढ़ रहा है। फाइबर रिच फूड की ब्रांडिंग और विज्ञापनों के माध्यम से भी प्रचार प्रसार द्वारा इसकी लोकप्रियता को बढ़ाने में मदद मिली है।

फाइबर के फायदे (Fiber ke fayde) अनेक हैं और वैसे तो इसके शरीर पर कई सकारात्मक प्रभाव होते हैं लेकिन खास तौर पर कब्ज या कॉन्स्टीपेशन (Constipation) से बचने के लिए फाइबर फूड (Fiber food) बहुत ज़रूरी होता है। इसके अलावा कोलेस्ट्रॉल कम करने तथा पेट से जुड़ी अनेक समस्याएँ जैसे सीने की जलन, अपच इत्यादि में भी रेशेदार चीजों का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।

फाइबरयुक्त आहार से होने वाले फायदे निम्न हैं, (Fiber rich Indian for constipation and Health benefits)

दलिया, चोकर, विभिन्न तरह की दालों और जमीन के नीचे उगने वाली कुछ सब्जियों जैसे गाजर आदि में घुलनशील फाइबर (Soluble fiber) की उचित मात्रा पाई जाती है। ये सभी चीज़ें विभिन्न तरह से शरीर के लिए लाभदायक हैं और साथ ही डायबिटीज़ के रोगियों के लिए भी ये बहुत फायदेमंद होते हैं क्योंकि ये घुलनशील फाइबर शुगर लेवल को कम करने का काम करते हैं।

शरीर के लिए फाइबर के फायदे इस प्रकार हैं, (Benefits of High fiber food in Hindi)

1) ये रक्त में बढ़ने वाली शर्करा के स्तर को कम करते हैं और भोजन के बाद बढ़ने वाली शुगर में कमी आती है।

2) ये घुलनशील फाइबर शर्करा के स्तर को कम तो करते ही हैं साथ ही सीरम कोलेस्ट्रॉल को भी कम कर दिल की बिमारियों से बचाते हैं।

3) फाइबर से भरपूर आहार की एक और विशेषता यह होती है कि इनसे शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन्स, मिनरल्स और आवश्यक प्रोटीन व पोषक तत्व मिल जाते हैं जो शरीर के सम्पूर्ण विकास के लिए बहुत ज़रूरी हैं।

4) पेट में मौजूद फायदेमंद बैक्टीरिया फाइबर को फैटी एसिड में बादल देते हैं जो शरीर को एनर्जी प्रदान करने में सहायक होता है।

5 )विभिन्न तरह की दालों, जौ, और अनाजों में ब्लड फैट को कम करने का गुण होता है।

6) लंबे समय से चली आ रही पेट की बिमारियों को फाइबर युक्त आहार के माध्यम से दूर किया जा सकता है। जिसमें पुरानी कब्ज आदि शामिल है। रेशेदार भोजन पेट को भरा होने का एहसास दिलाता है जिसकी वजह से काफी देर तक भूख नहीं लगती और आप सेहतमंद तरीके से वजन को नियंत्रण में रख सकते हैं।

7) फाइबर से भरपूर भोजन के सेवन से शरीर में जमा व्यर्थ बाहर निकाल जाता है। इससे पाचन तंत्र भी सुचारु हो जाता है। पुरानी पेट से संबन्धित समस्या पेट के अल्सर, बदहजमी आदि का कारण बनती है। पेट की उचित सफाई न होने की वजह से भी शरीर में कई समस्याएँ पैदा होती हैं, शरीर में कैंसरकारक कोशिकाओं का विकास भी इसी का परिणाम है। इसीलिए फाबर युक्त भोजन के सेवन द्वारा पेट को साफ रखना चाहिए।

8) सभी तरह की हरी और पत्तेदार सब्जियाँ भी रेशे से भरपूर होती हैं। भोजन में पत्तागोभी, पालक, भिंडी और तुरई आदि का सेवन कर आप उच्च मात्रा में रेशे प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ दलिया और चोकर सहित आटे से बनी रोटी का प्रयोग खाने के साथ करें। ये सभी चीज़ें हमारे भारतीय भोजन (Fibre rich Indian food) का हिस्सा हैं जिसमें फाइबर तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होता है।

अब आप समझ ही गए होंगे कि फाइबर शरीर के लिए कितना ज़रूरी होता है? अगर ये सारी बातें आपको समझ आती हैं तो आज से ही अपने लिए एक सही डाइट प्लान करें और उसमें फाइबरयुक्त भोजन को सम्मिलित कर शरीर को सेहतमंद बनाएँ रखें।

loading...