How to avoid hair loss due to wearing helmet (women) – महिलाओं में हेलमेट के कारण बाल झड़ने की परेशानी से ऐसे पाएं निजात

हर महिला के लिए उसके बाल उसकी खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं, ऐसे में बालों का झड़ना उनके लिए किसी खतरनाक सपने से कम नहीं होता है। जितने लंबे उनके बाल होते हैं, वह उतनी ही सुंदर दिखाई देती हैं। हालांकि बालों से प्यार करना ही काफी नहीं है, इसके लिए आपको उनकी देखभाल भी करनी होती है।

अगर आप रोजाना बाइक या स्कूटी का इस्तेमाल करती हैं तो ऐसे में आपके बालों को काफी नुकसान पहुंच सकता है, कैसे? दरअसल स्कूटी या बाइक चलाते समय आप अपने सिर पर हेलमेट लगाती हैं, जो कि बालों के झड़ने के पीछे मुख्य कारण होता है। आपने इस बात को महसूस भी किया होगा कि बाइक (bike) चलाकर काम पर जाने पर जब आप अपना हेलमेट निकालती हैं, तो आपको हेलमेट के साथ काफी बाल निकलते हुए दिखाई देते हैं। तो ऐसे में आपको काफी दुख जरूर होता होगा।

यह एक तथ्य है कि कई महिलाएं जो कि रोजाना हेलमेट का इस्तेमाल करती हैं, उन्हें बालों के गिरने का ज्यादा अनुभव करना पड़ता है। ऐसे में सारा इशारा सिर्फ और सिर्फ हेलमेट की तरफ निकलता है। लेकिन हम आपको बता दें कि बालों का यह झड़ना हेलमेट की वजह से नहीं बल्कि बालों के स्केल्प के कमजोर होने के कारण होता है। आइए इस आर्टिकल की मदद से जाने कि कैसे हेलमेट पहनने के बाद भी आप कैसे बालों के झड़ने को बंद कर सकते हैं।

हेलमेट पहनने पर आपका सिर पूरी तरह कवर रहता है, ऐसे में आपके स्केल्प में हवा नहीं जा पाती और आपको स्केल्प में पसीना आने लग जाता है। हेलमेट पहनने के कारण स्केल्प से जुड़ी कई सारी परेशानियां जैसे रूसी, स्केल्प में खुजली, संक्रमण और बालों का गिरना होता ही रहता है। हेलमेट की वजह से बालों और स्केल्प से जुड़ी कई सारी परेशानियां सामने आने लगती है, जो कि हमारे लिए काफी खतरनाक साबित हो सकती है।

एक स्वस्थ स्केल्प बनाएं ताकि आपको हेलमेट पहनने से होने वाले हेयर फाल से लड़ने की शक्ति मिलें (Maintain a healthy scalp to fight hair loss due to wearing a helmet)

हेलमेट पहनने के कारण बालों के झड़ने को रोकने के लिए आपको अपने स्केल्प को स्वस्थ्य और संक्रमण से दूर रखना

होगा। अगर आपके स्केल्प में काफी कम रूसी है, या फिर खुजली काफी कम होती हैं, तो ऐसे में आपकी रूसी और

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

इंफेक्शन दोनों ही बढ़ सकते हैं। बता दें कि यह परेशानियों से इतनी जल्दी छुटकारा भी नहीं पाया जा सकता है। आइए आपको कुछ ऐसे घरेलू उपचारों के बारे में बताते हैं, जिनकी मदद से आप आसानी से अपने स्केल्प को स्वस्थ और हर परेशानियों से दूर कर सकता है। इसके अलावा अगर आपको अगर कोई स्केल्प से जुड़ी परेशानियां नहीं हैं तब भी आप इन उपचारों का इस्तेमाल सप्ताह में कम से कम एक बार कर सकती हैं।

रूसी और खुजली वाली स्केल्प को अदरक से रस से करें उपचार (Treat dandruff and itchy scalp with ginger juice)

अदरक को उसके प्राकृतिक एंटी बैक्टीरियल (anti bacterial) और एंटी फंगल (anti fungal) गुणों के लिए जाना जाता है। अदरक के रस को स्केल्प में लगाने से आपको स्केल्प में होने वाली खुजली और इंफेक्शन (infection) से छुटकारा मिल जाता है। इसके लिए आप अदरक को कदूकस करके उसे निचोड़ कर उसका रस निकाल लें। इसके बाद अदरक के इस रस को सीधे अपने स्केल्प पर लगा लें। इसे 20 से 30 मिनट तक स्केल्प में लगा रहने दें और फिर ठंड़े पानी से इसे धो लें। इसे धोने के लिए आप एक माइल्ड क्लींजर (mild cleanser) का इस्तेमाल भी कर सकती हैं। इसके अलावा अगर आप पहले से ही इस परेशानी से ग्रस्त हैं तो आप इस उपचार का इस्तेमाल सप्ताह में कम से कम 2 से 3 बार अवश्य करें। इसके बाद इस समस्या से आपको धीरे धीरे छुटकारा मिल जाएगा।

सल्फर के एंटी बैक्टीरियल गुणों के साथ प्याज का रस (Make use of the antibacterial property of sulfur with onion juice)

प्याज में सल्फर(sulpur) की अधिक मात्रा होती है, जो कि स्कल के बैक्टीरिया और फंगल संक्रमण को एक प्रभावी ढंग से ठीक करता है। इसके लिए एक ताजे प्याज का रस निकाल कर उसमें अदरक मिला लें। इसके बाद इस पेस्ट को अपने स्केल्प पर लगा लें। इसे कम से कम 30 मिनट के लिए स्केल्प में लगा रहने दें और फिर इसे माइल्ड क्लींजर की मदद से साफ कर लें। प्याज के रस में अदरक के रस की तरह आवृति होती है।

स्केल्प की समस्या से एलोवेरा और नींबू के रस से छुटकारा (Get a problem free scalp with aloe vera and lemon juice)

स्केल्प के आम समस्या से निजात पाने के लिए आप एलोवेरा और नींबू का रस मिला सकती हैं। इसके लिए आप ताजा ऐलोवेरा पल्प में आधे नीबू का रस मिला लें। इसके बाद इन दोनों को अच्छी तरह मिला लें, फिर इस पैक को अपने स्केल्प में लगा लें। इस पैक को अपने स्केल्प में कम से कम 30 मिनट के लिए लगाकर रखें और फिर स्केल्प को साफ कर लें। एलोवेरा जहां आपके स्केल्प को मॉश्चराइज करता है और रूखेपन से निजात दिलाता है, तो वहीं नींबू स्केल्प के इंफेक्शन से निजात दिलाता है।

लहसुन की अच्छाई से स्केल्प संबंधित समस्याओं से निजात (Get the goodness of garlic to treat scalp issues)

लहसुन में सल्फर और एलीसीन के अच्छे गुण होते हैं, जो कि स्केल्प के स्वास्थ्य को बेहतरीन बनाता है। अदरक में होने वाले एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण स्केल्प की हेल्द पर ध्यान देता है। इसके बाद एक लहसुन लें और उसके छिलके निकाल लें। इसके बाद लहसुन का एक स्मूथ पेस्ट बना लें और उस पेस्ट से लहसुन का रस अलग कर लें। लहसुन के इस रस को नारियल के तेल के साथ मिलाकर अपने स्केल्प में लगा लें। 30 मिनट इस पेस्ट को स्केल्प में लगाकर रखें और फिर एक माइल्ड शैम्पू से बालांे को धो लें।

करी और भृंगराज की पत्तियां (Curry and bhringraj leaves)

यह हर्बल उपचार आपके स्केल्प की परेशानियों के लिए काफी बेहतरीन होता है और आपके स्केल्प को परेशानियों से निजात दिलाने की कोशिश करता है। इस उपचार को बनाने के लिए 20 से 25 करी पत्ते और भृंगराज की पत्तियों को अच्छी तरह मिला लें। इसके बाद इन पत्तियों को साफ करके ताजे पानी में इसे 1 घंटे के लिए मिलाकर रख दें। इसके बाद इन पत्तियों को पीसकर एक स्मूथ पेस्ट तैयार कर लें। इस पेस्ट को आप सीधे अपने स्केल्प में लगा सकते हैं, इस पेस्ट को स्केल्प में लगाने के बाद 1 घंटे के लिए सूखने के लिए छोड़ दें। इसके बाद इसे पानी से धो लें और स्केल्प पर लगे पेस्ट को अच्छे से पानी की मदद से धो लें। स्केल्प को साफ करने के लिए आपको किसी तरह के शैम्पू की जरूरत नहीं है।

बालों को हेलमेट से झड़ने से रोकने के लिए बालों को स्वच्छ और कंडीशनिंग करें (Clean and conditioned hair is your mantra to fight hair loss from helmet)

अपने स्केल्प और बालों को साफ करने से भी आप बालों के गिरने को कम कर सकते हैं। अगर आप भी रोजाना लंबे समय के लिए हेलमेट पहनती हैं तो ऐसे में आप अपने बालों को साफ रखें और उनमें नमी पहुंचाते रहे। अपने बालों को हर एक दिन छोड़कर शैम्पू करें, ध्यान रहे कि आपका शैम्पू हर्बल हो। स्केल्प में से निकलने वाला सीबम से गंदगी को साफ कर देता है। इसके बाद स्केल्प को साफ करने के लिए साधे पानी का इस्तेमाल करें और घर पर आते ही हेलमेट को सिर से उतार कर रख दें। अगर आपके बाल काफी लंबे हैं तो ऐसे में अपने बालों को धोने के बाद उन्हें गीला ना छोड़े और ना ही बालों को सूखाने के लिए आयरन का इस्तेमाल ना करें। अपने बालों और स्केल्प को साफ करने के साथ ही आपको उन्हें मॉश्चराइज भी करना चाहिए। बालों को अच्छी तरह से धोने और मॉश्चराइज करने से बालों और हेलमेट के बीच एक फ्रीक्शन बना रहता है, इससे बालों का टूटना कम होता है। बालों को धोने के बाद हमेशा ही बालों को मॉश्चराइज करना ना भूलें। इसी के साथ आप एक प्राकृतिक कंडीशनर की मदद भी ले सकती है, जो आपके बालों को सूट करता है। बादाम के तेल और रोजमेरी के तेल की मदद से अपने स्केल्प की मालिश करें। स्केल्प की यह मालिश बालों को धोने के एक रात पहले करें। इसके अलावा इस बात का ध्यान रखें कि आप कभी भी कैमिकल्स का इस्तेमाल अपने बालों पर ना करें। इस बात का भी ख्याल रखें कि आप अपने बालों को कंडीशिंग भी पैक पर लिखें निर्देश अनुसार करें। इसका इस्तेमाल आप सप्ताह में एक बार अवश्य करें ताकि आपके बाल रूखे और बेजान ना हो।

अपने बालों को अंडे और शहद के हेयर पैक के साथ करें इस्तेमाल  (Condition your hairs with egg and honey hair pack)

अंडे के सफेद हिस्से में दो चम्मच शहद मिलाकर इसे मिक्स कर लें और फिर इस पेस्ट को अपने बालों में लगा लें। इसके बाद इस पेस्ट को बालों में 1 घंटे के लिए लगाकर रख दें, ऐसा करने से आपका स्केल्प सूख जाएगा और सूख जाने पर माइल्ड शैम्पू से धो लें। इसके बाद आपको बालों में कंडीशिनिंग करने की जरूरत नहीं पडे़गी।

दही और ऐलोवेरा के साथ बालों और स्केल्प को माॅश्चराइज करें (Curd and aloe vera for moisturized hair and scalp)

3 चम्मच दही में 3 चम्मच ऐलोवेरा पल्प का मिलाकर इस पेस्ट को आप अपने स्केल्प और बालों में लगा लें। इस पेस्ट को कम से कम 1 घंटे तक स्केल्प में लगा रहने दें। फिर इसे पेस्ट को अपने बालों से साफ करने के लिए किसी माइल्ड शैम्पू का इस्तेमाल करें।

अपने स्केल्प और बालों को केले के साथ पोषण दें (Nourish your scalp and hairs with banana)

केला हमारे बालों को कंडिशनिंग करने में काफी सहायक माना जाता है। इससे बालों का रूखापन भी दूर होता है। इसके लिए बालों पर आपको केले का इस्तेमाल करना होगा। इसके लिए आप पके हुए केले का छिलका निकाल कर, उसे पीसकर एक स्मूथ पेस्ट तैयार करें, इसके बाद इस पेस्ट को सीधे अपने स्केल्प और बालों पर लगा लें। इसे 20 मिनट बालो और स्केल्प पर लगा रहने के बाद इस पेस्ट को पानी से साफ कर लें।

जोजोबा और आंवला के साथ बालों को कंडीशनिंग करना (Get healthy and conditioned hair with jojoba and amla)

जोजोबा और आंवला को मिलाकर इसे बालों में लगाने से स्केल्प और बाल दोनों को काफी लाभ मिलता है। इसके लिए 15 से 20 जोजोबा के फूल को 2 आंवला में मिलाकर एक स्मूथ पेस्ट बनाए। इसके बाद इस पेस्ट को अपने स्केल्प और बालों में लगाकर 10 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद बिना शैम्पू लगाएं ही बालों को साफ पानी से धो लें।

अपने हेलमेट को फंगस और बैक्टीरिया के साथ ना रखें (Do not let your helmet become a breeding ground of bacteria and fungus)

हेलमेट का अंदर का भाग लंबे समय के लिए पहनने के कारण काफी गीला हो जाता है। जिस कारण हेलमेट में बैक्टीरिया और फंगस होने लगता है। ऐसे में हेलमेट पहनने से स्केल्प से जुड़ी कई समस्याएं सामने आती हैं। ऐसे में बालों को साफ करना काफी आवश्यक होता है। आपको अपने बालों को समय समय पर साफ करना चाहिए। इसके अलावा आप अपने हेलमेट के अंदर की तरफ एक एंटी बैक्टीरियल सौलूशन मिला लें और फिर उसे सूखने के लिए धूप में रख दें। इसके अलावा इस बात का भी खास ध्यान रखें कि आपका हेलमेट बैक्टीरिया का घर ना बनकर रह जाए।

ट्रैक्शन खालित्य से बचने के लिए हेलमेट को सही तरीके से पहने (Fight traction alopecia by putting on your helmet in the right way)

ट्रैक्शन खालित्य के पीछे हेलमेट को गलत ढंग से पहना भी हो सकता है। ट्रैक्शन खालित्य एक ऐसी समस्या है, जब बालों की स्केल्प उच्च तनाव के कारण बालों का टूटना शूरू हो जाता है। इसे ट्रैक्शन खालित्य के नाम से जाना जाता है। इस समस्या को स्केल्प के मध्य में से देखा जा सकता है। हालांकि ऐसा भी नहीं कहा गया कि इस समस्या से बचने के लिए आप हेलमेट पहनना भी ना छोड़ दें। इसलिए अपने लिए एक ऐसा हेलमेट खरीदें जो कि आपके लिए फिट हो।

कुछ महत्वपूर्ण टिप्स (Some important tips)

  • गाड़ी चलाते समय आप जब बीच बीच में ब्रेक लेते हैं, तो ऐसे में हेलमेट निकाल लें और अपना पसीना एक सूती कपड़े से पौछ लें। इससे सेबम भी हट जाएगा और आप के बाल और स्केल्प ज्यादा गिला नहीं रहेगा।
  • यह आपके हेलमेट के अंदर की तरफ वाली लाइन को अलग करता है और साफ कर लें। ताकि अगर आपको पसीना आएं तो आप इससे हेलमेट का सारा पसीना सूख जाए।
  • हेलमेट डालने से पहले अपने सिर को किसी स्कार्फ या सूती कपड़े से लपेट लें, ताकि आपके बाल ना टूटे। यह सूती कपड़ा आपके सिर पर आने वाला सारा पसीना सोख लेता है और इसके अलावा यह हेलमेट और बालों के बीच टकराव नहीं होता।
  • हेलमेट निकालते समय काफी सवाधानी बरते और धीरे धीरे उसे निकालें, ताकि आपके बाल उसमें फसे नहीं और आप आसानी से उसे अपने सिर से निकाल सकें।
  • हमेशा अपने हेलमेट को एक साफ और स्वच्छ जगह पर रखें, इसे आप या तो घर पर लटका कर रख दें या फिर इसे सीधे रख दें। ऐसा करने से हवा का परिसंचरण सही तरह से होता है।
loading...