How to treat and prevent thinning hair in women – महिलाओं में बालों के पतले होने की समस्या का इलाज एवं बचाव कैसे करें?

कई महिलाओं के लिए बालों के पतले होने या झड़ने से ज़्यादा गंभीर समस्या और कुछ नहीं होती। वैसे तो दिन में 50 से 100 बालों का गिरना सामान्य माना जाता है, इनका झड़ना इससे अधिक होना किसी समस्या का संकेत है। बालों के झड़ने के कारण कई हो सकते हैं, जिनमें आनुवांशिकता से लेकर बालों की स्टाइलिंग के तरीके तक कई चीज़ें शामिल हैं।

अगर आपको भी अपने अपने बाल हाल में पतले होते प्रतीत हो रहे हैं तो नीचे दिए गए नुस्खों की मदद से आप इस समस्या का समाधान कर सकती हैं।

बालों पर दबाव डालने वाली हेयरस्टाइल से परहेज करें (Avoid hairstyles that pull your hair)

कसी हुई पोनीटेल्स (ponytails), कॉर्नरोस (corn rows), चोटियां एवं अन्य ऐसी हेयरस्टाइल जो बालों पर दबाव डालती हो, बालों के झड़ने का कारण बन सकती हैं। इन कसी हुई हेयरस्टाइल्स से पड़ने वाला दबाव आपके नरम बालों को काफी ज़ोर से खींचता है एवं इससे बालों के झड़ने एवं पतले होने की समस्या उत्पन्न होती है। अगर आपको अपने बालों को पोनीटेल के रूप में बाँधना है तो ऐसे इलास्टिक (elastic) का प्रयोग करें जिनमें किसी धातु का प्रयोग ना हो। इससे यह सुनिश्चित होगा कि आपके बाल इलास्टिक में नहीं फंसेंगे एवं आपके बाल पोनीटेल खोलते समय नहीं टूटेंगे।

खानपान पर ध्यान दें (Focus on your diet)

अंडे या अण्डों के पैक से स्वस्थ बाल प्राप्त करने के घरेलू नुस्खे

विटामिन्स (vitamins) एवं खनिज पदार्थों जैसे लौह पदार्थ, जिंक (zinc) एवं विटामिन बी 12 आपके पतले होते बालों के उपचार में काफी फायदेमंद साबित होते हैं। सुनिश्चित करें कि आपके भोजन में पत्तेदार हरी सब्ज़ियां, नट्स (nuts), फलियां, मछली एवं लीन मीट (lean meats) शामिल हों। अगर आप अपने नियमित भोजन में पर्याप्त पोषक तत्व शामिल नहीं क्र पा रही हैं तो एक अच्छा खाद्य पूरक आपके खानपान में हो रही कमी की पूर्ति कर सकता है।

बालों के लिए गुणवत्तापूर्ण उत्पादों का प्रयोग (Use quality hair products)

आजकल बालों का पतला होना एवं झड़ना महिलाओं के लिए काफी बड़ी समस्या बनती जा रही है, अतः कई कंपनियां ऐसे उत्पादों का निर्माण कर रही हैं जिनका मुख्य उद्देश्य बालों की बढ़त करवाना है। अच्छे गुणवत्तापूर्ण शैम्पू (shampoo) एवं बालों के अन्य अच्छे उत्पादों का प्रयोग करें जो ऐसे तेलों एवं खनिज पदार्थों से युक्त हों जिनसे बालों की बढ़त में सहायता प्राप्त होती हो, बालों को क्षतिग्रस्त करने वाले बैक्टीरिया (bacteria) का खात्मा होता हो एवं सिर की त्वचा में रक्त का संचार अच्छे से होता हो।

ताप पैदा करने वाले बालों के औज़ारों के प्रयोग से परहेज़ करें (Avoid heat emitting hair tools)

ताप से बालों को काफी नुकसान पहुंचता है। यह बालों के बीच के बंधन को क्षतिग्रस्त करता है जिससे बाल कमज़ोर होकर टूटने लगते हैं। अगर आप हेयर स्ट्रेटनर (hair straightener) या कर्लिंग आयरन (curling iron) का प्रयोग करती हैं तो इसे बालों के किसी एक भाग पर अधिक समय के लिए ना रखें। हमेशा ध्यान रखें कि अगर आपको अपने उपकरणों से कोई आवाज़ आती है या आपकी उँगलियाँ जलती हैं तो इसका अर्थ है कि ताप का परिमाण काफी अधिक है एवं इससे आप अपने बाल भी जला रही हैं। जितना हो सके अपने बालों को प्राकृतिक रूप से सुखाने का प्रयास करें और जब भी आप स्टाइलिंग के लिए उपकरणों का प्रयोग करें तो एक ताप निरोधक स्प्रे (spray) का इस्तेमाल करना ना भूलें जो इन उपकरणों द्वारा आपके बालों की हो रही हानि को कम करता है।

मार्केट में मिलने वाले बेस्ट एंटी डैंड्रफ लोशन और हेयर क्रीम

बालों में मालिश करें (Use hair massage)

स्नान करते समय सिर की मालिश करना काफी फायदेमंद होता है और आप ऐसा शैम्पू (shampoo) करते समय कर सकती हैं। स्नान करते समय सिर की मालिश करने से सिर की त्वचा में रक्त के संचार में वृद्धि होती है। इससे बालों को बढ़ने के लिए एक अच्छा वातावरण प्राप्त होता है एवं इसके माध्यम से बालों पर प्रयुक्त कोई भी उत्पाद और भी अच्छे से अपना काम कर पाता है।

रासायनिक पदार्थों से दूर रहें (Stay clear of chemical products)

जिस तरह अतिरिक्त ताप बालों के लिए हानिकारक है, उसी प्रकार सैलून (salon) में प्रयोग में लाये जाने वाले विभिन्न तरह के रासायनिक उपचार भी बालों के लिए क्षतिकारक हैं। रासायनिक रूप से बालों को स्ट्रेट (straight) करना, ब्लीचिंग (bleaching) एवं बालों में लाइटनिंग (lightening) करवाने से बालों के शाफ़्ट (shaft) को नुकसान पहुंचता है, बाल कमज़ोर होते हैं एवं इनके झड़ने की स्थिति उत्पन्न होती है। अगर आप भी बालों के झड़ने या पतले होने की समस्या की शिकार हैं तो हमेशा अपने प्राकृतिक बालों के रंग एवं सज्जा को ही प्राथमिकता दें, अन्यथा यह परेशानी और भी ज़्यादा बढ़ जाएगी। अगर आप नियमित तौर पर रासायनिक पदार्थों का प्रयोग करती हैं तो सुनिश्चित करें कि बेहतर परिणामों के लिए अपने बालों की सप्ताह में कम से कम एक बार डीप कंडीशनिंग (deep-conditioning) अवश्य करवाएं।

loading...