How to delay periods using birth control pills – Tips in Hindi – गर्भनिरोधक गोलियों से पीरियड्स को कैसे टालें

पीरियड्स को टालने के लिए गर्भनिरोधक दवाइयाँ लेना एक काफी सामान्य तरीका है और इस विधि को दुनिया भर के स्त्री रोग विशेषज्ञों द्वारा काफी सुरक्षित माना जाता है। वैसे तो यह सबसे अच्छी विधि नहीं है, पर इन गोलियों से पीरियड्स रोकना कई स्थितियों में काफी अच्छा साबित हो सकता है।

मासिक धर्म का न आना, इसकी मदद से पीरियड्स से जुड़ी कई समस्याओं को दूर किया जा सकता है, जैसे स्तनों की नर्माहट, मूड में परिवर्तन, सिर में दर्द तथा काफी भारी और दर्दनाक पीरियड्स। यह विधि अनीमिया, एंडोमेट्रियोसिस और माइग्रेन की समस्याओं, जो पीरियड्स के समय और भी ज़्यादा बढ़ जाती है, में भी काफी प्रभावी साबित होती है।

लेकिन इन गोलियों से पीरियड्स को टालने की विधि सबके लिए अच्छी नहीं होती और यह उस महिला की उम्र, शारीरिक डील डौल और अन्य कारकों पर निर्भर करती है। यह सिर्फ आपका डॉक्टर ही बता सकता है कि यह विधि आपके लिए सही है या नहीं। इसके लिए आपको उन गर्भनिरोधक गोलियों के बारे में थोड़ी सी जानकारी होनी चाहिए।

बाज़ार में कई तरह की गर्भनिरोधक गोलियां उपलब्ध हैं, और अगर इनका सही प्रकार से प्रयोग किया जाए तो ये सभी आपके पीरियड्स को टालने में काफी प्रभावी साबित होते हैं। इन गोलियों में मुख्य हैं : –

पीरियड्स को लेट करना सामान्य गर्भनिरोधक गोलियां से (The traditional birth control pills se masik dharm ko talna)

ये गोलियां 28 के पैक में आती हैं, और इनमें करीब 21 या 24 ऐसी गोलियां होती हैं जो गर्भनिरोधक हॉर्मोन्स से युक्त होती हैं। अन्य 7 या 4 गोलियां प्लेसिबो होती हैं।

माहवारी को लेट करना CBC या कंटीन्यूअस बर्थ कंट्रोल पिल्स से (CBC or continuous birth control pills se mahwari ko rokna)

लेबर और डिलीवरी की समस्याओं से निजात पाने के तरीके

सामान्य गोलियों की तरह ही CBC गोलियां एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन का मिश्रण होती हैं, जिनका सेवन रोज़ाना करने से ओवुलेशन की संभावना काफी कम हो जाती है। लेकिन इन गोलियों में 21 कार्यशील और 7 प्लेसिबो का सामान्य मिश्रण नहीं होता, तथा इसके अंतर्गत आप 3 महीने या उससे ज़्यादा तक कार्यशील गोलियां ले सकती हैं।

मासिक धर्म को कैसे लेट करे मोनोफेसिक गर्भनिरोधक गोलियां से (The monophasic birth control pills se periods aane se kaise roke)

इस पैक की हर गोली हर दिन के समान हॉर्मोन के मिश्रण के साथ आती है।

पीरियड्स को लेट करना मल्टीफेसिक गर्भनिरोधक गोलियां से (The multiphasic birth control pills)

बर्थ कंट्रोल पिल्स के साइड एफेक्ट, इन गोलियों में हॉर्मोन्स की संख्या हर हफ्ते बदलती रहती है।

अलग अलग तरह की गर्भनिरोधक गोलियां अलग अलग उपचारों में प्रयोग की जाती हैं, जिससे कि वे विभिन्न लक्ष्यों को प्राप्त कर सकें।

पीरियड्स टालने के लिए गर्भनिरोधक गोलियों का प्रयोग (How to use the pills for delaying menstruation)

अगर आप पहले से ही मोनोफेसिक गर्भनिरोधक गोलियों पर हैं तो अपने पीरियड्स को टालने के लिए अपने पैक की 7 या 4 गोलियों का प्रयोग न करें और अपने पुराने पैक के 21 या 24 एक्टिव गोलियों के ख़त्म हो जाने पर नए पैक से गोलियां निकालकर खाएं। जब आप सामान्य मोनोफेसिक गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन कर रही होती हैं, तब प्लेसिबो लेते समय खून का निकलना असल में विथड्रावल ब्लीडिंग (withdrawal bleeding) होता है, ना कि असली पीरियड्स। विथड्रावल ब्लीडिंग के शुरू होने के समय आपका शरीर एक्टिव गोलियों के हॉर्मोन्स निरंतर रूप से लेना बंद कर देता है। अगर आप प्लेसिबो लेना बंद कर देती हैं और तुरंत ही एक नए पैक से गोलियां लेना शुरू करती हैं तो आपको विथड्रावल ब्लीडिंग नहीं होती और आप जितनी देर तक चाहें अपने खून निकलने पर काबू पा सकती हैं। विथड्रावल ब्लीडिंग का आपके स्वास्थ्य से कोई सम्बन्ध नहीं होता और अतः किसी प्रकार की समस्या ना होने पर आप इस चरण को छोड़ भी सकती हैं। लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं।

गर्भावस्था के दौरान कितनी बार डॉक्टर से जांच करवाएं?

पीरियड्स को टालने के नुकसान (Drawback of delaying periods with birth control pills)

ब्रेकथ्रू ब्लीडिंग (Breakthrough bleeding se menses ko rokne ka tarika)

यह एक ऐसी स्थिति है जिसका सामना आपको करना पड़ सकता है, अगर आप रोज़ाना गर्भनिरोधक गोलियां लेकर अपने पीरियड्स को टालने का चुनाव करती हैं। मासिक धर्म में देरी, इस तरह से खून का निकलना पहले कुछ महीनों में काफी सामान्य है और जैसे जैसे आप ये गोलियां लेती जाती हैं, खून का निकलना कम होता जाता है। इस तरह के खून का रंग हल्का होता है और इसका प्रवाह भी धीमा होता है। आप ब्रेकथ्रू ब्लीडिंग को नियंत्रित करने के लिए अपनी गोलियों को समय से लें और डॉक्टर के बताये अनुसार ही इनका सेवन करें। धूम्रपान से भी ब्रेकथ्रू ब्लीडिंग होती है।

पीरियड्स टालने के लिए पिल्स लेने का एक और नुकसान यह है कि ऐसी स्थिति में आपके गर्भवती बन जाने पर भी आपको इसका ज्ञान नहीं हो पाता। अतः अगर आप सामान्य गर्भनिरोधक गोलियों से पीरियड्स को टाल रही हैं और आपको अचानक मतली, मॉर्निंग सिकनेस या स्तनों के नरम होने का अनुभव हो तो घर पर एक प्रेग्नेंसी टेस्ट अवश्य कर लें।