How to keep babies warm during winter – Tips in Hindi – ठण्ड में बच्चों को गर्म रखने के उपाय

पहली बार माँ बनी महिलाओं के लिए अपने शिशुओं को ठण्ड के मौसम में गर्म रखना काफी चुनौती भरा काम है, खासकर इसलिए क्योंकि इस समय आपको यह समझ में नहीं आता कि आपके बच्चे को किस समय ठण्ड लग रही है और किस समय गर्मी। हालांकि अगर आप उसे ध्यान से देखेंगी तो आपको यह अहसास हो जाएगा कि वह आरामदायक अवस्था में है या नहीं।

बच्चे को ठण्ड लगने के लिए काफी कम तापमान होने की ज़रुरत नहीं पड़ती, अतः हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि उसे कोई असुविधा तो नहीं हो रही। सर्दियों में बच्चों की देखभाल, नीचे कुछ तरीके दिए गए हैं, जिनकी मदद से आप अपने शिशु को गर्माहट प्रदान कर सकती हैं।

बच्चे की देखभाल के लिए कमरे के तापमान को ठीक करें (Set the room temperature right)

सर्दी में बच्चों की केयर, यह काफी आवश्यक है कि कड़कड़ाती ठण्ड में आप अपने शिशु को गर्म तो रखें, परन्तु इसके लिए कोई अतिरिक्त उपाय ना करें। बच्चे को ज़रुरत से ज़्यादा गर्माहट प्रदान करने से SIDS या सडेन इन्फेंट डेथ सिंड्रोम (sudden infant death syndrome) की संभावना काफी बढ़ जाती है। अतः यहां मुद्दा केवल बच्चे को गर्मी प्रदान करने का ही नहीं, बल्कि उसे आरामदायक स्थिति में रखने का भी है। बच्चे को एक आरामदायक माहौल देने के लिए, खासकर तब जब वो सो रहा हो, कमरे के तापमान को 16 से 20 डिग्री सेल्सियस (degree celsius) के बीच में करके रखें। कमरे में तापमान को नापने के लिए एक थर्मामीटर (thermometer) अवश्य रखें। इससे आपके कमरे के तापमान को बिलकुल सटीक रहने में सहायता मिलेगी।

छोटे बच्चों की देखभाल, इसके अलावा हमेशा अपने बच्चे (bache ki dekhbhal) को हीट रेडिएटर्स (heat radiators) से दूर रखें, और उसे गर्मी देने के लिए उसके पालने (cot) में गर्म करने वाली चादर (heating blanket) या पानी की गर्म बोतल ना रखें। इससे बच्चे का तापमान कमरे के तापमान से ज़्यादा होने का काफी ख़तरा होता है।

सर्दियों में बच्चों की त्वचा की देखभाल

बच्चों की देखभाल के टिप्स के लिए पालने को सही प्रकार से तैयार करें (Prepare the cot in the right way)

अपने बच्चे के पालने को अच्छे से तैयार करें, क्योंकि यह उसे ठंडी रातों में गर्मी देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। जैसा कि पहले बताया गया है कि बच्चे के पालने में गर्म ब्लैंकेट (blanket) रखना सही नहीं है। अतः पालने को कई परतों से ढककर रखें।

फ्लैनेल (flannel) की चादरों से पालने को ढकना एक अच्छा उपाय है। रात को बार बार चादर बदलने के लिए काफी चादरें भी अपने साथ रखें। ज़्यादा चादरों की परतों से आपके बच्चे के लिए एक गर्म और आरामदायक बिस्तर तैयार हो सकता है। अगर आपको लगे कि चादरें ठंडी हो गयी हैं, तो बच्चे को ठंडी चादरों पर ना सुलाएं। बच्चे के बिस्तर को गर्म करने के लिए कांच की गर्म पानी की बोतल या इलेक्ट्रॉनिक हीटर (electronic heater) का प्रयोग करें। इससे उसे काफी अच्छी नींद आएगी। लेकिन हमेशा बिस्तर से हीटर (heater) को हटा लें और बच्चे को इसमें सुलाने से पहले इस बात की जांच करें कि इसका तापमान कहीं बहुत ज़्यादा गर्म तो नहीं है।

सर्दियों में बच्चे की देखभाल के लिए उसे सही कपड़े पहनाएं (Put her in right clothes)

इससे पहले आप अपने शिशु को सुलाएं, उसे सही कपड़े पहनाएं जो कि ठण्ड से उसे बचाने की पहली परत के रूप में काम करेगा। उसे बिस्तर में सुलाने से पहले हलके सूती (light cotton) के कपड़े पहनाएं। नवजात शिशु की देखभाल कैसे करें, भारी या ऊनी कपड़े उसे ना पहनायें, भले ही उस वक़्त आपको यही सही विकल्प लगे। ज़्यादा गर्म या ऊनी कपड़े पहनाने से बच्चा बेचैनी का अनुभव करता है और रात में उसके पसीने भी छूट सकते हैं। अतः हमेशा उसे हलके ऊनी वस्त्र पहनाकर ही सुलाएं, क्योंकि यह पसीने को सोखते हैं।

ठण्ड में बच्चों को गर्म रखने के उपाय, बच्चे को सुलाने से पहले उसे ग्लव्स (gloves) या मोज़े (socks) पहनाना भी एक अच्छा विकल्प नहीं है, भले ही ठण्ड कितनी भी हो। अगर तापमान काफी कम है और आप तापमान को नियंत्रित करने के लिए रूम हीटर का प्रयोग नहीं करती, तो सूती की एक ढीली टोपी से आप अपने शिशु का सिर ढक सकती हैं। लेकिन बार बार इस बात की जांच कर लें कि इस टोपी से कहीं उसे ज़्यादा पसीना तो नहीं आ रहा।

वर्षा-ऋतु में शिशुओं और बच्चों के स्वास्थ्य की देखभाल हेतु नुस्खे

नवजात बच्चों की देखभाल के लिए तापमान की जांच (Keep a temperature check)

बार बार रात में अपने बच्चे के शरीर (bache ko sardi mai garam kaise rakhe) का तापमान जाँचें कि कहीं यह ज़्यादा गर्म या ठंडा तो नहीं हो रहा है। आप बच्चे के शरीर के तापमान को जांचने के लिए अपनी हथेली से उसके पेट को छू सकती हैं। उसके हाथ या पैरों को छूकर आपको उसके तापमान का सही अंदाज़ा नहीं होगा। अगर उसे पसीना आ रहा है तो उसके ऊपर से चादर की एक परत हटा दें, और अगर उसे ठण्ड लग रही है तो उसके ऊपर चादर की एक परत रख दें।

loading...