Hindi tips to fix curved nails – मुड़े हुए नाखूनों को ठीक करने के उपाय

अगर आप नाखूनों को समान करने की प्रक्रिया से वाकिफ नहीं हैं, तो काफी संभावना है कि आपके नाखून असमान होंगे। नाखून हमारी सुन्दरता का कफी महत्वपूर्ण भाग हैं और हमें इन्हें बिलकुल भी नज़रंदाज़ नहीं करना चाहिए। नाखूनों की परेशानी, अगर अप नाखूनों की सजावट नहीं भी करती हैं, फिर भी आपको इन्हें साफ़ सुथरा रखना चाहिए। ऐसा आपको सिर्फ व्यक्तिगत देखभाल ही नहीं, बल्कि उन्हें टूटने तथा कटने से बचाने के लिए भी करना चाहिए।

नाखूनों की देखभाल के लिए अपने नाखूनों को समान करने का औज़ार लें (Choose your nail filing instrument)

  • एमरी बोर्ड्स (emery boards) सबसे ज़्यादा प्रयोग में लाये जाने वाले नेल फाइल (nail file) हैं। ये किफायती तथा आसानी से उपलब्ध होने वाले औज़ार हैं। इन्हें विभिन्नग्रित्ज़ (grits) के साथ बेचा जाता है। जितने नंबर (number) कम होते हैं, ग्रित्ज़ उतनी ही कठोर हो जाती है। इनका आप नाखूनों पर तेज़ी से प्रयोग कर सकते हैं। अगर आपके नाखून स्वस्थ और मज़बूत हैं, तो ऐसी फाइल खरीदें जिसमें 220 से 300 ग्रिट हो।
  • आप कांच की फाइल्स भी ले सकते हैं, पर वे काफी महँगी होती हैं।
  • क्रिस्टल (crystal) की फाइल कांच की तरह ही होती है, पर इनकी कीमत कांच से कम होती है।
  • धातु की फाइल्स भी उपलब्ध होती हैं, परन्तु इनसे नाखून कटने या निकल जाने का ख़तरा रहता है। इस तरह की फाइल से परहेज करें।

नाखूनों को सफ़ेद, मज़बूत तथा मोटा कैसे बनाएं?

नाखून का आकार चुनें (Choose the nail shape)

नाखून टूटने, फाइलिंग की प्रक्रिया शुरू करने से पहले नाखूनों का मनचाहा आकार तय कर लें। ऐसे 5 मुख्य आकार हैं, जिनमें हम अपने नाखूनों को फाइल कर सकते हैं। ये हैं ओवल आकार (oval shape), रेक्टंगुलर आकार (rectangular shape), गोल आकार, चौकोर – ओवल आकार तथा बादाम का आकार (almond shape)। इनमें से किसी भी आकार के लिए आपको कोनों से शुरुआत करनी होगी, और फिर क्यूटीकल्स (cuticles) द्वारा निर्मित प्राकृतिक कर्व (curve) का पालन करना होगा। आप नाखूनों के बीच में पहुंचेंगे और फिर आप आकार के बीच में अंतर करके इसे एक आकार देंगे।

अपने हाथ धोएं (Wash your hands)

सही औज़ार लेने तथा सही आकर का चुनाव कर लेने के बाद आपको नाखूनों की फाइलिंग के लिए तैयार होना पडेगा। सबसे पहले हाथ धोने से शुरुआत करें। इसे साबुन तथा पानी से धोएं और नाखूनों से गन्दगी को निकालें। अगर आपने नाखूनों में नेल पेंट (nail paint) लगाया है, तो इसे उतारने की कोई ज़रुरत नहीं है। नेल पेंट होने से आपके लिए फाइलिंग की प्रक्रिया ज़्यादा आसान हो जाती है। अगर आप इसे निकालना ही चाहते हैं तो एक सामान्य नेल रिमूवर (nail remover) का प्रयोग करें, और फिर साफ़ करने की प्रक्रिया अपनाएं। आप फाइलिंग के बाद भी पोलिश (polish) निकाल सकते हैं और एक नया शेड (shade) डाल सकते हैं।

हाथों को अच्छे से सुखाएं (Dry your hands well)

हाथों को धोने के बाद इन्हें अच्छे से सुखाएं। आपके नाखूनों में थोडा सा भी गीलापन नहीं होना चाहिए। नाखूनों की गीली अवस्था में फाइलिंग करने से वे कमज़ोर हो जाते हैं तथा उनके टूटने का ख़तरा रहता है। आपका इनेमल (enamel) मज़बूत और सूखा होना चाहिए, अतः इस प्रक्रिया के प्रारम्भ में ही नाखूनों को सुखा लें।

नाखूनों में दरार को ठीक करने के उपाय

नाखून काटें (Clip nails se nails ki dekhbhal)

यह एक वैकल्पिक भाग है और लोग आमतौर पर फाइलिंग के पहले अपने नाखून नहीं काटते। ऐसा करने से नाखून छोटे हो जाते हैं और आपको मनचाहे परिणाम नहीं मिल पाते। अतः नाखून तभी काटें, जब आपको लगे कि इससे फाइलिंग की प्रक्रिया में कोई लाभ होगा।

नाखून की देखभाल के लिए नाखूनों की फाइलिंग (File the nails se nakhuno ki dekhbhal)

  • नाखूनों को कोने से बीच की दिशा में फाइल करें।
  • हर कोने की तरफ से भीतर जाएं, लेकिन इसे आगे पीछे ना करें। फाइलिंग आगे पीछे करने से आपके नाखूनों के टूटने का ख़तरा रहता है।
  • हर कोने के लिए छोटे और आगे की तरफ बढ़ने वाले स्ट्रोक्स (forward strokes) लें। इस प्रक्रिया से आपको वो आकार मिल जाना चाहिए जिसकी आपने कल्पना की है।
  • अगर आप मुड़े हुए कोने चाहते हैं, तो आपको इसी प्रकार नाखूनों को भी मोड़ना होगा। अगर आप रेक्टंगुलर कोना चाहते हैं तो आपको फ्लैट (flat) मुद्रा में फाइलिंग करनी चाहिए।
  • इसे मजबूती से पकडे रखें और नाखूनों पर ज़्यादा दबाव ना दें। इससे नाखून खराब हो सकते हैं और नए नाखूनों के कमज़ोर होने का ख़तरा रहता है।
  • अगर आप सपाट नाखून चाहते हैं तो कठोर ग्रिट से शुरुआत करें और धीरे धीरे मुलायम की तरफ बढें। औज़ार के कठोर भाग का प्रयोग असमान भागों को ठीक करने के लिए करें।