How to get rid of cellulite during pregnancy – गर्भावस्था के दौरान सेल्युलाईट से छुटकारा पाने के उपाय

सेल्युलाईट (cellulite) बनना आजकल काफी आम हो गया है। ज़्यादातर मामलों में ये आसानी से ठीक हो जाते हैं तथा और इनके खतरनाक होने के पहले ही आप इन्हें हटा सकती हैं। पर गर्भावथा के समय सेल्युलाईट की समस्या होने पर क्या करना चाहिए ? आपको गर्भावस्था के समय काफी सावधान रहना चाहिए। सेल्युलाईट का उपचार आपको कठिन लग सकता है, जबकि असल में ऐसा है नहीं। गर्भावस्था के समय आपके शरीर में कई परिवर्तन होते हैं।

हॉर्मोन्स (hormones) में परिवर्तन, पैरों में सूजन, किसी ख़ास चीज़ का सेवन करने की काफी इच्छा होना, वज़न का बढ़ना तथा सेल्युलाईट आदि गर्भावस्था की निशानियाँ हैं। गर्भावस्था के समय सेल्युलाईट हटाने के कई उपाय हैं। इनमें से कुछ नीचे दिए गए हैं।

सेल्युलाईट कैसे कम करें के लिए पानी पियें (Drink water se pregnancy me dekhbhal)

गर्भावस्था के दौरान सेल्युलाईट को पूरी तरह हटाने के लिए खुद को हाइड्रेटेड (hydrated) रखना काफी आवश्यक है। इस समय आपके लिए काफी ज़्यादा पानी पीना अनिवार्य है, भले ही इसके बाद आपको बार बार बाथरूम के चक्कर लगाने पड़ें। रोज़ाना कम से कम 4 लीटर (4 liter) पानी पीने की कोशिश करें। इससे आपके शरीर में जमा अनावश्यक फैट (fat) बाहर आ जाएगा और इससे आपके शरीर में दूध का संचार भी अच्छे से होगा, जो बाद में आपके बच्चे को पिलाने में आपके काम आएगा।

महिलाओं के लिए गर्भावस्था के उपयोगी नुस्खे

सेल्युलाईट उपचार के लिए सामान्य व्यायाम (Simple exercises se cellulite ke upchar)

जब भी आप अपने शरीर में सेल्युलाईट पैदा होते हुए देखें, खुद को तुरंत ही हलके व्यायामों से जोड़ लें। क्योंकि आप गर्भवती हैं, अतः आपके लिए किये जाने वाले व्यायाम थोड़े से अलग होंगे। सामान्य रूप से किये जाने वाले व्यायामों की बजाय गर्भावस्था से पहले किया जाने वाला (prenatal) योग करें। गर्भावस्था के समय योग करना आपके शरीर के लिए काफी फायदेमंद साबित होगा। सबसे पहला फायदा यह होगा कि आपके शरीर पर बिलकुल भी सेल्युलाईट नहीं बचेगा। इसके अलावा यह आपके वज़न को नियंत्रित रखेगा तथा सबसे अच्छी बात यह होगी कि आपके टखनों (ankles) में बिलकुल सूजन नहीं आएगी। योग के साथ आप हलके कार्डिओ (cardio) व्यायाम, जैसे लो इम्पैक्ट एरोबिक्स (low-impact aerobics) या वाकिंग (walking) भी कर सकती हैं। आप खुद की सुविधा के अनुआर ये व्यायाम हफ्ते में 3 बार कम से कम 20 मिनट के लिए कर सकती हैं। अगर आप और ज़्यादा व्यायाम करना चाहती हैं, तो कर सकती हैं, पर अपने पेट के भाग पर ज़्यादा दबाव डालने से बचें।

घरेलू उपचार सेल्युलाईट हटाने के लिए अच्छा खानपान (Good diet se grabhavastha ke liye tips in hindi)

गर्भावस्था के समय कई तरह के भोजन खाने की इच्छा होना काफी आम बात है। पर इसका यह मतलब नहीं है कि आप जो चाहें, वही खा सकती हैं। जिस भोजन में फैट की मात्रा ज़्यादा है, उससे परहेज करें। हमेशा इस बात का ध्यान रखें कि जो भी आप खा रही हैं, उसका एक भाग आपके बच्चे को भी जाता है। अतः अपने भोजन का चुनाव करते समय अधिक सावधान रहें। सब्ज़ियों और फलों का सेवन सबसे अच्छा विकल्प होगा। इनमें कई तरह के एंटी ऑक्सीडेंट्स (antioxidants), फाइबर (fiber), पानी, मिनरल्स (minerals) तथा विटामिन्स (vitamins) होते हैं और ये सारे तत्व आपके शरीर से सेल्युलाईट को दूर रखते हैं। गर्भावस्था के समय ऐसा भोजन करना काफी आवश्यक है जो पोषक तत्वों तथा फाइबर से भरपूर हो। इससे ना सिर्फ आपको सेल्युलाईट हटाने में मदद करेगी, बल्कि आपकी त्वचा भी काफी स्वस्थ हो जाएगी और आपका बच्चा भी काफी स्वस्थ और रोगमुक्त होगा। मैरीनेडस (marinades), सॉसेज (sausage), चीज़ के उत्पाद (cheese products), वसायुक्त मीट (fatty meat), तला भोजन तथा फ़ास्ट फ़ूड (fast food) से सख्त परहेज करें। अगर आपको फैटी मीट पसंद है तो आप अन्य पोल्ट्री उत्पाद (poultry products) जैसे लीन मीट (lean meat) तथा ताज़ा चिकन (fresh chicken) खा सकती हैं। अतिरिक्त तेल, क्रीम (cream), चीज़ (cheese), मक्खन या आर्टिफिशियल फ्लेवरिंग (artificial flavoring) से युक्त पदार्थों का सेवन ना करें। इन चीज़ों के अलावा काफी मात्रा में पानी पियें। डॉक्टर भी यही कहते हैं कि रोज़ाना कम से कम 2 लीटर पानी पीना अनिवार्य है। अगर आप इससे ज्यादा पानी पी सकती हैं तो आपके लिए यह काफी अच्छा होगा।

गर्भावस्था से जुड़े हुए बेहतरीन एप्स

सेल्युलाईट का इलाज के लिए कॉफ़ी ग्राउंड्स (Coffee grounds se cellulite ke upay)

इस मिश्रण को बनाने के लिए 2 से 3 चम्मच पिघला नारियल का तेल, एक चौथाई कप पिसी कॉफ़ी (ground coffee) तथा 3 चम्मच सामान्य चीनी या ब्राउन शुगर (brown sugar) लें। इन सारे उत्पादों को मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट (paste) बनाएं। ध्यान रखें कि इसे मिलाते वक़्त कोई गांठें ना पड़ें। एक बार जब यह पेस्ट बन जाए तो इसे ठंडा होने दें और उन जगहों पर लगाएं जहां सेल्युलाईट की समस्या हो। ये मिश्रण लगाते समय अच्छे से दबाव डालें। हफ्ते में इसे 2 से 3 बार लगाने पर आपको फर्क दिखेगा।