How to use henna for hair dye? – बालों को रंगने के लिए हिना / मेंहदी का उपयोग कैसे करें?

हिना (henna) एक प्राकृतिक पौधा है जो गर्मी के मौसम में उगता है। इसे मेंहदी (mehndi) के नाम से भी जाना जाता है, इसको बालो को रंगने के लिए, त्वचा और नाखूनों के लिए दुनिया के अलग भागो में उपयोग किया जाता है। इसका सबसे ज्यादा उपयोग साउथ एशिया (south asia) और मिडिल ईस्ट (middle east) में किया जाता है। यह एक प्राकृतिक पौधा है जो नारंगी- लाल रंग को प्रदान करता है। दूसरे पदार्थों का मिश्रण कर आप अलग रंगों को भी पा सकते है।

हिना केवल बालों को रंगने के लिए उपयोग नहीं किया जाता बल्कि यह बेहतरीन प्राकृतिक कंडीशनर (conditioner)  है। इस से आपके बाल कोमल और स्वस्थ बनते है। हिना से महीने में एक बार कंडीशिनिंग करना आवश्यक है। अगर आप हर 15 दिन में इसका उपयोग करते है तो वो और भी बेहतर होगा।

लेकिन बहुत से लोग है जो हिना का उपयोग बालों को रंगने के लिए करते है। अगर आपके सिर में सफ़ेद बाल है तो आप हिना का उपयोग कर प्राकृतिक रंग प्राप्त कर सकते है, इस कारण आपको हानिकारक हेयर डाई का उपयोग नहीं करना पडेगा।

हिना को कॉस्मेटिक (cosmetic) पदार्थो के लिए भी उपयोग किया जाता है। ज्यादातर महिलाए इसे अपने हाथो और पैरो पर तीज या अन्य उत्सव पर लगाती है। इस आर्टिकल में हिना के लाभकारी गुण को दर्शाया गया है जिस से आप लम्बे और सुन्दर बालों को प्राप्त कर सकते है।

आप यह तो जानते ही है की हिना का उपयोग हेयर कंडीशनर के रूप में भी किया जाता है। बहुत से लोगो को यह गलत फैमि है की हिना बालों की बनावट को बिगाड़ देती है। सच तो यह है की मार्किट में हिना को बढ़िया क्वालिटी में नहीं बेचा जा रहा है और इस से बालों की बनावट पर असर पड़ता है। प्राकृतिक हिना के पत्ते बालों में पौष्टिक तत्वों को पहुंचाते है और उन्हें नियंत्रित और सुन्दर बनाते है।

हिना के बहुत से लाभ को प्राप्त करने के लिए चाय पत्ती, दही, ओवा (ova), निम्बू रस और आँवला रस को हिना में मिलाकर इसे कंडीशनर की तरह उपयोग करें। अब इस से आपको यह पता चलता है की हिना केवल बालों को रंगता ही नहीं बल्कि यह बेहतरीन कंडीशनर भी है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

हिना को बालों पर कैसे उपयोग करें (How to use henna on hair)

  • 2 कप – मेंहदी (हिना पाउडर)
  • 2 से 3 अंडे
  • 2 बड़ी चम्मच कॉफ़ी पाउडर
  • 4 बड़ी चम्मच चाय पत्ती
  • 1 बड़ी चम्मच कत्था पाउडर
  • ½ बड़ी चम्मच शुगर
प्रक्रिया (Procedure – hair colour kaise karte hai)

हेयर डाई के लिए चाय की केतली लें और उसमे 2 ग्लास पानी डालें। अब इसमें कॉफ़ी पाउडर सहित चाय पत्ती भी मिलाये। अब इसे 5 मिनट के लिए उबलने दें। अब इसे साफ़ कटोरे में छान कर डालें और इसमें हिना को मिलाये और साथ ही इसमें बाकी सामग्री को भी मिलाये। अच्छे से मिलाने के बाद यह ध्यान रखें की इसमें कोई गांठ ना हो। अब इस कटोरे को ढक दें और 2 से 3 घंटे के लिए साइड में रहने दें (बेहतर परिणाम के लिए इसे रातभर के लिए रखें)। अब इस मिश्रण को अपने बालों पर लगाए और एक घंटे के लिए रहने दें। अब गुनगुने पानी से इसे धो लें, जब तक बाल अच्छे से साफ़ नहीं हो जाते तब तक।

हिना को बालों पर लगाने का तरीका (Method regarding application regarding henna on hair)

अपने बालों को थोड़े पानी से भिगो लें और फिर हिना के पेस्ट को अपने बालों पर जड़ से नीचे तक लगा लें। अब अपने सिर को शावर कैप (shower cap) या प्लास्टिक कवर से ढक लें। अब इसे 1 से 4 घंटे के लिए रहने दें। इसके बाद अपने बालों को धो लें और सूखने दें। अधिक पोषण के लिए बालों के सूखने के बाद रातभर के लिए तेल लगाकर सो जाए। इस रंग का परिणाम आपको सुबह दिख जाएगा और इस कारण रंग भी गहरा बन जाएगा।

नीचे दर्शाए गए कुछ सुझाव स्वस्थ बालों के लिए लाभकारी है (Mentioned below are few useful tips for healthy hair)

  • अगर आपके बाल ज्यादा ही सफ़ेद है और आप हिना को पहली बार उपयोग में ले रहे है तो इस हिना को रोजाना 4 से 5 घंटे अपने सिर पर लगाकर रखें और फिर धो लें। इस प्रक्रिया का पालन 4 से 5 दिन से लेकर हफ्तों तक करें।
  • अगर आपके बाल आपसे नियंत्रित नहीं हो पा रहे है और यह कर्ली बनते जा रहे है तो हिना के उपयोग से आप अपने बालों को सीधा और कोमल रख सकेंगे। इसके लिए हिना में अंडे और दही का उपयोग करें।
  • हिना का स्वभाव ठंडा है इसलिए इसका खासी, सर्दी, बुखार और माहवारी के दौरान उपयोग ना करें।
  • रूसी / डैन्ड्रफ (dandruff) की समस्या को आप हिना के उपयोग से दूर कर सकते है।
  • हिना को कंडीशनर के रूप में उपयोग कर आप कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं देख सकते।
  • हेयर कलर, हिना से बालों को चमक और पोषण मिलता है। यह आपके रूखे बालों को कोमल और चमकदार बनाती है।
  • सिर का दर्द और अनिद्रा भी हिना के उपयोग से ठीक हो जाते है।
  • अगर आप वेजीटेरियन है तो आप अंडे की जगह दही का उपयोग कर सकते है। यह भी बालों के कंडीशिनिंग के लिए श्रेष्ठ है।
  • आप हिना लगाने से पहले अपने बालों पर तेल का उपयोग भी कर सकते है। इस तकनीक का पालन वही करे जो हिना का उपयोग कंडीशनर के रूप में करना चाहता है ना की बालों को रंगने के लिए। क्यूंकि तेल हिना के रंग को बालों पर जमने नहीं देता और इस कारण बालों का रंग प्राकृतिक रह जाता है।
  • हिना के लगाने के बाद उसे ढकना ना भूलें ताकि इसे मोइस्ट रखा जा सकें। खुला छोड़ने से मिश्रण तुरुन्त सुखा पड़ जाता है और इस कारण धोने में दिक्कत भी हो सकती है। खुले रखने से आपको बेहतर परिणाम भी प्राप्त नहीं होगा।
  • हिना को बालों पर ज्यादा समय रखने से आप बालों पर पहुँची क्षति का इलाज कर सकेंगे और साथ ही अपने बालों को स्वस्थ और पोषण से भरपूर रख पायेंगे।

बालों को हिना हेयर कलर से रंगने के लाभ (Benefits of henna as a hair dye)

हिना के बहुत से लाभकारी गुण है जिस से आप स्वस्थ बाल पा सकते है। बालों को केमिकल पदार्थ से रंगने से आप त्वचा सम्बंधित समस्या , खुजली और सूजन का शिकार बन सकते है। बालों को रंगने के अलावा हिना नीचे दिए गए लाभ भी प्रदान करती है।

  • हेयर कलर, यह प्राकृतिक सामग्री है और इसमें कोई भी केमिकल का उपयोग नहीं होता।
  • हिना सफ़ेद बालों को सही से रंगती है।
  • यह श्रेष्ठ कंडीशनर है जो बालों को घने और रेशमी बनाता है।
  • यह रूसी को कम करने में भी सहायक है और साथ ही जूँ (lice) को भी दूर करती है।
  • यह टाइट कर्ल को ढीला करने में भी मदद करती है।
  • यह बालों को बढ़ने में भी सहायता करती है।
  • हिना बालों को धुल और सूरज से भी बचाती है।

बालों को रंगने के लिए हिना पेस्ट का उपयोग कैसे करें? (How to use henna paste for hair dye?)

  • बालों की लम्बाई को ध्यान में रखते हुए अधिक हिना के पाउडर को कटोरे में डाल लें। कंधो की लम्बाई तक बाल के लिए लगभग 100 ग्राम हिना का उपयोग करें। इस पेस्ट को आधे पानी और आधे निम्बू या संतरे के जूस से बनाए। अगर कॉफ़ी या चाय को मिलाया है तो जूस की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • हिना के रंग के लिए थोड़ी मात्रा में लौंग के पाउडर को भी मिलाये।
  • इस मिश्रण को रातभर के लिए रखें। पानी डार्क रंग में बदल जाएगा। अधिक पानी को निकाल दें और पेस्ट को अच्छे से मिला लें।
  • हिना को लगाते समय हाथो में ग्लव्स (gloves) पहन लें और साथ ही पुराने कपडे का उपयोग करें ताकि इनके दाग से आपके नए कपडे खराब ना हो जाए।
  • अब हिना के पेस्ट को बालों को अलग – अलग भाग में बाँटकर लगाए। अपने पूरे सिर पर हिना को तब तक लगाते रहें जब तक सभी बालों पर हिना ना लग जाए। हिना को ध्यान से लगाए और हिना की बूंद जो चेहरे , गरदन और कान के पास लग गयी हो तो उसे तुरुन्त कपडे से साफ़ कर दें।
  • अपने सिर को शावर कैप से ढक लें ताकि मोइस्ट बना रह सकें और 2 घंटे के लिए रहने दें। हिना जो सिर से दुसरे स्थानों पर गिर रही है उसे साफ़ करते रहें।
  • अब हिना को गुनगुने पानी से धो लें। धोने के लिए आपको ज्यादा समय भी लग सकता है। फिर बालों को टॉवल से बाँध कर सुखाए। उस टॉवल का उपयोग करें जो दाग लगने पर भी इस्तमाल किया जा सकें।
  • हिना के रंग को दिखने में 3 दिन लग सकते है इसलिए धैर्य बनाए रखें। यह ऑक्सीडेशन (oxidation) का परिणाम है, जो बालों को डार्क और गहरा रंग प्रदान करता है।

हिना पेस्ट की रेसिपी (Recipes of henna paste)

हेयर कलर कैसे करे – हिना से बालों को रंगना (Hair coloring with henna)

हिना को ज्यादातर प्राकृतिक रूप से रंगने के लिए अपनाया जाता है। 2 कप हिना पाउडर ले, ½ कप आँवला का पाउडर लें, 2 चमच शिकाकाई पाउडर लें, 1 एग वाइट लें, 2 चम्मच निम्बू रस लें, 1 चम्मच टुल्सा पाउडर लें और साथ ही चाय या काफी का भी उपयोग कर पेस्ट बना लें। अब इसे रातभर के लिए रहने दें और फिर सुबह अपने बालों पर लगा लें। लगाने के बाद, बालों को प्लास्टिक कैप से ढक लें। एक घंटे के बाद धो लें।

हिना से बालों का बढ़ने का तेल (Hair growth oil with henna)

हेयर फॉल / बालों को गिरने से रोकने के लिए आप हिना को तेल के रूप में भी उपयोग कर सकते है। 250 ग्राम तिल के तेल को हिना के 5 कप के साथ 5 से 6 मिनट के लिए गरम कर लें। अब इसे ठंडा कर लें और मिश्रण को छान लें। इस मिश्रण को बोतल में डालकर रख दें।

हिना सहित हेयर कंडीशनर पैक (Hair conditioner pack with henna)

हिना को प्राकृतिक हेयर कंडिशनर के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है। इसके लिए 2 कप हिना के पाउडर को 1 कप आँवला के पाउडर, 2 चमच हिबिस्कुस (hibiscus) के फुल के पाउडर को लें, 2 चमच मेथी के पाउडर और 1 चमच संतरे के छिलके के पाउडर के साथ मिलाये और साथ ही आवश्यक अनुसार दही को भी इस मिश्रण में मिलाये। अब इस मिश्रण को एक घंटे के लिए रहने दें और फिर अपने बालों पर लगा लें। अपने सिर को प्लास्टिक कवर से ढक लें और एक घंटे के बाद धो लें।

हिना से रूसी का इलाज करें (Dandruff treatment with henna)

रूसी को दूर करने के लिए आप हिना को मेथी के बीज और निम्बू सहित उपयोग कर सकते है। मेथी के बीज को रातभर के लिए भिगोकर रखें और फिर इनको पीस कर इनका पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट में हिना पाउडर और निम्बू के रस को मिलाकर अपने सिर पर लगा लें। इसे 45 मिनट तक रखें और फिर धो लें।

हिना सहित बालों के गिरने का पैक (Hair fall pack with henna)

1 कप आँवला के पाउडर को 3 चमच मेंहदी के पाउडर, 2 चमच मेथी के पाउडर, 1 एग वाइट और 1 निम्बू के रस को मिला लें। अब इसे एक घंटे के लिए रहने दें और फिर अपने बालों पर लगा लें। 45 मिनट के बाद अपने बालों को धो लें और बदलाव को तुरुन्त महसूस करें।

हिना को हेयर डाई के लिए उपयोग करने के तरीके (Ways to use henna for hair dye)

हेयर कलरिंग – केवल हिना (Simply henna)

आप अपने सफ़ेद बालों के लिए केवल हिना का उपयोग कर सकते है। इसे सिर्फ हेयर डाई की तरह इस्तमाल करें। बेहतर होगा अगर आप गरम पानी को हिना में डाल कर रातभर के लिए भिगो सकते है। जैसे ही आप इसे सुबह देखेंगे तो पायेंगे की रंग बदल चूका है। अब ब्रश का उपयोग कर इसे अपने बाल और बालों की जड़ पर लगा लें। 20 मिनट के लिए रुकें और फिर साधारण ठंडे पानी से धो लें।

हिना सहित नारियल का तेल (Coconut oil with henna)

अगर आपको अपने बालों के लिए हेयर डाई के अतिरिक्त और भी कोई लाभ चाहिए तो आप हिना का नारियल तेल (coconut oil) के साथ मिश्रण कर उपयोग कर सकते है। आपको हिना को रातभर के लिए भिगोकर रखना है और फिर सुबह 2 चमच नारियल तेल को इसमें मिलाना है। अच्छे से इसे मिलाये और फिर हिना को अपने बालों की जड़ से लेकर नीचे तक लगाए। इसे 1 घंटे के लिए रहने दे और फिर हलके शैम्पू से इसे धो लें। इस नुस्खे से आपके बालों पर ज्यादा चमक आएगी।

नीम के पत्ते के साथ हिना (Henna with neem leaf se hair color karne ka tarika)

बालों की सुन्दरता के अलावा आपको अपने बालों की सेहत / स्वास्थय के लिए भी सोचना आवश्यक है। कभी- कभी आपके बाल बैक्टीरिया (bacteria) या फंगल इन्फेक्शन (fungal infection) का शिकार बन सकते है। इस कारण आप रूसी का शिकार बन जाते है। अब इस समस्या का इलाज नीम कर सकता है जिसमे एंटी बैक्टीरियल (anti bacterial) और एंटी फंगल (anti fungal) गुण पाए जाते है। आप नीम के पत्ते को उबालने के बाद उसके रस को हिना में मिला सकते है या हिना को नीम के पत्ते को उबालने गए बर्तन में मिला सकते है। इसे कुछ समय के लिए रहने दे, जैसे ही यह ठंडा पड़ जाए आप इसे अपने सिर और बालों पर लगा लें। इसे 30 मिनट के लिए भी रखें। आपको इसे 30 मिनट के बाद ठंडे पानी से धोना है ताकि रूसी ना बन सकें। अब इस तरह आप अपने बालों को स्वस्थ और रूसी से दूर रख सकेंगे।

loading...