Hindi tips to improve your heart health – ह्रदय के स्वास्थ्य को सुधारने के प्रभावी नुस्खे

हृदय रोग के कारण, यह बात सभी मानते हैं कि स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएं किसी भी उम्र के व्यक्ति को आ सकती है,पर ये बात भी सही है कि हृदय रोग के कारण, ये समस्याएं सिर्फ उन्हीं को आती हैं जो अपनी सेहत का ख्याल नहीं रखते। जो अपने स्वास्थ्य को नज़रअंदाज़ करते हैं उन्हें अपने जीवन के आखिरी दिनों में इसकी काफी देखभाल करनी पड़ती है। अगर आपको स्वस्थ रहना है तो सिर्फ कुछ आसान नुस्खों का इस्तेमाल करें और एक अच्छा जीवन जियें। नीचे आपके ह्रदय को स्वास्थ्य को सुधारने की कुछ विधियां बतायी गयी हैं:-

1. बाइक राइडिंग दिल के दौरे और अन्य समस्याओं को दूर करने का काफी प्रभावी माध्यम है। एक शोध के अंतर्गत जर्मन वैज्ञानिकों ने 20 लोगों पर शोध किया जो दिल की किसी न किसी समस्या से पीड़ित थे। उन्होनें कुछ लोगों से दिन में 20 मिनट व्यायाम करने को कहा और बाकियों को कुछ समय तक बाइक राइडिंग करने की सलाह दी। दिल की बीमारी का इलाज, शोध के अंत में यह पाया गया कि व्यायाम करने वालों के मुकाबले बाइक राइडिंग करने वालों में दिल के दौरे या दिल की अन्य बीमारियों का ख़तरा कम हो गया था।

2. ह्रदय को स्वस्थ करें, नाश्ते में फाइबर युक्त भोजन ग्रहण करने का प्रयास करें। दिल की बीमारी का इलाज, एक अध्ययन के अनुसार जो व्यक्ति फाइबर युक्त अनाज खाते हैं उन्हें दिल का दौरा पड़ने की संभावना बाकियों से 36% कम रहती है। इसी तरह अगर कोई महिला नाश्ते में 23 ग्राम फाइबर लेती है तो उसके उस महिला के मुकाबले दिल की बीमारी होने की संभावना 23% कम हो जाती है जो नाश्ते में 11 ग्राम ही फाइबर लेती है।

3. रोज़ाना थोड़ा डार्क चॉकलेट खाएं। यह बात मानी गयी है कि चॉकलेट में मौजूद फ्लेवोनॉयड धमनियों को जाम होने से बचाते हैं और खराब कोलेस्ट्रोल को ऑक्सीडाइज होने से भी रोकते हैं। इससे प्लाक का जमना भी रूक जाता है। फ्लेवोनॉयड्स धमनियों को लचीला बनाए रखते हैं,अतः जिन्हें मीठा खाना पसंद है वे हर हफ्ते डार्क चॉकलेट के कुछ टुकड़े खाएं।

अस्वस्थ हृदय के लक्षण

4. ह्रदय को स्वास्थ्य को विटामिन बी काम्प्लेक्स लेने से उन लोगों में ह्रदय की बीमारी होने का ख़तरा कम होता है जिनकी अभी हाल में ही ह्रदय की शल्य चिकित्सा हुई है। एक शोध के अनुसार शल्य क्रिया के बाद धमनियों को खोलने हेतु रोज़ाना प्लेसिबो की जगह विटामिन बी काम्प्लेक्स लेने पर होमोसीस्टीन नामक पदार्थ की शरीर में मात्रा घाट जाती है। यह वो पदार्थ है जो ह्रदय की बीमारियों के खतरे को बढ़ाता है।

5. यह कई मर्दों के लिए काफी अच्छी खबर हो सकती है। दिल की बीमारी का इलाज, शोधों ने दिखाया है कि जो लोग बियर का सेवन करते हैं उन्हें इसका सेवन न करने वालों की तुलना में दिल के दौरे का ख़तरा कम होता है। आप सोच रहे होंगे कि यह कैसे संभव है ! असल में बियर शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को घटाता है,फिब्रिनोजेन,जो कि खून का थक्का जमाने वाला एक प्रोटीन है,का स्तर कम करने में मदद करता है और स्वास्थ्यवर्धक एंटी ऑक्सीडेंट्स की खून में मात्रा को बढ़ाता है।

कुछ अन्य उपाय (Apart from these you can also)

1. ह्रदय को स्वस्थ करें, हफ्ते में एक बार मछली ज़रूर खाएं।

2. ताज़े सलाद में पटसन के बीज का तेल मिलाकर खाएं।

3. रोज़ाना एक घंटा जल्दी सोएं।

4. सोते समय खर्राटों को कम करने का प्रयास करें।

5. ह्रदय को स्वस्थ करें, रोज़ाना 2 कप ग्रीन या ब्लैक टी पियें।

6. रोज़ाना एक कटोरी बीन्स खाएं।

7. सोडा से परहेज़ करें और ताज़े फलों का रस, खासकर संतरे का रस पियें।

गर्भावस्था के दौरान हृदय रोग को कैसे संभाले करें?

8. रोज़ाना मुट्ठीभर चेरी खाएं।

9. रोज़ाना एक संतरा खाएं।

10. सबसे बढ़कर, सकारात्मक सोचें और स्वस्थ रहें।

दिल को स्वस्थ रखने के टिप्स (Tips to improve your heart health)

हृदय रोग का उपचार, अपने ट्राईग्लिसराइड्स की जांच करें (Check your triglycerides, dil ko healthy rakhna)

आपने अक्सर डॉक्टरों को अच्छे और खराब कोलेस्ट्रोल (cholesterol) के बारे में बातें करते हुए सुना होगा। परन्तु ट्राईग्लिसराइड्स दिल की बीमारियों और मधुमेह का प्रभावी मापदंड साबित हो सकते हैं। ट्राईग्लिसराइड में बदलाव से लोग अपनी जीवनशैली में भी परिवर्तन महसूस कर सकते हैं। ट्राईग्लिसराइड में कमी आने से आपके दिल के स्वास्थ्य में उन्नति होने की काफी ज़्यादा संभावनाएं होती हैं। इसके लिए शरीर के सैचुरेटेड (saturated) वसा की मात्रा और वज़न में कमी लाना आवश्यक है।

ह्रदय रोग से बचाव, ह्रदय को चिंता से बचाएं (Heart distressing mechanism, dil ki bimari ka ilaj in hindi)

कई बार काम के अत्याधिक दबाव की वजह से तनाव उत्पन्न हो जाता है। चाहे आप अपने दफ्तर में कंप्यूटर (computer) के सामने बैठे हों, दिमाग लगाने वाला कोई गूढ़ काम कर रहे हों या फिर घर पर शारीरिक मेहनत कर रहे हों, तनाव उत्पन्न होना कोई बड़ी बात नहीं है। इस तनाव से आपके दिल पर काफी नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इस समस्या का सबसे अच्छा इलाज तनावमुक्त हो जाना है। अगर आप लगातार 2 घंटे से काम कर रहे हैं तो बीच में 15 मिनट का अंतराल काफी ज़रूरी है। इससे आपको चिंता और तनाव से मुक्त होने में काफी आसानी होगी।

उच्च रक्तचाप के लक्षण तथा रोकथाम के उपाय

ह्रदय रोग से बचाव – अपने दिल के बारे में अच्छे से जानकारी रखें (Knowing heart numbers)

अपने दिल का सही प्रकार से इलाज करवाने के लिए जाने से पहले आपके लिए अपने दिल की सही अवस्था के बारे में ठीक तरह से जानना काफी आवश्यक है। आपको अपने HDL, जिसे अच्छा कोलेस्ट्रोल कहा जाता है, तथा LDL, जिसे खराब कोलेस्ट्रोल कहा जाता है, के बारे में भी अच्छी जानकारी होनी चाहिए। इसके अलावा शरीर के सटीक रक्तचाप (blood pressure) का स्तर तथा बॉडी मास इंडेक्स (body mass index) का पता होना भी काफी आवश्यक होता है। आप इस तरह की सारी जांच किसी जाने माने दिल के अस्पताल में करवा सकते हैं।

हृदय रोग का उपचार, पौधों से प्राप्त स्टेरोल्स और नट्स (Plant sterols and nuts)

नट्स आपके ह्रदय के लिए काफी अच्छा होता है तथा इसका निरंतर रूप से सेवन करने से काफी आसानी से आपके दिल को स्वस्थ रखा जा सकता है। उदाहरण के तौर पर दिन में 6 अखरोटों का सेवन करने से आपके दिल को काफी अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त होता है। क्योंकि अखरोट में ओमेगा 3 फैटी एसिड (omega 3 fatty acid) की मात्रा होती है, अतः इससे आपको दिल में होने वाली जलन से काफी राहत मिलती है एवं धमनियों की किसी भी प्रकार की समस्या भी आसानी से दूर हो जाती है। आपके दिल लम्बे समय तक काफी अच्छे से काम करता है। पिस्ता भी आपके दिल के स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक सिद्ध होता है। अगर आप रोजाना दो पिस्ते का सेवन करें तो खराब कोलेस्ट्रोल के मात्रा को कम करने में काफी आसानी होती है। आपको ऐसे भी कई नट्स उपलब्ध हो जाएंगे, जो पौधों के स्टेरोल का काफी अच्छा स्त्रोत होते हैं। चाहे आप पौधों के स्टेरोल्स को अलग अलग लें या बादाम और मूंगफली की मदद से लें, यह आपके ऊपर है। इनके सेवन से खराब कोलेस्ट्रोल मनुष्य की आँतों के अन्दर प्रवेश नहीं कर पाते।

ह्रदय रोग का इलाज, शोधों के अनुसार ये नट्स शरीर के खराब कोलेस्ट्रोल को पूरी तरह से प्रभावित किये बिना ही इनकी मात्रा को कम करने में सक्षम हो जाते हैं। सही मात्रा में जैतून के तेल (olive oil), सब्जियां, नट्स आदि का सेवन करने से आपके दिल को बेहतरीन स्वास्थ्य की प्राप्ति होगी।

ह्रदय रोग का इलाज, धूम्रपान से परहेज करें (Quit smoking se heart rog ke upay)

10 स्वस्थ वसा खाने के लिए

धूम्रपान एक काफी हानिकारक आदत है, जिसके शिकार समाज में मौजूद कई लोग हैं। ह्रदय रोग का इलाज, धूम्र्पन्न करना दिल की बीमारियों से ग्रस्त होने का एक काफी बड़ा कारण होता है और सिर्फ इसे छोड़कर ही आप कई तरह की समस्याओं से बच सकते हैं। कुछ लोग अपनी इच्छाशक्ति और दृढ़ संकल्प के दम पर धूम्रपान का नशा छोड़ने में सफलता प्राप्त कर लेते हैं। पर अगर आप चेन स्मोकर (chain smoker) हैं और धूम्रपान की बुरी आदत को छोड़ नहीं पा रहे हैं तो पुनर्सुधार केन्द्रों (rehabilitation centers) में जाएं, जहां कई प्रकार की पद्दतियों के द्वारा हर एक व्यक्ति को पूरी तरह धूम्रपान की लत से छुटकारा दिला दिया जाता है। इसके लिए आपको शुरुआत में आपको कम मात्रा में धूम्रपान की लत छोड़नी होती है, जिसकी मात्रा धीरे धीरे बढ़ती जाती है और एक समय ऐसा भी आता है, जब आप पूरी तरह धूम्रपान छोड़ने में सफल हो जाते हैं।

 

hriday rog, hriday rog ke liye, hridaya rog, dil ki bimari ke gharelu nuskhe, dil ki bimari ka ilaj in hindi, dil ki bimari ka desi ilaj, dil mazboot karne ka tarika, dil ko majboot kaise kare, hriday rog ke upay, hriday rog se mukti, dil ko kaise swasth rakhne

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday