Foods that triggers or avoid migraine – भोजन जिनसे होता है माइग्रेन या होती है रोकथाम

माइग्रेन एक प्रकार के सिर के दर्द की समस्या है। आपको कई कारणों से सिर का दर्द हो सकता है। इनमें से एक कारण माइग्रेन होता है। यह एक विशेष स्थिति है जिसके अंतर्गत सिर में पूर्ण रूप से दर्द नहीं होता है, बल्कि सिर का केवल आधा भाग ग्रस्त रहता है। दर्द रहने की अवधि सभी व्यक्तियों में अलग अलग होती है। कुछ लोगों के लिए यह 2 से 3 घंटों, वहीँ कई अन्य लोगों के लिए यह 72 घंटों तक रह सकता है। माइग्रेन के कई कारण हो सकते हैं। कई लोगों को आनुवांशिक कारणों से माइग्रेन होता है। कई बार जीन्स (genes) तथा पर्यावरण समस्याओं की वजह से भी माइग्रेन होता है। माइग्रेन का एक और कारण हार्मोनल (hormonal) स्तर में परिवर्तन हो सकता है। कई खाद्य पदार्थों से माइग्रेन होने को लेकर भी विवाद बना हुआ है।

क्या निम्नलिखित खाद्य पदार्थ हैं माइग्रेन के कारक (Whether or not the following food cause migraine)

चॉकलेट (Chocolate)

माइग्रेन का इलाज, अधकपारी के घरेलू उपचार

यह एक विवादित खाद्य पदार्थ है जिसके माइग्रेन को जन्म देने सम्बन्धी विवाद है। कुछ लोग कहते हैं कि चॉकलेट से माइग्रेन की समस्या पैदा होती है। शोधों के अनुसार चॉकलेट का प्रमुख स्त्रोत कोको (cocoa) माइग्रेन से प्रभावित नाड़ी कोशिकाओं की सुरक्षा करता है। पर माइग्रेन से ग्रस्त कई लोगों का विचार है कि चॉकलेट माइग्रेन की उत्पत्ति का एक कारक है। उनके अनुसार यह एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जो दर्द को और भी असहनीय बनाता है।

मोनो सोडियम ग्लुटामेट (Mono-sodium glutamate)

मोनो सोडियम ग्लुटामेट एशियाई उपमहाद्वीप में खाया जाने वाला एक अहम् खाद्य पदार्थ है। कई लोगों के मन में इस बात को लेकर दुविधा है कि इससे माइग्रेन होता है अथवा नहीं। परन्तु शोधों के अनुसार तथ्य बिल्कुल उलट हैं। कई लोगों को इस पदार्थ का सेवन ना करने की सलाह दी जाती है क्योंकि यह उन लोगों में माइग्रेन के आक्रमण की वजह बनता है। हालांकि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि मोनो सोडियम ग्लुटामेट माइग्रेन का कारण है। अतः इसे माइग्रेन का दोषी नहीं समझा जा सकता।

बियर (Beer)

बियर एक अल्कोहल (alcohol) युक्त खाद्य पदार्थ है जिसका सेवन कई लोग करते हैं। लोगों के अनुसार तनावपूर्ण समय के बाद यह काफी आनंद प्रदान करता है। इसमें एक प्रकार की मत्तता है जिसे लोग पसंद करते हैं। पर क्या सही में बियर की वजह से सिर में दर्द होता है? यदि आप माइग्रेन या सिर के दर्द से ग्रस्त हैं तो थोड़ी सी बियर पीने से आपकी नसें राहत प्राप्त करेंगी। इससे आपको तुरंत सिर के दर्द से मुक्ति मिलेगी।  हालांकि अत्यधिक मात्रा में बियर पीने से नकारात्मक प्रभाव भी पड़ते हैं और आप मानसिक रूप से पूरी तरह होश खो सकते हैं। आमतौर पर लोग अज्ञान हो जाते हैं। एक बार होश आने पर माइग्रेन के माध्यम से सिर का दर्द वापस आ जाता है।

चीज़ (Cheese)

चीज़ उन खाद्य पदार्थों में से एक है जो ब्रेड, पिज़्ज़ा, पास्ता आदि को स्वादिष्ट बनाता है। इसका स्वाद अलग होने के कारण बच्चे भी इसे पसंद करते हैं। यदि आपका बच्चा भोजन करने में आनाकानी कर रहा है या स्वास्थ्यकर भोजन से दूर हो रहा है, तो चीज़ इसमें स्वाद लाता है। चीज़ की मदद से आपके भोजन में स्वाद आता है। अब यह जानना आवश्यक है कि चीज़ के माध्यम से माइग्रेन होता है या नहीं। कई शोधकर्ताओं द्वारा प्रकाशित शोधों के अनुसार चीज़ से माइग्रेन का कोई ख़तरा नहीं होता है।

रेड वाइन (Red wine)

रेड वाइन एक अल्कोहलिक पेय पदार्थ है जिसे अंगूर से प्राप्त किया जाता है। इसे आमतौर पर महिलाओं का पेय पदार्थ माना जाता है। आजकल तकरीबन हर व्यक्ति इसका सेवन करता है। यदि इसका सेवन बीच बीच में किया जाए तो यह कोई नुकसान नहीं पहुंचाती। अब सवाल यह उठता है कि क्या रेड वाइन पीने से सिर में दर्द हो सकता है। रेड वाइन पीने का एक ख़ास तरीका है। यदि आप 2 से 3 गिलास रेड वाइन का सेवन करते हैं तो इससे कोई नुकसान नहीं है। पर कुछ लोग रेड वाइन की पूरी बोतल एक बार में पी जाते हैं। यदि आप भी ऐसा करते हैं तो आपके सिर में भी दर्द होने के काफी आसार बन सकते हैं। ऐसी स्थिति में रेड वाइन सिर का दर्द बढ़ाती है।