Jock itch / tinea cruris and home remedies in Hindi – जॉक खुजली के इलाज के लिए घरेलू उपचार

जॉक खुजली, दाद का एक प्रकार, एक चिड़चिड़ी और असुविधाजनक खुजली है। यह खुजली पुरुषो और महिलाओ दोनों में देखी जाती है। यह ट्रायकॉफ़ायटन रुन्ब्रम नाम के कवक के कारण होती है। यह कवक संक्रमण के रूप में भीतरी जांघो, कमर और जननांग क्षेत्र जैसे शरीर के कई हिस्सों को प्रभावित करता है। जो व्यक्ति इस फंगस से प्रभावित हो गया है उसे त्वचा में सुजन, खुजली, लालिमा और जलन जैसे लक्षण होने लगते है।

इस फंगस (fungus) से प्रभावित होने पर व्यक्ति को जलन, खुजली, लालपन, त्वचा पर पपड़ीदार त्वचा का निकलना और त्वचा के जलने का भाव उत्पन्न होता है।

जॉक खुजली संक्रामक होने के लिए जाना जाता है। अधिकतर लोग इससे प्रभावित व्यक्ति का निजी सामान भी आदान-प्रदान नहीं करते है। जॉक खुजली का विकास एड्स, मोटापा और मधुमेह रोगियों से प्रभावित लोगो के बीच देखा जाता है। इस शर्मनाक समस्या के इलाज के लिए कैसे घर पर उपचार कर सकते है।

जॉक खुजली से बचने के नुस्खे (How to get rid of jock itch)

जॉक खुजली उपचार (jock khujali ka ilaaj) है जीवाणुरोधी साबुन (Antibacterial soap)

मेडिकल स्टोर से एक अच्छी जीवाणुरोधी साबुन ख़रीदे और इसे प्रभावित क्षेत्र पर साफ़ करने के लिए इस्तेमाल करे अंत में एक चिकने सूखे कपडे की मदद से गर्म पानी से त्वचा के क्षेत्र को सोखे ये प्रक्रिया दिन में तीन से चार बार दोहराने से खुजली कम होती है।

जॉक खुजली के घरेलू उपाय है नमक के पानी से स्नान (Salt water bath)

गोट या गठिया की प्राकृतिक चिकित्सा

इस समस्या का इलाज करने के लिए नमक के पानी से स्नान करना एक अच्छा तरीका है। नमक कवक के कारण संक्रमण के साथ लड़ने में मदद करता है आप बस गर्म पानी के टब में पर्याप्त मात्रा में नमक डाले और इसे 15 से 20 मिनिट के लिए अपने शरीर पर ले इससे आपकी त्वचा मुलायम रहती है दिन में दो बार इस प्रयोग को करने की कोशिश करे आपको खुजली की समस्या नही होगी।

जॉक खुजली उपचार है सेब का सिरका (Apple cider vinegar)

जॉक खुजली का इलाज करने के लिए सेब का सिरका एक सरल समाधान है। सेब के सिरके को प्रभावित त्वचा पर लगाये यह मजबूत गुण जॉक खुजली सहित कई त्वचा की समस्याओं से राहत पाने के लिए जाना जाता है। विशेष रूप से एक दिन में दो से तीन बार सेब सिरके से प्रभावित क्षेत्र धो ले आपको जॉक खुजली से आराम मिलेगा।

लहसुन (Garlic for fungal infection treatment in hindi)

लहसुन में एंटी फंगल (antifungal) गुण होते हैं, जिसकी वजह से यह जॉक खुजली को ठीक करने में काफी कारगर सिद्ध होता है। लहसुन के कुछ फाहे लें और इन्हें पीसकर इनका पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट का प्रयोग प्रभावित त्वचा पर करें। इसे कुछ मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसे धो लें। इस प्रक्रिया का पालन दिन में 2 से 3 बार करें।

वैकल्पिक तौर पर जैतून के तेल (olive oil) में लहसुन के फाहों को तल लें और इसके ठंडा हो जाने पर तेल को निकाल लें। इस तेल का प्रयोग प्रभावित भाग पर करें। इसे कुछ घंटों के लिए छोड़ दें और फिर पानी से धो लें। इस प्रक्रिया को दिन में 2 से 3 बार दोहराएं।

आप अपनी प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करने के लिए और घाव जल्दी भरने के लिए लहसुन को कच्चा भी खा सकते हैं। अपने स्वास्थ्य को दुरुस्त करने के लिए रोज़ाना लहसुन का आहार ग्रहण करें।

चाय के पेड़ का तेल (Jock khujali ka desi ilaj with tea tree oil)

चाय के पेड़ का तेल खुजली को पूरी तरह से दूर करने के लिए और उसका संक्रमण हटाने के लिए आवश्यक है। विरोधी कवक, विरोधी बैक्टीरियल और सफाई  के गुणों से भरी हुई है। अब एक सूती कपडा लो और चाय के तेल में डुबो लो और इसे दिन एक से अधिक बार संक्रमित क्षेत्र मी लगा ले कुछ दिनों में इस प्रक्रिया को करने से आप लक्षणों में कमी पायेंगे। प्रभावित क्षेत्र में सीधे चाय के पेड़ का तेल लगाने के बाद साबुन या जेल भी लगा सकते है।

जॉक खुजली के घरेलू उपाय है सफ़ेद सिरका (White vinegar)

एक कटोरी में एक कप सफ़ेद सिरका ले, उसमे चार कप पानी मिलाये और उसे अच्छी तरह से मिला ले अब एक दिन में दो से तीन बार इस मिश्रण का उपयोग प्रभावित क्षेत्र को साफ़ करने के लिए करे।

घर पर प्राकृतिक रसोई सामग्री के साथ नर्म साफ त्वचा कैसे पायें

जॉक खुजली उपचार है शहद (Honey)

शहद प्रभावित क्षेत्र पर लगाने से जॉक खुजली जैसी समस्या को कम करने में मदद करता है शहद जॉक खुजली के संक्रमित फंगस को मिटाने का एक प्राकृतिक उपाय है शहद को लगाने के बाद इसे 10 मिनिट के लिए रखे। आपकी जॉक खुजली पूरी तरह से दूर हो जायगी।

नारियल तेल (Coconut oil)

नारियल का तेल जॉक की खुजली का काफी प्रभावी इलाज है। नारियल के तेल में एंटी फंगल और एंटी माइक्रोबियल (antimicrobial) गुण होते हैं। यह संक्रमण पैदा करने वाले फंगस को खत्म करने में आपकी काफी सहायता करता है। शुद्ध नारियल का तेल लें और इसका प्रयोग प्रभावित भाग पर करें। इसका प्रयोग दिन में 3 से 4 बार प्रभावित भाग पर तब तक करते रहें, जब तक कि आपको परिणाम दिखने शुरू ना हो जाएँ।

वैकल्पिक तौर पर 1 चम्मच नारियल के तेल को ओरेगेनो तेल (oregano oil) की 4 से 5 बूँदों के साथ मिश्रित करें। इस मिश्रण का प्रयोग प्रभावित भाग पर करें। अच्छे परिणाम प्राप्त करने तक इस प्रक्रिया को दिन में 2 से 3 बार दोहराएं।

अगर आप खाना पकाने के लिए शुद्ध नारियल के तेल का प्रयोग करें तो आपको ठीक होने में काफी मदद मिलेगी। पहले 1 चम्मच नारियल के तेल से शुरुआत करें और इसके बाद रोज़ाना 3 चम्मच नारियल के तेल का प्रयोग करें।

loading...