Hindi tips for oily skin – तैलीय त्वचा के लिए प्राकृतिक घरेलू उपचार – तैलीय त्वचा के उपाय

चेहरे पर रौनक और सुंदर त्वचा के लिए आपकी त्वचा का स्वस्थ होना बहुत जरुरी है। ऑलिय त्वचा (oily skin) चमकदार तो होती है पर इससे त्वचा का रंग गहरा दिखता है। चेहरे पर अधिक आयल (तेल) चेहरे पर ब्लैकहैड, व्हाइटहेड्स, फोड़े फुंसी और त्वचा संबंधित परेशानीओ को बढ़ावा देता है।

ऑयली त्वचा (आयल स्किन) पर रूखी व साधारण त्वचा के मुकाबले झुर्रिया कम होती है। यह एक अच्छी बात है। पर ऑयली त्वचा का रख रखाव मुश्किल होता है।

तैलीय त्वचा के मुख्य कारण (Top reasons for oily skin and face)

तैलीय त्वचा के उपाय, सुझावों का पालन करें और निखरी साफ और सुंदर त्वचा को दिखने के लिए तैयार हो जाए।

  • अच्छे फेसवॉश के साथ अपने चेहरे को दिन में दो बार साफ करे। यह त्वचा से अधिक तेल और धुल को कम करता है। सोने से पहले चेहरे से मेकअप उतार कर सोये।
  • रोजाना प्रोटीन से भरपूर भोजन करे। अपने दैनिक आहार में पत्तेदार सब्जियों और फलों का सेवन करे।
  • विटामिन B त्वचा से ज्यादा आयल को कम करता है। आप अपने दैनिक आहार में विटामिन B से भरपूर गुठली, फलियां तथा दाने को शामिल करे। चीनी और वसा का सेवन कम करें। चॉकलेट,अधिक तेलीय भोजन और शराब के सेवन से बचे।
  • आपकी ऑयली स्किन वंशानुगत भी हो सकती है। अगर आपके परिवार में किसी की ऑलिय त्वचा (आयल स्किन/oily skin) है तो आपकी त्वचा ऑयली होना स्वाभाविक है। स्किन केयर प्रोडक्ट्स के अधिक उपयोग से भी त्वचा ऑयली बनती है।

मुंहासों को दूर करने के प्राकृतिक घरेलू इलाज

  • मौसम के बदलाव भी ऑयली त्वचा का एक कारण है। गर्मिओ में चेहरे पर अधिक तेल आ जाता है और ठण्ड में ये अधिक तेल त्वचा को रुखा होने से बचाता है। गर्भाअवस्था के दौरान ली गई दवाई भी ऑलिय त्वचा का कारण (reasons for oily skin) होती है।
  • तनाव के दौरान एण्ड्रोजन हार्मोन निर्मित होता है जो ऑयली त्वचा का एक कारण है।
  • महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान, रजोनिवृत्ति के पहले तथा बाद होने वाले हार्मोनल परिवर्तन सेबेशियस ग्रंथियों को प्रभावित करते हैं तथा ज़्यादा तेल उत्पन्न करते हैं।
  • सन टैनिंग से त्वचा सूखी पड़ जाती है, पर यह वास्तव में सेबेशियस ग्रंथियों को प्रभावित करके त्वचा को सुरक्षित रखने के लिए अतिरिक्त तेल उत्पन्न करता है।
  • त्वचा की देखभाल करने वाले उत्पादों का अत्याधिक प्रयोग : पहले से साफ़ त्वचा की क्लींजिंग, स्क्रबिंग तथा मृत कोशिकाएं निकालने की प्रक्रिया करने से त्वचा तैलीय हो जाती है।
  • दवाइयाँ : हॉर्मोन के पैदा होने को नियंत्रित करने वाली तथा इसे बदलने वाली औषधियों के प्रभाव से भी त्वचा में तेल की मात्रा बढ़ती है।
  • महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान तथा रजोनिवृत्ति : महिलाओं में गर्भावस्था के दौरान तथा रजोनिवृत्ति के पहले तथा बाद में होने वाले हॉर्मोन के परिवर्तन से भी सेबेशियस ग्रन्थियां प्रभावित होती हैं तथा अतिरिक्त तेल उत्पन्न करती हैं।
  • धूप से टैनिंग : टैनिंग से त्वचा अस्थायी रूप से सूख जाती है पर असल में इससे सेबेशियस ग्रन्थियां प्रभावित होती हैं और त्वचा की रक्षा करने के लिए अतिरिक्त तेल उत्पन्न करती हैं।

तैलीय त्वचा का घरेलू उपचार (Home remedies in Hindi for oily skin)

  • अंडे का सफ़ेद हिस्सा त्वचा को रुखा बना देता है , इसे चेहरे पर लगा के सूखने तक के लिए छोड़ दे। फिर ठन्डे पानी से धो ले। आप चाहे तो अंडे के सफ़ेद हिस्से में नींबू का रस मिला के लगाये 15 मिनट बाद गरम पानी से मुह धो ले।
  • दही को अपने चेहरे पे लगा के 15 मिनट के लिए छोड़ दे। आप दही के साथ ओटमील (दलिया) और शहद मिला के भी लगा सकती है। 15 मिनट बाद साफ पानी से मुह धो ले।
  • टमाटर के टुकड़े को अपने चेहरे पर लगा ले 15 मिनट बाद साफ पानी से / ठंडे पानी से मुह धो ले।
  • ककड़ी के टुकड़े को चेहरे पर लगा ले यह बहुत अच्छा , आप चाहे तो ककड़ी के रस में नींबू का रस मिला के 15 मिनट के लिए लगा के रखे। बाद में ठन्डे पानी से धो ले।

चेहरे के दाग धब्बे के इलाज के लिए घरेलू नुस्खे

  • टमाटर तैलीय त्वचा (Oily skin) के लिए अच्छे होते हैं क्योंकि इनमें त्वचा को ठंडा करने तथा उसे साफ़ करने के गुण होते हैं।टमाटर के प्राकृतिक रूप से तेल सोखने वाले एसिड अच्छे से अतिरिक्त तेल निकालते हैं। कटे टमाटर को अपनी त्वचा पर तब तक रखें जब तक कि इसका रस तेल न सोख ले। 15 मिनट बाद ठन्डे पानी से धो लें।
  • खीरा (keera / cucumber) भी त्वचा के लिए काफी अच्छा होता है क्योंकि इसमें त्वचा को ठंडा करने, एस्ट्रिंजेंट की तथा राहत देने के गुण होते हैं। इसमें मौजूद विटामिन, मिनरल, मैग्नीशियम तथा पोटैशियम तैलीय त्वचा (oily skin care) के लिए काफी अच्छे होते हैं। सोने से पहले त्वचा पर खीरे का टुकड़ा रगड़ें। आप खीरे और नींबू का रस निकालकर उसे भी चेहरे पर लगा सकते हैं। इस विधि से आप मुहांसों तथा सनबर्न को दूर कर सकते हैं।

ऑयली स्किन / तैलीय त्वचा के लिए कुछ सरल नुस्खे (Simple Hindi tips for oily skin care)

  • दिन में दो बार अच्छे साबुन से मुह को साफ करे खास कर के तब जब आप बाहर से आये हो।
  • बाद में टोनर का प्रयोग करे। यह धुल को हटाने व खुले छिद्र को बंद करने में मददगार है।
  • ऑयली त्वचा (oily skin) वालो को पानी मिले हुए क्रीम का प्रयोग करना चाहिए। बाहर जाने से पहले सनस्क्रीन लोशन जरूर लगाये।

तैलीय त्वचा के लिए प्राकृतिक ब्यूटी टिप्स (Hindi beauty tips for oily skin)

  • नींबू के रस को ठन्डे पानी में मिला के 10 से 15 मिनट तक मालिश करे फिर इसे अच्छे फेसवॉश से धो ले।
  • एक चम्मच नींबू के रस में आधा चम्मच शहद और एक चम्मच दूध मिला ले इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगा ले और 15 मिनट बाद ठन्डे पानी से मुह धो ले।
  • बादाम को थोड़े से शहद में मिला कर मिश्रण तैयार करे। इस मिश्रण को हल्के हाथो से चेहरे पर मसाज करे बाद में ठन्डे पानी से धो ले।
  • ग्वारपाठा और ओटमील (दलिया) का स्क्रब तैयार करे इस स्क्रब को हल्के हाथो से लगाये बाद में ठन्डे पानी से धो ले।
  • एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी में आधा चम्मच संतरे या नींबू का रस मिला कर मिश्रण तैयार करे। इस मिश्रण को अपने चेहरे पे लगा ले और 15 मिनट बाद इसे साफ पानी से धो ले।

रसोई के उत्पादों द्वारा सौंदर्य उपचार

तैलीय त्वचा के घरेलू उपाय (Hindi remedies to treat oily skin – oily skin ke liye gharelu nuskhe)

1. धूप में निकलने से पहले सनस्क्रीन लोशन लगाएं क्योंकि सूर्य की किरणें त्वचा को नुकसान पहुंचाती हैं तथा इससे सेबेशियस ग्रन्थियां प्रभावित होकर अतिरिक्त तेल उत्पन्न करती हैं।

2. तले और वसा युक्त भोजन से परहेज करें क्योंकि इससे त्वचा में अतिरिक्त तेल उत्पन्न होता है।

3. उच्च कैलोरी वाले और मीठे पदार्थ भी आपके चेहरे पर अतिरिक्त तेल और मुहांसे होने की संभावना को बढ़ाते हैं।

4. ताज़ी फल और सब्ज़ियाँ तथा हल्का पका हुआ भोजन आपकी सुन्दर त्वचा (beautiful skin) के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

5. कैफीन युक्त पेय पदार्थों से परहेज करें क्योंकि इससे शरीर गरम होता है तथा त्वचा पर अतिरिक्त तेल बनता है।

6. कार्बोनेटेड पेय पदार्थों में काफी मात्रा में चीनी होती है जिससे चेहरे पर मुहांसे होने की काफी संभावना रहती है।

7. यह एक गलत बात है कि तैलीय त्वचा को पानी की आवश्यकता नहीं होती। यह समझना आवश्यक है कि तेल कोई नमी नहीं होती। त्वचा को नमी देने के लिए खूब पानी पियें। ऐसे मॉइस्चराइज़र का प्रयोग करें जो आपकी तैलीय त्वचा (oily skin) को सूट करता हो।

तैलीय त्वचा के लिए सौंदर्य नुस्खे (More beauty tips for oily face and oily skin)

हाथों और पैरों के कालेपन को दूर करने के घरेलू उपाय

1. अगर आपको एक्ने की समस्या है तो चेहरे पर स्क्रब का प्रयोग ना करें। इससे आपकी त्वचा को नुकसान ही पहुंचेगा।

2. गीला मेकअप न करें क्योंकि इससे रोमछिद्र बंद हो जाते हैं।

3. ऐसे भारी और तैलीय उत्पादों का प्रयोग न करें जो पोषक होने का दावा करते हैं।

4. चेहरे को अच्छे से धो लें तथा उसपर एलो वेरा का जेल लगाएं और सूखने दें। तरोताज़ा एवं ठंडा करने के प्रभाव के लिए आप इसे फ्रिज में भी रख सकते हैं। आप अपनी सुविधा के अनुसार एलोवेरा का यह जेल दिन में 2 से 3 बार लगा सकते हैं।

5. तैलीय त्वचा / ऑयली स्किन को चमकदार बनाने (make oily skin bright) के लिए एक सेब को छीलकर उसके छोटे टुकड़े करें। इन टुकड़ों को अपने चेहरे पर लगाएं। 1 घंटे बाद अपने चेहरे को ठन्डे पानी से धो लें। इससे आपकी त्वचा चमकदार और साफ़ (smooth and shiny skin) हो जाएगी।

6. मुल्तानी मिटटी को पानी के साथ मिलाकर एक पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को अपनी तैलीय त्वचा पर लगाएं। तैलीय त्वचा की देखभाल के लिए अच्छे से सूख जाने पर इसे धो लें।

तैलीय त्वचा से बचने के नुस्खे (Tips to avoid oily skin)

1. सूरज की रौशनी में जाने के पहले सनस्क्रीन लोशन लगाएं क्योंकि सूरज से त्वचा को हानि पहुँचती है तथा इससे सेबेशियस ग्रन्थियां प्रभावित होकर अतिरिक्त तेल उत्पन्न करती हैं।

2. वसा युक्त और तैलीय भोजन से परहेज़ करें क्योंकि इनसे भी त्वचा अतिरिक्त तेल उत्पन्न करती है। अधिक कैलोरी वाले या मीठे भोजन से भी तेल उत्पन्न होता है तथा मुहांसे बढ़ते हैं।

3. ताज़े फल और सब्ज़ियों का सेवन करने से तथा कम तेल में पके भोजन से भी त्वचा स्वस्थ रहती है।

अंडरआर्म को गोरा करने के शीर्ष घरेलू उपाय

4. कैफीन युक्त पेय पदार्थ से परहेज करें क्योंकि ये शरीर को गर्म करते हैं तथा अत्याधिक तेल उत्पन्न करते हैं।

5. कार्बोनेटेड पेय पदार्थों में काफी मात्रा में चीनी होती है जिससे तैलीय त्वचा (oily skin) में मुहांसों का ख़तरा रहता है।

6. यह एक गलत बात है कि तैलीय त्वचा (oily skin) को पानी की आवश्यकता नहीं होती। तेल किसी प्रकार की नमी नहीं है। नमी के लिए खूब पानी पियें। अच्छे मॉइस्चराइज़र का प्रयोग करें जो आपकी त्वचा को जंचता हो।

तैलीय त्वचा से मुक्ति (How to treat oily skin permanently)

1. त्वचा पर स्क्रब्स का प्रयोग न करें अगर आपको एक्ने की समस्या है, क्योंकि इससे त्वचा को नुकसान पहुँच सकता है।

2. गीले मेकअप से बचें क्योंकि ये रोमछिद्रों को जाम कर देता है।

3. ऐसे भारी और तैलीय उत्पादों से बचें जो आपको पोषण देने का वादा करते हैं।

4. एलो वेरा जेल से अपने चेहरे को अच्छे से धोएं तथा इसे सूखने दें। आप एक ताज़गी भरा और राहत भरा प्रभाव पाने के लिए इसे फ्रिज में भी रख सकते हैं। तैलीय त्वचा की देखभाल के लिए दिन में दो से तीन बार अपनी सुविधा के अनुसार एलो वेरा जेल का प्रयोग करें।

5. तैलीय त्वचा को चमकदार बनाने (making oily skin glow) के लिए सेब को छीलकर इसके छोटे टुकड़े करें। इन टुकड़ों को अपने चेहरे पर लगाएं। 1 घंटे बाद चेहरे को ठन्डे पानी से धो लें।

6. तैलीय त्वचा की देखभाल के लिए मुल्तानी मिटटी और पानी को आपस में मिलाकर एक मिश्रण तैयार करें। इस मिश्रण को तैलीय त्वचा (oil skin) पर लगाएं। पूरी तरह सूखने के बाद इसे धो लें।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday