Symptoms of baby girl during pregnancy – कैसे पता करें, आप लड़की को जन्म देने वाली हैं? गर्भ में बेटी होने के लक्षण

शरीर के मध्य भाग का बढ़ना (Carrying around the middle)

गर्भावस्था के दौरान केसर कैसे खाएं, केसर खाने के फायदे

आपके बच्चे के वज़न का आपके शरीर के किसी एक ख़ास भाग पर होना भी लड़के या लड़की में फर्क बताता है। यदि गर्भावस्था के दौरान वज़न शरीर के बीच के हिस्से में बढ़ता है, तो इसका अर्थ यह है कि आपको एक लड़की होने वाली है।  इसके विपरीत यदि शरीर के सामने की ओर वज़न बढ़ रहा हो तो यह लड़के के आने की कहानी बताता है।

नाक का आकार (Nose shape)

यह बात जानने में काफी दिलचस्प है कि गर्भावस्था के दौरान आपकी नाक का आकार भी बदल सकता है, एवं इसके बदलने से आपकी गर्भ में मौजूद संतान के लिंग का अंदाज़ा लगाया जा सकता है। यदि आपको अपनी नाक के आकार में कोई भी बदलाव नहीं दिखता है तो इसका अर्थ यह है कि आपकी संतान एक लड़की होने वाली है।

लीनिया निग्रा (Linea Nigra)

यह एक काली रेखा है जो गर्भावस्था के दौरान आपके पेट पर उभरती है। यदि यह रेखा आपकी नाभि से ऊपर पसलियों तक उभरकर आने लगे, तो इसका अर्थ है कि आपको लड़का होने की संभावना है। परन्तु यदि यह रेखा आपकी नाभि के नीचे ही समाप्त हो जाती है, तो इसका अर्थ है कि आपके गर्भ में एक लड़की है।

लहसुन से परीक्षण (Garlic Test)

लहसुन अपनी तीखी गंध के लिए जाना जाता है। लहसुन का यह बेहतरीन परीक्षण आपको इस बात का संकेत दे सकता है कि आपके गर्भ में लड़का है अथवा लड़की। लहसुन के एक टुकड़े का सेवन करें। यदि इससे आपके शरीर से कोई अलग गंध नहीं आती है एवं सब कुछ सामान्य रहता है तो यह इस बात का संकेत है कि आप एक लड़की को जन्म देने वाली हैं।

बेकिंग पाउडर परीक्षण (Baking powder test)

यह एक काफी आसान परीक्षण है जो आपकी रसोई में ही हो जाता है। एक डिस्पोजेबल (disposable) गिलास लें और इसमें एक चम्मच बेकिंग पाउडर एवं अपना मूत्र मिश्रित करें। यदि इस मिश्रण में कोई प्रतिक्रिया नहीं होती, अर्थात यह मिश्रण फ्रिज़ी (frizzy) नहीं बनता तो इस बात की काफी संभावना है कि आप एक लड़की को जन्म देने जा रही हैं।

पेट की स्थिति (Position of tummy for sign of baby girl during pregnancy)

तुरंत वेट बढ़ाने के उपाय

ऐसा माना जाता है की जिन महिलाओं के गर्भ में बेटी होती है उनके पेट का ऊपरी हिसा बड़ा होता है, गर्भ में लफड्की होने के लक्षण में इस स्थिति को अनेक बार सही भी पाया गया है। अगर महिला का के गर्भ की स्थिति पेट के ऊपर वाले हिस्से में दिखाई दे तो समझ लें कि, आप कन्यारत्न को जन्म देने जा रही हैं।

मॉर्निंग सिकनेस से जानें, लड़की होने वाली है (Morning sickness)

अगर गर्भवती महिला के पेट में लड़की हो तो यह भी माना जाता है की लड़की का जन्म होने वाला है, यह समस्या हॉरमोन के बदलाव की वजह से ही होती है जो गर्भ में कन्या के होने पर कुछ ज़्यादा हो जाती है,

चीनी गणना के अनुसार पेट में लड़की होने के संकेत (Chinese calculation, You are having a baby girl)

वैसे तो सभी समाज के अपने अलग अलग तरीके हैं जिसमें भिन्न भिन्न संकेतों के माध्यम से यह जाना जाता है की अप जिसे जन्म देने जा रही हैं वह लड़का है या लड़की। चीनी गणना के अनुसार गर्भधारण किए जाने वाले माह की संख्या में गर्भवती महिला की उम्र को जोड़ने पर यदि, विषम संख्या प्राप्त होती है तो इसका सीधा मतलब यही निकलता है की आप बेटी की आने की तैयारियां शुरू कर दें।

मीठा खाने का की इच्छा (Craving for the food)

एक पुरानी मान्यता है की अगर गर्भावस्था के दौरान माँ को तीखे या नमकीन की बजाय मीठा खाने का मन करे तो यह लड़की के जन्म के लक्षण होते हैं। यह भी शरीर में हॉरमोन की वजह से होने वाली एक इच्छा है जो गर्भ में पल रहे कन्या भ्रूण की वजह से होता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 44,877 other subscribers

धड़कनों से लगाएँ गर्भ का पता (Symptoms of having a girl by speed of the heartbeat)

अगर महिला के गर्भ में लड़की हो तो अल्ट्रासाउंड के दौरान इस बात का पता आसानी से लगाया जा सकता है, भ्रूण के हृदय की धड़कनों के माध्यम से ही यह जान पाना आसान हो गया है। अगर भ्रूण के हृदय की धड़कनें एक मिनट में 140 से अधिक हो तो यह संभावना बताई जाती है कि आपको बेटी के आने की तैयारियां शुरू कर देनी चाहिए।

चेहरे पर मुँहासे (Skin acne for how to know gender of baby)

गर्भवती महिलाओं के लिए आहार

गर्भावस्था के दौरान माँ के शरीर में कई परिवर्तन दिखाई देते हैं जो शारीरिक समस्याओं के साथ भी होते हैं। आपने भी कई बार देखा होगा कि कई गर्भवती महिलाओं को मुंहासों कि समस्या हो जाती है, यह समझा जाता है कि गर्भ में कन्या भ्रूण की वजह से जो हॉरमोन में बदलाव आता है, उसकी वजह से ही चेहरे पर पिंपल आदि निकल आते हैं जो कन्या जन्म के लक्षण हैं। साथ ही यह भी माना जाता है कि होने वाली बेटी अपनी माँ की तरह दिखती है।

मूड स्विंग या बदलता मिज़ाज (Mood swing during pregnancy)

प्रेग्नेंसी के दौरान बार बार बदलने वाल मिज़ाज बाई लोगों के लिए थोड़ा परेशानी भरा हो सकता है लेकिन इससे एक बात यह भी स्पष्ट हो जाती है की गर्भ में पल रही बच्ची की वजह से माँ के मूड पर प्रभाव पड़ रहा है जिसके पश्चात यह मूड स्विंग की समस्या से ग्रसित है। वैसे तो गर्भावस्था के दौरान मूड स्विंग की परेशानी का सामना करना पड़ता ही है लेकिन, अगर आपके पेट में लड़की हो तो यह थोड़ा ज़्यादा हो जाता है, यह भी हॉरमोन परिवर्तन की वजह से होने वाली एक समस्या है।

सोने की स्थिति  (Sleep position se baby girl symptoms in pregnancy)

प्रेग्नेंसी के दौरान अगर आपको दाहिनी करवट में सोना आरामदायक लगता है तो यह एक अच्छा संकेत है जो स्पष्ट करता है की आपकी सुंदर सी बेटी जन्म लेने वाली है।

माँ के बालों से पता चलता है बेटा होगा या बेटी (Baby gender symptoms in hindi by hair texture)

माँ बन चुकी महिलाओं का यह अनुभव है की गर्भ पालने वाला कन्या भ्रूण माँ के सौन्दर्य पर भी प्रभाव डालता है। बेटी के होने के पहले कई महिलाओं के बाल अधिक झड़ते हैं और साथ ही पतले और बेजान से दिखाई देते हैं।

स्तनों का आकार देखकर जानें, आने वाला मेहमान लड़का या लड़की (Size of the boobs for baby girl symptoms in Hindi)

गर्भ में लड़की होने का असर महिला के स्तनों पर दिखाई देता है, अगर महिला के स्तनों का आकार बहुत ज़्यादा परिवर्तित होता है तो यह लड़की होने के संकेत हैं, वहीं गर्भ में लड़का होने पर स्तनों में कोई विशेष प्रभाव दिखाई नहीं देता।

शरीर के आकार से जानें गर्भ में क्या है? (Clumpsy or graceful)

गर्भावस्था के दौरान अच्छी डाइट और बचाव उपाय

इसे भी एक संकेत माना जाता है, जब कोई महिला बच्चे के जन्म के पहले बहुत ज़्यादा मोटी या बेडौल होने के साथ आकर्षक और मोहक भी नज़र आती है तो इसे गर्भ में लड़की होने का लक्षण समझा जाता है।

मूत्र का रंग (Urine color se symptoms of baby girl in pregnancy in Hindi)

प्रेग्नेंट महिला के मूत्र का रंग बहुत से राज खोल सकता है। अगर महिला के मूत्र या यूरिन का रंग गहरा पीला हो तो यह इस बात के संकेत होते हैं की जन्म लेने वाला बच्चा कन्या है। इसके विपरीत अगर यूरिन कलर साफ़ या सफ़ेद हो तो इसे लड़के के जन्म की संभावना माना जाता है।

यह सभी संकेत और लक्षण पहले से आ रही मान्यताओं पर आधारित हैं जिसके कोई ठोस सबूत नहीं है और लोग अपने अपने अनुभवों के आधार पर ही इन बातों पर विश्वास करते हैं। तो हम भी चाहेंगे कि आप भी किसी पूर्वाग्रह के बिना अपने भविष्य के के सपने सजाएँ लड़का हो या लड़की, इस बात की चिंता छोड़कर अपने आने वाली संतान के उचित पालन पोषण पर विचार करें।