How to use hibiscus powder for hair? – गुड़हल पाउडर द्वारा बालों का प्राकृतिक उपचार

बालों की सुरक्षा बहुत से लोगों के लिए एक बड़ी चिंता का विषय होती है। हमारे आस पास के वातावरण, प्रदूषण, गलत खानपान और अनियमित जीवन शैली का हमारे बालों की सेहत पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। बालों की मरम्मत या उनकी देखभाल की कोशिशों में गुड़हल का प्रयोग बहुत फायदेमंद माना गया है।

गुड़हल के फूल तथा पत्तियों में कई मात्रा में पोषक तत्व पाये जाते हैं जो खास तौर पर बालों के लिए विशेष रूप से गुणकारी होते हैं। गुड़हल के फूल से बना हेयर मास्क बालों के लिए बहुत प्रभावकारी होता है और बाल झड़ने और समय से पहले सफ़ेद होने जैसी समस्याओं को दूर करता है। आयुर्वेदिक और यूनानी चिकित्सा पद्धति में भी जसवंत या गुड़हल (hibiscus) के फूलों के फायदे बताए गए हैं।

गुड़हल के फूलों के प्रयोग से बनाया हुआ हेयर मास्क ऑइली तथा ड्राय दोनों तरह के बालों पर प्रभावकारी होता है। गुड़हल में मौजूद कैल्शियम, राइबोफ्लेविन, फास्फोरस और विटामिन सी बालों की अच्छी सेहत के लिए उत्तरदायी होते हैं।

गुड़हल के ताजे फूलों के अलावा गुड़हल के फूल का पाउडर या चूर्ण भी बालों के लिए विशेष लाभकारी होता है। इससे हेयर मास्क बनाकर बालों के गिरने, सफ़ेद होने जैसी कई समस्याओं को दूर करने में सहायता मिलती है।

गुड़हल फूल का पाउडर बालों के लिए बहुत अधिक गुणकारी होता है, इसके कुछ सामान्य उपाय इस प्रकार हैं।

गुड़हल के फायदे, गुड़हल के पाउडर का हेयर पैक (Hibiscus hair pack or hair ke liye hibiscus ka powder)

हिबिस्कस पाउडर (hibiscus powder) या गुड़हल का चूर्ण चाय या पानी के साथ भी प्रयोग में लाया जा सकता है। इसे पर्याप्त मात्रा में लेकर साफ़ और गीले बालों में लगा लें और कुछ मिनट के लिए ऐसे ही बालों पर लगा रहने दें। इसके बाद बालों पर दही, नारियल का दूध और नारियल का तेल मिक्स कर एक मिश्रण तैयार करें और इसे बालों पर लगा लें। आधे घंटे तक लगाकर रखने के बाद पानी से धोकर साफ कर लें।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

गुड़हल के उपयोग बालों की मजबूती के लिए गुड़हल का पैक (Hair strength pack)

गुड़हल के प्रयोग से बनाया गाय आयाह हेयर पैक बालों को मजबूती प्रदान करने के काम आता है। तीन चम्मच दही और तीन चम्मच शहद लेकर इसे नारियल का दूध और 6 चम्मच एलोवेरा मिलाएँ। इस मिश्रण में लगभग 3 से 4 चम्मच गुड़हल की पंखुड़ियों का पाउडर मिलाएँ। यह हेयर मास्क इतना गाढ़ा होना चाहिए की बालों पर अच्छी तरह लगाया जा सके। इसे लगाकर शावर मास्क पहन लें और आधे घंटे के लिए बालों पर लगा रहने दें। इसे धोने के लिए हल्के गुनगुने पानी का प्रयोग करें। इसे हफ्ते में 3 बार लगाने पर बाल मुलायम और ग्लॉसी हो जाते हैं और उनमें नई चमक दिखाई देती है।

गुड़हल के पाउडर के फायदे क्लींजर की तरह (Cleanser ke liye japakusum ka powder)

हिबिस्कस पाउडर का पेस्ट बनाकर इसे बालों में क्लींजर की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है। इसे बालों पर 3 से 10 मिनट तक लगाकर रखें और बालों को धो लें। इसके साथ बालों को साफ करने के लिए रीठा और शिकाकाई का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यह बालों से अतिरिक्त तेल को निकाल कर बालों और सिर की त्वचा को साफ कने में मदद करते हैं।

हिबिस्कस एंटीडैंड्रफ हेयर पैक (Hibiscus anti-dandruff hair pack)

मेथी के दानों को रात भर के लिए भिगो के रह दें, मेथी को भिगोने के लिए पानी की जगह बटर मिल्क या मट्ठे का इस्तेमाल करें। इसकी जगह आप खट्टा दही भी इस्तेमाल कर सकते हैं। मट्ठे के साथ गुड़हल का पाउडर मिलाएँ और डैंड्रफ हटाने के लिए नियमित रूप से रोजाना इस पैक का इस्तेमाल करें। डैंड्रफ हटाने के लिए गुड़हल के पाउडर में मेहंदी या हीना के साथ नींबू का रस मिलाकर हेयर मास्क बनाएँ और इसे बालों में लगाकर 11धे घंटे तक रखें। यह हेयर पैक बालों से रूसी या डैंड्रफ को दूर करता है साथ ही यह एक अच्छे कंडीशनर का भी काम करता है।

बालों को गिरने से बचाने के लिए गुड़हल का घरेलू उपाय (Hair fall rescue)

एक कटोरी में लाल जसवंत या गुड़हल का पाउडर लें। इसमें 3 चम्मच दही और रोजमेरी एसेंशियल ऑइल कोप मिलाएँ तथा मिक्स कर लें। आप देखेंगे की इस पेस्ट का कलर बदलकर पिंक हो गया है जिसका मतलब है की यह पैक लगाने के लिए तैयार है। यह बालों को जड़ों से मजबूत बनाकर बाल झड़ने से रोकता है।

बाल उगाने का प्रकृतिक उपाय हिबिस्कस पाउडर (Hair regrowth ke liye gudhal ke powder ke labh)

गुड़हल के फूल की पंखुड़ियों से गुड़हल का पाउडर बनाया जाता है। कुछ पैक में गुड़हल के फूल और पत्तियों को समान मात्रा में मिलाकर भी गुड़हल का पाउडर बनाया जाता है। गुड़हल के पाउडर को ऑलिव ऑइल और पानी में मिलाकर पेस्ट की तरह बना लें और इसे बालों की जड़ों में मसाज करते हुये लगाएँ। इसे कम से कम 15 मिनट तक बालों की जड़ों में लगा रहने दें और उसके बाद बालों को धोकर साफ कर लें।

बालों का झड़ना रोकने के लिए जपाकुसुम के पाउडर और हीना का घरेलू इलाज (Hibiscus and henna)

4 चम्मच गुड़हल का पाउडर लें और उसमें हीना पाउडर मिलकर पेस्ट बना लें। अगर यह पेस्ट अधिक गाढ़ा हो जाये तो इसमें पानी डालकर इसे पतला किया जा सकता है। इस पेस्ट को गीले बालों पर लगाकर बालों को झड़ने से रोका जा सकता है।

झड़ते बालों का इलाज गुड़हल का तेल (Hibiscus Oil)

इस प्रक्रिया को शुरू करने के लिए सबसे पहले एक पैन में नारियल का तेल लेकर उसे गरम करें और उबलने दें। इसके बाद उबलते हुये तेल में गुड़हल का पाउडर डालें और आंच गैस बंद कर दें। तेल को छानकर अलग रखें और किसी एयर टाइट डिब्बे या शीशी में भरकर बंद कर दें। गुड़हल का तेल या हिबिस्कस ऑइल तैयार है इसे बालों पर नियमित रूप से लगाया जा सकता है।

बालों की देखभाल प्राकृतिक तरीके से गुड़हल पाउडर से बनाएँ मिश्रण (Mixture)

गुड़हल के पाउडर का प्रयोग नारियल के दूध, फ्लैक्स सीड्स या अलसी और दही आदि किसी के भी साथ किया जा सकता है। लेकिन इसे गीले बालों में ही लगाना चाहिए। इसे लगभग 15 मिनट तक लगाए रखने के बाद धोकर साफ कर लेना चाहिए।

जपाकुसुम के पाउडर के लाभ, बालों को धोने के बाद करें हिबिस्कस पाउडर का प्रयोग (After wash rinse ke liye gudhal ke fayde)

2 से 4 कप पानी में 2- 3 चम्मच गुड़हल का पाउडर मिलाएँ और इसे 20 मिनट तक भिगो के रख दें। इसके बाद इस मिश्रण को छानकर अलग करें। इसका प्रयूग बालों को धोने के लिए तथा धोने के बाद बालों को सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जा सकता है। बालों को धोने के बाद इस हर्बल टी का प्रयोग बालों पर करने से बालों में नई चमक आती है और बाल सेहतमंद होते हैं।

हिबिस्कस पाउडर के अनेक फायदे हैं। इसे एप्पल साइडर या व्हाइट विनिगर के साथ मिलाकर हेयर वॉश के बाद बालों पर इस्तेमाल किया जा सकता है। एलोवेरा जेल और ग्लिसिरिन को गुड़हल के पाउडर के साथ मिलकर बालों पर लगाने से बालों को पोषण मिलता है और बारिश के पानी से बालों को होने वाले नुकसान से भी बचाता है।

loading...