Top worst and dangerous foods you should never eat at any cost – avoid to eat – सबसे खतरनाक और बुरे फूड जिनसे बचना चाहिए

हम में से हर किसी को हेल्दी और अनहेल्दी फूड के बारे में जानकारी ज़रूर होनी चाहिए। ऐसे बहुत सी खाने की चीजें हैं जिन्हे विज्ञापन के माध्यम से हेल्दी (healthy) बताया जाता है पर वास्तव में वो स्वस्थ्य की दृष्टि से ठीक नहीं होते या ये कह लीजिये की अनहेल्दी (unhealthy) होतें हैं।

अच्छे स्वास्थ्य के लिए सुझाव, क्या आप जानते हैं की ये केवल बुरे ही नहीं बल्कि खतरनाक भी होते हैं। अगर आप सिर्फ ये सोच कर खाते हैं की, इसे खाना है या ये भी हो सकता हो कि आप इन चीजों को नज़रअंदाज़ नहीं कर पाते हों।

सबसे बुरे फूड,जिनसे बचना चाहिए – और ऐसे फूड जिन्हें कभी नहीं खाना चाहिए (Top bad food to avoid – worst foods never to eat)

कैफीन का ना करें प्रयोग (Caffeine content foods should be avoided)

कैफीन के अधिक सेवन से हमारे शरीर में कॉर्टिसोल नमक होर्मोन की मात्रा बढ़ जाती है जो हमारे स्ट्रेस लेवल को बढ़ता है। यह हमारे शरीर की त्वचा का सबसे बड़ा शत्रु है जो हमारी उम्र तो तेज़ी से बढ़ा हुआ दिखाता है साथ ही यह त्वचा को बेजान और पतला कर देता है। जिससे झाइयाँ, डिहाइड्रेशन और त्वचा में रूखापन आ जाता है।

स्टार्च से बने पदार्थ हो सकतें हैं घातक (Starch food are not good for health)

ऐसे भोज्य पदार्थ जैसे नूडल्स, केक, पेस्ट्री और पास्ता जिनमें स्टार्च होता है, सेहत और खासकर त्वचा के लिए हानिकारक होते हैं। बहुत से लोगों में मुहासों की समस्या का मुख्य कारण भी यही है। यह त्वचा की सूजन के लिए भी उत्तरदायी होता है।

अच्छा खाना जो आपके मस्तिष्क शक्ति को बढ़ाये

सेहत के लिए चीनी कम (Sugar never ever good for health)

ज़्यादातर भोज्य पदार्थों में मौजूद शक्कर  शरीर में  उपस्थित कुछ खास खनिज तत्वों की मदद से वज़न बढ़ाने में सहायक होता है। शक्कर आपकी सेहत के लिए हानिकारक तो होता ही है साथ ही यह आपकी इम्यून सिस्टम (immune system) को प्रभावित कर आपके होर्मोन्स पर प्रभाव डालता है। इस वजह से ही आपका शरीर असंतुलित हो जाता है और इससे आपके शरीर के भीतर बायोकेमिकल उठापटक होती  हैं। तथा इसका परिणाम होता है, बीमारियाँ। चीनी पोषक विरोधी होता है इसका मतलब यह शरीर के पोषक तत्वों को बाहर निकाल देता है क्योकि इस प्रक्रिया में शरीर के पोषक तत्व चीनी से रिफ़ाइन होते ही नष्ट हो जाते हैं और इस प्रक्रिया में जो मिनरल्स रह जाते हैं वो उपस्थित चीनी के अंश के साथ मिलकर शरीर में रहते हैं जो कि सेहत के लिए बहुत हानिकारक तत्व बन जाते हैं। चीनी कि वजह से हमारे शरीर का कैल्शियम नष्ट होता है जो मूत्र द्वारा शरीर से बाहर निकाल जाता है।जिसके बाद कि प्रक्रिया में हम हड्डियों में मौजूद कैल्शियम खोने लगते हैं जो ऑस्टियोपोरोसिस का कारण बनता है। अब हमें उम्मीद है कि आप अपने भोजन और पेय पदार्थों में चीनी का प्रयोग नहीं करेंगे।

ज़्यादा नमक है हानिकारक (Consume less salt very bad for good health)

क्या आप जानते हैं कि आँखों कि सूजन का मुख्य कारण क्या है? तो इसका जवाब है नमक। जी हाँ, बहुत अधिक मात्रा में नमक लेने से यह आपकी आँखों के आस पास पानी इकट्ठा कर देता है जिसकी वजह से आँखें अस्वस्थ और सूजी हुई होतीं हैं।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,330 other subscribers

एयरटाइट डिब्बों से बचें (Canned foods should be avoided)

डिब्बाबंद खाद्य पदार्थों में टॉक्सिक एसिड होता है, जो हमारी स्नायु को प्रभावित करता है और सीधे तौर पर हमारे शरीर में हृदय रोग, प्रजनन संबंधी असामान्यता, मधुमेह और कैंसर जैसे रोगों से जुड़ा  होता है। डिब्बाबंद भोजन  टमाटर के समान उच्च मात्रा में अम्लीय होतें हैं। ये BPA तत्व को आपके खाने में घोल देते हैं। डिब्बाबंद पदार्थो की जगह आप काँच के कंटेनर या फ़्रोजन चीज़ें अपना सकते हैं।

गर्भावस्था के दौरान टालने योग्य खाद्य पदार्थ

चॉकलेट है ख़तरनाक (Chocolates dangerous to health)

चॉकलेट का निर्माण पूरी तरह चीनी से होता है। अगर हम भोजम में उच्च मात्रा में शुगर का उपयोग करते हैं तो यह हमारी त्वचा को रूखा और झुर्रीदार बना देता है। यह कोलेजन बनाने की प्रक्रिया को कम करता है साथ ही स्किन की इलास्टिसिटी को भी कम कर सकता है। जिससे त्वचा सूजी और ढीली हो जाती है।

कृत्रिम मिठास है ज़हर (Artificial sweetener lead to skin problems)

आर्टिफ़िशियल मीठे में कई तरह के रसायन होते हैं जो त्वचा के लिए अच्छे नहीं होते। और ये रसायन शरीर से जल्दी बाहर भी नहीं निकलते। ये शरीर से लंबे समय तक चिपके रहते हैं और अंत में स्किन से जुड़ी समस्या बन जाते हैं।

पैक्ड फूड का ना करें प्रयोग (Avoid packed and processed food leads to nutritional)

प्रोसेसिंग की प्रक्रिया से बने फूड स्किन और फिगर के लिए बिलकुल अच्छे नहीं होते। इसे बनाने की प्रक्रिया के दौरान इसमे मौजूद एंजाइम और पोषक तत्व  टूट कर नष्ट हो जाते हैं। पोषक तत्वों की कमी के कारण ही लोगों को इस तरह के भोजन की सलाह नहीं दी जाती है। वास्तव में पैक खाद्य पदार्थ में कम मात्रा में पानी, फल और सब्जियाँ होती है जिससे शरीर का हाइड्रेशन होता है। पर जब इन्हे बनाया जाता है तो इनमे ये मात्रा कम रहती है और इसे खाने से सीधे हमारे शरीर का हाइड्रेशन कम होने लगता है और अंत में त्वचा से संबंधित रोग हो जाते हैं। अतः यह हमारे शरीर के लिए अच्छा नहीं है।

केमिकल से भरे पॉपकॉर्न (Microwave popcorn with full of chemical)

माइक्रोवेव पॉपकॉर्न में ऐसे केमिकल होतें हैं जो हमारी अंतःस्त्रावी प्रणाली को प्रभावित करते हैं। ये बांझपन, थाइराइड, कैंसर, ट्यूमर, और हमारे प्रतिरक्षा तंत्र से जुड़े होते हैं। तो ऐसे खाने की बजाए आप स्टोव या एयरफ्रायर का उपयोग करें, ये सेहत के लिए भी अच्छा होता है। आपको फास्टफूड और जंक फूड से भी सतर्क रहना चाहिए। इनमे जो आवरण या कवर होता है उसमे भी कई रसायन होतें हैं। जो विषाक्त होतें हैं साथ ही सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं।

खाने की आम खराब आदतों से बचने के लिए सुझाव

नॉन ओर्गेनिक फूड ना लें (Avoid non –organic food that blocks healthy skin hai junkfood ke nukshan)

आपको यह जानकार आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि नॉन ओर्गेनिक फूड में पेस्टिसाइड, हर्बीसाइड, फंगस और मोम होते हैं। इसमे मौजूद कीटनाशक हमारे स्किन को नुकसान तो पहुंचाते ही हैं साथ ही उसे अस्वस्थ भी करते हैं। इसीलिए हमें हमेशा ही त्वचा कि सेहत और पोषण के लिए पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ ही चुनने चाहिए।

होर्मोंस को असंतुलित करता है मांस (Meat secret leads to imbalance hormones)

हमारे यहाँ उद्योग को बढ़ाया देने की मानसिकता की वजह से कुछ लोग खाने में काकटेल, विविध प्रकार के होर्मोन, स्टेरॉइड और एंटिबायोटिक्स को मिलने में लिप्त हैं। इन्हे मिलाने के अलावा भी इसे हमारे आहार में अतिरिक्त से भी ज़्यादा मात्रा में मिला दिया जा रहा है जो प्राकृतिक रूप से भी सही नहीं है। ये हमारे शरीर में वसा को तेज़ी से बढ़ाते हैं और जब हम ऐसे मांस का प्रयोग अपने खाने में करते हैं तो यह शरीर में जाकर हमारे होर्मोंस को असंतुलित कर देता है।

वैसे भी मांस (Animal meat) हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता। ये तेजी से पाचन की क्रिया नहीं कर पाते  और कई बार हमारे शरीर के अंदर ही अटके रह जाते हैं। ज़्यादा मात्रा में लिया गया पानी की पर्याप्त मात्रा इसे शरीर से बाहर निकालने में मदद करती है। तो अपने आहार में पानी व फाइबर की मात्रा का विशेष ध्यान रखें।

डेयरी उत्पादों पर ध्यान दें (Take care about dairy products as rich in fat)

कई बार हम डेयरी उत्पादों की वजह से कई समस्याओं का सामना करते हैं। दूध देने वाले पशुओं को कई बार होर्मोन दिया जाता है। जिसमे से कुछ होर्मोंस दूध के साथ उबल कर हमारे शरीर में चले जाते हैं, जो हमारी सेहत को कई तरह से हानि पहुंचाते हैं। आइसक्रीम, दही, पनीर, आदि कुछ नुकसानदायक बैक्टीरिया को हमारे शरीर में पहुंचा देते हैं।

loading...