Treatment of Asthma in Hindi – अस्थमा का इलाज

अस्‍थमा एक आम बीमारी है जिसमें सांस लेने में और छोड़ने में तकलीफ होती है। इसमें मरीज जोर जोर से खांसने लगता है एवं मरीज को ऐसा महसूस होता है जैसे उसका सांस अटक रहा हो। दमे के केस में मरीज को सांस बाहर छोड़ने में ज्यादा तकलीफ होती है। शश्वन प्रणाली में सूजन आ जाने के कारण ऐसा होता है। जिस वक़्त मरीज को दमे का दौरा पड़ता है उस वक्त उसकी हालत बहुत हीं ख़राब हो जाती है और उसे तुरंत अस्थमा का इलाज किया जाता है अन्यथा कुछ भी हो सकता है। अस्‍थमा कई कारणों से हो सकता है जैसे ख़राब मौसम, धूल, धुंआ जैसे अलर्जन्स, अलेर्जिक खाद्य पदार्थ, इत्र इत्यादि।

इन आयुर्वेदिक टिप्स से आप भी पा सकते हैं अपने अस्थमा पर काबू

  1. तुलसी के 20 पत्तों को पानी से धो कर फिर उन पर कालीमिर्च पाउडर छिड़क कर खाने से श्वास रोग से आराम मिलता है।
  2. छिलके सहित एक केले को हल्की आंच पर भुन लें उसके बाद इस केले का छिलका उतार कर इस पर काली मिर्च का पाउडर बुरक कर खाने से अस्‍थमा रोग में फायदे प्राप्त होता है।
  3. अस्‍थमा रोग होने पर एक चम्मच हल्दी और दो चम्मच शहद को मिलाकर चाट लेने से असरदार फ़ायदा नज़र आता है।
  4. अस्थमा का इलाज, तुलसी के पत्तों का पेस्ट दो चम्मच शहद के साथ मिलाकर सेवन करने से अस्थमा रोग चला जाता है।
  5. अस्‍थमा रोग की अचूक दवा है 10 ग्राम मेथी के बीज को एक गिलास पानी मे उबाल लें और जब यह पककर तीसरा हिस्सा रह जाएं तो ठंडा करके इसे पी लें। यह अस्थमा का इलाज अनेकों रोगों में फ़यदेमंद है।
  6. चार सूखे अंजीर को रात में पानी मे भिगों कर सुबह खाली पेट सेवन करने से श्वास नली में जमा बलगम धीरे धीरे बाहर निकलने लगता है। जिससे अस्‍थमा रोगी को राहत मिलती है।
  7. अस्थमा रोग की रामबाण औषधि सहजन की पत्तियों को उबालकर छान लें और उसमें चुटकी भर नमक, एक चौथाई नींबू का रस और काली मिर्च पाउडर मिलाकर पी लें। कुछ ही दिनों में फायदे दिखने लगेगा।
  8. शहद एक ऐसी औषधि है जिसकी सुगंध ही अस्‍थमा रोगी को फ़ायदा पहुँचाती है। इसके लिए एक शहद भरे बर्तन को रोगी के नाक के नीचे रखें और शहद की गंध श्वास के साथ लें, इससे अस्‍थमा में राहत मिलती है।
  9. अस्थमा का इलाज लहसुन की 10 कली को 100 मिली दूध में उबाल लें और इस मिश्रण को सुबह-शाम लेने से अस्‍थमा रोगी के स्वास्थ्य को फायदे मिलता है।