Hibiscus leaves for hair care in Hindi – बालों की देखभाल के लिए गुड़हल की पत्तियां

अब आप जान सकते हैं की गुड़हल की पत्तियों (gurhal ki patti) के द्वारा गुडहल का तेल और शैम्पू केसे बनाये जा सकते है। यदि प्रक्रिया को सही तरीके से दोहराया जाये तो आप आसानी से शैम्पू, तेल और कंडीशनर पा सकते है। यहाँ पर कुछ आसान तरीको को बताया गया है जिसके द्वारा आप इसे बना सकते है। गुड़हल के फायदे, लोग प्राचीन पत्थर और मूसल का प्रयोग इस अदभुत तेल को बनाने में करते है।

इस आयुर्वेदिक पदार्थ का इस्तेमाल कीजिये और 2 से 3 हफ्ते के बाद अपने बालो को देखिये। निश्चित ही आप अपने बालो में कमाल का परिवर्तन पायेगी जिसके लिए आप लम्बे समय से सोच रही थी। हो सकता है शुरू में लोगो को बाल आकर्षक न दिखे और फर्क महसूस ना हो। गुड़हल के फायदे, लेकिन जब आप अपने बालो को छू कर देखेंगी तो फर्क अपने आप पता चल जायेगा।

गुड़हल (gudhal) हेयर केयर तेल बनाने के लिए सामग्री (how to make hibiscus oil)

  • नारियल तेल
  • गुड़हल के फूल
  • एक साफ कंटेनर / बोतल
  • गुड़हल के पत्ते
  • प्राचीन पत्थर और मूसल

बनाने की विधि (How to make?)

गर्मियों में महिलाओं की बालों की देखभाल के नुस्खे

गुडहल का तेल / हेयर केयर तेल बनाने के लिए आप गुड़हल के फूलो और पत्तियो को तोड़ कर पिस ले। यह आप मूसल की सहायता से कर सकते है। अब एक साफ बर्तन ले और उसे 1/2 नारियल तेल से भर दे। अब इसमें पीसी हुई पत्तिया और फूलो को डूबा दे तथा 4 से 5 मिनट के लिए उबाल आने दे। आप इस मिश्रण को ठंडा होने के लिए कुछ देर छोड़ दे।

इस्तेमाल करने की विधि (How to use hibiscus oil)

इसे इस्तेमाल करने के लिए एक विशेष प्रक्रिया भी है जेसे ही तेल ठंडा होता है इसे आसानी से सिर पर लगाया जा सकता है। आप पर्याप्त समय देने के लिए सिर पर धीरे धीरे मालिश कर सकती है। यह बालो की जड़ में जा कर उचित पोषण प्रदान करेगा। जब आप निश्चित हो जाये की तेल बालो की जड़ में चला गया है तब अपने बालो को 10 से 15 मिनट के लिए तोलिये से लपेट दे और बिलकुल हाथ न लगाये। और फिर गर्म पानी एवं शेम्पू से बालो को अच्छी तरह धो ले।

हिबिस्कस शेंपू बालो के लिए (Hibiscus hair shampoo)

गुडहल के उपयोग, आप गुड़हल से बालो के लिए शैम्पू भी घर पर बना सकते है। इसके लिए आप गुड़हल की पत्तियो को प्राचीन पत्थर के द्वारा पिस ले। एक छोटी कटोरी में गुड़हल की पत्तिया ले और बारीक़ पेस्ट बनाये। अब इसमें कुछ जैतून का तेल मिलाये पेस्ट गाढ़ा हो जायेगा।

लगाने की विधि (How to apply hibiscus shampoo)

जब शैम्पू तैयार हो जाये तब अगली प्रक्रिया के तहत इस पेस्ट को अपने पुरे बालो पर फेला ले शैम्पू की तरह। इसमें जैतून का तेल मिला हुआ है तो यह झाग नहीं बनाएगा जब की इसे तेल की तरह लगाया जा सकता है। याद रहे की पेस्ट जड़ से लेकर बालो तक सभी जगह लग जाये। आप इसे 15 मिनट के लिए रख सकते है और फिर गर्म पानी से इसे अच्छी तरह धो ले।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

जपाकुसुम की पत्तियाँ, बालों के लिए मास्क (Hibiscus hair mask)

बालों का झडना रोकने के लिए सर्वोत्तम फल

अब आप सभी तरह के बालो के लिए उपयुक्त मास्क की प्रक्रिया पा सकते है। अगर आप बाजार में बालों की देखभाल के उत्पादों के विभिन्न प्रकार से  बहुत डरते हैं क्यों की यह हानिकारक होते है। तो आपको  इस विशेष बालो के मास्क को लगाने की जरूरत है। यह बहुत ही असरदार उपचार है उनके लिए जो अपने बहुत से बालो को वातावरण में पाए जाने वाले प्रदुषण और धुल की वजह से खो रहे है।

मास्क बनाने के लिए सामग्री – एक बर्तन, गुड़हल के लाल फूल, मेहँदी (मेहँदी का तेल) और दही। आपको कुछ फूलो को 2 दिन के लिए धुप में सुखाना है। इसमें कोई भी नमी नहीं होना चाहिए। आप फूलो की पंखुडियो को पिस ले जब वह अच्छी तरह से सुख जाये। आप इसे पाउडर भी बना सकती है, मास्क बनाने के लिए, एक बर्तन ले और उसमे 3 बड़े चम्मच दही डाल दे और एक चम्मच गुड़हल के फूलो का पाउडर। जब यह पाउडर दही में घुल जायेगा आपको हैरानी होगी की फुल गुलाबी कलर छोड़ रहे है। अब आप इसमें महंदी EO (मेहँदी का तेल) के 2 बूंद डाले। आप सभी सामग्री को मिला ले तथा जब यह पिंक कलर छोड़ने लगे तब आपका मिश्रण तैयार हो जायेगा। अब इसे अपने बालो में लगा ले और 30 मिनट बाद गुनगुने पानी से धो ले।

जपाकुसुम के मास्क – देसी इलाज (Desi ilaaj for hair masks with hibiscus leaves in Hindi )

जपाकुसुम और जैतून का तेल (Hair oil with hibiscus leaves)

गुडहल के फूल के फायदे, आप अब जपाकुसुम की पत्तियों और फूलों के साथ जैतून का तेल मिलाकर इसे शैम्पू की तरह प्रयोग में ला सकते हैं। इस मिश्रण के लिए आपको 3 से 4 जपाकुसुम के फूल चाहिए होंगे। इस पेड़ की पत्तियों की भी एक समान पत्तियों की मात्रा लें। आप मूसल और मोर्टार की मदद से जपाकुसुम की पंखुड़ियों को मसल सकते हैं। एक बार ये हो जाने पर इस पेस्ट को महीन बनाने के लिए इसमें जैतून के तेल की कुछ बूँदें और थोड़ा पानी डालें। अब इस मास्क को बालों में इस तरह लगाएं कि बालों के जड़ों तक ये पहुँच जाए। इस पैक को 15 मिनट तक रखें और फिर धो दें।

जपाकुसुम और प्याज (Hibiscus and onion for hair)

ठण्ड में बालों की समस्या तथा उनके समाधान

हम सभी जानते हैं कि प्याज के प्रयोग से बाल स्वस्थ रहते हैं। जपाकुसुम के पत्ते तथा फूल भी बाल झड़ने से रोकने में अहम भूमिका निभाते हैं। अब आप इन दोनों पदार्थों को मिलाकर बालों को स्वस्थ और सुन्दर बना सकते हैं। एक ताज़ा प्याज लें तथा इसे छीलें। इसके बाद इसे ग्राइंडर में डालकर इसका गूदा बनाएं। इस गूदे से पानी को निचोड़ें तथा रस को एक पात्र में रखें। इसमें जपाकुसुम के पत्तों का रस डालें तथा अच्छे से मिलाएं। इस पैक को बालों पर लगाएं और असर देखें।

जपाकुसुम और आंवला (Hibiscus & amla oil for long strong hair)

आंवला का प्रयोग सदियों से बालों के उपचार के लिए किया जाता रहा है। इस फल को कच्चा खाने से भी बालों को पोषण मिलता है तथा चेहरे पर चमक आती है। अगर आप आंवले के रस के साथ जपाकुसुम की पत्तियों का रस मिलाएं तो आपके बाल बिलकुल स्वस्थ हो जाएंगे तथा आपको बाल झड़ने की समस्या से भी मुक्ति मिलेगी।

अदरक और जपाकुसुम के पत्ते (Ginger and hibiscus leaves for hair regrowth)

लोगों को अकसर बाल झड़ने के साथ बालों के पतले होने की समस्या भी पेश आती है। बालों को पतले होने से बचाने के लिए अदरक एक बेहतरीन विकल्प है। इस हेयर पैक को बनाने के लिए अदरक की जड़ का छोटा सा भाग लें। इसे पीसें तथा इसका रस निकालें। अब जपाकुसुम के फूल से रस निकालें तथा इसे अदरक के रस के साथ मिलाएं। इस मिश्रण को बालों पर अच्छे से लगाएं जिससे एक भी बाल ना छूटें। अगर आप इसका प्रयोग रोज़ाना करें तो बालों का दोबारा उगना भी संभव है।

जपाकुसुम/गुड़हल की पत्तियां और करी पत्ते (Hibiscus and curry leaves to stop hair fall – gudhal hair pack)

सर्दियों के मौसम में बालों की देखभाल

प्रकृति में ऐसी कई जड़ीबूटियां हैं जो बालों को स्वस्थ रखने में काफी अहम भूमिका निभाते हैं। इसका एक और उदाहरण जपाकुसुम और करी पत्तों का मिश्रण है। आप जपाकुसुम की पत्तियों, करी पत्तों और नारियल तेल की कुछ बूँदें मिलाकर एक पेस्ट बनाएं। इसे अच्छे से इस तरह मिलाएं कि एक भी पत्ती न दिखे। एक बार महीन पेस्ट बन जाने पर इसे बालों में अच्छी तरह लगाएं और किसी भी हिस्से को न छोड़ें। क्योंकि इसमें नारियल तेल मिला हुआ है, अतः यह बालों की मसाज काफी अच्छे से करता है।

loading...