Benefits of mustard seeds in Hindi – सरसों के बीज के आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ

विभिन्न क्षेत्र से भारतीय, खासकर बंगाल के लोगों को सरसों के बीज का उपयोग करने की प्रवृत्ति है। सरसों के तेल के साथ साथ सरसों के बीज(sarson ka beej) का उपयोग करने से सब्जी में एक अद्भुत स्वाद मिलता है। उबलते तेल में सीधे सरसों के बीज डालने से सब्जी का स्वाद बढ़ता है। सरसों के बीज का उपयोग करके बनाई मछली वास्तव में बहुत स्वादिष्ट होती है। महिलाएं अपने परिवार के लिए नियमित रूप से सरसों के बीज की मदद से स्वादिष्ट व्यंजन बनाती हैं। सरसों के बीज के स्वास्थ्य लाभ पर एक नज़र डाल लें।

एक ऐसा समय था जब भारतीय रसोइयों में खाना बनाने के लिए सरसों के तेल का प्रयोग किया जाता था। आजकल स्वास्थ्य कारणों की वजह से हम रिफाइंड तेल (refined oil) का प्रयोग करते हैं। पर पुराने समय में सरसों के तेल के भी कई फायदे थे।

अगर आप कभी सरसों का तेल खाने वाले और रिफाइंड तेल खाने वाले व्यक्तियों के स्वास्थ्य की तुलना करें तो आप पाएंगे कि सरसों के तेल का सेवन करने वाले व्यक्ति की सेहत ज़्यादा अच्छी है। नीचे सरसों के बीज के कुछ बेहतरीन गुण दिए गए हैं। सरसों ठण्ड के समय उगाई जाने वाली एक फसल के रूप में जानी जाती है। और चीन, भारत और कनाडा में पाई जाती है।

सरसों के बीज के उपयोग और लाभ (Benefits and uses of mustard seeds)

सरसों के लाभ – गठिया का इलाज (Treating arthritis)

अब आप गठिया के इलाज में सरसों के बीज का उपयोग कर सकते हैं। आमवाती गठिया से पीड़ित व्यक्तियों को सरसों के बीज के सेवन से मैग्नीशियम और सेलेनियम मिलता है जिससे गठिया कम होता है।

सरसों के लाभ – बंद नाक या गला (Treat respiratory congestion)

अब आप आसानी से बंद नाक या गला सरसों के बीज इस्तेमाल करके साफ़ कर सकते हैं। सरसों की तेज गंध से नाक और गला साफ़ होता है।

सरसों के फायदे – मल त्याग (Bowel movement)

अजवाइन के गुण

सरसों के बीज(sarson ke seeds) में तंतु होते हैं। आपको सरसों के बीज के साथ बनी हुई सब्जियां और मछलियाँ खाने से अद्भुत मल त्याग मिलेगा। सरसों के फायदे, अगर आपको कब्ज की समस्या है और वह समय पर ठीक नहीं होगी तो आगे चलकर यह गंभीर समस्या बन सकती है। लेकिन सरसों के बीज की मदद सेमल त्याग प्रभावी तरीके से हो जाएगा।

सरसों के गुण – माइग्रेन की रोकथाम (Stopping migraine)

माइग्रेन कई व्यक्तियों के लिए एक गंभीर समस्या बन गया है। भोजन में मैग्नीशियम की कमी माइग्रेन होने का मुख्य कारण में। सरसों के बीज में अच्छी मात्रा में मैग्नीशियम होता है जिससे आपके शरीर में मैग्नीशियम के स्तर की वृद्धि होती है। ओमेगा -३ फैटी आम्ल माइग्रेन की समस्या के इलाज में लाभकारी है।

सरसों के गुण – दमा (Asthma)

अगर आप दमा से पीड़ित हैं तो सरसों के बीज एक अच्छा उपाय है। सरसों में मैग्नीशियम और तांबे के रूप में खनिज शामिल हैं जो दमा के हमले से इलाज पाने के लिए काफी लाभकारी है।

सरसों से त्वचा के लाभ (Skin benefits of mustard seeds)

सरसों के बीज के लाभ – त्वचा का जलयोजन (Skin hydration)

आप सरसों के बीज मसलकर घृतकुमारी के अर्क के साथ त्वचा पर लगा सकते हैं। यह पैक आपकी त्वचा से सभी दोष हटा देगा।

सरसों के बीज के लाभ – संक्रमण के साथ लड़ना (Fighting with infection)

आपकी त्वचा में मुक्त कणों के प्रवेश से आप संक्रमण के विभिन्न प्रकारों से पीड़ित हो सकते हैं। लेकिन सरसों के बीज की वजह से संक्रमण के सभी प्रकार से लड़ने में मदद मिलती है। आपको अपने संक्रमण के इलाज के लिए डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं है। दरअसल यह सरसों के बीज के माध्यम से संभव हो जाएगा।

सरसों के बीज के गुण – त्वचा को रगड़ना (Scrubbers)

काजू खाने के स्वास्थ्य लाभ

अपने शरीर से मृत खाल निकालने के लिए बाजार में कई प्रकार के स्क्रबर मिल सकते हैं। सरसों के बीजों को थोडा मसलकर आपकी त्वचा पर लगाएं। धीरे से अपनी त्वचा पर रगड़कर मृत त्वचा की सभी परतों को हटा दें।

सरसों के बीज के गुण – बढती उम्र का असर कम करना (Break in aging process)

हर व्यक्ति जीवन में कभी न कभी बुढा होता है। लेकिन उम्र बढ़ने की प्रक्रिया से उसे बहुत निराशा होती है। 10 साल पहले खिंची अपनी तस्वीर देखकर वह उदास हो सकता है। सरसों के बीज की मदद से आप आसानी से उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर सकते हैं।

सरसों के बीज के फायदे – बालों के लिए सरसों के बीज का उपयोग (sarson ke beej ke fayde for hair)

अपने बालों की अनुचित देखभाल, प्रोटीन की कमी और प्रदूषण से बालों का बढ़ना प्रतिबंधित हो गया है। आप फिर से अपने बालों का विकास शुरू करना चाहते हैं तो सरसों के बीज प्रभावी तरीकों में से एक हो जाएगा।

आपके बाल भले ही लंबे हों पर बालों की ताकत आपके बालों के विकास से जुडी होनी चाहिए। बालों का अचानक टूटना आज महिलाओं के लिए काफी आम हो गया है। अपने बालों को मजबूत बनाने के लिए सरसों के बीज से मदद लेने की जरूरत है। आप निश्चित रूप से उपचार प्रक्रिया में सरसों के बीज उपयोग करने के बाद बालों का गिरना कम हुआ देखेंगे।

सरसों के तेल के स्वास्थ्य गुण (Health benefits of mustard seeds)

सरसों के बीज में कई प्रकार के स्वास्थ्य गुण होते हैं। यह विटामिन और खनिज पदार्थों का काफी अच्छा स्त्रोत होता है। हर व्यक्ति को पर्याप्त मात्रा में विटामिन और अन्य पोषक पदार्थों की आवश्यकता होती है। अपने भोजन में इसको शामिल करने के बाद आप अपने शरीर से ऑक्सीडेंटस (oxidants) को भी दूर कर सकते हैं। याह डाइटरी फाइबर (dietary fiber) से भी भरपूर होता है जो हमारे शरीर के लिए काफी ज़रूरी होते हैं। सरसों के बीज काफी मात्रा में खनिज पदार्थों और विटामिन्स से भरे रहते हैं।

काला नमक के स्वास्थ्य लाभ

स्नायु तंत्र के लिए अच्छा (Good for nervous system)

आज के दौर में लोग कई तरह की स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित रहते हैं। स्नायु तंत्र की समस्या ऐसी ही एक परेशानी है, जिसके शिकार लोग अपनी जीवनशैली में आए परिवर्तन और तनाव का दौरा पड़ने की वजह से होते हैं। सरसों के बीज विटामिन बी काम्प्लेक्स (vitamin B complex) से भरपूर होते हैं, जो कि शरीर के लिए काफी ज़रूरी होता है। यह ख़ास विटामिन आपके स्नायु तंत्र को भी सुचारू रूप से चलाने में आपकी मदद करता है। यह शरीर के मेटाबोलिज्म (metabolism) को भी नियंत्रित करता है। आज ही इसका प्रयोग करें और स्नायु तंत्र पर इसका असर खुद देखें।

मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द से मुक्ति दिलाए (Relieves muscle pain and arthritis)

सरसों के बीज में मैग्नीशियम और सेलेनियम (magnesium and selenium) दोनों होते हैं। इसमें ताप पैदा करने वाले और जलनरोधी गुण दोनों मौजूद होते हैं। सरसों के बीज और पानी को मिश्रित करके एक पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को अपने जोड़ों तथा मांसपेशियों के उस भाग पर लगाएं जहां पर आपको दर्द हो रहा है। ये पदार्थ काफी ताप पैदा करते हैं, जिसके फलस्वरूप आपके शरीर की सूजन काफी कम होती है। इससे मांसपेशियों का घनत्व बढ़ जाता है और इससे दर्द होता है। पर सरसों के बीज का नुस्खा मांसपेशियों की अकडन को नर्म करने में काफी काम आता है।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday