Natural remedy for indigestion with jeera powder – video – बदहजमी का इलाज प्राकृतिक नुस्खे से जीरा पाउडर के उपयोग से करें – विडियो

बहुत से भारतीय रसोई घर में जीरे के पाउडर का उपयोग किया जाता है। इसके उपयोग से खाने में बेहतरीन फ्लेवर प्राप्त होता है। फ्लेवर के अलावा इसके बहुत से स्वास्थय सम्बंधित लाभ भी है। सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थय लाभ इसका ये है की इसके उपयोग से बदहजमी का इलाज होता है। आज कल ज्यादातर लोग पेट से सम्बंधित समस्या से गुज़र रहे है और यही नहीं उनको पचत में भी बहुत परेशानी का सामना करना पड़ता है। ये सब वातावरण में मिलावट और प्रदूषण के कारण हो रहा है जिस से लोगो को इस बदहजमी की समस्या से गुज़रना पड़ रहा है। लेकिन जीरा पाउडर में कुछ ऐसे गुण है जिनसे ये बदहजमी उत्पन्न करने वाले बैक्टीरिया का नाश करते है।

कैसे जीरा पाउडर बदहजमी की समस्या का इलाज करता है (How cumin powder to treat the problem of indigestion)

प्रक्रिया (Procedure)

यूरिक एसिड से भरपूर खाने कौन से है?

1 चमच रोस्ट किये हुए जीरा का पाउडर लें और इसे 1 ग्लास गरम पानी में मिलाए। इन्हें अच्छे से मिलाने के बाद, इसका सेवन कर लें।

बदहजमी से बचने के लिए सुझाव (Preventive tips to indigestion)

  • एक समय पर भारी खाना ना लें। खाने को कम मात्रा में खाए।
  • धीरे से खाए और खाने का स्वाद लें। खाने को निगले मत।
  • उन खानों से दूर रहे जिसमे भारी एसिड हो।
  • शराब का सेवन कम कर दें, हो सके तो बंद कर दें।
  • बदहजमी का एक कारण स्ट्रेस भी है इसलिए अपने लाइफ स्टाइल को बदलिए और एक स्ट्रेस फ्री लाइफ को जीए।
  • उन टाइट फिटिंग के कपड़ो को दूर रखें जिस से पेट दबता हो और जो पाचन तंत्र के लिए एक दिवार बन गया हो।
  • खाना खाने के तुरंत बाद ना लेटे।
  • सोने के लिए जाने से 3 घंटे पहले रात का खाना खा लें।

पाचन के लिए जीरा जल कैसे बनाए? (How to prepare Jeera jal for digestion?)

इस जीरे के पाउडर के नुस्खे को बनाने के लिए आपको नीचे दिए गए सामग्री की आवश्यकता पड़ेगी:

  • जीरा पाउडर / जीरे का बीज
  • पानी
  • बर्तन
  • गैस ओवन

बनाने की विधि (Preparation)

अगर आपके पास जीरे का पाउडर है तो आप इसका उपयोग कर सकते है लेकिन जीरा जल बनाने के लिए सबसे प्रभावशाली होगा की आप जीरे के बीज का उपयोग करें। आपको एक छोटा बर्तन लेना है और इसमें जीरे के बीज को डालना है और आंच पर रखना है। आंच को कम रखें। अब इसे चमच से हिलाए और इसे बेक होने दें। आप इसमें एक बेहतरीन फ्लेवर को प्राप्त कर सकते है। अब ग्राइंडर में इसको पीस लें और इसका पाउडर बना लें।

अब अगला स्टेप ये है की आपको एक चमच जीरा का पाउडर लेना है और इसे एक ग्लास पानी में डालना है और इसे उबालना है। जब तक पानी भूरे रंग का ना हो जाए तब तक इसे उबालते रहें। अब आपको गैस को बंद करना है। अब एक ढ़कन से इसे ढक दें। अब इसे ठंडा होने दें और बदहजमी से छुटकारा पाने के लिए इसको पी लें। इस से आप सभी प्रकार के पेट सम्बंधित समस्या से दूर रह सकते है।

अन्य लाभ (Other benefits)

मांसपेशियों में ऐंठन से बचने के लिए श्रेष्ठ उपाय

बदहजमी की समस्या के अतरिक्त आप इस जीरे के बीज से अनेक लाभ भी प्राप्त कर सकते है। इस से आप कब्ज को भी दूर कर सकते है। गैसत्रोइंटेसटाइनल ट्रैक्ट (gastrointestinal tract) में मौजूद एंजाइम को ये उत्तेजित करता है। इसे प्राकृतिक लैक्सेटिव (natural laxative) भी कहते है जो मल त्याग (bowel movement) को नार्मल करने में सहयोगी है।

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday