How to celebrate Diwali festival & Dhanteras in Hindi – कैसे मनाये दीवाली और धनतेरस? दिवाली पूजा कैलेंडर, करें दीपावली और धनतेरस की खरीददारी

Diwali

दिवाली या दीपावली हिंदुओं का एक बड़ा और बहुत ही खास त्योहार है। हिन्दू ही नहीं बल्कि बाकी सभी धर्मों को मानने वाले लोग भी दिवाली पर्व का का इंतज़ार करते हैं और खास तौर पर बच्चों का यह एक पसंदीदा पर्व है जिसकी राह वे साल भर देखते हैं। इस दौरान देश के ज़्यादातर स्कूलों में छुट्टियाँ दी जाती है और बच्चे इस पांच दिन के त्योहार को हर्ष उल्लास के साथ मिलकर मानते हैं।

दीपावली का महत्व – दिवाली पर्व का महत्व (Diwali in Hindi – diwali ka mahatva)

दीपावली दीपों या रोशनी का उत्सव है, इसीलिए इसे दिवाली या दीपावली का नाम दिया गया है। दीपावली शब्द का संधि विच्छेद करें तो यह इस प्रकार होता है, दीप + अवली (पंक्ति) = दीपावली। यानि दीपों की पंक्ति या कतार। दीपावली में घर की सजावट दीपों से इस प्रकार की जाती है की घर का हर कोना प्रकाशमान हो जाता है। कहते हैं की अंधेरे को प्रकाश की सहायता से हराया जा सकता है इसी बात को ध्यान में रखकर कोने कोने में लोग दीपक जलाकर अपने घर का अंधेरा दूर करने का प्रयास करते हैं। दीपावली से जुड़ी एक और धार्मिक मान्यता यह है की प्रकाश में लक्ष्मी का वास होता है, इसीलिए लोग दिवाली के दिन लक्ष्मी के स्वागत के लिए दीपों की कतार बनाते हैं और माँ लक्ष्मी का स्वागत करते हैं। हर कोई चाहता है कि, उनके घर में सदैव माँ लक्ष्मी अर्थात धन और वैभव का वास हो। इन सभी के साथ दीपावली मनाने के कई और भी कारण हैं जो हमारे धर्म और संस्कृति से जुड़े हैं जिनके बारे में हम आपको विस्तार से बताने जा रहे हैं।

दीपावली 2016, दिवाली कब है? (Diwali 2016 Date – Diwali Kab Hai?)

भारत में इस साल 30 अक्टूबर 2016 के दिन दिवाली का त्यौहार मनाई जा रही है। वैसे तो दीपावली पूरे पाँच दिन का पर्व है जिसकी शुरुआत धनतेरस से होती है। धनतेरस पर लोग खास तौर पर गहने और बर्तनों कि खरीददारी करते हैं। धनतेरस पर सोने चाँदी के गहनों के साथ रसोई में प्रयोग किए जाने वाले बर्तनों की खरीददारी का विशेष महत्व होता है। अब तो आप घर बैठे ही धनतेरस की खरीददारी कर सकते हैं। ऑनलाइन साइट्स पर आकर्षक ऑफर्स के साथ आप अपनी पसंदीदा चीज़ें आकर्षक कीमत पर आसानी से प्राप्त कर पाएंगे साथ ही अपने किसी रिश्तेदार या दोस्तों को आप उपहार के रूप में भी ये चीज़ें दे सकते हैं। दिवाली और धनतेरस की खरीददारी के लिए नीचे दिये गए इन विशेष चीजों का चुनाव आप कर सकते हैं।

धनतेरस पर क्या खरीदें? (Dhanteras Exclusive Gifts)

सोने के सिक्के के साथ करें धनतेरस की खरीददारी (Dhanteras Buying gold coin)

71fxeyb7aal-_ul1500_

[इसे आनलाइन खरीदें]

धनतेरस की जाने वाली खरीददारी में सोने के सिक्के सबसे आम हैं। लोग अक्सर पूजा में उपयोग के लिए या किसी को भेंट स्वरूप देने के लिए सोने या चाँदी के सिक्कों की खरीददारी करते हैं। आप भी ऑनलाइन सोने का यह सिक्का खरीद सकते हैं। 24 कैरेट सोने से बना यह पाँच ग्राम का गोल्ड क्वाइन है। यह रोज़ गोल्ड का क्वाइन धनतेरस में सोने की खरीददारी के लिए उपयुक्त हो सकता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

धनतेरस पर शगुन के लिए खरीदें सिल्वर क्वाइन (Silver coin for Dhanteras festival 2016)

5-gm-999-purity-lakshmi-sdl728497379-1-4c4ed

[इसे आनलाइन खरीदें]

यह चाँदी का सिक्का 10 ग्राम का यह जिसमें लक्ष्मी, गणेश और सरस्वती अंकित है। धनतेरस पर इस चाँदी के सिक्के की खरीददारी को बहुत महत्व दिया जाता है। लोग इस प्रकार के सिक्के खरीद कर दिवाली के अपने पूजा स्थान व तिजोरी में रखते हैं, ऐसा माना जाता है कि, इससे घर में धन व समृद्धि बनी रहती है। आप इसे दिवाली में उपहार के रूप में भी दे सकते हैं जो आपके बजट में भी है।

दिवाली गिफ्ट में गोल्ड डायमंड रिंग ( Gold Diamond Ring for Diwali and Dhanteras gift)

[इसे आनलाइन खरीदें]

पिंक स्टोन के साथ छोटे डायमंड से जड़ी हुई ये अंगूठी धनतेरस पर महिलाओं को गिफ्ट में देने के लिए खास है। इस आकर्षक रिंग को धनतेरस पर खरीद कर आप इस साल के दिवाली के तोहफे के रूप में दे सकते हैं।

झुमकों से करें धनतेरस में सोने की खरीदी (Earrings for Her in this Diwali 2016)

71gzj48muml-_ul1500_

[इसे आनलाइन खरीदें]

त्योहारों में अक्सर महिलाएं पारंपरिक परिधान पहनती हैं। ये गोल्डन झुमके पारंपरिक ड्रेस के साथ बहुत सुंदर लगते हैं। इनकी बनावट भी खास तौर पर त्योहारों पर पहनने लायक है। इन पारंपरिक झुमकों में हरे और लाल रंग की मीनाकारी की हुई है जो बहुत खूबसूरत लग रही है। अपने लिए भी आप एक अच्छे बज़ट में इस 8.68 ग्राम वाले 22 कैरेट के झुमके खरीद सकती हैं।

धनतेरस पर खरीदें सोने की ईयररिंग्स (Gift Idea for Dhanteras 2016 in Hindi)

s-l640

[इसे आनलाइन खरीदें]

अगर आपको सिंपल ज्वेलरी पसंद है तो यह स्टोन के साथ गोल्डन रिंग्स आपके इस धनतेरस की खरीदी के लिए बेस्ट हो सकती हैं। 22 कैरेट सोने से बनी 6.23 ग्राम की यह ईयररिंग्स आप इस खास त्योहार के अलावा नियमित रूप से भी इस्तेमाल कर सकती हैं।

धनतेरस पर खरीदें चाँदी के गणेश (Special Gift For Dhanteras pooja)

31xmuli62l-_ac_ul246_sr190246_

[इसे आनलाइन खरीदें]

अगर आप धनतेरस पर चाँदी ही खरीदना चाहते हैं तो यह सिल्वर गणेशजी के आकार का चाँदी से बना पेंडेंट आपके लिए लकी हो सकता है। श्रीगणेश को बुद्धि, भाग्य और समृद्धि का देवता माना जाता है। इस खास सिल्वर चेन से आप भी इस दिवाली अपने भाग्य को बेहतर कर सकते हैं। साथ ही लड़कियों के लिए भी यह एक स्टाइलिश एसेसरीज़ बन सकता है।

धनतेरस पर पुरुषों के लिए सोने की खरीददारी (Gift for males in Diwali in Hindi)

145347311061911573-malabar-gold-diamond-mine-18k-two

[इसे आनलाइन खरीदें]

यह गोल्ड डायमंड रिंग 18 कैरेट सन एसे बनी है, अपने पार्टनर को देने के लिए यह एक खास तोहफा हो सकता है। इसकी कटिंग बहुत ही शार्प और शानदार है, इस धनतेरस पर इसे खरीद कर  आप अपने रिश्ते और भी मजबूत बना सकते हैं।

धनतेरस शॉपिंग –  गोल्ड ब्रेसलेट (Dhanteras Buying – Gold Bracelet gift)

51aczitkkfl-_ac_ul246_sr190246_

[इसे आनलाइन खरीदें]

21.89 ग्राम वजन का 22 कैरेट से बना यह ब्रेसलेट गोल्ड के शौकीन लोगों के लिए खास है। पुरूषों के लिए बाज़ार में गोल्ड से बने एसेसरीज़ कम ही होते हैं ऐसे में सोने के इस ब्रेसलेट को खरीद कर आप एक खास तोहफा दे सकती हैं।

पूजा थाली (Puja thali set for Diwali Buying)

s-l225

[इसे आनलाइन खरीदें]

धनतेरस पर सोने चाँदी के अलावा अन्य धातुओं की भी खरीदी की जाती है। लोग अपनी इच्छा और सामर्थ्य के अनुसार धातु से बनी चीजों की खरीदी करते हैं। पीतल से बनी पूजा की इस थाली का प्रयोग आप दिवाली की रात लक्ष्मी पूजन में कर सकते हैं। इसमें थाली के साथ अन्य ज़रूरी छोटे छोटे बर्तन का भी सेट है जो पूजा के वक़्त काम में आता है। पीतल की यह थाली आपके पूजा घर की शोभा बढ़ाने में मदद करेगी।

दीवार पर टाँगने वाला पीतल का दीपक (Special Brass showpiece for Diwali 2016)

7ecbfba27571f635561196e5f775280e

[इसे आनलाइन खरीदें]

यह गणेशजी की मूर्ति की डिजाइन वाला सुंदर दीपक स्टैंड है जिसे दीवार पर टांगा जाता है। यह गिफ्ट के लिए और घर में उपयोग के लिए दोनों ही प्रकार से उपयोगी है। इसमें तीन दीप जलाए जा सकते हैं और नीचे शोभा के लिए घंटियाँ भी हैं। यह अपने आप में एक खूबसूरत और अलग किस्म का तोहफा बन सकता है। आप अपने घर के लिए धनतेरस की खरीदी में इसे स्थान दे सकते हैं।

तांबे का सेट (Dhanteras Buying – Unique Copper mug set)

71rrf-mmtol-_sy355_

[इसे आनलाइन खरीदें]

आप अक्सर धनतेरस पर स्टील के बर्तनों की खरीददारी तो करती ही होंगी, पर इस बार कुछ नया किया जा सकता है। इस तांबे के गिलास और मग सेट से आप अपने डायनिंग टेबल को एक अलग लुक दे सकती हैं। यह दिखने में काफी आकर्षक और अलग है।

नरक चौदस क्यों मनाते हैं? (Narak Chaturdashi Celebrations 2016 Date)

दिवाली के एक दिन पहले नरक चौदस मनाया जाता है। इस बार 29 अक्टूबर 2016 को नरक चौदस मनाया जाएगा।

नरक चौदस को रूप चतुर्दशी के नाम से भी मनाया जाता है। एक कथा है की भगवान श्री कृष्ण ने नरकासुर का वध किया था इसीलिए यह पर्व मनाया जाता है, इसके अलावा यह कथा भी प्रचलित है की यह दिन यम देव की आराधना का दिन है जिससे नरक से मुक्ति मिलती है। नरक चौदस के दिन सूर्योदय से पहले उठकर स्नान की परंपरा है स्नान के पश्चात यम को जल अर्पण कर संध्या के समय चौदह दीपक जला कर यम को पूजा जाता है माना जाता है कि, ऐसा करने से मनुष्य नरक में जाने से मुक्त होता है।

दिवाली : दीपों का त्योहार दिवाली (Diwali Festival in Hindi)

नरक चतुर्दशी के बाद दिवाली का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन घर के दरवाजों को फूल मालाओं से सजाकर रात को विभिन्न प्रकार कि रोशनी से प्रज्जवलित कर रोशनी के इस उत्सव दिवाली को हर घर में लोग उल्लास के साथ मनाते हैं। इस बार दीपावली 30 अक्टूबर रविवार के दिन आ रही है।

दिवाली मनाने के पीछे यह मान्यता है कि इस दिन भगवान राम अपने चौदह वर्ष के वनवास के बाद अपनी नगरी अयोध्या वापस आए थे। अयोध्यावासियों ने अपने प्रिय राजा राम के स्वागत में घर घर में दीपक जलाए। इस प्रकार पूरा नगर दीपों से सज गया और लोगों ने हर्ष के साथ दीपावली मनाई, उसी दिन से यह दीपावली मनाने की प्रथा भी शुरू हुई।

loading...