Best home remedies to cure muscle twitches – मांसपेशियों का फड़कना/ स्फुरण के घरेलू उपाय

स्केलेटॉन मसल्स (Skeleton muscle) फाइबर कई तरह के अन्य मसल्स फ़ाइबर से मिलकर बना होता है जो पेशीकोशिका (Myocytes) के नाम से जाने जाते हैं। इन पेशीकोशिकाओं में मौजूद प्रत्येक तत्व कई पेशीतन्तुओं का घटक होता है। ये सभी प्रोटीन के ही विभिन्न नाम हैं। ये प्रोटीन तत्व जकड़न और खिंचाव में प्रमुख भूमिका का निर्वहन करते हैं जो मांसपेशियों के संकुचन के लिए भी उत्तरदायी होता है। मानव शरीर में दो तरह के मसल्स फ़ाइबर मौजूद होते हैं।

Types of twitches in Hindi अंग स्फुरण के प्रकार

  • धीमी गति से होने वाला स्फुरण (Slow twitch)
  • तेजी से होने वाला स्फुरण (Fast Twitch)

Slow twitch धीमा स्फुरण                 

हमारे शरीर की मांसपेशियाँ ऑक्सीज़न का प्रभावी तरीके से प्रयोग कर होने वाले पेशी संकुचन को ईंधन प्रदान करती है। ये धीमा स्फुरण खास तौर पर एथलीटों के लिए बहुत मददगार होता है। मैराथन या साइक्लिंग के दौरान ये काफी प्रभावी होते हैं।

Fast Twitch तेज स्फुरण

तेज स्फुरण अवायवीय मेटाबोलिस्म का प्रयोग कर ऊर्जा उत्पन्न करते हैं। ये हल्की तड़कन के साथ शुरू होते हैं जो बहुत प्रभावी रूप से अपना कार्य करते हैं पर अक्सर देखा गया है कि इस तरह का स्फुरण तुरंत और जल्दी होने वाली थकान का कारण बनता है।

Home remedies of twitches मांसपेशियों के फड़कने के घरेलू इलाज हिन्दी में

मांसपेशी का स्फुरण या फड़कना एक ऐसी समस्या है जिसका उपचार कई बार बहुत पेंचीदा हो जाता है। अंग फड़कना जैसी समस्या का उपचार घर पर कुछ आसान सी चीजों की मदद से भी किया जाना संभव है। आप अपने घर या किचन में ही आसानी से इन चीजों को प्राप्त कर सकते हैं। मसल्स ट्विचेस के घरेलू उपचार इस प्रकार हैं।

Herbs for muscle twitches in legs जड़ीबूटी या औषधि

मांसपेशी या किसी भी तरह से अंग फड़कना (ang fadakna) जैसी समस्या के उपचार में घरेलू औषधि या जड़ी बूटी आदि का इस्तेमाल बेहतर समझा जाता है। इससे जुड़ी औषधियों में अंग-ग्रह नाशक (antispasmodic) गुण मौजूद होते हैं जो पेशियों को आराम प्रदान करते हैं।

Use Zink for muscle twitching after exercise जिंक अंग स्फुरण का घरेलू उपचार ज़िंक द्वारा  

आप अपने दैनिक आहार में लिए जाने वाले भोजन में विभिन्न तरह से ज़रूरी तत्व लेते होंगे जिनमें जिंक भी मौजूद होता है। ये जिंक तत्व मसल्स ट्विचेस को कम करने में प्रभावी होता है। विभिन्न तरह की दालें, हरी बीन्स, अंकुरित अनाज और मक्के आदि में जिंक की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। इनका नियमित प्रयोग करने से स्फुरण या अंग फड़कना जैसी समस्या का घर पर ही इलाज किया जा सकता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,327 other subscribers

How to stop muscle twitching Minerals खनिज तत्व से करें फड़कन का इलाज

हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नियमित आहार में विभिन्न तरह के खनिज पदार्थों या मिनरल्स का प्रयोग आवश्यक होता है। अगर आप नियमित रूप से इस समस्या का सामना कर रहे हैं तो मैंगनीशियम (Magnesium) का प्रयोग अपने आहार के साथ करना चाहिए, यह मिनरल हरी पत्तेदार सब्ज़ियों, जैसे पालक आदि में पाया जाता है। इसके प्रयोग से स्फुरण के कारण होने वाली व्याकुलता में आराम मिलता है।

Home remedy for muscle twitching all over body -Epsum Salt एप्सम साल्ट से होगा अंगों का फड़कना कम

मैंगनीशियम सल्फेट को ही एप्सम साल्ट भी कहा जाता है जो अंग स्फुरण के साथ अकड़न आदि के उपचार में भी विशेष रूप से फलदायी होता है। यह घर में रसोई, बगीचे और अन्य कामों के लिए भी इस्तेमाल में लाया जाता है। यह सूजन जैसी समस्या को भी कम करता है और साथ ही पेशी व स्नायु तंत्र को भी सुचारु रखने में मदद करता है। ये इस्तेमाल करने का तरीका इस प्रकार है

इसके लिए सर्वप्रथम नहाने के लिए गर्म पानी लें बाथ टब का इस्तेमाल करें। इस गर्म पानी में 2 कप एप्सम साल्ट डालें और इसे घुल जाने दें।

अब इस पानी में शरीर को कम से कम 15 से 20 मिनट के लिए डूबा रहने दें। कुछ दिन इस प्रक्रिया का नियमित रूप से अपनाएँ, इससे लाभ अवश्य दिखाई देगा।

नोट : वैसे तो यह विधि बहुत प्रभावी है लेकिन अगर आप हाइ ब्लड प्रेशर, डायबिटीज़ या हृदय रोग से ग्रस्त हैं तो इस विधि का प्रयोग न करें।

Clove oil treatment for muscles twitching after walking लौंग के तेल से अंग फड़कने का घरेलू उपाय हिन्दी में

लौंग का तेल एंटीसेप्टिक गुणों के साथ सूजन व दर्द को कम करने का भी कार्य करता है। लौंग की उत्पत्ति का स्थान इन्डोनेशिया को माना जाता है। लौंग विश्व के लगभग हर हिस्से में एक महत्वपूर्ण मसाले व उपयोगी चीज के रूप में प्रयोग में लाया जाता है। लौंग के तेल में चेतना शून्य करने वाला गुण मौजूद होता है जो दर्द या अकड़न में आराम प्रदान करता है। इसे उपयोग में लाने के लिए यह तरीका अपनाएँ,

  1. लौंग का तेल लेकर इसे गर्म कर लें।
  2. इस गर्म लौंग के तेल से प्रभावित हिस्से में हल्की हल्की मसाज करें।
  3. मसाज की इस प्रक्रिया में क्लॉकवाइस और एंटीक्लॉक वाइस दोनों ही दिशाओं का समान रूप से प्रयोग करना चाहिए।
  4. बेहतर लाभ के लिए इस प्रक्रिया को पुनः दोहराएँ।

Yellow Mustard home treatment for muscles पीली सरसों से मसल्स के फड़कने का प्राकृतिक उपचार

भारतीय रसोई में पीली सरसों का महत्वपूर्ण स्थान है जो मसाले के साथ साथ औषधि के रूप में भी काम में लाया जाता है। इसमें कुछ ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो शरीर के ओर्गनिक केमिकल के विकास में सहायक होते हैं। यह मांसपेशियों में न्यूरोट्रांसमीटर की तरह कार्य करता है।

 

 

 

loading...