Bio-oil benefits in Hindi – बायो ऑइल क्या है? इसे कौन इस्तेमाल कर सकता है? बायो ऑइल के फायदे

क्या आप खिंचाव के निशान और असमान त्वचा टोन से पीड़ित हैं? इसके लिए बायो ऑइल अच्छा समाधान है। बायो ऑइल त्वचा की देखभाल के लिए बनाया गया उत्पाद है। इसका मुख्य घटक है पर्सल्लिन तेल जो त्वचा की समस्याएँ, निर्जलित त्वचा और बढती उम्र का त्वचा पर असर कम करने के लिए प्रभावी ढंग से काम करता है। विटामिन ए, कैलेंडुला तेल, रोजमेरी तेल, विटामिन ई, लैवेंडर का तेल और कैमोमाइल तेल जैसे कुछ प्राकृतिक चीजें बायो ऑइल में निहित हैं। बायो ऑइल में कोई प्रेसरवेटिव नहीं होता है और ये सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है।

  • बायो ऑइल गर्भावस्था के बाद के निशान कम करने, चेहरे और शरीर की झुर्रियों वाली त्वचा, बढती उम्र का त्वचा पर असर, निर्जलित त्वचा के निशान, खिंचाव कम करने में मदद करता है। बायो ऑइल तेजी से अवशोषित होता है और कोई अवशेष नहीं छोड़ता है।
  • बायो ऑइल विटामिन ए का समृद्ध स्रोत होता है जो स्वस्थ त्वचा देता है।
  • बायो ऑइल मॉइस्चराइजिंग तेल है जो त्वचा के निशान मिटाकर त्वचा साफ़ करता है। नहाने के बाद इसे त्वचा पर लगायें। चेहरे के लिए 2 बूंदें काफी होती हैं।

बायो आयल कैसे इस्तेमाल करें? (How to use Bio-Oil?)

बायो आयल निशान कम करने के लिए तीन महीनों के लिए दिन में दो बार लगायें। बायो ऑइल उँगलियों पर लेकर निशान पर मालिश करें। बायो ऑइल में सनस्क्रीन ना होने से वह त्वचा में शोषित होने के बाद ही सनस्क्रीन लगायें। टूटी हुई त्वचा पर बायो ऑइल का उपयोग न करें।

नीलगिरी के तेल के स्वास्थ्य लाभ

परिणाम देखने के लिए कितनी देर लगती है? (How long before people will start seeing results?)

हाल ही में बने निशान पुराने निशान की तुलना में जल्दी कम हो जाते हैं। हर एक की त्वचा अलग होती है और इसलिए हर व्यक्ति में इसका परिणाम अलग दिखता है। यह त्वचा की स्थिति पर ज्यादा निर्भर करता है। चेहरे के निशान या असमान त्वचा टोन के लिए कम से कम चार सप्ताह के लिए बायो ऑइल इस्तेमाल करें।

क्या गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान बायो आयल का उपयोग सुरक्षित है ? (Is it safe to use Bio-Oil during pregnancy and breastfeeding?)

बायो आयल गर्भावस्था के दौरान उपयोग करने के लिए सुरक्षित है। गर्भावस्था के दौरान बायो ऑइल दूसरी तिमाही की शुरुआत से लगातार लगाया जाना चाहिए। यह पेट में पल रहे बच्चे के लिए हानिरहित है। स्तनपान के दिनों में भी अपने शरीर पर बायो ऑइल का उपयोग करें, लेकिन इसे निपल्स पर ना लगायें। आप को कोई भी संदेह हो तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

बायो ऑइल कौन इस्तेमाल न करें? (Who not to use Bio-Oil?)

बच्चे 2 साल के होने तक उन पर बायो ऑइल इस्तेमाल न करें। उनकी त्वचा अतिसंवेदनशील होने के कारण बायो ऑइल 2 साल के बाद ही प्रयोग करें।

इसे ऑनलाइन खरीदे (Buy Bio-oil online)

बायो ऑइल (Bio oil)

कैस्टर ऑयल के स्वास्थ्य तथा सौंदर्य गुण

Bio oil

[इसे ऑनलाइन खरीदे]

बायो आयल के फायदे (Benefits of using Bio-Oil)

स्नान : यह सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयुक्त है। नहाने के बाद अपनी त्वचा पर और शरीर पर थोडा तेल लगायें। बायो ऑइल आसानी से सोख लिया जाता है और अच्छे मॉइस्चराइजर के रूप में कार्य करता है।

लिप बाम : होटों को नरम और नम करने के लिए थोडा बायो ऑइल दिन में 2 बार लगायें

बालों का इलाज : थोडा बायो ऑइल लेकर अपने बालों की जड़ों में लगाने से त्वचा शांत हो जाती है।

मेकअप से पहले लगाना : बायो ऑइल की 1 बूंद चेहरे पर फाउंडेशन लगाने से पहले लगायें। यह शुष्क त्वचा के लिए अच्छा है।

शिशु की मालिश करने के लिए तेल

शियल : बायो ऑइल की 5 बूंदें एक कटोरे में लेकर उसमे गरम पानी मिलाएं। इस पानी में एक कपडा भिगोकर 5 मिनट चेहरे पर रखें।

आँखों का मेकअप निकालने के लिए : थोडा बायो ऑइल कपास पर लेकर आँखों का मेकअप निकालें।

नाखून : नाखून के पहले बायो ऑइल लगायें। बायो ऑइल नाखुनो पर लगाने से उनका स्वास्थय सुधरता है।

कोहनी : कोहनी की त्वचा शुष्क होने पर वहां बायो ऑइल लगाने से वह नरम और नम हो जाती है।

बायो ऑइल में कई पौधों के अंश शामिल होते हैं जो त्वचा को पोषण देने की अपनी प्राकृतिक काबिलियत और घाव एवं रंजकता के दाग दूर करने के अपने गुणों की वजह से जाने जाते हैं। इसमें पर्सलिन (PurCellin) का तेल भी होता है, जो इस उत्पाद को चिकनाई से रहित बनाता है यह इस बात को भी सुनिश्चित करता है कि विटामिन्स (vitamins) और पौधों के अंश हमारी त्वचा में तेज़ी से समा जाएँ।

बायो ऑइल का प्रयोग सही प्रकार से करने के नुस्खे (Tips for using Bio-oil in the right way – bio oil ka use in hindi)

बायो ऑइल त्वचा की देखभाल का एक प्राकृतिक उत्पाद है जिसका प्रयोग सही प्रकार से करने पर आपको चमत्कारी प्रभाव दिखाई देते हैं। परन्तु इस तेल का पूरी तरह फायदा उठाने के लिए यह आवश्यक है कि आप कुछ बातों को ध्यान में रखें। नीचे बायो ऑइल का प्रयोग सही प्रकार से करने के कुछ नुस्खों के बारे में बताया जा रहा है।

  • बायो ऑइल एक प्राकृतिक उत्पाद है और जब तक आप इसको पूरी तरह मन लगाकर अच्छे से और निरन्तर प्रयोग में नहीं लाएंगे, तब तक यह आपकी त्वचा पर कोई ख़ास असर नहीं दिखा पाएगा। सौंदर्य उत्पादों के उलट सबसे ज़्यादा कार्यशील प्राकृतिक उत्पादों की मदद से भी फायदा प्राप्त करने के लिए आपको इनका प्रयोग सही प्रकार से और रोज़ाना करना पड़ता है। अतः अगर आप इस तेल का प्रयोग करने को लेकर गम्भीर हैं, तभी इसे इस्तेमाल करने के बारे में सोचें।
  • ऐसा दावा किया जाता है कि इसमें मौजूद प्राकृतिक तेल की मात्रा की वजह से बायो ऑइल चेहरे के मुहांसों और बार बार होने वाले दाग धब्बों को जड़ से दूर करने की काबिलियत रखता है। लेकिन एक बात यहां पर ध्यान देने वाली यह है कि एक्ने (acne) और मुहांसे भिन्न भिन्न प्रकार के होते हैं और शायद उन सब प्रकारों का सही उपचार बायो ऑइल ना हो। अतः अगर आपके चेहरे पर 1 या 2 मुहांसे हुए हैं तो आप अवश्य ही बायो ऑइल का इस्तेमाल कर सकते हैं, पर अगर आपकी त्वचा पर गम्भीर रूप से एक्ने का प्रकोप हुआ है तो यह तेल उतना भी प्रभावी साबित नहीं होगा।
  • इस तेल के प्रभाव में बढ़ोत्तरी करने के लिए यह काफी ज़रूरी है कि आप इसका प्रयोग पूरी तरह से साफ़ सुथरी त्वचा पर ही करें। अतः इस तेल का प्रयोग करने से पहले चेहरे के प्रभावित भाग को अच्छे से साफ़ कर लें और उसके बाद ही चेहरे के इस साफ़ भाग पर बायो ऑइल से मालिश करना शुरू करें।
  • बायो ऑइल का प्रयोग अपनी त्वचा पर करने से आपके चेहरे पर टैनिंग (tanning) होने की सम्भावना काफी बढ़ जाती है। अतः इस तेल का प्रयोग करने के बाद धूप में निकलने से परहेज करें। जब भी आप बायो ऑइल का प्रयोग कर रहे हों तो इस बात को सुनिश्चित करें कि रात के समय भी बाहर निकलने से पहले अपनी त्वचा पर सनस्क्रीन (sun screen) की अच्छी खासी मात्रा लगाकर ही निकलें। ऐसा ना करने पर आपको त्वचा की टैनिंग का सामना करना पड़ेगा।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday