Acne rosacea & home remedies in Hindi for adult acne – रॉसेसिया दाने क्या है? वयस्क मुँहासों का घरेलू उपचार

हर समय लोग किसी ना किसी त्वचा समस्या से पीड़ित रहते हैं जो उनकी त्वचा और चेहरे की बनावट को प्रभावित करता रहता है। मुंहासे लोगों के लिये परेशानी और नाखुशी का एक पुराना कारण है खासतौर पर उन लोगों के लिये जो किशोरावस्था में होते हैं जो सदैव खूबसूरत दिखना चाहते हैं। कील मुंहासे का इलाज, रॉसेसिया एक गम्भीर त्वचा समस्या है जो समय के साथ गम्भीर हो सकती है। यह त्वचा समस्या सामान्य रूप से माथे, नाक, ठुड्डी और यहाँ तक गालों पर लोगों को प्रभावित कर सकती है। शुरुआत में यह त्वचा पर लाल बिंदुओं के रूप में होती है जो बढकर बहुत पतली लाल रेखाओं में दिखायी दे सकती है। चेहरे पर दाने के उपाय, यह त्वचा की सतह पर लाल फोड़ों और उभार को बना सकती हैं।

रॉसेसिया इस तरह से परिभाषित किया गया है (Acne rosacea is defined as)

एक्ने हटाने के प्राकृतिक घरेलू उपाय

रॉसेसिया दाने एक लगातार त्वचा रोग है जो सामान्य रूप से चेहरे और नाक के क्षेत्रों में लगातार लालिमा के कारण बनता है। दाने निकलना मुख्य रूप से माथे, ठोड़ी और नाक के आधे से निचले हिस्से में होता है। इन क्षेत्रों में छोटे रक्त वाहिकाओं में  विस्तार या चौड़े होने के कारण त्वचा पर लाल लाइनों की तरह दिखाई देने लगते हैं। मुंहासे जो किशोरावस्था की खराब त्वचा की तरह होते है, दिखाई पड़ सकते हैं। रॉसेसिया ज्यादातर 30 से 60 की उम्र के बीच विकसित हो सकता है और पुरुषों और महिलाओं दोनों को समान रूप से प्रभावित करता है। यह प्रतीत होता है कि महिलायें, पुरुषों की तुलना में अधिक प्रभावित होती हैं, लेकिन वास्तव में यह पुरुषों के साथ सबसे खराब है। अधिकांश लोग इस लक्षण के साथ पीड़ित हैं कभी कभी यह सबसे खराब है। रॉसेसिया का ख्याल रखा जा सकता है, लेकिन पूरी तरह से ठीक नहीं किया जा सकता है। ज्यादातर वर्तमान एंटीबायोटिक दवायें जैसे मेट्रोनिडाज़ोल (metronidazole) और मौखिक एंटीबायोटिक दवायें जैसे टेट्रासाइक्लीन (tetracycline) उपयोग की जा सकती है। कई लोग सूजन को कम करने के लिये सामयिक सही शक्ति का एक स्टेरॉयड कॉर्टिसोन का उपयोग करते हैं। मसालेदार खाने, गर्म पेय पदार्थों और शराब से बचना अच्छा होगा और अन्य उत्तेजक जैसे उच्च तापमान लक्षण को कम करने में सहायता करते हैं।

रॉसेसिया दानों के कारण (Causes of acne rosacea)

तद्य्पि चिकित्सा विज्ञान ने रॉसेसिया दानों के लिये कारण बताये है लेकिन वास्तविकता में इसके कारण अभी तक अज्ञात हैं। कुछ लोगों को यह आनुवांशिक रूप से होता है तो कुछ अन्य लोगों को मौसम की बदलती परिस्थितियों के कारण त्वचा पर होता है। सूर्य से झुलसने और सूर्य की रोशनी में अधिक देर तक रहने के कारण लोगों को रॉसेसिया के दानों का शिकार होना पड़ता है। पिम्पल के उपाय, चिकित्सा विज्ञान ने यह पता लगाया है कि इसका समबंध हमारी मनोभावनाओं से भी है। नकारात्मक भावनायें जैसे चिंता, तनाव के साथ मौत का डर रॉसेसिया के दानों को बढ़ावा दे सकता है। किसी व्यक्ति के जीवन से कारणों को तो नहीं हटाया जा सकता है लेकिन रॉसेसिया के दानों का उपचार घरेलू विधि से उपचार करना ज्यादा अच्छा रहेगा।

सफ़ेद मुहाँसे / गाँठ को ठीक करने के घरेलू नुस्खे

रॉसेसिया दानों के लिए घरेलू उपचार (Home remedies for acne rosacea)

  1. स्वस्थ खाओ (Eat healthy): ट्रांस वसा (trans fat), कॉर्न सिरप (corn syrup), चीनी, दैनिक मूंगफली युक्त खाद्य पदार्थ न लें। ये खाद्य पदार्थ रॉसेसिया को सक्रिय करते हैं। आप बहुत सारे साबुत अनाज, बादाम, पत्तेदार सब्जियों को खा सकते हैं इनमें सूजन विरोधी यौगिक जैसे विटामिन बी शामिल होते हैं। फलों और सब्जियों जैसे प्रूंस, अनार, अंगूर, जामुन, तोरी, पालक, ब्रोकोली और प्याज में एंटीऑक्सीडेंट है। मुहासे से छुटकारा, यह कुछ हद तक के लिए रॉसेसिया के कारण को रोक पायेगा। मांसाहारी में, सामन मछली सबसे अच्छा है। सामन में ओमेगा -3 फैटी एसिड होता है इसे एक सप्ताह में तीन बार लेना वास्तवकिता में अच्छा होगा।
  2. कपूर का तेल (Camphor oil) : कपूर त्वचा के माध्यम से अवशोषित हो जाता है, यह त्वचा पर सुखदायक, एनाल्जेसिक और रोगाणुरोधी प्रभाव को दर्शाता है। यह विश्वास किया जाता है कि कपूर तेल पतला डी1/3 के साथ ग्लिसरॉल और 500 मिलीग्राम मेट्रोनिडाज़ोल का पंद्रह दिनों के लिए उपयोग, बिना किसी प्रतिकूल प्रभाव के रॉसेसिया को कम करने में मदद करता है। ध्यान से कपूर के तेल का प्रयोग करें, यदि पतला नहीं है तो यह त्वचा पर जलन पैदा कर सकता है।
  3. कैमोमाइल (Chamomile) : शुद्ध कैमोमाइल की एक मुट्ठी भर ले या कैमोमाइल चाय बैग का उपयोग कर सकते हैं, इसे तीन कप में 10 मिनट के लिए उबलने के लिये डालें। जब यह अपने आप से ठंडा हो जाय तो फ्रिज में रखें। जब आप को एक ठंडी सेक की जरूरत हो, तो एक सूती कपड़े को इस पानी में डुबा दें। इस कपड़े को रॉसेसिया पर रखा दें जब तक आपको राहत महसूस न हो। कैमोमाइल का लेप बनाकर लगाना भी अच्छा होगा।
  4. फीवर्फ्यू (Feverfew) : यह कहा जाता है कि फीवर्फ्यू सूजन को कम कर देता है, लेकिन यह भी ध्यान रहे कि इसका साइड इफेक्ट भी होता है।
  5. लैवेंडर तेल (Lavender oil) : शुद्ध लैवेंडर तेल का उपयोग परिणाम देता है, लेकिन आप एक छोटे से हिस्से में लगाकर पहले एलर्जी को जाँच लें। आप एक कपास की गेंद को लैवेंडर तेल में डुबायें और प्रभावित क्षेत्र में धीरे से मालिश करें।
  6. हरी चाय (Green tea) : हरी चाय एक अच्छा एंटीऑक्सीडेंट है, आप इसे फेस क्रीम के साथ मिलाकर दिन में दो बार उपयोग कर सकते हैं।
  7. दलिया (Oatmeal) : आप प्रभावित क्षेत्र पर कुछ दलिया रगड़ सकते हैं, पिम्पल्स का इलाज, यह जलन में आराम, मॉइस्चराइज़ और त्वचा को साफ रखेगा।
  8. चाय के पेड़ का तेल (Tea tree oil) : चाय के पेड़ के तेल में एंटीसेप्टिक और सूजनविरोधी दोनों गुण है, प्रभावित क्षेत्र में इस तेल का उपयोग अच्छा है।
  9. मुलेठी (Licorice) : मुलेठी एक प्राकृतिक जड़ी है जो घरों में पाउडर के रूप में पायी जाती है। चिकित्सा विज्ञानने मुलेठी के कई सकारात्मक परिणाम खोजे हैं जिसमें से एक सूजनविरोधी गुण है। आप इससे त्वचा की खुजलाहट और लालिमा का उपचार कर आराम पा सकते हैं। आप एक चम्मच घृत कुमारी, मुलेठी और शहद के साथ मिश्रण को बना सकते हैं। इस मिश्रण को मिलाकर अपने चेहरे पर जहां वयस्कता दाने हो लगा सकते हैं। इसे अपने चेहरे पर 15 मिनट तक लगा रहने देने के बाद गुनगुने पानी से धुल दें।
  10. सेब रस सिरका (Apple cider vinegar): सभी घरों में सेब रस का सिरका पाया जाता है जिसमें से कुछ में सूजनविरोधी गुण पाया जाता है और शरीर में पीएच स्तर को बनाये रखने में सहायता करता है। दाने अस्वास्थ्यकारी त्वचा के बनने के कारण पैदा होते हैं। अगर आपकी त्वचा के स्वास्थ्य को वापस लाया जाय तो इन दानों को खत्म किया जा सकता है। आप एक ग्लास छना हुआ पानी लेकर उसमें एक चम्मच सेब रस के सिरके को मिला दें। इसमें एक चम्मच शहद मिलाकर मिश्रण तैयार कर लें। यह आश्चर्यजनक मिश्रण आपकी त्वचा से रॉसेसिया को हटा देगा। अगर आप इसे प्रतिदिन एक महीने तक कर सके तो दाने के दागों में कमी आ जायेगी।
  11. अलसी (Flaxseed): अलसी प्राचीन काल से सभी प्रकार की त्वचा समस्या का उपचार करती है जो लालिमा और जलन का कारण होती है। वयस्कता के दाने को ठीक करने के क्रम में, आपको एक चम्मच अलसी के तेल को लेकर अपनी त्वचा पर जहाँ लालिमा और दाने के निशान दिखायी दें लगा लें। अन्य उपाय के रूप में अपने आहार में अलसी को खा सकते है जिससे त्वचा की सतह से जलन और लालिमा घट सकती है।
  12.  हल्दी (Turmeric): आपने हल्दी के उपयोग से कई घरेलू उपचार के बारे में सुना होगा। एक समय था जब लोगों के पास कोई भी दवा खाने या लगाने की नहीं थी। उस समय हल्दी जैसी औषधिया आश्चर्यजनक भूमिका अदा करती थी। उपचारात्मक गुणों के साथ यह औषधि उत्तेजित और रॉसेसिया के साथ लाल त्वचा को आसानी से कम हो सकती है। आप इसके लिये एक चम्मच हल्दी, एक चम्मच शहद, दो चम्मच दही के साथ फेस पैक को बना सकते हैं। इन सभी सामग्रियों को अच्छे से मिलाकर अपने चेहरे पर लगायें विशेष रूप से जहाँ वयस्कता के दाने हैं। इसे 15 मिनट तक छोड़े जबतक कि सूख न जाय और फिर ठंडे पानी से धुल दें। अगर आप जल्दी उपचार चाहते हैं तो इस फेस पैक को लगाने के साथ ही एक चुटकी हल्दी को गुनगुने पानी के साथ पियें। यह विभिन्न कारणों से हुई आपकी त्वचा बीमारी को बिना किसी प्रभाव को छोडे लाभ पहुचायेंगा।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday