What is low blood pressure? Low BP causes diagnosis & treatment – निम्न रक्तचाप क्या होता है? निम्न रक्तचाप का परीक्षण तथा इलाज

रक्तचाप ऐसा चाप होता है जो आपके रक्त द्वारा दिल की धड़कनों के दो चरणों के दौरान धमनियों के आतंरिक भाग पर लगाया जाता है। दिल की धड़कनों को दो भागों में बांटा जा सकता है, कार्यशील चरण तथा आराम का चरण। इन दोनों चरणों में रक्त द्वारा पैदा किये गए दबाव को रक्तचाप कहा जाता है।

रक्तचाप की जांच का दो अलग अलग अंकों में गणना करने का एक कारण है। पहला अंक सिस्टोलिक चाप (systolic pressure) का प्रतीक है और दूसरा चाप डायास्टोलिक चाप (diastolic pressure) का प्रतीक है।

सिस्टोलिक चाप आपकी धमनियों के रक्तचाप का माप देता है जब आपका दिल रक्त को सारे शरीर में पहुंचा रहा होता है, और प्राकृतिक रूप से इसकी गिनती ऊँची होती है। दूसरी तरफ, डायास्टोलिक चाप धमनियों के उस चाप को कहते हैं, जब दो चक्रों के बीच आपका ह्रदय आराम कर रहा होता है। प्राकृतिक रूप से डायास्टोलिक चाप कम होता है।

वर्तमान की स्वीकार्य रेंज (range) के अनुसार सामान्य रक्तचाप करीब 120/80 mm Hg के करीब होनी चाहिए।

निम्न रक्तचाप क्या होता है? (What is low blood pressure?)

अगर आपका रक्तचाप 60 mm Hg डायास्टोलिक या 90 mm Hg सिस्टोलिक से कम हो तो इसे आमतौर पर निम्न रक्तचाप की श्रेणी में रखा जाता है। निम्न रक्तचाप का शिकार होने की स्थिति में आपके सिस्टोलिक या डायास्टोलिक चाप में से कोई एक ही कम मात्रा में होना आवश्यक है। अतः भले ही आपका सिस्टोलिक चाप सही हो, पर अगर आपका डायास्टोलिक चाप करीब 50 mm Hg के करीब हो तो इसे निम्न रक्तचाप माना जाएगा।

निम्न रक्तचाप की जांच (Diagnosis of low blood pressure)

हालांकि यह बात आपके लिए ध्यान में रखनी काफी ज़रूरी है कि रक्तचाप हर व्यक्ति के क्षेत्र में और यहाँ तक कि समय के हिसाब से भी अलग अलग हो सकता है। अगर किसी व्यक्ति के चाप की गणना वाले ऊपर और नीचे के दोनों ही अंक सबसे निम्न श्रेणी में काफी लम्बे समय से हैं और इससे कई तरह के लक्षण पैदा हो रहे हैं तो उस व्यक्ति की जाँच करके उसे निम्न रक्तचाप का शिकार बताया जाता है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

अतः अगर आपका रक्तचाप हमेशा निम्न स्तर पर ही रहता है, अर्थात यह आदर्श चाप, जो कि 120/80 mm Hg से भी नीचे रहता है, पर आपको इसके कोई लक्षण दिखाई नहीं दे रहे हैं या फिर यह गणना उसी जगह स्थिर है, तो इसका अर्थ है कि आपको निम्न रक्तचाप की समस्या है। आपको इस स्थिति में हमेशा जांच के लिए प्रस्तुत होना चाहिए, जिससे कि आपका रक्तचाप इससे नीचे ना आ पाए।

निम्न रक्तचाप के कारण (Causes of low blood pressure)

निम्न रक्तचाप के कारण पूरी तरह से तो साफ़ नहीं हैं, पर उन्हें निम्नलिखित कारकों के साथ जोड़कर देखा जा सकता है।

बी पी लो होना, गर्भावस्था (Pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं शारीरिक और हार्मोनल (hormonal) स्तर में कई तरह के परिवर्तनों का अनुभव करती हैं जिससे कि गर्भावस्था के दौरान रक्तचाप का निम्न स्तर पर पहुँच जाना असामान्य नहीं है।

हाइपोथाइरोइडिस्म (Hypothyroidism)

गंभीर रूप से कम रक्तचाप या रक्तचाप में अचानक आई कमी का कारण ज़रुरत से कम कार्यशील थाइरोइड ग्रंथियां भी हो सकती हैं।

लो ब्लड प्रेशर के कारण, हाइपोग्लाईसेमिया (Hypoglycemia)

रक्त में चीनी की मात्रा का उतार चढ़ाव भी निम्न रक्तचाप का कारण होता है। ऐसा हाइपोग्लाईसेमिया या रक्त में चीनी की कम मात्रा वाले लोगों में देखा जाता है।

दिल का दौरा (Heart failure)

दिल का दौरा पड़ने से प्राकृतिक रूप से रक्तचाप का स्तर कम हो जाता है। जैसे ही दिल रक्त का संचार करना या धड़कना बंद करता है, वैसे ही धमनियों में रक्त का चाप काफी नाटकीय रूप से गिर जाता है।

दिल का असामान्य भाव से धड़कना (Arrhythmia of the heart)

इसका मुख्य कारण दिल की मांसपेशियों में कुछ समस्याएं पैदा होना हैं। दिल की असामान्य धडकनें भी निम्न रक्तचाप का कारण बनती हैं।

गर्मी से थकान (Heat exhaustion)

गर्मी से अत्याधिक मात्रा में थकान जिसे हीट स्ट्रोक (heat stroke) कहा जाता है, भी रक्तचाप में काफी कमी कर देती है।

लिवर की बीमारियाँ (Liver diseases)

कई बार लिवर की किसी बीमारी की वजह से भी गंभीर रूप से रक्तचाप काफी कम हो जाता है।

दवाइयां (Medications)

कई तरह की दवाइयों के सेवन से भी रक्तचाप काफी कम हो सकता है। तनाव, पार्किन्सन्स (Parkinson’s) आदि की दवाइयों के सेवन से रक्तचाप कम हो सकता है।

एनीमिया (Anemia)

एनीमिया या शरीर में रक्त की कमी भी लम्बे समय से रक्तचाप में चली आ रही कमी का एक मुख्य कारण होता है।

उपवास (Fasting)

निम्न रक्तचाप का एक कारण उपवास रखना भी हो सकता है। अगर आप उपवास रख रहे हैं या फिर पर्याप्त मात्रा में कुछ खा नहीं रहे हैं तो इससे  भी रक्तचाप की मात्रा कम हो सकती है।

जीन्स (Genes)

रक्तचाप के कम होने का एक कारण जीन्स भी हो सकता है। अगर आपके माता पिता में से किसी एक को या फिर दोनों को ही निम्न रक्तचाप की समस्या है, तो इस बात की काफी संभावना है कि आपको उनसे यह विरासत में मिला हो।

उम्र का बढ़ना (Aging)

आमतौर पर रक्तचाप उम्र के साथ बढ़ता है क्योंकि धमनियां अपनी लोच खोने लगती हैं। पर किसी ख़ास क्रियाशीलता या ज़्यादा खाने के बाद रक्तचाप का कम हो जाना  उम्रदराज लोगों में काफी आम है।

मल्टीपल सिस्टम एट्रोफी, ऑटोनोमिक न्यूरोपैथी, कार्डियोवैस्कुलर समस्याएं (multiple system atrophy, autonomic neuropathy, cardiovascular disorders) तथा शराब पीने की समस्याएं भी निम्न रक्तचाप का कारण बन सकती हैं।

अगर आप ऊपर बतायी गयी समस्याओं में से किसी का भी शिकार हैं तो इसका मतलब यह तो नहीं है कि आपका रक्तचाप कम है, पर इससे आपके लिए ख़तरा अवश्य बढ़ जाता है।

रक्तचाप के अचानक कम होने के कई शारीरिक कारण भी हो सकते हैं। इनमें से कुछ कारण हैं : –

  • काफी मात्रा में शरीर से खून निकल जाना
  • शरीर का तापमान काफी कम होना
  • शरीर का तापमान काफी ज़्यादा होना
  • रक्त का गंभीर संक्रमण जिसे सेप्सिस (sepsis) कहा जाता है।
  • शरीर में काफी मात्रा में पानी की कमी होना
  • किसी दवाई से कोई प्रतिक्रिया होना।

निम्न रक्तचाप का इलाज (Treatment of low blood pressure)

लो ब्लड प्रेशर का उपचार, निम्न रक्तचाप के शिकार ज़्यादातर लोगों को जीवनशैली में परिवर्तन और खानपान से काफी फायदा पहुँच सकता है। लेकिन इन परिवर्तनों का अपने जीवन में पालन एक डॉक्टर से सलाह करने के बाद ही करना चाहिए, जो मरीज़ के लक्षणों के हिसाब से आगे की गतिविधियाँ तय करेगा। नीचे ऐसे कुछ परिवर्तनों की सूची दी गयी है जो निम्न रक्तचाप वाले लोगों के काफी काम आते हैं।

निम्न रक्तचाप का इलाज करने के लिए खानपान के परिवर्तन (Diet changes for treating low blood pressure)

निम्न रक्तचाप का इलाज, अधिक नमक युक्त भोजन (High salt diet)

ऐसे भोजन का सेवन करना जिसमें नमक की मात्रा ज़्यादा हो, निम्न रक्तचाप का इलाज करने का काफी अच्छा विकल्प साबित होता है। लेकिन, अपने भोजन में नमक की मात्रा बढ़ाने से पहले अपने डॉक्टर से इस बारे में सलाह कर लें।

ज्यादा तरल पदार्थों का सेवन (Consumption of more fluids)

लो ब्लड प्रेशर की दवा, निम्न रक्तचाप के स्तर में वृद्धि करने के लिए अधिक मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करना काफी आवश्यक है। ज़्यादा मात्रा में पानी, फलों के रस और अन्य अल्कोहल (alcohol) से रहित तरल पदार्थों का सारे दिन बीच बीच में सेवन करने से आपका रक्तचाप बढ़ने में काफी मदद मिलती है।

निम्न रक्तचाप का उपचार करने के लिए व्यायाम (Exercising for treating low blood pressure)

अगर आप गंभीर रूप से निम्न रक्तचाप की समस्या से पीड़ित हैं तो इसका सबसे स्वास्थ्यकर उपचार नियमित रूप से व्यायाम करना है। व्यायाम करने से शरीर में सही प्रकार से रक्त का संचार होता है तथा यह शरीर के लिए निम्न रक्तचाप की समस्या के उपचार का सबसे स्वास्थ्यकर एवं साइड इफ़ेक्ट (side effect ) से मुक्त तरीका है।

अगर आपको अचानक दवाइयों के सेवन के बाद रक्तचाप के कम होने की समस्या होने लगी है तो डॉक्टर के द्वारा अपनी दवाई की पर्ची की जांच करवाएं। अगर निम्न रक्तचाप दिल या स्वास्थ्य की किसी अन्य समस्या के फलस्वरूप पैदा हुआ है, तो आपको अपना रक्तचाप सामान्य स्तर पर लाने के लिए चिकित्सकीय जांच तथा इलाज की आवश्यकता है। जिन लोगों को आराम करके उठने के बाद अचानक निम्न रक्तचाप की समस्या ने घेरा हुआ है, उन्हें अपने कार्यकलापों और क्रियाशीलता का ध्यान रखना होगा। जिन लोगों का रक्तचाप भरपूर भोजन करने के बाद कम हो जाता है, उनके लिए यही अच्छा होगा कि वे एक बार में कम भोजन करें।

loading...