Symptoms and natural hindi remedies for nail clubbing – नेल क्लबिंग, लक्षण और प्राकृतिक उपचार

नेल क्लबिंग उंगलियों के नाखूनों से सम्बन्धित बीमारी है जिसे हिप्पोक्रेटस् के नाम से भी जाना जाता है। इस बीमारी में नाखूनों के अगले सिरे पर अजीब सी सूजन आ जाती है और नाखून टेढ़े मेढ़े होने लगते है। यह बीमारी ह्रदय और फेफड़ो की कमजोरी को दर्शाती है। जब रक्त वाहिकायें ह्रदय में पर्याप्त रक्त नहीं पहुँचा पातीं तब नेल क्लबिंग उत्पन्न हो जाती है।

नेल क्लबिंग के लक्षण (Symptoms of nail clubbing)

  • नेल बेड की अनियमितता
  • नेल बेड का मुलायम होना
  • उंगलियों के पोरों का मोटा होना
  • नाखूनों का टेढ़ा उगना
  • नेल फोल्ड की उत्तलता का बढ़ना

नाखून रोग, नेल क्लबिंग बढने की वजह (What gives rise to nail clubbing?)

पीले नाखूनों की समस्या एवं इसके उपचार

कई बीमारियों कि वजह से नेल क्लबिंग बढती है, कुछ परिस्थियाँ निम्नानुसार है –

  • नाखून के रोग, जन्मजात हृदय दोष (फ़ेलोट की टेट्रोलोजी)
  • श्वास नली की खराबी
  • फेफड़ों के ऊपर निशान की उपस्थिति
  • नाखून के रोग, लसीका ऊतक पर कैंसर कोशिकाओं के निर्माण
  • एस्बेस्टोस तंतुओं की उपस्थिति कारण के फेफड़ों की बीमारी

कई बार नेल क्लबिंग का कारण अमाशय की खराबी भी हो सकता है एसी स्थिति में तुरंत गेस्ट्रो सर्जन से संपर्क करना चाहिये।

नाखूनों की देखभाल, नेल क्लबिंग की प्राकृतिक चिकित्सा (Natural remedies for nail clubbing)

नाखूनों की क्लबिंग कोई गंभीर समस्या नहीं है। यह मुख्यतः किसी बीमारी से पीड़ित होने के फलस्वरूप उत्पन्न होती है। दवाइयों से इसका उपचार करने की बजाय आप कुछ प्राकृतिक उपायों का प्रयोग कर सकते हैं। नीचे ऐसे ही कुछ उपाय बताये गए हैं।

  • 3 चम्मच जैतून के तेल और एक चम्मच नीम्बू के रस का एक मिश्रण तैयार करें। अब इस मिश्रण में अपने नाखूनों को डुबोएं। यह एक बेहतरीन घरेलू नुस्खा है, जिसकी मदद से सिर्फ 10 मिनट में आपके नाखून सीधे हो जाएंगे।
  • आपके घर की रसोई में टमाटर अवश्य होगा, क्योंकि करीबन हर रसोई में इसका प्रयोग किया जाता है। मिक्सर (mixer) में टमाटर डालकर इसका रस निकालें और इसमें नीम्बू का रस और जैतून का तेल भी मिश्रित करें। अब इस मिश्रण में अपने नाखूनों को डुबोएं। क्लब्ड नाखूनों को ठीक करने का यह बेहतरीन घरेलू नुस्खा है।
  • नाखूनों में गर्म जैतून के तेल का प्रयोग करने से भी नाखूनों की कई समस्याओं का समाधान होता है।
  • नाखूनों पर नीम्बू के टुकड़े को रगड़ने से भी इनकी सेहत काफी अच्छी रहती है। इससे ना सिर्फ नाखूनों की क्लबिंग ठीक होगी, बल्कि नाखूनों की बढ़त प्राकृतिक रूप से और अच्छे से होगी।इसका प्रयोग रोज़ाना करें और अपने नाखूनों को कम से कम 5 मिनट के लिए सूखा रहने दें।

नाखूनों की परेशानी के लक्षण,कारण एवं उपचार

  • नाखूनों की कई समस्याओं का निदान करने में खानपान की आदतें भी काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। जेलाटीन (gelatin) युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें।
  • अगर आपने जोजोबा के तेल, वीटजर्म तेल, बादाम के तेल (jojoba oil, wheat germ oil, almond oil) के रूप में विटामिन इ (vitamin E) का सेवन किया तो नाखूनों की क्लबिंग खुद ब खुद ठीक हो जाएगी। इस स्थिति को ठीक करने से बेहतर उपाय इसके बचाव के तरीकों को निर्धारित करना होता है। अगर आप इस समस्या से नहीं भी पीड़ित हैं, तो भी इन उत्पादों का सेवन करके नाखूनों की समस्या को आने से रोकें।

टी ट्री ऑइल (Tea tree oil)

बाज़ार से प्राकृतिक टी ट्री ऑइल खरीदें और इसकी कुछ बूँदों का प्रयोग अपने नाखूनों पर अच्छे से करें। इस बात को सुनिश्चित करें कि ये तेल आपके नाखूनों के हर कोने तक पहुँच जाए। नाखूनों की क्लबिंग की समस्या से निजात पाने के लिए इस विधि का प्रयोग रोज़ाना करें।

क्यूटिकल्स ना काटें (Do not cut cuticles)

कई लोगों की आदत होती है कि वे नाखूनों के बाहरी भाग अर्थात क्यूटिकल्स काटते रहते हैं। परन्तु अगर आपके नाखून क्लब्ड हैं तो इन्हें काटना काफी नुकसानदेह साबित हो सकता है। इससे कई अन्य समस्याएं भी पैदा हो सकती हैं।

टमाटर का रस (Tomato juice)

कई बार टमाटर के रस का प्रयोग करने से नाखूनों की क्लबिंग की समस्या का शिकार होने वालों को काफी राहत प्राप्त होती है। टमाटर के रस में नाखूनों पर जमे मांस के गूदे की मात्रा को कम करने के बेहतरीन गुण होते हैं। नाखूनों की क्लबिंग को कम करने के लिए आप टमाटर के रस का प्रभावी तरीका इस्तेमाल कर सकते हैं।

हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ (Green leafy vegetables)

महिलाओं के पैर एवं नाखून सुंदर रखने के नुस्खे

क्योंकि नाखूनों की क्लबिंग कई प्रकार के स्वास्थ्य सम्बन्धी परेशानियों की निशानी है, अतः इसके लक्षणों को कम करने का प्रयास करने की बजाय आपको इसकी जड़ को ही ख़त्म करने की कोशिश करनी चाहिए। प्राकृतिक जीवनशैली अपनाने तथा स्वस्थ खानपान रखने से ही कोई व्यक्ति स्वस्थ रह सकता है। ऐसी शारीरिक समस्याओं से दूर रहने के लिए अपने खानपान में काफी मात्रा में हरी पत्तेदार सब्ज़ियों को शामिल करें।

एसेंशियल ऑइल (Essential oil)

नाखूनों की बुरी हालत (nakhun ki bimari) को ठीक किया जा सकता है, अगर उनपर रोज़ाना एसेंशियल तेलों का प्रयोग किया जाए। आज के दौर में आप विभिन्न खुशबुओं में एसेंशियल तेल प्राप्त कर सकते हैं। अपनी उँगलियों के नाखूनों पर इस तेल की 2 से 3 बूँदों का प्रयोग करें, जिससे कि यह नाखूनों के हर एक कोने में चली जाए। आप अपनी पसंद के मुताबिक़ खुशबूदार तेल भी चुन सकते हैं।

दस्ताने पहनें (Wearing gloves)

लोगों, खासकर महिलाओं को सारा दिन लगातार बासी सब्ज़ियों, मछली और पानी आदि के संपर्क में रहते हुए काम करना पड़ता है। ऐसी स्थिति में अगर आप अपने नाखूनों को सुरक्षित रखना चाहती हैं तो रबर (rubber) के दस्ताने पहनना आपके लिए काफी अच्छा साबित होगा। इससे आपके नाखूनों को काफी सुरक्षा मिलेगी और हर प्रकार की समस्या से इसका बचाव होगा।

loading...