Nail trauma symptoms, causes and treatment? – नाखूनों की परेशानी के लक्षण,कारण एवं उपचार

पैरों के या हाथों के नाखूनों में चोट लगना एक काफी आम बात है। आप घर में असावधानी से चलते हैं और अचानक आपके पैर का नाखून दरवाज़े से टकरा जाता है। नाखून की देखभाल, ये ऐसी चोट होती है जिसके अंतर्गत आपके नाखूनों के अंदर खून जमा हो जाता है। वैज्ञानिक भाषा में इस स्थिति को सबुनगुयल हेमाटोमा कहते हैं। लोगों को कई बार ऐसी स्थिति का भी सामना करना पड़ता है जब किसी दुर्घटना की वजह से उनके नाखून टूट या फट जाते हैं। जिन महिलाओं के नाखून लम्बे होते हैं उन्हें चलने या अन्य काम करते हुए काफी सावधान रहना चाहिए क्योंकि अगर कोई दुर्घटना हुई तो वे भी नाखूनों की परेशानी का शिकार हो सकती हैं।

नाखूनों की परेशानी के कारण (Causes of nail trauma)

  • नाखून में दर्द, अगर आपके जूते आपके पैरों से छोटे हों तो ये आपके नाखूनों की परेशानी का कारण बन सकते हैं।
  • नाखून की देखभाल, फंगल संक्रमण से नाखूनों का आकार विकृत हो सकता है।
  • नाखून रोग, लगातार नाखूनों को चबाते रहने से भी नाखूनों की परेशानी पेश आ सकती है।

अगर आप अपने नाखूनों को चबाते हैं तो इससे आपको एक भयंकर बीमारी हो सकती है जिसे एक्यूट पैरोनाइकिया कहते हैं। यह एक तरह का संक्रमण होता है जो मनुष्यों पर तब हमला करता है जब बैक्टीरिया उस तंतु के नीचे पहुँच जाता है जहां नाखून होते हैं। इससे आपको नाखूनों के आसपास जलन और सूजन का भी अनुभव हो सकता है। कुछ लोगों को अंगूठे का नाखून उखाड़ने की बहुत खराब आदत होती है और इससे भी उन्हें नाखूनों की परेशानी हो सकती है। आपके नाखूनों के बीच में कई बार लम्बे से निशान पाए जाते हैं जो कि बाद में नाखून टूटने का कारण बनते हैं।

बदरंग नाखून के कारण- बदरंग नाखून के उपचार

नाखूनों की देखभाल – नाखूनों की समस्या का उपचार (Treatment of nail trauma)

नाखूनों की समस्या का उपचार (nakhun ki bimari ka ilaj) डॉक्टरों द्वारा इस समस्या से ग्रस्त मरीज़ों के लिए कई प्रकार से किया जा रहा है। एक उपचार के अंतर्गत नाखूनों में चोट लगने के फलस्वरूप वहां जमा हुए खून को निकाल दिया जाता है। नाखून में दर्द, अगर आप हेमाटोमा के निचले स्तर से पीड़ित हैं तो आप इसका इलाज घरबैठे ही एक सुई को गर्म करके कर सकते हैं। अब इस सुई को चोटग्रस्त भाग पर लगाएं और धीरे धीरे अंदर घुसाने की कोशिश करें। अब वहां एक छोटा सा छेद करें जिसके बाद वहां जमा खून निकालना काफी आसान होगा। लेकिन इस प्रक्रिया के आपके नाखून बेरंग हो जाएंगे।

अगर आप इस प्रक्रिया का घर पर इस्तेमाल करने से घबरा रहे हैं तो आप किसी डॉक्टर को ऐसा करने के लिए कह सकते हैं। वहां पर आसानी से इस प्रक्रिया को पूरा करके आपका जमा रक्त निकाल दिया जाएगा। नाखून रोग, अगर आप नाखूनों का इलाज करने के लिए स्टेरिलाइज़्ड सुई का इस्तेमाल नहीं करते तो यह आपके लिए काफी खतरनाक भी हो सकता है। डॉक्टर हमेशा स्टेरिलाइज़्ड सुई द्वारा ही आपके नाखूनों का इलाज करके उसमें जमा खून निकालते हैं। अगर आपके नाखूनों काढ़े से अधिक भाग में खून जम गया है तो कृपया तुरंत डॉक्टर को दिखाएँ। अगर समस्या काफी गंभीर है तो नाखूनों की बाहरी परत को निकालना पड़ सकता है।

नाखून रोग (nakhun ke rog), कई बार आपके पैर या हाथ के नाखून टूट या फट जाते हैं, अतः अपने नाखूनों को ज़्यादा बड़ा ना होने दें ,ऐसा करने से इनके टूटने की संभावना कम हो जाएगी। अगर आपका नाखून पूरी तरह से उखड गया है तो यह एक बहुत ही पीड़ादायक स्थिति होती है। इसका इलाज करने के लिए इसपर सही दवा लगाएं और एक पट्टी से बांधकर रखें।

loading...

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday