Yellow purse – say no to bright color purchase – पीला पर्स – भड़कीले रंगों को खरीदने को कहें ना

लोग विभिन्न डिज़ाइन और रंग के पर्स खरीदते हैं। कुछ महिलाओं को पर्स खरीदने का काफी शौक होता है। वे अलग अलग रंग के पर्स खरीदती हैं जो कि उनके वस्त्रों के रंग से मेल खाए। क्योंकि लोगों को इस बात का कोई पता नहीं होता कि पर्स खरीदने का भी सेहत से कोई लेना देना हो सकता है, अतः वे धड़ल्ले से नए नए तरह के पर्स खरीदते रहते हैं। पर हाल ही में हुए एक शोध के अनुसार पर्स चुनने की प्रक्रिया को काफी महत्वपूर्ण बताया गया है।

पर्यावरण सुरक्षा केंद्र द्वारा एक शोध किया गया है। विशेषज्ञों ने 21 ईंट और सीमेंट के व्यापारियों से 300 पर्स की जांच की। शोध के बाद पाया गया कि हर 300 में 43 बैग्स में लेड की मात्रा मिली हुई थी। कई शोध किये गए और पाया गया कि बड़े बड़े ब्रांड्स के भी यही हाल हैं। यह भी पाया गया कि वह पर्स जो कि 200 डॉलर का था, उसमें 58700 पीपीएम लेड पाया गया। इसका मतलब यह मात्रा निर्धारित मात्रा से 195% ज़्यादा थी।

लेड एक धातु है जिसे बच्चों की सामग्री में प्रयोग में लाना मना है। यह भी नियम है कि पर्स में लेड की मात्रा 600 पीपीएम से अधिक नहीं होनी चाहिए। परन्तु प्लास्टिक, विनाइल और फॉक्स के चमड़े से बने पर्स में भी समस्याएं आ रही हैं जो कि उजले रंग से रंगे गए हैं।

आप इन पर्स में पर्यावरण का साथी और वेगन जैसे निशान भी देखते हैं जो कि काफी शर्म की बात है। इसके अनुसार लोगों को लगता है कि ये बैग जानवरों के नहीं बने हैं और इसमें कोई हानिकारक पदार्थ नहीं है।

दोबारा प्रयोग में लाये जाने वाले शॉपिंग बैग में लेड का प्रभाव जब स्वास्थ्य समस्याओं की बात आती है तो आपको लेड को हलके में नहीं लेना चाहिए। यह विषैले धातुओं की श्रेणी में आता है जो कि ना सिर्फ बच्चों के दिमाग को नुकसान पहुंचाता है पर इसके अन्य दुष्प्रभाव भी हैं। यह आपको अल्ज़हाइमर्स, किडनी खराब होने तथा उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियां भी दे सकता है। कई वैज्ञानिकों के मुताबिक़ इसके प्रभाव से ल्यू गेहरिग बीमारी भी होती है।

लेड से बचने के लिए खरीदारी के नुस्खे (Shopping tips to avoid lead)

लिपस्टिक शेड्स, चुनिये अपनी त्वचा के लिए परफेक्ट लिपस्टिक शेड

कैनवास खरीदने में विश्वास रखें (Go for canvas for real leather)

असली चंदे के बैग में भी लेड के परीक्षण से नकारात्मक परिणाम सामने आए। इसका मतलब असली चंदे में लेड की मात्रा ना के बराबर होती है। असली समस्या प्लास्टिक, पोल्यूरेथेन और विनाइल के पर्स में आती है। जो लोग जानवरों के चमड़े से बचना चाहते हैं वे कैनवास खरीदें। आप आजकल कैनवास के कई खूबसूरत बैग देख सकते हैं।

उजले रंग के, खासकर पीले पर्स से दूर रहे (Avoid bright color purses especially yellow)

उजले पर्स से दूर रहे क्योंकि इनमें लेडलीड की मात्रा ज़्यादा हो सकती है। लाल और पीले पर्स खरीदने से परहेज करें। आप हमेशा काले या भूरे रंग के पर्स खरीद सकते हैं क्योंकि इनमें लेड की मात्रा कम पाई जाती है। आप इन रंगों को आकर्षक तो नहीं पाएंगे पर आपके स्वास्थ्य के लिए यही अच्छे हैं। लेड से आपके मस्तिष्क में दोष और प्रजनन में बाधा भी हो सकती है।

समझदारी से खरीदारी करें (Shop smart)

बाजार में हज़ारों दुकानदार पर्स बेचते हैं। पर आप अब कुछ ख़ास ब्रांड्स के पर्स खरीद सकते हैं जिनमें लेड की मात्रा काफी कम होती है तथा इससे आपके स्वास्थ्य को भी ख़तरा नहीं होता। ऐसे कुछ ब्रांड्स हैं :-

1. रेनबो

2. बिग बुद्धा

3. गेस

4. टोरी बर्च

5. राल्फ लॉरेन

6. फॉरएवर 21

7. हाउस ऑफ़ हर्लो 1960

8. लॅडीस

9. नाइन वेस्ट