Travel tips in Hindi for winter – ठण्ड के दौरान घूमने के नुस्खे

सर्दियों का मौसम वातावरण में ठण्ड ले आता है तथा हवा काफी सूखी हो जाती है, जिससे आपकी त्वचा भी खुश्क और पपड़ीदार हो जाती है। ऐसे समय में आपको अपनी त्वचा की अतिरिक्त देखभाल करनी चाहिए। ठण्ड का मौसम घूमने का भी काफी अच्छा मौसम होता है, क्योंकि गर्मियों की तेज़ धूप में बाहर जाने की तुलना में ठण्ड के सुहाने मौसम में घूमना कहीं बेहतर होता है। ठण्ड में घूमने का मतलब होता है कम परेशानी और ज़्यादा मज़ा। इस समय छुट्टियां बिताने के लिए आप अपने बच्चों और सारे परिवार को लेकर जा सकते है। अगर आप किसी ऐसी जगह जा रहे हैं जहां काफी बर्फ गिरती हो, काफी बारिश होती हो या ऐसा ही कठिन मौसम हो, तो ऐसे वातावरण में सुरक्षा काफी ज़रूरी रहेगी। नीचे सभी उम्र के लोगों के लिए ठण्ड में घूमने के नुस्खे दिए जा रहे हैं।

घूमने के फायदे – ऊनी कपड़े (Woolen cloths se thand se bachav)

ठण्ड में घूमने की योजना ऊनी कपड़ों के बिना बिलकुल अधूरी है। इस योजना का सबसे पहला और सबसे ज़रूरी भाग है अपने बैग में ऊनी कपड़े और ठण्ड के अन्य वस्त्र भरना। जैकेट्स, पुलोवर, हैट, कोट्स आदि भरना काफी आवश्यक है। ठण्ड के मौसम में अपने शरीर के भागों को बचाने के लिए  कपड़े काफी ज़रूरी हैं। अगर आप किसी ऐसी जगह जा रहे हैं जहां बर्फ गिरती हो, तो जैकेट जैसे परिधान का चुनाव करें, क्योंकि यह वाटर प्रूफ भी होता है।

फ्लू और ठण्ड से कैसे बचें?

ठण्ड के दौरान घूमने – ठण्ड के जूते (Shoes for winter)

ठण्ड के दौरान आपको ऐसे जूतों की ज़रुरत होती है, जो आपके पैरों को गर्म रख सके और कोल्ड बाइट्स का इनपर कोई असर ना हो। ठण्ड से बचाव करने की खूबी के अलावा आपके जूते आकर्षक भी होने चाहिए, क्योंकि किसी भी यात्रा के दौरान आप यह चाहेंगे कि लोग आपके जूते देखें और तारीफ़ करें। गहरे रंग के जूते ही खरीदें क्योंकि इनमें दाग लगने का ख़तरा नहीं रहता है। ऐसा तब और ज़्यादा आवश्यक हो जाता है, जब आप किसी ऐसी जगह जाते हैं जहां काफी मात्रा में कीचड़ है।

ठण्ड में सनस्क्रीन (Sunscreen in winter)

कुछ लोगों की गलत धारणा है कि ठण्ड के मौसम (sardi mai ghumne ka maza) में सूर्य की किरणों के संपर्क में आना काफी अच्छा होता है। ठण्ड में भी सूर्य की किरणें काफी कड़ी होती हैं और इससे भी आपको सनबर्न हो सकता है। अतः जब आप ठण्ड में कहीं घूमने जाते हैं, तो सनस्क्रीन लोशन लगाना काफी आवश्यक हो जाता है। ऐसा न करने पर आपके चेहरे पर सनबर्न का ख़तरा बना रहता है।

पोलराइज़्ड सनग्लास (Polarized sunglass)

जब आप ठंड में कहीं बाहर जाने का निश्चय करें तो पोलराइज़्ड सनग्लास लेना भी एक ज़रूरी कार्य है। यह ऐसी जगह पर काफी प्रभावी होता है, जहां पर आपको काफी मात्रा में बर्फ दिखती है। ऐसा न करने पर बर्फ के छोटे टुकड़े आपकी आँखों में जा सकते हैं और आपकी आँखों में ठण्ड लग सकती है। सर्दियों के मौसम में जब आप कार चलाते रहते हैं तो सूरज आकाश में काफी नीचे होता है। इस समय नंगी आँखों से यात्रा करने पर आपको काफी समस्या हो सकती है। ऐसी स्थिति में भी पोलराइज़्ड सनग्लास आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होते हैं।

ठण्ड में सुबह जल्दी उठने के तरीके

ठण्ड के दौरान घूमने शरीर के निचले हिस्से की सुरक्षा (Lower body protection)

ठण्ड के समय हम आमतौर पर शरीर के ऊपरी हिस्से को गर्म कपड़े पहनकर सुरक्षित रखने का प्रयास करते हैं। ऐसी स्थिति में हम शरीर के निचले हिस्से को नज़रअंदाज़ कर देते हैं। पर जब आपका किसी ऐसी जगह पर जाना हो जहाँ का तापमान काफी ठंडा है, तो आपको अपने शरीर के निचले भाग की भी रक्षा करनी पड़ेगी। यह तब और ज़्यादा आवश्यक हो जाता है जब आप ठण्ड के वातावरण में लम्बे दिन और शाम का समय बिताते हैं। निचले भागों के सुरक्षित रहने से आपके पैर लम्बे समय तक आरामदायक बने रहते हैं। अगर निचले हिस्से की सुरक्षा न की गयी तो यह भाग फ्रॉस्ट बाइट से प्रभावित हो सकता है।

सर्दियों में घूमने जाना – दवाएं साथ में रखें (Pack medicines)

जब आप घूमने (thand mai ghumna) के लिए किसी और अन्य राज्य या देश में जाते हैं, तो आपको वातावरण के परिवर्तन का भी सामना करना पड़ता है। वहां की ठण्ड और मौसम आपके स्थान से अलग होगी। ऐसी स्थिति में आपके बीमार पड़ने के काफी आसार होते हैं। साथ में बच्चे होने पर बीमारी की संभावना ज़्यादा हो जाती है। अतः किसी शिशु रोग विशेषज्ञ से सलाह करके हमेशा अपने साथ दवाइयाँ रखें।

इन्फ्लुएंजा, अस्थमा की समस्या तथा किसी प्रकार के फ्लू से संक्रमित होने का ख़तरा सबसे सामान्य होता है। अतः इनसे निपटने के लिए हमेशा अपने साथ सही दवाइयाँ रखें।

Subscribe to Blog via Email

Get Hindi tips to your inbox everyday