Women’s vaginal odor – How to get rid of bad vaginal odor? – महिलाओं में योनि की बदबू – कैसे दूर करें जननांगों की दुर्गंध?

महिलाओं के जननांग से हमेशा एक स्त्रियोचित गंध आती है जो समय समय पर स्त्राव और स्खलन (discharge) के कारण होती है। ये सामान्य लक्षण हैं पर यदि जननांग से मछली जैसी या सड़ी आक्रामक दुर्गंध आती है तो ऐसे में इसका उपचार करना बहुत आवश्यक है।

दुर्गंध के कई कारण हो सकते हैं। कुछ खास तरह के बैक्टीरिया के पनपने से, फंगल इन्फेक्शन (Fungul infection), सफाई की कमी या किसी प्रकार का रोग जननांग से आने वाली दुर्गंध की वजह हो सकते हैं। पर कभी कभी कुछ खास दवाओं के प्रभाव से, किसी वॉशिंग पाउडर या डिटर्जेंट या बहुत ज़्यादा मसालेदार खाना भी योनि की गंध का कारण होता है।

खासकर गर्भावस्था (pregnancy) के दौरान भी हर समय महिलाओं की योनि से एक अजीब सी गंध आती है, पर यह किसी तरह से नुकसानदायक नहीं होते इनका मुख्य कारण प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में होर्मोंस का स्त्राव होता है और साथ ही योनि के आस पास की स्वेदग्रंथियां (sweat glands), जो ज़्यादा सक्रिय होने की वजह से अधिक पसीना उत्सर्जित करती है।

योनि में संक्रमण (vaginal infection) का मुख्य लक्षण जलन और खुजली के साथ जननांग से हल्के पीले या सफ़ेद रंग का बदबूदार स्त्राव होता है।

योनि में दुर्गंध एक शर्मिंदा करने वाला अहसास होता है जो किसी महिला के आत्मविश्वास को कम कर सकता है।

किसी भी महिला की योनि से बदबूदार स्त्राव का मुख्य कारण उन संवेदनशील अंगों में संक्रमण की वजह से होता है जो किडनी से जुड़ी समस्याओं के साथ हो सकता है। मूत्रमार्ग में किसी तरह का संक्रमण होने की वजह से भी जननांग से दुर्गंध आ सकती है।

Subscribe to Blog via Email

Join 45,326 other subscribers

पर इन्हें किसी भी हालत में अनदेखा नहीं करना चाहिए। उचित खानपान और सही जीवनशैली के माध्यम से आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। नीचे कुछ सामान्य उपाय दिये गए हैं जिनकी मदद से आप योनि के दुर्गंध (vaginal odor) को दूर कर सकतीं हैं,

जननांगों की दुर्गंध को दूर करने के बेहतर उपाय (Best tips to get rid of vaginal odor)

योनि की गंध दूर करने के लिए करें सिट्रस युक्त फलों का सेवन (Eating citrus fruits)

सिट्रसयुक्त फलों में विटामिन C की उपस्थिति होती है, जो शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकालने का काम करता है। साथ ही यह हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम (Immune system) को बेहतर कर उसे रोगजनित जीवाणुओं से लड़ने के लिए तैयार करता है। जननांगों में दुर्गंध का मुख्य कारण ऐसे ही जीवाणु हैं जो इन संवेदी अंगों में पनपकर दुर्गंध उत्पन्न करते हैं। विटामिन C ऐसे जीवाणुओं से लड़ता है।

सूती कपड़ों से बने अंतर्वस्त्रों का करें इस्तेमाल (Cotton fabric panties)

हमेशा अपने भीतरी अंगों की सुरक्षा के लिए सूती से बने अंतर्वस्त्रों का उपयोग करें। यह नर्म और मुलायम तो होते हैं साथ ही स्त्राव को सोख लेने की क्षमता भी रखते हैं। सूती या कॉटन के कपड़ों की खासियत होती है के ये हवा के आवागमन को बनाए रखते हैं जिसकी वजह से आपके भीतरी अंगों तक हवा पहुँच पाती है और दुर्गंध फैलाने वाले जीवाणुओं की वृद्धि नहीं हो पाती।

आँवला दूर करता है ल्यूकोरिया (Amla reduces Luecorrhoea)

आँवला जननांगों की दुर्गंध को कम करने में मदद करता है। यह शरीर में ऑक्सीडेंट एजेंट और रक्त परिष्कृत करने वाले तत्व की भांति कार्य करता हैं। ल्यूकोरिया (leucorrhoea) रोग में योनि से हल्के पीले या सफ़ेद तरल पदार्थ का स्त्राव होता है, जो दुर्गंधयुक्त होता है और इसकी वजह से जननांगों से बदबू आती है। आँवला ल्यूकोरिया को शरीर से खत्म करने में सहयोग देता है जिसके फलस्वरूप योनि की दुर्गंध दूर हो जाती है।

गुप्त अंगों की साफ सफाई का रखें हमेशा ध्यान (Personal vaginal hygiene)

अपने जननांगों की सफाई पर विशेष ध्यान दें। खासकर महिलाओं के लिए यह बहुत ही ज़रूरी है। हमेशा ध्यान रखें की आपके संवेदी अंग ठीक तरह से साफ हो और उन हिस्सों के बालों की भी नियमित सफाई करें। ये बाल जीवाणुओं को बढ़ने में मदद करते हैं। किसी अच्छे एंटीसेप्टिक साबुन से अंगों को साफ करें और दिन में जब महसूस हो तब सादे पानी से जननांगों को धो लें।

भोजन में करें दही का इस्तेमाल (Eat more curd to get rid of infection)

अपने रोज़ के आहार में नियमित दही का सेवन करें। दही में लेक्टोबेसिलस बैक्टीरिया मौजूद होते हैं जो हमारे शरीर के लिए लाभदायक होता है। यह हमारे पेट से संबंधित समस्याओं को दूर कर शरीर के भीतर हो रहे किसी भी प्रकार के संक्रमण को रोकता है। दही के नियमित सेवन से योनि के स्त्राव (vaginal discharge) के कारण होने वाली दुर्गंध भी दूर होती है।

पानी से भरपूर रहें (Stay Hydrated)

ज़्यादा से ज़्यादा पानी पीना सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है और यह जननांग की बदबू को भी हटाता है। पानी शरीर से टॉक्सिन (toxin) को निकाल कर शरीर के स्तर को संतुलित रखता है। इसीलिए अच्छे और सेहतमंद परिणामों के लिए ज़्यादा से ज़्यादा मात्रा में पानी पीना चाहिए।

loading...