Essential pregnancy to-do list for your every trimester – प्रेग्नेंसी की सभी तिमाहियों के लिए करने की सूची

गर्भावस्था के दौरान, आपके भीतर एक करिश्मा प्रकाशित हो रहा होता है। आपके बच्चे का विकास, बच्चे में बदलाव और आपके हार्मोन्स में लहरों की तरह का आवेग होता है। और भी कई प्रकार से यह इस तरह होता है मानो आप किसी सवारी पर हों। पर ऐसी बहुत सी चीज़ें हैं जिनको करके आप अपने इस सफर को जितना संभव हो उतना सुरक्षित और आनंदमय बना सकते हैं और साथ ही जो आने वाला है उसके लिए तैयार हो सकते हैं।

श्रेष्ठ प्रेग्नेंसी के लिए करने वाले कार्यों की लिस्ट आपको अपने सभी ज़रूरी कामों या जिम्मेदारी जैसे जन्म के पहले की सामग्री, बेबी शॉवर की जांच परख और बच्चे का नामकरण से लेकर बेबीमून यानि जन्म के पहले बच्चे और होने वाले माता पिता की एक साथ पिकनिक इत्यादि के साथ नियत पाठ पर बनाए रखता है।

इस लिस्ट में आपकी प्रेग्नेंसी को यादगार बनाने के लिए आपके और आपके बच्चे के स्वस्थ्य के साथ मौजमस्ती भी ज़रूर शामिल होनी चाहिए। हर वक़्त आप इस सूची को जाँचने के लिए परेशान न हो और आने वाले नौ महीनों तक इसे केवल मदद के लिए एक गाइड के रूप में इस्तेमाल करें।

तिमाहियों की गतिविधियां (Activities for your trimesters)

अपने पार्टनर से पेरेंटिंग पर चर्चा करें (Talk to your partner about parenting)

चर्चा को जारी रखते हुये आप रचनात्मक लेखन का एक अभ्यास कर सकते हैं। आप दोनों ही दो सूची बना लीजिये और उनके शीर्षक होने चाहिए “मेरी माँ हमेशा” और दूसरा “मेरी माँ कभी नहीं”। इसी तरह “मेरे पिता हमेशा” और “मेरे पिता कभी नहीं”। जब आपने ये कर लिया हो तब आपने जो भी लिखा है उस पर बात करें कि कौन सी आदत आपके लिए महत्वपूर्ण है और क्या है जिसे आप बच्चे को बड़ा करते हुये बदलना चाहते हैं।

बच्चे का बजट बनाएँ (Make a baby budget)

बच्चे के नए खर्चों को आप किस तरह संभालेंगे, इस बारे में सोचिए। कपड़े, भोजन, डायपर, खिलौनेने और अन्य सामग्री जल्दी ही जुड़ जाएगी। आपका दिमाग उलझ जाएगा कि बच्चे कि ज़रूरत कि चीजों के लिए बाकी बजट में कहाँ से कटौती करें। बजट को व्यवस्थित करें और बच्चे के लिए सेविंग्स कि शुरुआत करें।

अपने बच्चे को देखने और सुनने के लिए तैयार हो जाएँ (Get ready to see or hear your baby)

गर्भावस्था के 9 से 12 हफ्तों के बीच जब आप चेक अप के लिए जाते हैं तब डॉप्लर फेटल मॉनिटर की मदद से आप अपने बच्चे की धडकनों को सुन सकते हैं। बहुत सी महिलाओं का कहना है कि इसकी आवाज़ तेज़ भागते हुये घोड़ों कि गड़गड़ाहट जैसी होती है।  

Subscribe to Blog via Email

Join 45,327 other subscribers

कुछ महिलायें 4 से 5 हफ्तों में अल्ट्रासाउंड करवाती हैं। अगर आप अपने बच्चे को पहले 3 महीनों में देखना चाहते हैं तो आपको आश्चर्य नहीं होना चाहिए अगर वो एक नन्हें से हिलते हुये हृदय के साथ बीन्स कि तरह दिखता या दिखती है।

बच्चों के नाम की सूची बनाएँ (Start a baby name list)

बच्चे का नाम निर्धारित करने के लिए आपको कई बार सोचना पड़ेगा। पर इसे शुरू करना बहुत ही मज़ेदार हो सकता है,

प्रत्येक तिमाही में करने वाली सूची (To-do’s for every trimester)

पानी पिएँ (Drink water)

प्रेग्नेंसी के दौरान 6 से 8 औंस गिलास पानी रोजाना ज़रूरी होता है। एक घंटे की कोई हल्की गतिविधि करने पर इसमें 8 औंस और जोड़ देना चाहिए।

थोड़ी स्ट्रेचिंग करें (Do some stretching)

स्ट्रेच या खिंचाव की क्रिया आपका लचीलापन बढ़ाती है। मांसपेशियों को अकड़ने से रोकती है और आपको हल्का व आरामदायक महसूस कराती है।

चोरी छिपे झपकी लें (Sneak in a pregnancy power nap)

जब थकान हो जाती है तो इसे सारा दिन झेल पाना मुश्किल हो जाता है। 15 मिनट की झपकी लेकर खुद को तरोताजा करें। अगर आप कार्यस्थल में हैं तो ऐसी कोई जगह ढूंढ लें (आप दरवाजा बंद कर सकते है, कान्फ्रेंस रूम या कार) और अपने सेल फोन में अलार्म लगा कर एक झपकी ले लें।

सेहतमंद आहार लें (Pack healthy snack)

जब आपको भूख लगे, स्नैक्स की मदद लें। पोषण से भरा ये पैक आपके पर्स, डेस्क के नीचे या कार में तैयार रहता है और अगर आप सुबह की बीमारी से ग्रस्त हैं तो सारा दिन इन्हे चबाते रहने से आपको सुबह होने वाली मतली से छुटकारा पाने में मदद मिलेगी।

आराम की तकनीकों को अपनाएँ (Try a relaxation technique)

गहरी सांस लें, कल्पनाओं का सहारा लें, प्रसवपूर्व के योगाभ्यास करें। मांसपेशियों के विकास और विश्राम के साथ आप पहले से बेहतर संतुलित और अच्छी नींद ले सकते हैं।

थोड़ा पैदल चलें (Take a quick walk)

15 से 20 मिनट पैदल चलने से आपके एनर्जी का स्तर बढ़ जाता है, जब आप बहुत थके हुये होते हैं।

खाएं प्रेग्नेंसी सुपरफूड (Eat a pregnancy superfood)

अपनी प्रेग्नेंसी को पोषण देने के लिए रंगीन फल और सब्जियाँ खाएं। इसके साथ ही अंडे, मछलियाँ, शकरकंद, दही, अखरोट और बीन्स आदि खाएं।

प्रेग्नेंसी की यादगार बातों को लिखें (Write down a pregnancy memory)

आप किसी जर्नल के लिए लिख रहें हों या अपनी भावनाओं को संक्षिप्त में कहीं नोट कर रहें हों। प्रेग्नेंसी के इन यादगार किस्सों को आप किसी दिन अपने बच्चों के साथ शेयर करना पसंद करेंगे।

अपने बढ़ते वज़न पर ध्यान रखें (Track your weight gain)

आपकी प्रसाविका आपके वज़न को माप कर नोट कर रही होगी और उम्मीद है की आप अपने  सेहत के स्तर के साथ ही अपने वज़न पर काबू रख रहे होंगे। आप उपयुक्त मात्रा तक ही वज़न बढ़े, आप इसके लिए टूल की मदद भी ले सकते हैं।

चेक इन विथ फ्रेंड (Check in with a friend)

प्रेग्नेंसी भावनात्मक रूप से काफी उतार चढ़ाव भरी होती है। अपने दर, आशाएँ और उत्तेजनाएँ अपने किसी दोस्त के साथ बाँट कर हल्का महसूस कर सकते हैं।

प्रेग्नेंसी की समस्याओं के लक्षणों को पहचानिए (Know the signs of a pregnancy problem)

अगर आपको किसी भी तरह की कोई शिकायत है तो अपने डॉक्टर या प्रसाविका की मदद लें।

loading...